Bypolls, Byelection, Loksabha, Stateassembly, Election Commission Of İndia, Sunil Arora Election Commission, Lok Sabha By Election, Madhya Pradesh By Election 2020, Jyotiraditya Scindia, Kamal Nath, By Polls, Shivraj Singh Chauhan, Bihar Election 2020 News, बिहार चुनाव 2020, बिहार चुनाव 2020 विधानसभा, तारीखों का एलान, चुनाव आयोग, मध्यप्रदेश की विधानसभा, उपचुनाव का एलान, लोकसभा की एक सीट पर उपचुनाव

Bypolls, Byelection

चुनाव आयोग की बैठक आज, 64 विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनावों की तारीखों का हो सकता है एलान

देश में अभी 64 विधानसभा सीट और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव होने हैं। इन 64 विधानसभा सीटों में से 28 सीटें मध्यप्रदेश की

29-09-2020 02:45:00

चुनाव आयोग की बैठक आज, 64 विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनावों की तारीखों का हो सकता है एलान ByPolls ByElection LokSabha StateAssembly ECISVEEP INCIndia BJP4India

देश में अभी 64 विधानसभा सीट और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव होने हैं। इन 64 विधानसभा सीटों में से 28 सीटें मध्यप्रदेश की

बता दें कि बीते शुक्रवार को आयोग ने बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान किया था। इसके साथ ही मंगलवार को बैठक के बाद उपचुनावों की तारीखों का एलान करने की बात कही थी।मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा था कि 29 सितंबर के बाद उपचुनाव की तारीखों का एलान किया जाएगा। मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए 28 सीटों पर उपचुनाव होने हैं, जिसमें से अधिकतर सीट कांग्रेस के बागी सदस्यों के पार्टी या विधानसभा से इस्तीफा देने और भाजपा में शामिल होने के बाद खाली हुईं थीं।

#जीवनसंवाद: दोहरी जिंदगी! इस्लाम पर मैक्रों के बयान से कई अरब देशों में बौखलाहट, सामानों के बहिष्कार की अपील - BBC News हिंदी दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड के कर्मचारियों को कई महीनों से नहीं मिला वेतन, क़र्ज़ लेकर चला रहे ख़र्च

इन 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव ही बताएंगे कि मध्यप्रदेश में भाजपा की सत्ता बनी रहेगी या कांग्रेस वापसी करेगी। इसके अलावा कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया की भी साख इन उपचुनावों पर टिकी है। जिन 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है उनमें 16 सीटें सिंधिया के प्रभाव वाले ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की हैं।

प्रदेश में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में उपचुनाव हो रहे हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि राज्य में बड़ा राजनीतिक फेरबदल हुआ है। इसी साल मार्च महीने में ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत 22 कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा देकर भाजपा की सदस्यता ले ली थी। जिसके बाद कमलनाथ की सरकार अल्पमत में आकर गिर गई थी।

22 विधायकों के इस्तीफे देने के बाद सीटें खाली हो गईं। जुलाई में बड़ा-मलहरा से कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी और नेपानगर से कांग्रेस विधायक सुमित्रा देवी कसडेकर और मांधाता विधायक ने भी भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इसके अलावा तीन विधायकों का निधन हो गया था, इस हिसाब से मध्यप्रदेश में कुल 28 विधानसभा सीटें खाली हो गईं, जिन पर उपचुनाव होना है।

सिंधिया के लिए 22 सीटों में 16 सीटों को बचाना बेहद दी जरूरी है क्योंकि इसमें से 16 सीटें उनके प्रभाव क्षेत्र ग्वालियर-चंबल की हैं। कांग्रेस ने 15 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का एलान कर दिया है तो वहीं भाजपा की ओर से 25 सीटों पर प्रत्याशी लगभग तय हैं।बिहार: सांसद महतो के निधन से खाली हुई वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट

बिहार में वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट पर उप-चुनाव होना है। ऐसे में यहां से रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा चुनाव लड़ सकते हैं। यह सीट जदयू सांसद वैद्यनाथ प्रसाद महतो के निधन की वजह से खाली हुई है। बता दें कि रालोसपा पहले भी एनडीए का हिस्सा थी, जो 2019 लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन के साथ चली गई थी।

इन राज्यों की विधानसभा सीट पर होने हैं उपचुनावमध्यप्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में भी विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होने हैं। इनमें छत्तीसगढ़, हरियाणा, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल की एक-एक सीट पर उपचुनाव होना है। वहीं असम, झारखंड, केरल, नागालैंड, तमिलनाडु और ओडिशा की दो-दो सीट पर उपचुनाव कराए जाने हैं। जबकि मणिपुर की पांच सीटों के अलावा गुजरात और उत्तर प्रदेश की आठ-आठ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं।

I&B Minister Prakash Javadekar condemns Mehbooba Mufti's statement on National Flag पंजाब में पीएम का पुतला फूंकने के पीछे राहुल का हाथ: जेपी नड्डा भारत में पहली बार हाईकोर्ट की सुनवाई हुई लाइव, यूट्यूब पर किया गया प्रसारण

हैं। चुनाव आयोग इन सीटों पर उपचुनाव कराने को लेकर आज एक बैठक करेगा। बैठक में उपचुनाव की तारीखों और अन्य मामलों पर फैसला लिया जा सकता है। इसके साथ ही आयोग उपचुनाव की तारीखों का एलान भी कर सकता है।विज्ञापनबता दें कि बीते शुक्रवार को आयोग ने बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान किया था। इसके साथ ही मंगलवार को बैठक के बाद उपचुनावों की तारीखों का एलान करने की बात कही थी।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा था कि 29 सितंबर के बाद उपचुनाव की तारीखों का एलान किया जाएगा। मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए 28 सीटों पर उपचुनाव होने हैं, जिसमें से अधिकतर सीट कांग्रेस के बागी सदस्यों के पार्टी या विधानसभा से इस्तीफा देने और भाजपा में शामिल होने के बाद खाली हुईं थीं।

इन 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव ही बताएंगे कि मध्यप्रदेश में भाजपा की सत्ता बनी रहेगी या कांग्रेस वापसी करेगी। इसके अलावा कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया की भी साख इन उपचुनावों पर टिकी है। जिन 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है उनमें 16 सीटें सिंधिया के प्रभाव वाले ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की हैं।

प्रदेश में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में उपचुनाव हो रहे हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि राज्य में बड़ा राजनीतिक फेरबदल हुआ है। इसी साल मार्च महीने में ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत 22 कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा देकर भाजपा की सदस्यता ले ली थी। जिसके बाद कमलनाथ की सरकार अल्पमत में आकर गिर गई थी।

22 विधायकों के इस्तीफे देने के बाद सीटें खाली हो गईं। जुलाई में बड़ा-मलहरा से कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी और नेपानगर से कांग्रेस विधायक सुमित्रा देवी कसडेकर और मांधाता विधायक ने भी भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इसके अलावा तीन विधायकों का निधन हो गया था, इस हिसाब से मध्यप्रदेश में कुल 28 विधानसभा सीटें खाली हो गईं, जिन पर उपचुनाव होना है।

सिंधिया के लिए 22 सीटों में 16 सीटों को बचाना बेहद दी जरूरी है क्योंकि इसमें से 16 सीटें उनके प्रभाव क्षेत्र ग्वालियर-चंबल की हैं। कांग्रेस ने 15 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का एलान कर दिया है तो वहीं भाजपा की ओर से 25 सीटों पर प्रत्याशी लगभग तय हैं।बिहार: सांसद महतो के निधन से खाली हुई वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट

Live: दिल्ली पहुंचे अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो, चीन के साथ सीमा पर तनाव के बीच 2+2 वार्ता पंजाब: दशहरे पर जलाया मोदी का पुतला, नड्डा बोले- नेहरू-गांधी परिवार ने कभी पीएम पद का आदर नहीं किया टाटा स्काई पर बदल गया News18 बिहार झारखंड का चैनल नंबर, अब 1129 पर देखें सभी बड़ी खबरें

बिहार में वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट पर उप-चुनाव होना है। ऐसे में यहां से रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा चुनाव लड़ सकते हैं। यह सीट जदयू सांसद वैद्यनाथ प्रसाद महतो के निधन की वजह से खाली हुई है। बता दें कि रालोसपा पहले भी एनडीए का हिस्सा थी, जो 2019 लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन के साथ चली गई थी।

इन राज्यों की विधानसभा सीट पर होने हैं उपचुनाव और पढो: Amar Ujala »

पाकिस्तान के 11 दलों ने छेड़ी मुहिम, कुर्सी छोड़ो इमरान!

इमरान खान की कुर्सी डोल रही है. पाकिस्तान की 11 विपक्षी पार्टियां उनके खिलाफ लामबंद हो गई हैं और कह रही हैं कि उन्हें कुर्सी छोड़नी होगी. इमरान को सत्ता में आए दो साल हो चुके हैं और इस बीच पाकिस्तान कंगाल हो चुका है. लोगों का गुस्सा इमरान का साथ दे रही पाकिस्तानी सेना पर भी बढ़ता जा रहा है.. इन सबसे बचने के लिए ISI ने एक आतंकी प्लान बनाया है. क्या है ये प्लान आपको दिखाएंगे लेकिन पहले देखिए कैसे शुरु हो चुकी है इमरान की उल्टी गिनती. देखिए विशेष, सईद अंसारी के साथ.

ECISVEEP INCIndia BJP4India क्या दूरदर्शन पर डांस करने से ही तारीखों का ऐलान हो सकता है यह काम केवल एक कार्यालय की विज्ञप्ति से भी संभव है जिसमें कोई खर्च नहीं होगा। अब आप बुड्ढे हो गए हैं आपको चेहरा दिखाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

LIVE: मन की बात में बोले मोदी- किसानों की मजबूती से होगी आत्मनिर्भर भारत की नींवपिछले महीने मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने लोकल के लिए वोकल बनने की अपील की थी. खासकर खिलौना निर्माण में भारतीय लोगों को आगे आने की अपील की थी. वाह कथा कि अहमियत को सुनकर आज मेरा जीवन सफल हुआ 😀😀😀 Mujhe aaj kal Kapil Sharma show se jada modi show AajTak show Shushant show dekhna Jada accha lg rha hai 😂😂........kasam se TV serial se jada maja aa rha hai😂😂 ravishndtv Ye kahaniyaan hi to sunata tha 😆, log unhe yojna smjh lete the

सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने शेयर की भाई के बचपन की तस्वीर, कही ये बातश्वेता सिंह कीर्ति ने भाई सुशांत के बचपन की फोटो को शेयर किया है. ये फोटो बहुत क्यूट है और सुशांत इसमें बेहद प्यार लग रहे हैं. देखकर लगता है कि सुशांत इस फोटो को खिंचवाने के लिए 10-12 साल के रहे होंगे. उनकी आंखें सभी का ध्यान खीच रही हैं और उन्हीं आंखों को लेकर श्वेता ने अपना कैप्शन भी लिखा है. श्वेता लिखती हैं- वो चमचमाती आंखें...उसके अन्दर की पवित्रा का प्रतिबिंब है. आजतक को तो बंद कर देना चाहिए The Cute Guy become BiggestCharsi Population of India ? After 10 years what is position ? Kindly thinking about it? Bharat bachana hai , to population ke liye Kuch law banana hoga. Fuck politics Mera bharat mahan 🇮🇳

फैक्ट चेक: लादेन की बेटी और भोजपुरी गायक प्रदीप की शादी की फर्जी खबर वायरलAccording to deepikapadukone Maal means 'cigarette' Hash means 'type of cigarette' Weed means 'patli cigarette' Then i think... LSD means match box⚡😏 And....injection💉... Means... Energy drink🍻...!! 😂😂 कुल मिलाकर मेरी vocabulary की ऐसी तैसी हो गयी 😂😂 Bro wtf 😂😂 Hahaha🤣

मन की बात में बोले मोदी- किसानों की मजबूती से मजबूत होगी आत्मनिर्भर भारत की नींवपिछले महीने मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने लोकल के लिए वोकल बनने की अपील की थी. खासकर खिलौना निर्माण में भारतीय लोगों को आगे आने की अपील की थी. narendramodi अगले ने झूठी कहानियाँ सुना कर देश की ज़िंदगी को चुटकुला समझ लिया है. साहेब, ब्रांड एंबेसेडर है कहानियों के. वैसे क्रूर राजा और निरीह प्रजा की कहानी सुनी है या नहीं? देश में यही कहानी चल रही है. आकाशवाणी का काम प्रधानमंत्री ने ले लिया है और प्रधानमंत्री का काम उनके दोस्तों ने narendramodi Bal Modi Ki Khaniyaa... Will Inspire Every Kid. narendramodi Mann ki bakwass

ठाकुरगंज विधानसभा सीटः AIMIM की एंट्री से हो सकती है रोचक लड़ाई, अभी जेडीयू का कब्जाठाकुरगंज विधानसभा सीट पर अब तक कुल 14 चुनाव (एक उपचुनाव) हुए हैं. इसमें 8 बार कांग्रेस पार्टी ने बाजी मारी है. जेडीयू, बीजेपी, जनता पार्टी, एलजेपी, जनता दल और समाजवादी पार्टी एक-एक बार चुनाव जीतने में सफल हुई हैं. बिहार सरकार को ऐसा क्यों लग रहा कि परीक्षा कराने पर उच्च शिक्षा में गुणवत्ता गिर जाएगी। बिना परीक्षा नियुक्ति करना आवश्यक क्यों? रोचक हो सकता है चुनाव वो कैसे ओवैसी साहब चुनाव मे मुजराँ करने वाले हैं क्या 🤔 He said,' 🌲 provide oxygen in night.' Actually the process of photosynthesis and resiperation both take place at the same time but there is only increase or decrease the rate of oxygen and carbon dioxide. Thank you

कृषि विज्ञानी मैनपाट में बिखेरेंगे चंदन की खुशबू, पूरी दुनिया में चंदन की मात्र 16 प्रजातियांकृषि विज्ञानी डॉ. राहंगडाले ने बताया कि चंदन का पौधा अर्ध परजीवी होता है। इसलिए जिस किसान के खेत में चंदन के पौधे लगाए गए हैं वहां पौधों के अगल-बगल अरहर लगाए गए हैं ताकि चंदन को सहारा मिले और वह मजबूत हो सके।