जम्मू और कश्मीर में ये सरकार शांति खरीदने पर यकीन नहीं रखतीः मनोज सिन्हा - BBC Hindi

जम्मू और कश्मीर में ये सरकार शांति खरीदने पर यकीन नहीं रखतीः मनोज सिन्हा

24-10-2021 14:32:00

जम्मू और कश्मीर में ये सरकार शांति खरीदने पर यकीन नहीं रखतीः मनोज सिन्हा

जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को 'हिंसा भड़काने वाले तत्वों को चेतावनी देते हुए' कहा कि 'सरकार शांति खरीदने पर यकीन नहीं रखती है.

साल 2019 में अनुच्छेद 370 को ख़त्म करने के बाद केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर के दौरे पर पहली बार आए गृह मंत्री अमित शाह के साथ एक जनसभा में लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा ने जम्मू में एक जनसभा के दौरान ये बात कही.मनोज सिन्हा ने कहा कि कश्मीर के प्रवासियों ने बड़ी समस्याओं का सामना किया है और उनकी सरकार ने उन समस्याओं के निदान के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत की है.

Omicron की महाराष्ट्र के बाद राजस्थान में दहशत, 9 नए केस के साथ देश में हुए कुल 21 संक्रमित महाराष्ट्र में Omicron ने बढ़ाई टेंशन, नाइजीरिया से लौटे परिवार के 6 लोग संक्रमित, देश में कुल 12 केस अमित शाह का गहलोत पर बड़ा हमला, राजस्थान में लॉ एंड ऑर्डर नहीं, 'लो और ऑर्डर करो' सरकार

उन्होंने बताया,"हमें 6000 शिकायतें मिली हैं और उनमें हमने 2000 शिकायतों का समाधान किया है. बाक़ी शिकायतों का भी निपटारा किया जाएगा."उन्होंने कहा कि"कुछ लोग कश्मीर की आवाम की भावनाएं भड़काने की नापाक कोशिश कर रहे हैं ताकि यहां हिंसा भड़काई जा सके. मैं उन्हें ये बता देना चाहता हूं कि उन्हें ये जान लेना चाहिए कि दिल्ली में किसकी सरकार है और भारत का गृह मंत्री कौन है."

उन्होंने आगे कहा,"ये सरकार शांति खरीदने में यकीन नहीं रखती है. बल्कि वो जम्मू और कश्मीर में ज़मीन पर अमन लाने में पक्का यकीन रखती है." और पढो: BBC News Hindi »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

Santi hai kanha na J&k aur nahi Bharat mai!!! आंतक में विश्वास रखती है तो जसवंतसिंह के दौर में क्या हुआ था सिन्हा..? छोटी मुंह और बड़ी बातें..! अपने विगत का अध्ययन तो कर ले महामहिम..!! 🤣🤣kharid bhi nehi paoge.. kyun ki sab bikte nehi hain .....

जम्मू-कश्मीर पहुंचे अमित शाह, ड्रोन और शार्पशूटर तैनात, डल झील पर भी कड़ा पहरागृह मंत्री अमित शाह तीन दिन के कश्मीर दौरे पर हैं। सुरक्षा को देखते हुए चाक चौबंद व्यवस्था की गई है।

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में एनकाउंटर साइट से IED बरामद, राजौरी से भी मिले 591 बुलेट्सजम्मू-कश्मीर में सेना के जवान आतंकियों का एनकाउंटर कर रहे हैं. घाटी में आतंकी वारदातों के बढ़ने के बाद से ही सुरक्षाबल आतंकियों को मौत के घाट उतारने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे. इस बीच, पुंछ में सेना के जवानों को एक और आईईडी बरामद हुई है. सिक्योरिटी फोर्सेज ने इसे डिफ्यूज कर दिया है.

Live: जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में बर्फबारी से फंसे 2 की मौत, 2 सुरक्षित बचाए गए24 October 2021, Breaking News Today Updates:आज रविवार है लेकिन खबरों की दुनिया आज काफी हलचल रहने वाली है. आज क्रिकेट की पिच पर भारत पाकिस्तान की टक्कर होने वाली है. विश्व के करोड़ों क्रिकेट प्रशंसक इस मुकाबले का इंतजार कर रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मन की बात रेडियो कार्यक्रम को संबोधित करने वाले हैं. इसके अलावा आज लालू यादव 41 महीने बाद पटना लौट रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर: आतंकियों ने सीआरपीएफ पार्टी पर किया हमला, क्रॉस फायरिंग में नागरिक की मौतजम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में रविवार को सीआरपीएफ पार्टी पर हमला कर दिया। इस दौरान क्रॉस फायरिंग में एक नागरिक की

गृह मंत्री अमित शाह की तीन दिवसीय जम्‍मू-कश्‍मीर यात्रा शनिवार से, सुरक्षा के कड़े इंतजामगृह मंत्री शनिवार की सुबह 10 बजे श्रीनगर लैंड करेंगे.राजभवन-गुपकर रोड पर, जहां शाह ठहरेंगे, वहां के 20 किमी के दायरे में सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम किए गए  हैं.अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की कश्मीर घाटी की यह पहली यात्रा है. एक सम्मानीय कदंब... गधा है यह तोह Ek vo they aur ek yeh hain.

पाकिस्तान के पूर्व राजदूत बोले, जम्मू-कश्मीर में दुबई का निवेश भारत की बड़ी सफलतादुबई के जम्मू-कश्मीर में इन्वेस्टमेंट समझौते के बाद से पाकिस्तान की इमरान सरकार को उनके अपने ही कोस रहे हैं। पूर्व राजदूत अब्दुल बासित ने इमरान खान की विदेशनीति पर जमकर निशाना साधा है।