Jammukashmir, Ganderbal, Sindhdrain, Jammu Kashmir News, Kishtwar Cloudburst, Rescue Operation, Exclusive, Bashir Mir, जम्मू कश्मीर समाचार, Jammu News İn Hindi, Latest Jammu News İn Hindi, Jammu Hindi Samachar

Jammukashmir, Ganderbal

जम्मू-कश्मीर : गांदरबल का जांबाज बशीर सिंध नाले से अब तक बचा चुका 19 की जानें

मध्य कश्मीर का गांदरबल जिला अपनी खूबसूरती और वहां से गुजरने वाले सिंध नाले के लिए काफी मशहूर है।

30-07-2021 23:26:00

जम्मू-कश्मीर : गांदरबल का जांबाज बशीर सिंध नाले से अब तक बचा चुका 19 की जानें JammuKashmir Ganderbal SindhDrain

मध्य कश्मीर का गांदरबल जिला अपनी खूबसूरती और वहां से गुजरने वाले सिंध नाले के लिए काफी मशहूर है।

हाल ही में दो दिन पहले सत्रुना गांदरबल में भी शाम को करीब छह बजे बशीर ने तीन युवकों को बचाने में एसडीआरएफ टीम की मदद की। यह तीनों युवक अचानक सिंध में पानी बढ़ जाने से बीच में फंस गए थे। बशीर ने बताया कि शाम करीब साढ़े पांच उसे फोन आया और वो बचाव कार्य के लिए पहुंच गया। सोनमर्ग में बादल फटने से उस समय सिंध में जल स्तर सामान्य से दोगुना था।

सोनू सूद ने 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की: आयकर विभाग - BBC News हिंदी कैप्टन अमरिंदर सिंह क्या पंजाब कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन सकते हैं - BBC News हिंदी कानूनी ढांचे पर छलका CJI का दर्द: चीफ जस्टिस रमना बोले- देश में अब भी गुलामी के दौर की न्याय व्यवस्था, यह भारत के हिसाब से ठीक नहीं

बशीर ने बताया कि वो बचपन से ही काफी समय इस सिंध नाले के करीब बिता चुके हैं और इस तेज बहाव वाले सिंध नाले में बचपन से ही तैराकी करते आए हैं। इससे उनका अनुभव ऐसे पानी में तैरने का काफी बढ़ गया है। बशीर के अनुसार ऐसे तेज बहाव वाले पानी में किसी भी ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए एक हुनर और दूसरा जज़्बे की जरूरत होती है। फिटनेस लेवल का होना काफी महत्व रखता है क्योंकि तेज बहाव वाले पानी में तैरने से व्यक्ति काफी थक जाता है।

पुलिस से पहले लोग बशीर को करते हैं फोनबशीर ने बताया कि लोगों को पता है कि बशीर एक प्रोफेशनल तैराक है और जब भी कभी ऐसी घटना घटती है तो पुलिस और एसडीआरएफ से पहले मुझे ही लोग फोन करके बताते हैं। अभी तक वह करीब 70 से अधिक रेस्क्यू ऑपरेशन को एसडीआरएफ और पुलिस के साथ अंजाम दे चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 19 कीमती जानें बचाई हैं और 51 से ज्यादा शव निकाले हैं। बशीर ने बताया कि सिंध में अक्सर ऐसी घटनाएं होती हैं कभी राफ्ट पलट जाता है तो कभी कोई और हादसा हो जाता है। सबसे बड़े ऑपरेशन को उन्होंने वर्ष 2011 में सोनमर्ग में अंजाम दिया, जब एक ही स्कूल की महिला शिक्षक जिस राफ्ट में सवार थीं, वो पलट गया। उसमें उन्होंने 4 शिक्षकों को जिंदा निकाला जबकि 2 की मौत हो गई। headtopics.com

विस्तार यह सिंध नाला हर साल किसी न किसी बड़े हादसे का गवाह बनता है। लेकिन जिले के कंगन इलाके का रहने वाला बशीर मीर एक ऐसा शख्स है जो जिले में वॉइल पुल से लेकर सोनमर्ग तक कोई भी हादसा होने के दौरान पानी में कूदकर रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम देने वाला पहला शख्स होता है। अभी तक वह करीब 70 से अधिक रेस्क्यू ऑपरेशन अंजाम दे चुका है, जिसमें उसने 19 जानें बचाई हैं, जबकि 51 से अधिक शव निकाले हैं।

विज्ञापनहाल ही में दो दिन पहले सत्रुना गांदरबल में भी शाम को करीब छह बजे बशीर ने तीन युवकों को बचाने में एसडीआरएफ टीम की मदद की। यह तीनों युवक अचानक सिंध में पानी बढ़ जाने से बीच में फंस गए थे। बशीर ने बताया कि शाम करीब साढ़े पांच उसे फोन आया और वो बचाव कार्य के लिए पहुंच गया। सोनमर्ग में बादल फटने से उस समय सिंध में जल स्तर सामान्य से दोगुना था।

बशीर ने बताया कि वो बचपन से ही काफी समय इस सिंध नाले के करीब बिता चुके हैं और इस तेज बहाव वाले सिंध नाले में बचपन से ही तैराकी करते आए हैं। इससे उनका अनुभव ऐसे पानी में तैरने का काफी बढ़ गया है। बशीर के अनुसार ऐसे तेज बहाव वाले पानी में किसी भी ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए एक हुनर और दूसरा जज़्बे की जरूरत होती है। फिटनेस लेवल का होना काफी महत्व रखता है क्योंकि तेज बहाव वाले पानी में तैरने से व्यक्ति काफी थक जाता है।

पुलिस से पहले लोग बशीर को करते हैं फोनबशीर ने बताया कि लोगों को पता है कि बशीर एक प्रोफेशनल तैराक है और जब भी कभी ऐसी घटना घटती है तो पुलिस और एसडीआरएफ से पहले मुझे ही लोग फोन करके बताते हैं। अभी तक वह करीब 70 से अधिक रेस्क्यू ऑपरेशन को एसडीआरएफ और पुलिस के साथ अंजाम दे चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 19 कीमती जानें बचाई हैं और 51 से ज्यादा शव निकाले हैं। बशीर ने बताया कि सिंध में अक्सर ऐसी घटनाएं होती हैं कभी राफ्ट पलट जाता है तो कभी कोई और हादसा हो जाता है। सबसे बड़े ऑपरेशन को उन्होंने वर्ष 2011 में सोनमर्ग में अंजाम दिया, जब एक ही स्कूल की महिला शिक्षक जिस राफ्ट में सवार थीं, वो पलट गया। उसमें उन्होंने 4 शिक्षकों को जिंदा निकाला जबकि 2 की मौत हो गई। headtopics.com

नोटबंदी का नहीं हुआ असर: NCRB की रिपोर्ट में खुलासा, महाराष्ट्र में एक साल में 83.61 करोड़ रुपए के फर्जी नोट बरामद हुए, देश में नकली करेंसी बरामदगी 190 प्रतिशत बढ़ी कैप्टन अमरिंदर सिंह ने NDTV से कहा- सिद्धू पाकिस्तान समर्थक, उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता पंजाब के बाद CG का नंबर!: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाए जाने के सख्त फैसले के बाद सबकी निगाहें छत्तीसगढ़ पर; यहां भी CM बदले जाने की है चर्चा

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

Breaking News Live Updates: देश-दुनिया की ब्रेकिंग न्यूज

छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल को गिरफ्तार किया गया है। रायपुर पुलिस ने विवादित बयान देने के सिलसिले में यह गिरफ्तारी की है। उधर उत्तर प्रदेश में आज बड़ी सियासी हलचल हो रही है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath), बीएसपी सुप्रीम मायावती (Mayawati) और AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) एक साथ ऐक्टिव हैं। आज हरियाणा के करनाल में किसानों की महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) है। इसको देखते हुए प्रशासन ने करनाल समेत 5 जिलों में इंटरनेट सेवा को बंद (Internet Ban) कर दिया और करनाल में धारा-144 लागू कर दिया है। अफगानिस्तान (Afghanistan) में सरकार बनाने जा रहे तालिबान ने चीन और पाकिस्तान के साथ CPEC परियोजना (CPEC Project) में शामिल होने की इच्छा जताई है। तमाम ब्रेकिंग न्यूज (Breaking News) और ताजा खबरें (Latest News in Hindi) आपको सबसे पहले नवभारत टाइम्स ऑनलाइन पर मिलेंगी। तो बने रहिए हमारे साथ...

जम्मू-कश्मीर : कई गांवों का संपर्क कटा, मचैल सेक्टर में फंसे 300 से ज्यादा लोगजम्मू-कश्मीर : कई गांवों का संपर्क कटा, मचैल सेक्टर में फंसे 300 से ज्यादा लोग JammuKashmir Rain India Tv Rajat: 'Kashmir में कुदरत का केहर' और 'पकिस्तान में हिन्दूओ पर अत्याचार' जन्तर्मन्तर पर किसान आंदोलन में ना जाने के लिए Delhi Police ने Alka Lamba को घर में ही केद किया। Rajat यह Modi सरकार का केहर है या अत्याचार?

बारिश-बाढ़ का कहर: जम्मू-कश्मीर और हिमाचल में 18 लोगों की मौत; उत्तराखंड में 80 गांवों का संपर्क टूटा; राजस्थान में 1 अगस्त तक भारी बारिश होगीतेज बारिश पहाड़ी राज्यों पर कहर बनकर टूटी है। बुधवार को जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बादल फटने और बारिश की वजह से हुए हादसों में 18 लोगों की मौत हो गई और 50 लापता हैं। उत्तराखंड में ऋषिकेश-चीला मार्ग पर बीन नदी का जलस्तर बढ़ गया है। इससे 80 गांवों से संपर्क टूट गया है। इधर राजस्थान में भी मानसून सक्रिय होने की वजह से बुधवार को भी कई जिलों में बारिश हुई। मौसम विभाग का कहना है कि 1 अगस्त तक पूर्व... | Weather Forecast Update; Jammu Kashmir Cloudburst, Mumbai Rajasthan Rain Alert Today | Himachal Pradesh Flood Situation Sad to see

भारत ने पाकिस्तान-चीन के साझा बयान में कश्मीर के ज़िक्र पर जताई नाराजगी - BBC Hindiभारत ने कहा है कि वो साझा बयान में कश्मीर के किसी भी संदर्भ को ख़ारिज करता है. चीन की मा का भो स ड़ा

पाकिस्तान कश्मीर चुनाव पर भारत की प्रतिक्रिया से नाराज़, राजनयिक को किया तलब - BBC Hindiपाकिस्तान ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में हुए चुनाव पर भारत की प्रतिक्रियाओं का 'खंडन' करने के लिए इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग के एक शीर्ष राजनयिक को तलब किया. ये तो एक फॉर्मेलिटी है। Aditya Birla sun life insurance is a fraud company and looting the people through their insurance policies. I request to all Indians not to purchase the insurance policies of Aditya Birla sun life insurance. Otherwise, you have to weep for your decision.

बारिश के बाद जम्मू-कश्मीर की नदियां उफान पर, ऐसा दिख रहा नजाराखराब मौसम के कारण जम्मू-कश्मीर में बहने वाली तमाम नदियां उफान पर हैं। अखनूर में चिनाब नदी का जलस्तर बढ़ने से लोगों के बीच दहशत का माहौल है। इसके अलावा कश्मीर घाटी में भी कई नदियों का जलस्तर बढ़ने के बाद प्रशासन अलर्ट पर है।

पाक अधिकृत कश्मीर में चुनाव: अपनों के ही निशाने पर आए इमरान खाननियंत्रण रेखा पर खामोशी छाई है और पूरा ध्यान अब उस मुजफ्फराबाद (पाक अधिकृत कश्मीर) पर केंद्रित हो गया है, जहां पिछले