Jammuandkashmir, Pakistan, Jammu And Kashmir, Political Situation İn Jammu And Kashmir, Current Situation İn Jammu And Kashmir, Situation İn Jammu And Kashmir Now, Situation İn Jammu And Kashmir News, Situation İn Jammu And Kashmir

Jammuandkashmir, Pakistan

जम्मू-कश्मीर में नया राजनीतिक माहौल बनाने की कवायद, कश्मीरियों को अब पाकिस्तान पर भरोसा नहीं

जम्मू- कश्मीर मामले से पाकिस्तान को वैश्विक मंच पर अगल थलग करने की कूटनीतिक सफलता के बाद अब वहां नया राजनीतिक महौल बनाने

22.9.2019

जम्मू-कश्मीर में नया राजनीतिक माहौल बनाने की कवायद, कश्मीरियों को अब पाकिस्तान पर भरोसा नहीं PMOIndia HMOIndia DefenceMinIndia adgpi ImranKhanPTI JmuKmrPolice JammuAndKashmir

जम्मू- कश्मीर मामले से पाकिस्तान को वैश्विक मंच पर अगल थलग करने की कूटनीतिक सफलता के बाद अब वहां नया राजनीतिक महौल बनाने

कूटनीतिकारों के पास मौजूद खुफिया विश्लेषण के मुताबिक कश्मीर के मूल निवासी अब पाकिस्तान से किसी मदद की उम्मीद नहीं कर रहे। वैश्विक स्तर पर पाकिस्तान की राजनीतिक और आर्थिक हालात के मद्देनजर ज्यादातर कश्मीरी अपनी लड़ाई खुद लडने के पक्ष में हैं। इन हालात में पाकिस्तान से शह पर काम करने वाले कश्मीरी अलगावादियों की दुकान भी बंद होती दिख रही है।

राज्य का दर्जा हासिल करने और कश्मीरियत बचाने के मुद्दे के साथ शुरू हो सकता है नया राजनीतिक नैरेटिव

ज्यादातर कश्मीरियों को राजनीतिक समाधान के लिए अब पाकिस्तान पर भरोसा नहीं

सरकार का मानना है कि विकास और अन्य प्रशासनिक व सामाजिक काम के साथ नया राजनीतिक महौल बनने से हालात तेजी से समान्य होगा। सरकार के उच्चपदस्थ सूत्रों के मुताबिक नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) और पिपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) जैसे जम्मू-कश्मीर के पुराने राजनीतिक दल के पास कोई नया मुद्दा नहीं है। राज्य में धारा 370 को खत्म कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के संवैधानिक फैसले ने स्वायत्ता और आजादी जैसे मुद्दे को फिलहाल खत्म ही कर दिया है।

और पढो: Amar Ujala

जम्मू-कश्मीर में बच्चों की नजरबंदी पर सुप्रीम कोर्ट सख्त- एक हफ्ते में मांगी रिपोर्टहाई कोर्ट तक जम्मू-कश्मीर के लोगों के संपर्क की असमर्थता के दावों को सुप्रीम कोर्ट ने नकार दिया। इसके साथ ही बच्चों की कथित नजरबंदी से जुड़ी शिकायतों पर राज्य प्रशासन को नोटिस जारी किया। बिका हुआ कोट

जम्मू कश्मीर: जानिए महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा और इर्तिका के बारे मेंमहबूबा मुफ्ती ने 1984 में जावेद इकबाल से शादी की थी। महबूबा की दो बेटियां है बड़ी बेटी का नाम इल्तिजा और छोटी का इर्तिका MehboobaMufti IltijaMufti Not interested to know about her. MehboobaMufti IltijaMufti they lost their title of princess of valley MehboobaMufti IltijaMufti Ye neta dusare ke bachho ko पत्थर chalwate hai padne nahi dete aur apne bachoo ko विदेश me padate hai ye kha ka न्याय hai

जम्मू कश्मीर: नाबालिगों को हिरासत में रखे जाने पर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड को नोटिस जारीजम्मू कश्मीर: नाबालिगों को हिरासत में रखे जाने पर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड को नोटिस जारी SupremeCourt JammuKashmir DetentionOfChildren JuvenileJusticeBoard सुप्रीमकोर्ट जम्मूकश्मीर बच्चोंकीहिरासत जुवेनाइलजस्टिसबोर्ड हिन्दू विहीन कश्मीर कोई कैसे भूल सकता है। Bahut galat ho Raha hai Kashmir me, Dhara 144 hataya jaye, ye sarasar zulm hai. savekashmir हिन्दू विहीन कश्मीर कोई कैसे भूल सकता है?

Kashmir situation: कश्मीर हालात सुधारने के लिए सरकार ने बनाया नया प्लान, आतंकियों के साथ ये भी होंगे निशाने पर!Kashmir situation पथराव और प्रदर्शनों की घटनाओं में आतंकियों के ओवरग्राउंड वर्करों की भूमिका ही सबसे अहम है। ये लाेग आतंकी संगठनों की तरफ से पोस्टर भी जारी कर रहे हैं। BJP4India बहुत सही कर रहे हैं मोदी जी 70 साल का कचरा साफ करना है तो देश के अंदर गद्दारों को बड़ी तकलीफ हो रही है, कि 30 दिन से इंटरनेट बंद है, लेकिन 30 साल से कश्मीरी पंडित शरणार्थी है हिंदुस्तान में ,उसके लिए नहीं बोला नकली दत्तात्रेय गोत्र जनेऊ धारू तिलकधारी ब्राह्मण? BJP4India अब आजाद कश्मीर फिर सुवर्ग कहलएगा।

India News: जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट से संपर्क होने में दिक्कत का दावा गलत: सुप्रीम कोर्ट - jk high court report does not support claims of difficulty in approaching it | Navbharat TimesIndia News: चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे और जस्टिस एस ए नजीर ने याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश वकील हुजेफा अहमदी से कहा, 'हमें उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से रिपोर्ट मिली है जो आपके बयान का समर्थन नहीं करती है।

आरिफ मोहम्मद खान बोले, जम्मू-कश्मीर में Article-370 का प्रयोग आतंकवाद का अड्डा बनाने के लिए किया जा रहा थाकेरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान (Arif Mohammad Khan) ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान में सेना ही एक स्थिर संस्था है और वह अपना वर्चस्व बनाए रखने के लिए भारत-पाक संबंधों को बेहतर नहीं होने देगी. जयपुर में दीनदयाल स्मृति व्याख्यान को संबोधित करते हुए खान ने कहा कि पाकिस्तान को कश्मीर से कोई लेना देना नहीं है, लेकिन उसकी सेना अपने वर्चस्व को बनाए रखने के लिए इस मुद्दे को जीवित रखना चाहती है. उम्मीद है अब कोई सैनिक शहीद नही होगा आतंकवाद खत्म हो गया है तो🙄🤔 चाचा अभी-अभी तबादला हुआ है, इस सरकार को आलोचना सुनने की आदत नहीं है इसको ख़त्म करने के लिए कौन सी इंसानियत की धारा लागू की आपने.!!

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

22 सितम्बर 2019, रविवार समाचार

पिछली खबर

पंडित की दक्षिणा ही नहीं दान भी आमदनी का हिस्सा, पंडिताइन को देना ही होगा गुजारा भत्ता

अगली खबर

बाइक बोट मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दर्ज किया मामला, 67 लाख रुपये की ठगी का आरोप
पिछली खबर अगली खबर