Jammukashmir, Amitshah, जम्मूकश्मीर, अमितशाह, Latest News In Hindi, India News, Breaking News In Hindi, Headlines In Hindi, News In Hindi

Jammukashmir, Amitshah

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों की रिहाई पर स्थानीय प्रशासन फ़ैसला लेगा, मैं नहीं: शाह

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों की रिहाई पर स्थानीय प्रशासन फ़ैसला लेगा, मैं नहीं: शाह #JammuKashmir #AmitShah #जम्मूकश्मीर #अमितशाह

3.1.2020

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों की रिहाई पर स्थानीय प्रशासन फ़ैसला लेगा, मैं नहीं: शाह JammuKashmir AmitShah जम्मूकश्मीर अमितशाह

बीते अगस्त में केंद्र सरकार के जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और केंद्र शासित प्रदेश बनाकर दो हिस्सों में बांटने के फ़ैसले के पहले से तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत कई स्थानीय नेता हिरासत में हैं.

गृहमंत्री अमित शाह. (फोटो: पीटीआई) नई दिल्ली: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि हिरासत में चल रहे पूर्ववर्ती राज्य जम्मू कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों रिहाई पर फैसला केंद्र शासित प्रशासन करेगा और उनकी सरकार में किसी ने भी इन नेताओं को ‘राष्ट्र विरोधी’ नहीं कहा है. गृह मंत्री ने गुरुवार रात एक समाचार चैनल की ओर से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भड़काऊ बयान देने के कारण फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को ‘कुछ समय’ के लिए हिरासत में रखना पड़ा. शाह ने कहा, ‘कृपया उनके बयानों को देखें जैसे अगर अनुच्छेद 370 को छुआ भी गया तो समूचा देश जल जाएगा… इन्हीं सारे बयानों को देखते हुए कुछ समय के लिए उन्हें हिरासत में रखे जाने का एक पेशेवर फैसला लिया गया.’ मालूम हो कि तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत जम्मू कश्मीर में कई नेताओं को पांच अगस्त को हिरासत में ले लिया गया था. उसी दिन केंद्र ने अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त कर राज्य को दो केंद्र शासित क्षेत्रों- जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख – में बांटने की घोषणा की थी. फारूक अब्दुल्ला पर सख्त जन सुरक्षा कानून (पीएसए) लगाया गया है और उन्हें श्रीनगर में गुपकर रोड स्थित उनके आवास तक ही सीमित कर दिया गया है तथा उनके आवास को ही उपजेल घोषित कर दिया गया है. वहीं, उनके पुत्र उमर अब्दुल्ला को हरि निवास में हिरासत में रखा गया है. पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को शुरु में चश्माशाही हट में रखा गया था लेकिन बाद में उन्हें सरकारी आवास भेज दिया गया. गृह मंत्री से सवाल पूछा गया था कि अब्दुल्ला की नेशनल कांफ्रेंस और मुफ्ती की पीडीपी कभी भाजपा की सहयोगी थी, लेकिन अब उनके नेताओं को ‘राष्ट्र विरोधी’ कहा जा रहा है. इस पर उन्होंने साफ किया कि न तो उन्होंने और न ही सरकार में किसी ने उन लोगों को ऐसा कहा है. उन्होंने आगे कहा, ‘जहां तक उनकी रिहाई के फैसले का सवाल है तो इस पर स्थानीय प्रशासन फैसला लेगा, मैं नहीं.’ उन्होंने कहा कि जब भी उचित लगेगा प्रशासन उन्हें रिहा कर देगा. शाह ने कहा कि कश्मीर घाटी में हालात अब नियंत्रण में हैं और दैनिक दिनचर्या सुचारू रूप से चल रही है. उन्होंने कहा, ‘आज कश्मीर में एक इंच जगह भी कर्फ्यू में नहीं है.’ क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए और पढो: द वायर हिंदी

पश्चिम बंगाल के मदरसों में हिंदू छात्र बढ़े, ये है वजह



PM की टीम की अर्थशास्त्री बोलीं- बजट निराशाजनक, 3 घंटे के भाषण में काम की बात नहीं

'भारतीय बोल्ट' ने कहा, खेल मंत्रालय के ट्रायल में नहीं दौड़ेंगे



महिला अधिकारियों को सेना में मिलेगा स्थाई कमीशन, SC में नहीं चला केंद्र का विरोध

जामिया गोलीकांड में घायल हुआ छात्र, लाइब्रेरी के वीडियो में पत्‍थर लिए दिखा- पुलिस सूत्र



5 लाख करोड़ हो सकता है योगी सरकार का बजट, युवाओं पर फोकस

जेल में बदं किसके आदेश से हुए Shah ji decides: Triple Talaq 370 CAA NPR NRC HumDekhenge ke ab kitna dum baqi hai is TADIPAAR me.. काउची के होम मिनिस्टर हैं आप कि फैसला नहीं ले सकते हैं पर स्थानीय प्रशासन को फ़ोन आप का ही आएगा ना शाह 🤪 Local administration hai kya wanha? 🤔🤔🤔🤔

जम्मू कश्मीर: बस खाई में गिरी, हादसे में 7 लोगों की मौतश्रीनगर. जम्मू कश्मीर के सुंंदरबनी मेंं एक सड़क हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई. | nation News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

370 की समाप्ति के बाद कश्मीर में 80 अस्पतालों में शुरू हुई इंटरनेट सेवाजम्मू। कश्मीर घाटी में शुरुआती गड़बड़ियों के बाद 80 सरकारी अस्पतालों और नर्सिंग होम में इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गई हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अस्पतालों में इंटरनेट सेवाओं की बहाली को घाटी में मरीजों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए बड़ी राहत के तौर पर देखा जा रहा है।

राजस्थान के कोटा में बीते एक महीने में एक ही अस्पताल में 100 नवजात की मौतराजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है. जेके लोन अस्पताल में पिछले 48 घंटे में नौ और नवजात बच्चों की मौत हो गई है. इसके साथ ही एक महीने के अंदर अब तक कुल सौ बच्चे दम तोड़ चुके हैं. इस हरामी को बोलो प्राइम टाइम करने गोरखपुर के लिए तो रोज प्राइम टाइम पर छाती पीट पीट कर रोता था सेकुलर दल्ला 👊👊 Where is ravish Kumar, prime time kb karega Annual Infant deaths India-900000 Avg. Infant deaths Per dist.- 1500 Per day /dist.Infant deaths-4 (Approx no. But Govt.figures) Collect all data, results present a different image. As for J.K. lone hospital..ask OM BIRLA ,where did the funds go..for past 17 years.

जम्मू-कश्मीर के इन नेताओं की जल्द हो सकती है रिहाईJammu And Kashmir Leader. सबजेल एमएलए हॉस्टल में बीते एक माह से बंदी बनाकर रखे गए पांच से छह नेताओं को छोड़ अन्य सभी को जल्द ही रिहा किया जा सकता है।

कश्मीर में मोबाइल एसएमएस सेवा क्या सच में शुरू हुई?जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने घोषणा की थी कि 1 जनवरी से एसएमएस सेवा बहाल हो जाएगी. Hmm... Wait and watch तुम्हारी क्यों फट रही है8

शोध में दावा, खुशी और पीड़ा के बीच संतुलन बनाता है मस्तिष्क में मौजूद सर्किटमस्तिष्क में इस तरह की सर्किट का खुलासा अमेरिका के कोल्ड स्प्रिंग हार्बर लैबोरेटरी के शोध में हुआ है जो हाल ही न्यूरॉन जर्नल में प्रकाशित हुआ है। HumanMind Research

जामिया के वीडियो पर बवाल, कपिल सिब्बल ने दिल्ली पुलिस पर साधा निशाना

कोच नंबर-B5, सीट नंबर-64, यात्री का नाम 'शिव', भोले की सीट रिजर्व

आसिम रियाज के लिए BIG NEWS, शाहरुख की बेटी सुहाना संग करेंगे ये फिल्म!

Tejas First Look: एयरफोर्स पायलट के अवतार में धाकड़ दिखीं कंगना रनौत, छा गया अंदाज

सुबह सुबह: कश्मीर भारत का अभिन्न अंग- विदेश मंत्रालय

कौन था औरंगजेब का भाई दारा शिकोह, जिसकी दिल्ली में कब्र खोज रही है मोदी सरकार?

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

03 जनवरी 2020, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

आयुष्मान भारत-जन आरोग्य योजना के तहत दो लाख से ज़्यादा फ़र्ज़ी गोल्डन कार्ड बनाए गए

अगली खबर

मेजर आशाराम त्यागी का बलिदान नहीं भुलाया जा सकता: वीके सिंह
पश्चिम बंगाल के मदरसों में हिंदू छात्र बढ़े, ये है वजह PM की टीम की अर्थशास्त्री बोलीं- बजट निराशाजनक, 3 घंटे के भाषण में काम की बात नहीं 'भारतीय बोल्ट' ने कहा, खेल मंत्रालय के ट्रायल में नहीं दौड़ेंगे महिला अधिकारियों को सेना में मिलेगा स्थाई कमीशन, SC में नहीं चला केंद्र का विरोध जामिया गोलीकांड में घायल हुआ छात्र, लाइब्रेरी के वीडियो में पत्‍थर लिए दिखा- पुलिस सूत्र 5 लाख करोड़ हो सकता है योगी सरकार का बजट, युवाओं पर फोकस
जामिया के वीडियो पर बवाल, कपिल सिब्बल ने दिल्ली पुलिस पर साधा निशाना कोच नंबर-B5, सीट नंबर-64, यात्री का नाम 'शिव', भोले की सीट रिजर्व आसिम रियाज के लिए BIG NEWS, शाहरुख की बेटी सुहाना संग करेंगे ये फिल्म! Tejas First Look: एयरफोर्स पायलट के अवतार में धाकड़ दिखीं कंगना रनौत, छा गया अंदाज सुबह सुबह: कश्मीर भारत का अभिन्न अंग- विदेश मंत्रालय कौन था औरंगजेब का भाई दारा शिकोह, जिसकी दिल्ली में कब्र खोज रही है मोदी सरकार?