Chattisgarh, Ips, Adg, Gpsingh, Chhattisgarh, Bilaspur High Court, Ips Adg Gp Singh, Disproportionate Assets Case, No Relief From High Court

Chattisgarh, Ips

छत्तीसगढ़: निलंबित आइपीएस एडीजी जीपी सिंह को झटका, नहीं मिली हाई कोर्ट से राहत, गिरफ्तारी की बढ़ी संभावना

निलंबित आइपीएस एडीजी जीपी सिंह को झटका #Chattisgarh #IPS #ADG #GPSingh

23-07-2021 22:13:00

निलंबित आइपीएस एडीजी जीपी सिंह को झटका Chattisgarh IPS ADG GPSingh

आय से अधिक संपत्ति और राजद्रोह के आरोपित निलंबित आइपीएस जीपी सिंह को छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट से भी झटका लगा है। कोर्ट ने उनके अंतरिम राहत के आवेदन को खारिज कर दिया है। इस फैसले के बाद जीपी सिंह की गिरफ्तारी की संभावना बढ़ गई है।

आय से अधिक संपत्ति और राजद्रोह के आरोपित निलंबित आइपीएस जीपी सिंह को छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट से भी झटका लगा है। कोर्ट ने उनके अंतरिम राहत के आवेदन को खारिज कर दिया है। वहीं उनकी याचिका को कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है, जिस पर आगे बहस जारी रहेगी। कोर्ट के इस फैसले के बाद जीपी सिंह की गिरफ्तारी की संभावना बढ़ गई है।

तालिबान का हज्जामों को हुक़्म- 'ना शेव करें और ना ही दाढ़ी काटें' - BBC News हिंदी भारत बंदः दिल्ली एनसीआर में जाम, पंजाब-हरियाणा में ट्रेनों पर असर - BBC News हिंदी मोईन अली टेस्ट क्रिकेट से रिटायर हुए, इंग्लैंड के लिए 64 मैच खेलने के बाद कहा अलविदा - BBC Hindi

आय से अधिक संपत्ति और राजद्रोह के आपराधिक प्रकरण को चुनौती दी थीनिलंबित आइपीएस जीपी सिंह ने वरिष्ठ अधिवक्ता किशोर भादुड़ी के जरिए हाई कोर्ट में याचिका दायर कर अपने खिलाफ दर्ज आय से अधिक संपत्ति और राजद्रोह के आपराधिक प्रकरण को चुनौती दी है। उन्होंने पूरे मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआइ) से कराने व राज्य शासन की कार्रवाई पर रोक लगाते हुए अंतरिम राहत देने की गुहार लगाई थी।

याचिकाकर्ता के वकील ने कहा- आय से अधिक संपत्ति का मामला नहीं बनतायह भी पढ़ें20 जुलाई को इस प्रकरण की सुनवाई जस्टिस एनके व्यास की एकलपीठ में हुई थी। इस दौरान राज्य शासन द्वारा मामले की केस डायरी प्रस्तुत की गई। इस पर बहस करते हुए याचिकाकर्ता के वकील किशोर भादुड़ी ने कहा कि आइपीएस सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला नहीं बनता। दरअसल उन्हें फंसाने के लिए दूसरे की संपत्ति को उनका बताया गया है। इसी तरह संपत्ति का आंकड़ा बढ़ाने के लिए म्यूचुअल फंड का गलत तरीके से मूल्यांकन किया गया है। एडीजी जीपी सिंह को फंसाने राजद्रोह का अपराध दर्ज किया है जो अवैधानिक है। राजद्रोह के प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का भी हवाला दिया गया है। headtopics.com

यह भी पढ़ेंहाई कोर्ट ने निलंबित आइपीएस के अंतरिम राहत आवेदनपत्र को किया खारिजसभी पक्षों को सुनने के बाद जस्टिस व्यास ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। इस पर उन्होंने शुक्रवार को आदेश जारी कर दिया। कोर्ट ने निलंबित आइपीएस के अंतरिम राहत आवेदनपत्र को खारिज कर दिया है।

और पढो: Dainik jagran »

टेम्पो ड्राइवर की बेटी बनीं ओपनर बल्लेबाज: नागौर की संध्या 7 साल पहले पिता के साथ पहुंची हैदराबाद, स्टेडियम में मैच देखा तो क्रिकेट खेलना शुरू किया, अब हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी

नागौर जिले के छोटे से गांव तामड़ोली की 14 साल की संध्या गौरा का बीसीसीआई के अंडर-19 विमन वनडे टूर्नामेंट में चयन हुआ है। संध्या हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी। 3 सितंबर को हैदराबाद स्थित राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में हुए ट्रायल में संध्या का सिलेक्शन बतौर ओपनर बल्लेबाज किया गया। | Nagaur's evening reached Hyderabad with father 7 years ago, sat in the auto and watched the match, only then I would play in Thana too; Now the 28th match will land on the pitch

Farmers Protests: केंद्र सरकार खुले मन से किसान संगठनों से वार्ता को तैयार : नरेंद्र सिंह तोमरFarmers Protests जंतर-मंतर पर जहां आंदोलनकारी किसान संगठनों की किसान संसद लगी वहीं संसद परिसर में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि उन्हें वार्ता में खुले मन से आना चाहिए। सरकार इसके लिए पूरी तरह तैयार है। nstomar माेदीके तलवे चाटते रहाे भाेसडिके गाेदी मिडिया nstomar बार्ता नहीं तीनों कानून वापसी चाहिए अगली सरकार किसानों की सरकार होनी चाहिए किसान नेताओं के नेतृत्व में बिपक्षी पार्टीयों को एकजुट होना चाहिए अभी नहीं तो फिर कभी नहीं किसान एकता जिंदाबाद nstomar दैनिक जागरण दुनियां का नंबर 1 बिक कर छपने वाला अखबार बना

'अपना प्रस्ताव लेकर आएं किसान, हम बातचीत को तैयार', NDTV से बोले नरेंद्र सिंह तोमरतोमर ने कहा कि सरकार और किसान संगठनों के बीच 11 दौर की बातचीत हो चुकी है. हम किसान संगठनों के सामने 7 से 8 प्रस्ताव रख चुके हैं लेकिन किसान यूनियन ने बिना तर्क के हमारे सभी प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बिना विषय पर चर्चा कैसे होगी? nstomar राहुल गाँधी को प्रधानमंत्री बना दो, ये सब अपने आप चुप हो जाएंगे nstomar किसान भी बातचीत को तैयार है प्रस्ताव आपके पास पहले से भेजा जा चुका है जिस आधार पर 13 चरण की बातचीत भी हो चुकी है..आपको याद न हो तो पुराने अखबार निकाल कर देख लीजिए । nstomar जब गांड लगी फटने तो प्रसाद लगा बटने ।।।।

सिंह राशि के जातकों को जीत का जश्‍न खुशी से भर देगा, मकर राशि वालों को मिलेगी अच्छी ख़बरHoroscope Today (आज का राशिफल) 23 July 2021: सिंह राशि के जातकों को जीत का जश्‍न खुशी से भर देगा , मकर राशि वालों को मिलेगी अच्छी ख़बर

टीवी: रोडीज फेम रणविजय सिंह ने बेटे का किया नामकरण, तस्वीर साझा कर लिखी ये पोस्टटीवी: रोडीज फेम रणविजय सिंह ने बेटे का किया नामकरण, तस्वीर साझा कर लिखी ये पोस्ट rannvijaysingha Roadies rannvijaysingha सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव

दो मंत्री-दो विचार: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा- किसानों से बातचीत के लिए तैयार; मीनाक्षी लेखी बोलीं- उन्हें किसान मत कहिए, वे मवाली हैंआखिर किसान किसकी बात पर भरोसा करें? केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर या फिर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी के बयान पर? एक तरफ कृषि मंत्री किसानों को खुले मन से चर्चा के लिए दावत देते हैं तो दूसरी तरफ उन्हीं की सरकार में मंत्री मीनाक्षी लेखी, किसानों को मवाली और षड्यंत्रकारी ठहराती हैं। | Agriculture Minister Narendra Singh Tomar said in Parliament - ready to talk to farmers, Meenakshi Lekhi said - don't call them farmers, they are mawali nstomar M_Lekhi sandhyadwivedi1 गुंडों को गुंडा ही कहा जाता है nstomar M_Lekhi sandhyadwivedi1 किसान विरोधी बीजेपी मुर्दाबाद मुर्दाबाद nstomar M_Lekhi sandhyadwivedi1

टीवी इंडस्ट्री पर कोरोना की मार: भारती सिंह की फीस में भारी कटौती, कॉमेडियन ने कहा-'मुझे 70 से 50 परसेंट कम फीस में काम करना पड़ रहा है'कोरोनाकाल ने फिल्म और टीवी इंडस्ट्री की कमर तोड़ दी है। फिल्में रिलीज नहीं हो पाईं और टीवी सीरियलों की शूटिंग थम गई। ऐसे में एक्टर्स पर आर्थिक संकट आ खड़ा हुआ। कई एक्टर्स के पास काम नहीं है और जिनके पास है उन्हें फीस में भारी कटौती कर काम करना पड़ रहा है। कॉमेडियन भारती सिंह के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है। भारती ने अपनी फीस में भारी कटौती की बात स्वीकार की है। | Bharti Singh has taken a 70 per cent pay cut for Dance Deewane and around 50 per cent for The Kapil Sharma Show