Jaiprakashchowksey, Columnist

Jaiprakashchowksey, Columnist

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: खुशी मानसिक शक्ति है, विचार प्रक्रिया में खुशी दुबकी बैठी है और हम बाहर तलाश कर रहे हैं

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: खुशी मानसिक शक्ति है, विचार प्रक्रिया में खुशी दुबकी बैठी है और हम बाहर तलाश कर रहे हैं #Jaiprakashchowksey #columnist

24-06-2021 06:42:00

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: खुशी मानसिक शक्ति है, विचार प्रक्रिया में खुशी दुबकी बैठी है और हम बाहर तलाश कर रहे हैं Jaiprakashchowksey columnist

ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड खुशहाल हैं। वहां खुशी का कोई मंत्रालय भी नहीं है। आंतरिक व्यवस्था के लिए पुलिस है, परंतु सरहदों की सुरक्षा के लिए कोई सेना नहीं है। अमेरिका और इंग्लैंड ने सरहदों की सुरक्षा का अनुबंध किया है। दोनों देशों में प्रकृति की रक्षा की गई है। इन देशों की धरती में कोई ऐसा खनिज भी नहीं है, जिसकी खातिर इनपर कोई देश आक्रमण करे। जब भारत सोने की चिड़िया था, तब लुटेरे भी आए थे। ऑस्ट्रेलिया... | Happiness is mental power, happiness is lurking in the thought process and we are looking out for

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम:खुशी मानसिक शक्ति है, विचार प्रक्रिया में खुशी दुबकी बैठी है और हम बाहर तलाश कर रहे हैं3 घंटे पहलेकॉपी लिंकजयप्रकाश चौकसे, फिल्म समीक्षकऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड खुशहाल हैं। वहां खुशी का कोई मंत्रालय भी नहीं है। आंतरिक व्यवस्था के लिए पुलिस है, परंतु सरहदों की सुरक्षा के लिए कोई सेना नहीं है। अमेरिका और इंग्लैंड ने सरहदों की सुरक्षा का अनुबंध किया है। दोनों देशों में प्रकृति की रक्षा की गई है। इन देशों की धरती में कोई ऐसा खनिज भी नहीं है, जिसकी खातिर इनपर कोई देश आक्रमण करे। जब भारत सोने की चिड़िया था, तब लुटेरे भी आए थे। ऑस्ट्रेलिया में बड़ा भू-भाग एक रेगिस्तान है। मुख्य भू-भाग और रेगिस्तान की सरहद पर जनजातियां रहती हैं।

महिला खिलाड़ियों के तन दिखने और ना दिखने, दोनों ही पर तिलमिलाहट क्यों? - BBC News हिंदी टोक्यो ओलंपिक: क्वार्टरफ़ाइनल में पहुंची भारतीय हॉकी टीम - BBC Hindi टोक्यो ओलंपिक: पीवी सिंधु पहुंची क्वार्टरफ़ाइनल में - BBC Hindi

जनजाति के कुछ लोग शहरों में बस गए हैं। इनके प्रति कोई सौतेला व्यवहार नहीं होता। कुछ विश्वविद्यालय अपने शिक्षकों के कारण, विदेशी छात्रों को आकर्षित करते हैं। यह राष्ट्रीय कमाई का स्रोत है। विदेशों में ज्ञान बांटने के शौकीन लोग भी ऑस्ट्रेलिया नहीं जाते। वहां कोई श्रोता नहीं है और वहां से प्रवासी मत भी नहीं मिल सकते।

ऑस्ट्रेलिया में दो मकानों के बीच कुछ एकड़ का फासला होता है। स्विमिंग पूल, टेनिस कोर्ट हैं। खेलकूद का जुनून है? न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया पड़ोसी देश हैं और उनके बीच खेल, खेले जाते हैं। जीतने का जश्न या हार जाने पर दुख भी नहीं मनाता। वहां खेल भावना स्वत: विकसित हुई है। डरे हुए लोग हथियार खरीदने पर इतना धन खर्च करते हैं कि राष्ट्रीय सेहत और तंदुरुस्ती पर यथेष्ठ ध्यान नहीं दे पाते। headtopics.com

सर डॉन ब्रैडमैन को रोकने के लिए इंग्लैंड ने बॉडीलाइन गेंदबाजी नामक षड्यंत्र रचा। बॉलर की गेंद टप्पा खाने के बाद ब्रैडमैन की पसलियों पर जा लगे। जॉर्डन नामक गेंदबाज प्रशिक्षित किया गया था। ब्रैडमैन बहुत बार चोटिल हुए। इस गेंदबाजी के कारण दोनों देशों के राजनीतिक संबंध टूटने की कगार पर पहुंच गए थे। बॉडीलाइन गेंदबाजी रोक दी गई।

इस पर डॉक्यूड्रामा भी बना था, जो संभवत: दूरदर्शन के पास है। क्रिकेट का खेल कुछ ऐसा है कि जीवन में गलत कार्य करने पर कहा जाता है कि ‘इट्स नॉट क्रिकेट’। क्रिकेट आधारित फिल्म ‘लगान’ में अफसरों की टीम एक बालक को छल से आउट कराती है। दर्शकों में बैठा हुआ अंग्रेज आला अफसर कहता है कि ‘इट्स अनफेयर इट्स नॉट क्रिकेट।’ फ़िल्म ‘दिल बोले हड़िप्पा’ में रानी मुखर्जी पुरुष लिबास में क्रिकेट खेलती है, क्योंकि महिलाओं के क्रिकेट खेलने पर लोग बखेड़ा खड़ा करते हैं। फ़िल्म में, एक पाकिस्तानी खिलाड़ी यह राज बताता है कि यह महिला है। अंपायर कहता है कि क्रिकेट की नियमावली में लिंग भेद नहीं किया गया है।

भारत के क्रिकेट खिलाड़ियों को सबसे अधिक धन मिलता है। पाकिस्तान में सबसे कम धन मिलता है। वे अपने हिस्से का मैच शारजाह में खेलते हैं। वर्तमान में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कभी महान खिलाड़ी रहे हैं। क्या वे देश की क्रिकेट टीम के लिए कुछ करेंगे? पाकिस्तान में सेना और मौलवियों की लॉबी का दखल हर क्षेत्र में है।

अमेरिका और चीन का वहां दबदबा है और इन दोनों देशों में क्रिकेट नहीं खेला जाता। उस दौर में पंडित नेहरू ने भारत को पाकिस्तान की तरह संकीर्ण होने से बचाया। आजकल के हालात का विवरण फहमीदा रियाज ने इस तरह किया है। ‘तुम बिल्कुल हम जैसे निकले, अब तक कहां छिपे थे भाई? वह मूर्खता वह गंवारपन, जिसमें हमने सदी गंवाई। आखिर पहुंची तुम्हारे द्वार। बधाई हो बधाई मेरे भाई। खुशी मानसिक शक्ति है। इसे भी एक प्रकार का वैक्सीनेशन ही माना जाना चाहिए। विचार प्रक्रिया में खुशी दुबकी बैठी है और हम बाहर तलाश कर रहे हैं। headtopics.com

IPS राकेश अस्थाना की नियुक्ति पर हंगामा, AAP विधायक दिल्ली विधानसभा में उठाएंगे मुद्दा West Bengal: मिथुन चक्रवर्ती को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ी राहत, जज ने कहा-फिल्मी डायलॉग से नहीं फैलती हिंसा महाराष्ट्र कैबिनेट का बड़ा फैसला, छात्रों को राहत, निजी स्कूलों को करनी होगी फीस में 15% कटौती और पढो: Dainik Bhaskar »

जानिए UP Cabinet Expansion में किन-किन समीकरणों का रखा जा सकता है ध्यान? देखें शंखनाद

संगठन की ओर से 25,26 और 30 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव भी दिया गया है. जिस पर योगी आदित्यनाथ फैसला करेंगे .जाहिर सी बात है कि मंत्रिमंडल विस्तार में उन सारे समीकरण को ध्यान में रखा जाएगा, जिसे साधकर यूपी में जीत की राह आसान हो सके. संजय निषाद के सांसद बेटे प्रवीण निषाद को मोदी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा थी,लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली तो अब निषाद वोटों को जोड़े रखने के लिए संजय निषाद कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं. निषाद समाज के अलावा राजभर समाज पर भी योगी सरकार की नजर है, जिसका पूर्वांचल में काफी दबदबा है. देखें वीडियो.

क्‍या है निपाह वायरस का भारत में इतिहास, कैसे होता है संक्रमण, जानिए लक्षण?मार्च 2020 में महाबलेश्वर की एक गुफा में ये चमगादड़ पाए गए थे। फिर विशेषज्ञों ने ऐसी अलग-अलग प्रजातियों के चमगादड़ों पर रिसर्च करना शुरू किया तो यह बात सामने आई। इससे पहले देश के कुछ भागों में यह वायरस पाया गया था। लेकिन महाराष्ट्र में इससे पहले कभी चमगादड़ों में यह वायरस नहीं पाया गया। यह वायरस आमतौर पर चमगादड़ों से इंसान के शरीर में आता है।

अब बच्चों के कोरोना टीके की बारी: बच्चों के लिए कोवैक्सिन के इस्तेमाल की मंजूरी सितंबर तक मिल सकती है; फेज-2, 3 की ट्रायल के नतीजों का है इंतजारकोरोना के स्वदेशी टीके कोवैक्सिन के बच्चों के लिए इस्तेमाल की मंजूरी सितंबर तक मिल सकती है। अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने उम्मीद जताई है। गुलेरिया ने कहा है कि बच्चों पर कोवैक्सिन के फेज-2 और फेज-3 के ट्रायल के डेटा सितंबर तक आ जाएंगे और उसी दौरान बच्चों के लिए वैक्सीन की मंजूरी भी मिल सकती है। | Covaxin likely to be approved for children by September says AIIMS director Dr Randeep Guleria आच्छा तो ये ट्रायल था!

‘तुमने हमारी बिरादरी का नाम खराब किया है,’ अनुष्का ने उड़ाया था कपिल शर्मा का मजाककभी-कभी ऐसे मौके भी आते हैं, जब कपिल शर्मा के शो में पहुंचे गेस्ट ही उनका मजाक बना देते हैं। कपिल के शो में पहुंचीं अनुष्का ने एक बार कहा था, ‘अच्छा कपिल जैसे तुम मुझसे कुछ पूछो, इससे पहले मैं तुमसे कुछ पूछना चाहती हूं।’

'राजनीतिक नहीं थी' पवार की मेजबानी में विपक्ष के नेताओं की बैठक पर NCP का बयानशरद पवार के घर मंगलवार को राजनीतिक दलों की बैठक ने 2024 के लोकसभा चुनावों से पहले तीसरे मार्चे की तैयारी की सुगबुगाहट को तेज कर दिया है. इस बैठक में कांग्रेस नदारद थी जबकि तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल और वाम दलों समेत आठ विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए थे. पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि उन्होंने शरद पवार से अपने संगठन राष्ट्र मंच के लिए सभा की मेजबानी करने के लिए कहा था. बताते चलें कि सिन्हा ने साल 2018 में ‘राष्ट्र मंच’ का गठन किया था. Modi ji ko harane ke liye....unse bhi age sochna hoga..... Or ese to bilkul bhi nahi harenge.... True 🇮🇳🙏 Lol

विचार: कंगना रणौत ने की 'इंडिया' का नाम बदलकर 'भारत' करने की मांग, बोलीं- ये नाम गुलामी का प्रतीक हैकंगना रणौत ने की 'इंडिया' का नाम बदलकर 'भारत' करने की मांग, बोलीं- ये नाम गुलामी का प्रतीक है KanganaRanaut Bharat India इसको भी RS सांसद बनना है....परन्तु सवाल यह है कि RS सांसद बनने के बाद ये संसद में करेगी क्या!!🤔 Tum log kangana jayese ladki ke hi baat sunoge hamere sahid jawano se bhi badh kar hai ka kangana jo mane hai wo hi rahega i love you my india🇮🇳 Hindushtan

कोरोना वैरिएंट के खिलाफ कारगर है डबल एंटीबडी थेरेपी, शोध का दावाअमेरिका की वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने मिश्रित उपचारों को दवा प्रतिरोधक क्षमता की रोकथाम में भी प्रभावी पाया है। अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता और वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर माइकल एस डायमंड ने कहा हमें पशुओं पर परीक्षण में कुछ चकित करने वाले परिणाम देखने को मिले।