Climatechange, Globalwarming, Climate Change, Jagran Plus, Jagran Mudda, Hpcommanmanıssue, Climate Change, Jagran Plus, Jagran Mudda, Hpcommanmanıssue, Global Warming, Earths Climate System, Climate Change Effect, जलवायु परिवर्तन, Global Warming Effects, Impacts Of Global Warming, Temperature Rises, Water Shortages, Fire Threats, Drought, İntense Storm, Climate Change Causes, Greenhouse Gases, Climate Crisis

Climatechange, Globalwarming

जलवायु परिवर्तन से घट रहा पोषण, जहरीली हो रही हर चीज, पानी गर्म होने से बिगड़ेंगे हालात, वैज्ञानिकों ने किया आगाह

जलवायु परिवर्तन से घट रहा पोषण, जहरीली हो रही हर चीज, पानी गर्म होने से बिगड़ेंगे हालात, वैज्ञानिकों ने किया आगाह #ClimateChange #GlobalWarming

28-10-2021 06:30:00

जलवायु परिवर्तन से घट रहा पोषण, जहरीली हो रही हर चीज, पानी गर्म होने से बिगड़ेंगे हालात, वैज्ञानिकों ने किया आगाह ClimateChange GlobalWarming

जलवायु परिवर्तन का असर जल तंत्र पर भी हो रहा है खाद्य श्रृंखला में पोषण का स्तर कम हो रहा है। दूसरी ओर विषाक्तता बढ़ती जा रही है। वैज्ञानिकों ने पाया है कि पानी के गर्म होने से पोलीअनसैचुरेटेड एसिड की मात्रा में कमी आ रही है।

जलवायु परिवर्तन का दुष्परिणाम दिनों-दिनों जीवन को दूभर करता जा रहा है। इसे नियंत्रित रखने के तमाम दावे बौने साबित हो रहे हैं। दूसरी ओर दुनियाभर में इस मसले पर हो रहे शोध के परिणाम चिंता बढ़ाने वाले हैं। इसी क्रम में स्वीडिश यूनिवर्सिटी आफ एग्रीकल्चरल साइंसेस तथा डार्टमाउथ कालेज के शोधकर्ताओं ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन का असर जल तंत्र पर भी हो रहा है, खाद्य श्रृंखला में पोषण का स्तर कम हो रहा है। दूसरी ओर विषाक्तता बढ़ती जा रही है।

अमित शाह का गहलोत पर बड़ा हमला, राजस्थान में लॉ एंड ऑर्डर नहीं, 'लो और ऑर्डर करो' सरकार ट्विटर पर ट्रेन्ड हुआ Diljit Dosanjh का बर्थडे, फैंस बोले- ट्विटर भी आपका दीवाना लगदा Ind Vs Nz, Mumbai Test: सीरीज फतेह करने उतरेगी टीम इंडिया, न्यूजीलैंड के सामने अभी भी 400 रनों का पहाड़

यह भी पढ़ेंतापमान बढ़ने से जलस्रोतयह निष्कर्ष साइंटिफिक रिपो‌र्ट्स जर्नल में प्रकाशित हुआ है। इस शोध में पानी का तापमान बढ़ने (वार्मिग) और इस कारण कार्बनिक तत्वों की घुलनशीलता बढ़ने से उसका रंग बदलने (ब्राउनिंग) के असर का अध्ययन किया गया है। डार्कमाउथ कालेज के शोधार्थी तथा इस अध्ययन के मुख्य लेखक पियानपियन वू ने बताया कि जलवायु परिवर्तन के कारण तापमान बढ़ने तथा जमीन से पानी में कार्बनिक तत्वों की आपूर्ति पर असर होने की संभावना व्यक्त की गई है।

यह भी पढ़ेंपानी के बदलते रंग का अध्‍ययनपियानपियन वू का कहना है कि हमने पहली बार बढ़ते तापमान के कारण पानी के बदलते रंग के बारे में अध्ययन किया है। इसके लिए मेसोकोस्म सिस्टम का प्रयोग किया गया है। यह एक प्रायोगिक प्रणाली है, जो नियंत्रित परिस्थितियों में प्राकृतिक वातावरण की जांच करती है। मेसोकोस्म सिस्टम क्षेत्र सर्वेक्षण और अत्यधिक नियंत्रित प्रयोगशाला प्रयोगों के बीच एक कड़ी प्रदान करता है। headtopics.com

मिथाइल मरकरी के घातक असर पर शोधइसका उपयोग जलवायु परिवर्तन के कारण पारिस्थितिकी तंत्र पर पड़ने वाले प्रभाव से जुड़े सवालों के जवाब तलाशने के लिए किया जाता है। जलवायु परिवर्तन के कारण बढ़ते तापमान की वजह से कार्बनिक तत्वों की अधिक घुलनशीलता का खाद्य श्रृंखला में पोषक तत्व पोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड तथा विषाक्त तत्व मिथाइल मरकरी पर होने वाले असर का अध्ययन किया गया है।

यह भी पढ़ेंप्रयोग का निष्कर्षशोधकर्ताओं ने पाया कि तापमान और घुलशीलता बढ़ने से पानी के गर्म व बदले रंग की स्थिति में खाद्य श्रृंखला आधार स्तर पर पानी से मिथाइल मरकरी का ट्रांसफर ज्यादा होता है। इसके साथ ही फाइटोप्लैंकटान में आवश्यक पोषक तत्व पोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड की सांद्रता कम होती है। फाइटोप्लैंकटान स्थलीय पौधे की तरह होते हैं, जिसमें क्लोरोफिल होता है और उसे जीवित रहने के लिए सूर्य के प्रकाश की जरूरत होती है।

यह भी पढ़ेंन्यूरोटाक्सिन का खतरापोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड की लंबी श्रृंखला ओमेगा-3 तथा ओमेगा-6 बनाते हैं जो जंतुओं और पादपों में प्रतिरक्षी तंत्र को नियंत्रित रखते हुए विकास और जीवन के लिए ऊर्जा प्रदान करते हैं। बता दें कि मिथाइल मरकरी - मरकरी (पारा) का वह रूप है, जो जीवित प्राणियों द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाते हैं और न्यूरोटाक्सिन (तंत्रिकाओं के लिए जहर) का काम करते हैं।

यह भी पढ़ेंपैदा हो रही चिंताजनक स्थितिवू ने कहा कि प्रयोग के दौरान पानी की गर्मी और रंग में बदलाव (ब्राउनिंग) के असर से पोलीअनसैचुरेटेड एसिड की मात्रा में कमी होना काफी चिंताजनक है। फाइटोप्लैंकटान जलीय पारिस्थितिकी तंत्र में पोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड का मुख्य स्त्रोत है। अध्ययन के मुताबिक, फाइटोप्लैंकटान के कम होने से मछली और अन्य वन्यजीव तथा मनुष्य के लिए मिथाइल मरकरी के उपभोग का खतरा बढ़ जाता है। headtopics.com

नगालैंड में 13 ग्रामीणों की मौत के बाद तनाव, प्रदर्शनकारियों ने कैंप पर बोला धावा, 10 बड़ी बातें ममता बनर्जी कांग्रेस के बिना गठबंधन पर विचार कर रही हैं: संजय राउत मिशन राजस्थान: शाह बोले- निकम्मी और भ्रष्टाचारी गहलोत सरकार को उखाड़ फेंकिए, भाजपा की सरकार बनवाइए

यह भी पढ़ें...ताकि असर का किया जा सकेे आकलन  स्वीडिश यूनिवर्सिटी आफ एग्रीकल्चरल साइंसेज के प्रोफेसर केविन बिशप के मुताबिक इस अध्ययन से पता चलता है कि जलवायु परिवर्तन के कारण खाद्य श्रृंखला आधार स्तर (जलीय खाद्य) पर कमजोर होता है। शोधकर्ताओं का दावा है कि चूंकि यह अध्ययन पूर्ण रूप से नियंत्रित मेसोकोस्म वातावरण में हुआ है, इसलिए इसके परिणामों पर भरोसा किया जा सकता है। अध्ययन में 24 ऊष्मारोधी प्लास्टिक सिलेंडरों का प्रयोग किया गया ताकि वार्मिग और ब्राउनिंग के विभिन्न स्तरों के असर का आकलन किया जा सके। 

और पढो: Dainik jagran »

'राष्ट्र या राष्ट्रवाद': बड़ी बहस संबित, कन्हैया कुमार, हार्दिक पटेल और साकेत बहुगुणा के साथ

पूरे दो साल बाद फ‍िर सज चुका है 'एजेंडा आजतक' का मंच, ज‍िसमें आज और 4 दिसंबर को कई दिग्गज श‍िरकत कर रहे हैं. 'एजेंडा आजतक' के नौवें संस्करण के सत्र 'राष्ट्र या राष्ट्रवाद' का ह‍िस्सा बने बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा, कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार, गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष हार्दिक पटेल और सामाजिक कार्यकर्ता साकेत बहुगुणा. इस सत्र की मॉडरेटर च‍ित्रा त्र‍िपाठी ने आमंत्र‍ित मेहमानों से 'राष्ट्र या राष्ट्रवाद' पर सीधे सवाल पूछे. इस दौरान ऐसे भी कई मौके आए, जब मेहमानों के बीच तीखी बहस देखने को म‍िली. क्या रहा इस दौरान खास, जानने के ल‍िए देखें ये वीड‍ियो.

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले समीर वानखेड़े दलित है इसलिए उसके साथ हो रहा है गलतविवादों में घिरे एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के सपोर्ट में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि समीर वानखेड़े दलित हैं और इसलिए उन्हें तंग किया जा रहा है। महाराष्ट्र के है तभी सुध लेने वाला कोई नही, अगर उप्र के होते.......!!!!

चीन अगले साल जनवरी से भारत की टेंशन और बढ़ाने जा रहा - BBC News हिंदीपिछले 17 महीनों से पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच सैन्य गतिरोध जारी है. इसी बीच चीन एक जनवरी से ऐसा क़दम उठाने की तैयारी कर चुका है जो भारत के लिए बेहद चिंताजनक है. सौ झमेले से बेहतर हैं इक जंग होती हैं अठारह बार पता नहीं आदरणीय मोदी चीनी राष्ट्रपति से क्या बतियाते रहें Will be a useless Chinese try.

'योगी जी से कुछ सीख ले लेते तो पाकिस्तान से हार का दाग नहीं लगता'योगी जी से कुछ सीख ले लेते तो पाकिस्तान से हार का दाग नहीं लगता, विराट कोहली का नाम ले पूर्व IAS ने योगी-मोदी पर साधा निशाना exias suryapratapsingh pmmodi cmyogi

Aryan Khan ड्रग्स केस में गवाह KP Gosavi पुणे से गिरफ्तार, कई दिनों से था फरारक्रूज ड्रग्स केस में जांच तेजी से आगे बढ़ रही है. तो दूसरी ओर कोर्ट में आर्यन खान के जमानत याचिका पर आज भी सुनवाई होगी. तो पुणे में आर्यन केस के गवाह केपी गोसावी को गिरफ्तार कर लिया गया है. गोसावी पर या कार्रवाई 2018 के धोखाधड़ी मामले में की गई है. गोसावी पर तीन लाख रुपये ठगने के आरोप हैं. इस मामले में पुलिस आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकती है. गोसावी एनसीबी पर वसूली के आरोपों के बाद फरार था. गोसावी वही शख्स है जिसकी सेल्फी वायरल हुई थी. आर्यन के साथ सेल्फी पर गोसावी चर्चा में आया था. देखें वीडियो. तीन साल बाद गिरफ्तार किया ऐसा बोलिये...2018 का केस है। और 2021 में NCB का पंच है इसलिए अब अरेस्ट किया गया है।। आज सुबह का खेल शूरु हो चुका है, पहली गेंद पर एक रन लेकर नवाब मलिक साहब ने स्ट्राईक पुणे पुलीस को दी है, अब बॅटिंग पुणे पुलीस करेंगी

अलीगढ़ में डेंगू का प्रकोप, बाजार से गायब हो रहा मलेरिया का इंजेक्शन, जानिए वजह Aligarh newsचौंकिए नहीं यह सच है। जिले में भले ही डेंगू का प्रकोप हो लेकिन बाजार से गायब एंटी मलेरियल इंजेक्शन ‘आर्टिसुनेट’ हो रहा है। दरअसल कोरोना की तरह डेंगू की कोई निर्धारित दवा या उपचार नहीं है। लिहाजा झोलाछाप और कुछ डाक्टर रोगियों को विकल्प ‘आर्टिसुनेट’ इंजेक्शन दे रहे हैं। गंदा पानी न जमा होने दें साफ सफाई का ध्यान रखें narendramodi PMOIndia AmitShah BBCHindi BBCBreaking BBCNews BBCIndia BBCPolitics PMOIndia_RC myogiadityanath myogioffice OfficeofSSC RajatSharmaLive BJP4UP AMISHDEVGAN Republic_Bharat BJP4UP RajatSharmaLive

कश्मीर में आतंकियों, राष्ट्रविरोधी तत्वों की कमर तोड़ रही NIA, छह माह में 125 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी, 30 से ज्यादा गिरफ्तारजम्मू कश्मीर में सेना व सुरक्षाबल आतंकवाद के समूल नाश में जुटे हैं। वहीं एनआइए आतंकियों को संरक्षण देने वाले राष्ट्रद्रोही ताकतों को जड़ से खत्म करने के अभियान पर है। कश्मीर में एनआइए के छापे आतंकियों के मददगारों की कमर तोड़ रहे हैं। फांसी भी तुरंत हो