जर्मन चुनाव, डॉयचे वेले, Dw.Com, Dw, जर्मनी, समाचार, रिपोर्ट, समीक्षा, विवेचना, अन्तरराष्ट्रीय, Dw-Tv, Dw-Radıo, रेडियो, टीवी, जर्मन, पॉडकास्टिंग, जर्मन भाषा पाठ्यक्रम, जर्मन सीखिए, जर्मन फुटबॉल प्रीमियर लीग बुन्डेसलीगा, सिनेमा

जर्मन चुनाव, डॉयचे वेले

जर्मन चुनाव 2017 | DW

इंटरनेट में डॉयचे वेले: जर्मनी और यूरोप से समाचार, समीक्षा और सेवाएं - 30 भाषाओं में

25-09-2021 14:03:00

अंगेला मैर्केल 16 साल तक जर्मनी की चांसलर रहीं. 2021 के जर्मन चुनाव पर दुनिया भर की नजरें टिकी हैं क्योंकि हर कोई जानना चाहता है कि मैर्केल की जगह आखिर कौन लेगा. जर्मन चुनाव 2021 पर हमारी पूरी कवरेज देखें यहां..

इंटरनेट में डॉयचे वेले : जर्मनी और यूरोप से समाचार , समीक्षा और सेवाएं - 30 भाषाओं में

अंगेला मैर्केल (सीडीयू), 2005 से अब तकजर्मनी की पहली महिला चांसलर अंगेला मैर्केल को उनके व्यावहारिक शासन के लिए जाना जाता है. कोरोना संकट के दौरान उनकी रणनीति की दुनिया भर में तारीफ हुई. कोरोना राहत पैकेज पर हुई ईयू देशों की बैठक में भी उनकी अहम भूमिका रही.

CM चेहरे पर सिद्धू ने उड़ाया AAP का मजाक: कहा- अरविंद केजरीवाल को पंजाब में दूल्हा नहीं मिल रहा, बारात अकेले ही नाच रही पुतिन का भारत दौरा: विदेश मंत्रालय ने कहा- 6 दिसंबर को मोदी से मुलाकात करेंगे रूस के राष्ट्रपति, 2+2 समिट भी होगी पंजाब में केजरीवाल की गारंटी: हर बच्चे को मुफ्त शिक्षा देंगे; सेना और पंजाब पुलिस के शहीद जवानों के परिवार को एक करोड़ रुपए सम्मान राशि

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरगेरहार्ड श्रोएडर (एसपीडी), 1998-2005कोल के बाद सत्ता परिवर्तन का माहौल बन गया था. श्रोएडर के शासन में पहली रेड ग्रीन गठबंधन सरकार बनी. उन्हीं के समय में नाटो की सेना पहली बार अफगानिस्तान गई. सामाजिक कल्याण प्रणाली को बदला गया. एजेंडा 2010 नाम वाले इन सुधारों का जर्मनी में काफी विरोध हुआ.

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरहेलमुट कोल (सीडीयू), 1982-1998कोल रिकॉर्ड 16 साल तक चांसलर के पद पर रहे. उन्हें लंबी पारी वाला लेकिन सुधार न करने वाला नेता माना जाता था. लेकिन जर्मनी का एकीकरण और पूर्व जीडीआर का विकास उनकी ऐतिहासिक उपलब्धियां हैं. उन्होंने सिर्फ जर्मन एकता का ही नहीं, यूरोपीय एकता का भी समर्थन किया. headtopics.com

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरहेल्मुट श्मिट (एसपीडी), 1974-1982ब्रांट के इस्तीफे के बाद हेल्मुट श्मिट अगले चांसलर बने. तेल संकट, मुद्रा स्फीति और आर्थिक परेशानियां उनकी सबसे बड़ी चुनौतियां थी. श्मिट ने इनसे निबटने के लिए कड़े कदम उठाए. उग्र वामपंथी रेड आर्मी फ्रैक्शन के खिलाफ उन्होंने कड़ी कार्रवाई की. वे संसद में विश्वास मत हार कर पद गंवा बैठे.

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरविली ब्रांट (एसपीडी), 1969-1974सामाजिक विद्रोह के कारण सरकार में बदलाव हुआ. विली ब्रांट जर्मनी के पहले सोशल डेमोक्रैटिक चांसलर बने. वारसा में नाजी काल में मारे गए यहूदियों के स्मारक पर घुटने टेक कर उन्होंने मेलमिलाप का नया संकेत दिया. 1971 में उन्हें इसके लिए नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरकुर्ट गेयॉर्ग कीसिंगर (सीडीयू), 1966-1969जर्मनी का पहला सीडीयू एसपीडी महागठबंधन कीसिंगर के काल में बना. इस गठबंधन ने ठहरी हुई अर्थव्यवस्था को एक बार फिर गति दी. इसी सरकार ने आपातकाल में विशेषाधिकार का कानून भी पारित किया. इसके विरोध में युवाओं ने प्रदर्शन किए. कीसिंगर नाजी अतीत के कारण विवादों में थे.

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरलुडविष एरहार्ड (सीडीयू), 1963-19661963 में सीडीयू ने 87 साल के आडेनावर पर हटने का दबाव डाला और उनकी जगह लुडविष एरहार्ड को चांसलर बनाया गया. एरहार्ड अर्थव्यवस्था मंत्री के तौर पर मशहूर हुए. उन्होंने सामाजिक बाजार अर्थव्यवस्था की वकालत की और पश्चिम जर्मनी के आर्थिक चमत्कार के जनक कहलाए. headtopics.com

जिसका डर था वही हुआ, ओमिक्रॉन की भारत में एंट्री: बेंगलुरु में दो ओमिक्रॉन संक्रमित मिले; संपर्क में आए 6 लोग भी पॉजिटिव प्रतिज्ञा रैली के लिए मुरादाबाद पहुंचीं प्रियंका: कहा- भाजपा सरकार में 3 लाख कारीगरों की रोजी-रोटी खत्म हुई प्रशांत किशोर की एंट्री से 'देश में विपक्ष कौन' का मुद्दा और गरमाया - BBC News हिंदी

अंगेला मैर्केल से पहले ये रहे जर्मनी में चांसलरकोनराड आडेनावर (सीडीयू), 1949-1963कोनराड आडेनावर जर्मनी के पहले चांसलर थे. उनकी विदेश नीति पश्चिम की ओर लक्षित थी और शासन शैली निरंकुश मानी जाती है. वे राइनलैंड के थे और उन्होंने बॉन को जर्मनी की राजधानी बनाने में अहम भूमिका निभाई. लेकिन वे इस इलाके की कार्निवाल की परंपरा से जी नहीं लगा पाए.

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलहंटर वाली2011 में जब यूरो संकट चल रहा था तब स्पेन की व्यंग्य पत्रिका ‘एल हुएवेस’ ने जर्मन चांसलर को हंटर वाली के रूप में दिखाया था. कार्टून में मैर्केल स्पेन की सरकार के प्रमुख मारियानो राहोय से पूछ रही हैं, “ब्रैंडिंग आयरन या कोड़ा?” जवाब मिलता है, “निर्भर करता है...”. दरअसल यह कार्टून अंगेला मैर्केल की स्पेन को आर्थिक मदद पर कड़ी सख्ती को लेकर तंज है.

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलबचत हिटलरस्पेन के अलावा ग्रीस को भी कर्ज के भयंकर संकट से गुजरना पड़ा था. अंगेला मैर्केल ने उसके लिए मदद का वादा किया लेकिन बदले में बचत के लिए कड़े नियम लगाने की मांग की. ग्रीस के अखबार ‘डेमोक्रेसी’ ने उन्हें बचत कराने वाला हिटलर बता दिया.

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलयातना कैंप की कैदी2013 में पोलैंड की एक दक्षिणपंथी पत्रिका ने मैर्केल को यातना कैंप के कैदी के रूप में दिखाया. संदर्भ एक डॉक्युमेंट्री फिल्म ‘अवर मदर्स, अवर फादर्स’ थी, जिसमें जर्मनी पर इतिहास के साथ तोड़-मरोड़ करने का आरोप लगाया गया था. headtopics.com

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलचीन में पोकर-फेसमीडिया में अक्सर मैर्केल को एक सख्त और समझौता न करने वाली नेता दिखाया गया है. चीन की पत्रिका के दिसंबर 2011 अंक में मैर्केल की तस्वीर पर लिखा है – ‘पोकर फेस’. कोशिश उन्हें एक सख्त, सर्द इंसान के रूप में पेश करने की है, जो मैर्केल की चीन यात्रा से ठीक पहले छपी थी.

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलटर्मिनेटरजून 2012 में ‘न्यू स्टेट्समैन’ पत्रिका ने मैर्केल को टर्मिनेटर के रूप में छापा और लिखा कि वह यूरोप की सबसे खतरनाक नेता हैं. मैर्केल की सरकारी खर्चों में कटौती की नीति के विरोध में छपी इस कहानी में उन्हें हिटलर के बाद जर्मनी का सबसे खतरनाक नेता बताया गया था.

ट्रोलर्स पर भड़के जूनियर बच्चन: बेटी आराध्या को निशाना बनाने वालों को दिया चैलेंज, बोले- दम है तो मेरे सामने आकर कहो पिता की अंतिम इच्छा पूरी की: भाई ने बग्घी में निकाली बहन की बरात, दुल्हन ने किया डांस; पिता कहते थे- मेरे बेटा-बेटी बराबर हैं ओमिक्रॉन को लेकर MP में अलर्ट: RT-PCR टेस्ट में पॉजिटिव आने वाले हर मरीज का जीनोम सिक्वेसिंग कराने का आदेश

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलमदर अंगेला2015 में जर्मन पत्रिका डेर श्पीगल ने अचानक अंगेला मैर्केल की छवि बदल दी जब हंगरी ने सीरिया के शरणार्थियों को लेने से इनकार कर दिया और मैर्केल ने उनका स्वागत किया. उस फैसले ने मैर्केल की एक मानवीय छवि पेश की.कवर गर्लः अंगेला मैर्केल

विशाल व्यक्तित्व2015 में शरणार्थियों पर अपने फैसले के लिए मैर्केल की तारीफ हर जगह हुई. टाइम पत्रिका ने उन्हें पर्सन ऑफ द ईयर चुना और ‘स्वतंत्र दुनिया की चांसलर’ कहा.कवर गर्लः अंगेला मैर्केलफिर हिटलरदुनियाभर में प्रचारित छवि के उलट पोलैंड की पत्रिका ‘प्रोस्ट’ ने मैर्केल को फिर एक बार हिलटर जैसा दिखाया. उसका कहना था कि मैर्केल पोलैंड पर नियंत्रण की कोशिश में हैं. यह तस्वीर हिटलर की एक मशहूर तस्वीर के आधार पर बनाई गई.

कवर गर्लः अंगेला मैर्केलएक युग का अंत16 साल तक जर्मनी की चांसलर रहने के बाद अंगेला मैर्केल अब विदा हो रही हैं. उरसूला वाइडेनफेल्ड ने उनकी जीवनी लिखी है, जिसका शीर्षक है – द चांसलर. 26 सितंबर को जर्मनी में आम चुनाव होंगे जिसके बाद मैर्केल के युग का पटाक्षेप हो जाएगा.

और पढो: DW Hindi »

Jagran Hi Tech Awards 2021: Vote for best Mobile, Car and Bikes (Mobility) in India

Jagran Hi Tech Awards 2021 brings you opportunity to make your favorite mobile, car and bike India's best, Vote Today.

गुल खिलाएगा ‘जौनपुर पैटर्न’, बीएमसी के चुनाव में अहम हो सकती है हिंदीभाषी मतदाताओं की भूमिकाMaharashtra Politics अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य एवं मुंबई भाजपा के पूर्व महासचिव विश्वबंधु राय मानते हैं कि मुंबई में हिंदीभाषी वोटबैंक कांग्रेस की बड़ी ताकत रहा है लेकिन अब राज्य की सरकार में शिवसेना के साथ गठबंधन का खामियाजा कांग्रेस को भी भुगतना पड़ेगा।

बिहार पंचायत चुनाव 2021: पहले चरण में 60 फीसद मतदान, रोहतास में सबसे अधिक वोटिंगBihar Panchayat Election 2021 10 जिलों में 12 प्रखंडों की 151 पंचायतों में 60 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। राज्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि 16 बूथों को आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया था। पहले चरण में कुल 4646 पदों के लिए 15078 प्रत्याशी भाग्य आजमाए हैं।

यूपी में भाजपा ने किया निषाद दल से गठबंधन, मिलकर लड़ेंगे 2022 का विधानसभा चुनावलखनऊ। उत्तरप्रदेश में 2022 में होने वाले चुनावों को लेकर चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई है। भारतीय जनता पार्टी और निषाद दल ने मिलकर 2022 के उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव लड़ने की औपचारिक घोषणा की।

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में गैंगवार: छात्र संघ चुनाव से शुरू हुई थी गोगी और टिल्लू गैंग के बीच दुश्मनी, खूनी खेल में अब तक गई 24 लोगों की जानदिल्ली के रोहिणी कोर्ट में शुक्रवार को हुए गैंगवार में दिल्ली-हरियाणा का बड़ा गैंगस्टर जितेंद्र गोगी मारा गया। इस गैंगवार के पीछे जितेंद्र गोगी के कभी खास रहे टिल्लू ताजपुरिया का हाथ बताया जा रहा है। गोगी और टिल्लू के बीच 2010 में एक छात्र संघ चुनाव के दौरान दुश्मनी शुरू हुई थी। इसके बाद से दोनों गैंग के बीच अब तक कई बार गैंगवार हो चुकी है। इसमें 24 से ज्यादा अपराधी मारे जा चुके हैं। आज इसी गैंगवार... | Firing in Delhi's Rohini Court, Delhi Rohini Court Shootout, Rohini Court Firing Update

राहुल गांधी ने कांग्रेस नेताओं से कहा- गोवा में हो BJP की हार, शुरू करें प्रभावशाली चुनाव प्रचारममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) भी तटीय राज्य में चुनाव मैदान में कूद सकती है। इस संकेत पर भी गांधी की पार्टी नेताओं के साथ बैठक हुई। इसके अलावा आम आदमी पार्टी (आप) भी चुनाव की तैयारी कर रही है। RahulGandhi राहुल गांधी कार में बैठ के कहीं जा रहा था अचानक एक ट्रक गाड़ी के आगे आ गया राहुल – ये ट्रक के पीछे क्या लिखा है ? ड्राइवर – कृप्या हॉर्न दीजिये। राहुल – कमाल करता है साला हॉर्न तुझे दे देंगे तो हम क्या बजायेंगे ड्राइवर बेहोश।😊😊 RahulGandhi लाचार व्यवस्था उo प्रo में एक बुजुर्ग का घर अतिक्रमण होने की बाहर सोने से मृत्यु हो गई स्थानीय प्रशासन restmode है काफी दिनों से twitter और प्रतिवेदन दे रहा था लकिन कोई सरकारी बाबु ने संज्ञान नहीं लिया dmazamgarh Uppolice digazamgarh adgzonevaranasi 112UttarPradesh RahulGandhi दिन में आंखें खुली रख कर सपने देखना -यह काम करने का पुरूषार्थ सिर्फ कोंग्रेसी ही कर सकते हैं !

15 तस्वीरों में मोदी के अनोखे अंदाज: कोरोना की एंट्री के साथ PM ने दाढ़ी बढ़ानी शुरू की, बंगाल चुनाव के पहले 'गुरुदेव' जैसे दिखे, अब अमेरिकी दौरे के लिए फिर बदला लुकप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अपना एक अलग अंदाज है, अलग अपीयरेंस और स्टाइल है। वे अपने यूनीक लुक और पहनावे को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। कई बार तो लोगों को चौंका भी देते हैं। जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब भी और फिर प्रधानमंत्री बनने के बाद भी अलग-अलग मौकों पर वे अपने खास अंदाज में नजर आए हैं। | Dainik Bhaskar photo story : Prime Minister Narendra Modi is in America for three days Trip, look how he appears in each us visits. narendramodi इनका सैलून वाले की लॉटरी लगी हुई है narendramodi Haha narendramodi Bhai bhaskar wala bhi saheb ki mauz le rha hai.... 😂😂