Cpec, Xi Jinping, China-Pakistan Economic Corrido, America, United States

Cpec, Xi Jinping

चीन-पाक आर्थिक गलियारे को नुकसान पहुंचा रहा है अमेरिका : पाक अधिकारी

पाकिस्तानी अधिकारी ने अमेरिका पर अरबों डॉलर की परियोजना को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया

24-10-2021 15:07:00

पाकिस्तानी अधिकारी ने अमेरिका पर अरबों डॉलर की परियोजना को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया

महत्वाकांक्षी सीपीईसी परियोजना 2015 में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की पाकिस्तान यात्रा के दौरान शुरू की गयी थी.

इस्लामाबाद: चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) प्राधिकरण के प्रमुख ने अमेरिका पर अरबों डॉलर की इस परियोजना को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है. परियोजना को पाकिस्तान की आर्थिक जीवनरेखा करार दिया गया है. यह भी पढ़ेंइसका उद्देश्य पश्चिमी चीन को सड़कों, रेलवे, और बुनियादी ढांचे एवं विकास की अन्य परियोजनाओं के नेटवर्क के माध्यम से दक्षिण-पश्चिम पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह से जोड़ना है. 

ओमिक्रॉन की दहशत : न्यूयॉर्क में सभी निजी कंपनियों के कर्मचारियों के लिए वैक्सीन अनिवार्य Over 127 crore 93 lakh doses of COVID vaccine administered in India so far मुंबई में ओमिक्रॉन के दो और नए मामले, महाराष्‍ट्र में अब तक मिले कुल 10 संक्रमित

सीपीईसी मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक खालिद मंसूर ने शनिवार को कराची में सीपीईसी शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, 'उभरती हुई भू-रणनीतिक स्थिति के दृष्टिकोण से एक बात साफ है कि भारत द्वारा समर्थित अमेरिका सीपीईसी का विरोधी है. वह इसे सफल नहीं होने देगा. इसे लेकर हमें एक रुख तय करना होगा.'

चीन के जवाब में भारतीय सेना ने असम में सीमा पर तैनात किया पिनाका रॉकेट सिस्‍टमसीपीईसी चीन की बेल्ट एंड रोड पहल (बीआरआई) का हिस्सा है. बीआरआई के तहत चीन सरकार करीब 70 देशों में भारी निवेश कर रही है. उन्होंने कहा कि अमेरिका और भारत द्वारा पाकिस्तान को चीन के बीआरआई से 'बाहर रखने के लिए चालें चली जा रही हैं.' headtopics.com

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.comभारत ने चीन को दिया कड़ा संदेश, कहा - सैन्‍य वापसी की जिम्‍मेदारी चीन की(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)CPECUnited Statesटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें |

लाइव खबर देखें: और पढो: NDTVIndia »

रिटायरमेंट के दिन जूते की माला भेंट!: रीवा में यूनिवर्सिटी के डिप्टी रजिस्ट्रार से कर्मचारी यूनियन ने की हरकत; थैंक्यू कहकर दिया जवाब

रीवा में अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार लाल साहब सिंह से रिटायरमेंट के दिन विदाई समारोह में बदसलूकी का मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने डिप्टी रजिस्ट्रार को जूते की माला भेंटकर मुर्दाबाद के नारे लगाए। जवाब में अफसर ने कहा-धन्यवाद, थैंक्यू। | Viral Video: Employees unions misbehaved with Deputy Registrar at Rewa APS University

WTF! उल्टा चोर कोतवाल को डाटे.

दाऊद, मसूद, सईद के खिलाफ करनी होगी पाक को कार्रवाई, FATF से बाहर निकलना मुश्किलक्या पाकिस्तान के हुक्मरान अपने देश को एफएटीएफ की निगरानी सूची से बाहर निकालने के लिए अब हाफिद सईद मसूद अजहर दाऊद इब्राहिम जैसे आतंकियों और उनके संगठनों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करेंगे ? पाकिस्तान के अभी तक के रवैये को देखते हुए यह उम्मीद करना फिलहाल बेमानी होगी। ऐसी करवाई करेगा पाकिस्तान की तुम सब देखते रह जाओगे पूरी दुनियां vi dekhti रह जायेगी ऐसी करवाई होती हैं पाकिस्तान मैं की जिनपर होती है वो खुश हो जाते हैं अगर कार्यवाही की तो इनकी मुश्किल

वंदे मातरम्: 250 गोरखाओं के सामने 4000 पाक सैनिकों का सरेंडर, देखें सिलहट की शौर्यगाथाहथियार हो या न हो, संख्या हो या न हो, हौसला तो है. कभी-कभी वीरता की कहानियां ही दुश्मन के दिलों में खौफ भरने के लिए काफी होती हैं. कभी-कभी रुतबा ही परिचय होता है. आज वंदे मातरम् के इस एपिसोड में 1971 के युद्ध की एक ऐसी ही कहानी बताएंगे, जब भारतीय सैनिकों ने संख्या में खुद से कहीं ज्यादा पाकिस्तानियों को शिकस्त दी थी. ये लड़ाई थी सिलहट की. ऐसा पहली हुआ था, जब भारतीय सेना ने एक ऑपरेशन में अपने सैनिकों को हैलीकॉप्टर के जरिए दुश्मन की जमीन में उतारा था. 1971 की ये पहली ऐसी लड़ाई थी जब पाकिस्तान के सरेंडर का नमूना देखने को मिला था. देखिए ये एपिसोड. SwetaSinghAT उसमें मोदीजी का कोई रोल हो तो बताओ वरना जाने दो... 😂 SwetaSinghAT What's happening in laddakh? Why not showing this, SwetaSinghAT Achha hua Modiji us samay nahi the nahi to khud ko Bhagwat Geeta ka Bhagwan Shree Krishna bata baithte ....

निहंगों की पेशी की मॉक ड्रिल: कोर्ट परिसर में पुलिस तैनात कर बर्बर हत्या मामले में पेशी की दी सूचना, बैन की मीडिया की एंट्रीसोनीपत कोर्ट परिसर में शुक्रवार को बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर सूचना दी गई कि सिंघु बॉर्डर पर बर्बर हत्या के मामले में आरोपी निहंगों की पेशी है। पुलिस इस दौरान मुस्तैद दिखी और मीडिया की एंट्री बैन कर दी गई। हालांकि यह पेशी से एक दिन पहले रिहर्सल थी। बाद में मीडिया को भी बुलाया गया। शनिवार को हत्या के आरोपी निहंगों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। | सोनीपत कोर्ट परिसर में शुक्रवार को भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर सूचना दी गई कि सिंघु बॉर्डर पर बर्बर हत्या के मामले में आरोपी निहंगों की पेशी है। पुलिस इस दौरान मुस्तैद दिखी और मीडिया की एंट्री बैन कर दी गई। आजीवन कारावास की सजा या फाँसी ये समाज में रहने लायक कतई नहीं है

पाकिस्तान से कुछ किलोमीटर दूर हुई अमित शाह की रैली, बोले- ये मंदिरों की धरती, नहीं चलेगी पाक की चालशाह ने कहा कि पीएम मोदी ने अनुच्छेद 370 और 35ए को खत्म किया। इससे लाखों लोगों को अपने अधिकार मिले। अब भारतीय संविधान के सभी अधिकार यहां के लोगों को मिल रहे हैं।

योगेंद्र यादव को सस्पेंड करने पर बोले राकेश टिकैत, एक महीने की छुट्टी पर हैंसंयुक्त किसान मोर्चा ने लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ताओं के परिजनों से मिलने के कारण स्वराज पार्टी के नेता योगेंद्र यादव को एक महीने के लिए निलंबित कर दिया। गुरुवार को सिंघु बॉर्डर पर सभी किसान नेताओं के बीच हुई लंबी बैठक के बाद यह फैसला लिया गया। मानवता का स्थान है कहा ये टिकैत साब ने जता दी!!! राजनीती ही है बस!!!

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: हम सभ्यता की राह पर चलते हुए संकीर्णता को अपना चुके हैंखबर है कि छोटू महाराज नामक व्यक्ति प्रवचन करते हुए लोकप्रिय होता जा रहा था। उसके भक्तों की संख्या प्रतिदिन बढ़ती जा रही थी। हाल ही में ज्ञात हुए इस महाराज का असली नाम सीमानंद गिरी है और वह एक महिला है। क्या उसने पुरुष वेश में इसलिए धारण किया कि महिला को समाज गंभीरता से नहीं लेता। हमारे समाज में तो साध्वियां भी हुई हैं। साध्वियों पर कुमार अंबुज की कविता इस तरह है- ‘मगर अब वे सूखी हुई नहरें हैं या त... | Column by Jaiprakash Chouksey - We have adopted narrow-mindedness while walking on the path of civilization