Gm Seeds İn Farming, Gm Seeds, Gm Crop, Gm Seeds Are Very Expensive, Agriculture Sector, Agriculture İndustry, Bt Brinjal, Bt Cotton, Farmers

Gm Seeds İn Farming, Gm Seeds

चौपालः बर्बादी के बीज

चौपालः बर्बादी के बीज

12.7.2019

चौपालः बर्बादी के बीज

2000 के बाद से देश में हर साल 12000 किसान अपनी जान दे देते रहे हैं और इसके पीछे अहम कारण खेती की लगातार बढ़ती लागत और घाटा है। कृषि लागत में सबसे ज्यादा हिस्सेदारी बीजों और कीटनाशकों की है।

जीएम बीजों का फायदा यह भी बताया जाता है कि इनसे खाद्य सुरक्षा बढ़ेगी। बीटी कपास से किसकी खाद्य सुरक्षा बढ़ती है? दूसरी बात यह है कि खाद्य सुरक्षा बढ़ाने के लिए पैदावार भी बढ़ानी होगी और इसके लिए जमीन में उपजाऊपन और सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी होना चाहिए। देशी किस्म की बीज प्रजातियों के तकरीबन खात्मे के बाद बीज कारोबार पर एकाधिकार जमा चुकीविदेशी कंपनियों का लालच अभी थम नहीं रहा है। 2002 में अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी मॉनसेंटो और महाराष्ट्र हाइब्रिड सीड की साझेदारी में जीएम बीजों का उत्पादन और वितरण शुरू किया गया। तब दावा किया गया था कि इनमें अधिक कीटनाशकों की जरूरत नहीं होती; साथ ही ये सूखा रोधी और बाढ़ रोधी भी हैं। कुछ ही साल बाद बीटी कपास की फसलों में कीड़े लगने शुरू हो गए। महंगे बीज और कीटनाशकों की बढ़ती लागत किसानों पर भारी पड़ गई।

Also Read Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

और पढो: Jansatta
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

पाकिस्तान में पैसेंजर ट्रेन और मालगाड़ी में टक्कर; 11 की मौत, 60 जख्मीपंजाब प्रांत के वल्हार रेलवे स्टेशन पर लूपलाइन में खड़ी मालगाड़ी को पैसेंजर ट्रेन ने टक्कर मारी पीएम इमरान खान ने रेल मंत्री को घटना के जांच कराने का आदेश दिया | Pakistan Akbar Express Accident: Pakistan Train Collision 11 killed, 60 injured ✌✌✌ Humko kya मरने दो जेसी करणी वैसी भरनी

सेमीफाइनल में टीम इंडिया की हार से सदमे में फैन्स, 2 की मौतWorld Cup 2019: इंग्लैंड में हो रहे वर्ल्ड कप 2019 के पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करने के बाद भारतीय टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गई है। टीम इंडिया की इस हार से क्रिकेट फैन्स को करारा झटका लगा है। वहीं, इस सदमे से देश के अलग-अलग शहरों में 2 लोगों की मौत हो गई है।

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

ED ने मेहुल चौकसी की मर्सिडिज बेंज कार समेत 24.77 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क कीप्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को बताया कि उसने 13,000 करोड़ रुपये के पीएनबी लोन घोटाला और धन शोधन मामले में आरोपी और भगोड़े हीरा व्यापारी मेहुल चौकसी की भारत और विदेशों में स्थित 24.77 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है. एजेंसी ने कहा, कुर्क की गई संपत्तियों में दुबई की तीन व्यावसायिक संपत्तियां, एक मर्सिडिज बेंज कार और देश तथा विदेश में स्थित सावधि जमा के कई खाते शामिल हैं. ठीक तो किया लेकिन ये उसके बटुए में पडे चवन्नी अठन्नी से जयादा कुछ नहीं.. ..

उपचुनाव से ठीक पहले बड़े मुश्किल में फंस सकते हैं अखिलेश यादव और मायावती, जानें- पूरा मामलाउत्तर प्रदेश में अहम उपचुनाव से पहले विपक्ष के दो प्रमुख नेता मायावती और अखिलेश यादव बड़े संकट में फंसते दिख रहे हैं, क्योंकि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) भष्टाचार के दो नए मामलों की जांच कर रही है, जिनमें ये दोनों नेता संलिप्त हैं. प्रदेश में 1,100 करोड़ रुपये के चीनी मिल घोटाले में नौकरशाहों और राजनेताओं की सांठगांठ की पोल खुल रही है. सरकारी संपत्तियों की बिक्री में बसपा सुप्रीमो मायावती के पूर्व सचिव नेतराम फंसे हैं, जबकि कई करोड़ के रेत खनन घोटाले का तार समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के सहयोगी गायत्री प्रजापति और छह नौकरशाहों से जुड़ा है. मने फिर से CBI कास ये जाँच सीबीआई करती तो ज्यादा अच्छा लगता लेकिन ये जाँच तो मोदी जी करा रहे हैं। चुनाव को खराब करने के लीये मुद्दा भटकाने के किये बेरोज़गारी नवजवानों और किसानों महिलाओं की सुरक्षा महंगाई डीज़ल पेट्रोल गैस के दाम दाऊद इब्राहिम विजय माल्या

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

मशहूर वकील इंदिरा जयसिंह के मुंबई और दिल्ली स्थित घर और ऑफिस पर सीबीआई की रेडजयसिंह के फाउंडेशन 'लायर्स कलेक्टिव' पर विदेशी चंदा विनयमन कानून (FCRA) को तोड़ने का आरोप है।

पुंछ और राजौरी में पाक सैनिकों की गोलीबारी, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाबजम्मू। पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी एवं पूंछ जिलों में बगैर किसी उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए नियंत्रण रेखा पर शुक्रवार को गोलीबारी की। भारत की ओर से इसका करारा और प्रभावी जवाब दिया गया।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

13 जुलाई 2019, शनिवार समाचार

पिछली खबर

आखिर क्यों इस्तीफा ही मंजूर कराना चाहते हैं कर्नाटक के बागी विधायक?

अगली खबर

सपादकीयः भीड़तंत्र के विरुद्ध
आखिर क्यों इस्तीफा ही मंजूर कराना चाहते हैं कर्नाटक के बागी विधायक? सपादकीयः भीड़तंत्र के विरुद्ध