Jammu Kashmir, Amit Shah, Home Minister, जम्मू-कश्मीर, अमित शाह, गृह मंत्री, राष्ट्रपति शासन

Jammu Kashmir, Amit Shah

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के विस्तार को लोकसभा में मंजूरी

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के विस्तार को लोकसभा में मंजूरी

28.6.2019

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के विस्तार को लोकसभा में मंजूरी

जम्मू एवं कश्मीर में 3 जुलाई से छह महीने के लिए राष्ट्रपति शासन का विस्तार करने की लोकसभा ने शुक्रवार को अनुमति दे दी. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि केंद्र तैयार है, चुनाव आयोग जब चाहे राज्य में विधानसभा चुनाव कराने का फैसला ले सकता है. राज्य में दिसंबर से राष्ट्रपति शासन लागू है.

जम्मू एवं कश्मीर में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा लाए गए एक वैधानिक प्रस्ताव पर बहस के दौरान जवाब देते हुए शाह ने विपक्षी कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में राज्य में विधानसभा चुनाव नहीं कराने को लेकर कांग्रेस सरकार पर सवाल खड़ा कर रही है, लेकिन सबसे पुरानी पार्टी ने 93 बार चुनी हुई सरकार को राज्य से हटा दिया था. धारा 370 को लेकर भी शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि यदि आज जम्मू एवं कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाला प्रावधान मौजूद है, तो सिर्फ भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के कारण. शाह ने कहा कि धारा 370 एक अस्थायी प्रावधान था. उन्होंने कहा,"विभाजित सभी रियासतों में से धारा 370 केवल जम्मू एवं कश्मीर पर लागू होती है, जिसे नेहरू द्वारा नियंत्रित किया जा रहा था, जबकि बाकी सरदार (वल्लभभाई) पटेल की देखरेख में थे."

शाह ने शुक्रवार को 3 जुलाई से छह महीने के लिए जम्मू एवं कश्मीर में राष्ट्रपति शासन का विस्तार करने को लेकर लोकसभा में एक वैधानिक प्रस्ताव पेश किया. प्रस्ताव पेश करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव साल के अंत तक होगा. शाह ने कहा कि चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव स्थगित करने के लिए सहमति व्यक्त की है और इन्हें आगामी अमरनाथ यात्रा के बाद आयोजित किया जाएगा. उन्होंने कहा,"इस समय जम्मू एवं कश्मीर में चुनाव कराना संभव नहीं है. चुनाव आयोग ने फैसला किया है कि साल के अंत तक राज्य में चुनाव कराए जाएंगे." जम्मू एवं कश्मीर में चुनाव नहीं कराने के लिए कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की आलोचना की.जम्मू एवं कश्मीर की स्थिति के लिए नेहरू को दोषी ठहराते हुए, शाह ने कहा कि उनकी सरकार को कांग्रेस से लोकतंत्र पर सबक लेने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि राज्य में जब कांग्रेस सत्ता में थी तब सभी चुनाव लोकतंत्र के नाम पर एक 'मजाक' थे.

अतीत की बात करते हुए शाह ने कहा,"1953 में, जब एक देश में दो प्रधानमंत्रियों वाली बात के खिलाफ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विरोध करने के लिए कश्मीर गए थे, तो उन्हें जेल में डाल दिया गया था." शाह ने पूछा,"उनकी हत्या की जांच नहीं की गई, क्यों? क्या वह एक वरिष्ठ विपक्षी नेता नहीं थे, बंगाल के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री नहीं थे?" पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के अस्तित्व के लिए नेहरू को दोषी ठहराते हुए, शाह ने कहा,"उस वक्त संघर्ष विराम की घोषणा किसने की थी? वह नेहरू थे, जिन्होंने यह किया और उस भाग (पीओके) को पाकिस्तान को दे दिया."शाह ने कहा,"आप हम पर आरोप लगाते हैं कि हम लोगों को विश्वास में लेकर नहीं चलते हैं, लेकिन नेहरू ने तब के गृहमंत्री को विश्वास में लिए बिना यह कदम उठाया। हमें इतिहास मत सिखाएं." उन्होंने कहा कि कश्मीर में एक समय ऐसा भी था, जब भारत का नाम वहां नहीं था. भारतीय स्टेट बैंक के निशान पर भारतीय शब्द को कपड़े से ढक दिया जाता था.

शाह ने कहा कि लोग कहते हैं कि जम्मू एवं कश्मीर में डर का माहौल है. शाह ने कहा,"जो लोग भारत के खिलाफ खड़े हैं उनके दिल में डर होना बेहद जरूरी है. हम जम्मू एवं कश्मीर के आम नागरिकों के खिलाफ नहीं हैं."गृहमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य में पिछले सालों में बहुत काम किया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान राज्य में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। शाह ने कहा कि राज्य में आतंक के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी.

और पढो: NDTVIndia
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

भारत-वेस्टइंडीज मुकाबले में बारिश की आशंका, पिच से गेंदबाजों को मिल सकता है फायदावर्ल्ड कप में भारतीय टीम का छठा मुकाबला मैनचेस्टर में वेस्टइंडीज से होने जा रहा है। वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने धमाकेदार प्रदर्शन किया है। टीम इंडिया के प्रशंसकों को उम्मीद है कि विराट की सेना वर्ल्ड कप की ट्रॉफी लेकर भारत लौटेगी है। भारतीय टीम टूर्नामेंट में अभी तक अपराजित रही है। मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर बारिश को लेकर आशंकाएं जताई जा रही हैं। बारिश के कारण टीम इंडिया को इंडोर अभ्यास करना पड़ा था। सोमवार से यहां रूक-रूककर बारिश हो रही है। इसलिए पिच में नमी से गेंदबाजों को फायदा मिल सकता है।

'देश में है मुस्लिम विरोधी माहौल', आरिफ खान बोले- आप पाकिस्तान में रहना चाहती हैं?आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि आप पाकिस्तान में रहना चाहती हैं? जहां हर जुमे को मस्जिदों में बम फेंके जाते हैं! आप सीरिया में रहना चाहती हैं या यमन में रहना चाहती हैं या वहां रहना चाहती हैं, जहां इंसानों के अधिकार महफूज हैं! romanaisarkhan हिंदुस्तान से ज्यादा प्यार पूरे विश्व में कहीं नहीं है जो दुरुस्त नहीं है उसे तरस करो कड़वाहट मत बढ़ाओ और केवल अज्ञान कोई नहीं प्रेम और इसकी समावेश को भी देखो 😱😎

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां
 • • • • • • • • • • •
• • • • • • • • • • • •

अब भाइयों की ज़िद से बंटवारे की कगार पर Godrej– News18 हिंदीभारत के अमीर घरानों में से एक गोदरेज घराने में बंटवारे की तैयारी हो रही है. गोदरेज परिवार के पास हजारों करोड़ रुपये की जमीनें और कई इंडस्ट्री में हिस्सेदारी है.

महाराष्ट्र में बड़ा चारा घोटाला, बीजेपी-शिवसेना समर्थित नेताओं ने लूटा सरकारी खजाना!एक चैनल के स्टिंग में इस बात का खुलासा किया गया है। स्टिंग में दावा किया गया है महाराष्ट्र में बिहार जैसा ही चारा घोटाला हुआ है। स्टिंग में राज्य के बीड जिले में चारा कैंपों में बीजेपी-शिवसेना समर्थित एनजीओ द्वारा लूट और हेराफेरी के बारे में बताया गया है। इब तो लालू जी से कोई शिकायत नहीं रहेगी!! Sab Chor hain par sab ki kismat Laloo jitni Kharab nahi... Aaapwala चारा घोटाले में नाम केवल लालू के ही नही आएगा बल्कि महाराष्ट्र की शिवसेना और भाजपा के विधायकों का भी होगा। कोई भक्त है जो इसमे अपनी सफाई पेश करेगा।

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां
 • • • • • • • • • • •
• • • • • • • • • • • •

ये हैं Reliance Jio के वो प्लान जिनमें रोजाना मिलते हैं 1.5GB डेटारिलायंस जियो के किसी भी मंथली प्लान में रोजाना कम से कम 1.5 जीबी डेटा मिलता है. और सबसे खराब भी।। ये पेट्रोल भी Reliance petroleum का है जो सबसे घटिया है जब नेटवर्क ही नही आता है तो सस्ता होने का क्या फायदा 3र्ड क्लास नेटवर्क

Team India। भारतीय टीम की भगवा जर्सी का कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने किया विरोधआईसीसी क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 में इंग्‍लैंड के खिलाफ मैच के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के भगवा जर्सी में खेलने के कयासों को लेकर सियासत गर्मा गई है। भारत में राजनीतिक दलों ने इस जर्सी पर आपत्ति ली है। इस मामले को लेकर नेताओं ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। हालांकि आधिकारिक रूप से इस रंग में टीम इंडिया कोई जर्सी सामने नहीं आई है। इससे पहले ये खबरें भी आई थीं कि अफगानिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया ऑरेंज जर्सी में दिखाई दे सकती है, लेकिन क्रिकेटर ब्लू रंग जर्सी में ही दिखाई दिए।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

29 जून 2019, शनिवार समाचार

पिछली खबर

यूपी के बिजनौर में गाड़ियों की चेकिंग के दौरान पुलिस ने कथित तौर पर की शख़्स की पिटाई, मौत

अगली खबर

केरल: स्थानीय निकाय के उपचुनाव में BJP को मिली खुशखबरी, इतनी सीटें जीतीं
यूपी के बिजनौर में गाड़ियों की चेकिंग के दौरान पुलिस ने कथित तौर पर की शख़्स की पिटाई, मौत केरल: स्थानीय निकाय के उपचुनाव में BJP को मिली खुशखबरी, इतनी सीटें जीतीं