Hongkong, Nationalsecuritylaw, Chinalaw, China New Law Hong Kong, Hongkong New Law, Hong Kong National Security Law, National Security Law, China Hongkong, World News İn Hindi, World News İn Hindi, World Hindi News

Hongkong, Nationalsecuritylaw

चीन का नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून हांगकांग के बाहर के कार्यकर्ताओं के लिए खतरा

हांगकांग में चीन द्वारा लागू किए गए विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का मुख्य उद्देश्य लोकतंत्र समर्थकों पर लगाम लगाना

02-07-2020 15:51:00

चीन का नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून हांगकांग के बाहर के कार्यकर्ताओं के लिए खतरा UN Hongkong NationalSecurityLaw ChinaLaw

हांगकांग में चीन द्वारा लागू किए गए विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का मुख्य उद्देश्य लोकतंत्र समर्थकों पर लगाम लगाना

द जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी लॉ स्कूल में चीनी कानून के विशेषज्ञ प्रोफेसर डोनाल्ड सी. क्लार्क ने इस नए कानून का विश्लेषण करते हुए कहा कि वह कोई कारण नहीं देखते हैं, लेकिन यह निष्कर्ष निकालते हैं कि चीन 'ग्रह पर प्रत्येक व्यक्ति पर अतिरिक्त अधिकार क्षेत्र का दावा कर रहा है।

जूनागढ़ को 'राजनीतिक नक़्शे' में शामिल करने से पाकिस्तान को क्या हासिल होगा? नरेंद्र मोदी की नीतियों ने 14 करोड़ लोगों को बेरोजगार बना दिया : राहुल गांधी कमाठीपुरा: ना ग्राहक, ना पैसा और ना ही सरकारी योजनाओं का लाभ

कैसे? विश्लेषकों का कहना है कि यह अनुच्छेद पश्चिम में मुखर हांगकांग प्रवासी के लिए है। इसके साथ, चीन प्रभावी रूप से उन्हें बता रहा है कि अगर वे हांगकांग में कदम रखते हैं तो उन्हें जुर्माना और जेल अवधि का सामना करना पड़ता सकता है। क्लार्क ने कहा, 'अगर आपने कभी ऐसा कुछ कहा है जो (चीनी) या हांगकांग के अधिकारियों के खिलाफ रहा है, तो हांगकांग से बाहर रहें।' कनाडा ने पहले ही एक सलाह जारी करते हुए कहा है कि हांगकांग के यात्रियों को 'राष्ट्रीय सुरक्षा के आधार पर मनमानी विरोध का खतरा बढ़ गया है।

इस मामले में चीन और भारत-प्रशांत पर केंद्रित एक थिंक टैंक जेसिका दून ने कहा कि यह प्रावधान ताइवान के उन नागरिकों के लिए भी खतरा है जो हांगकांग के लोकतंत्र कार्यकर्ताओं का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, 'मैं देख सकती हूं कि इसका इस्तेमाल ताइवान पर हांगकांग के कार्यकर्ताओं को समर्थन देने के लिए किया जा रहा है या हांगकांग या चीनी धरती पर ताइवान के नागरिकों को हिरासत में लेने के लिए किया जा रहा है।'

गौरतलब है कि हांगकांग में कानून लागू होने के बाद बृहस्पतिवार को सबसे पहली गिरफ़्तारी एक व्यक्ति की हुई जो आजाद हांगकांग का झंडा दिखा रहा था, इसके बाद शहर में करीब 200 लोगों की भी गिरफ़्तारी हुई और विरोध प्रदर्शनों के खिलाफ आंसू गैस के गोले और मिर्च की गोलियां भी दागी गईं।

और उनके खिलाफ कार्यवाई करना है। कानून के अनुच्छेद 38 के तहत यह उन अपराधों पर लागू होगा जो क्षेत्र के बाहर से हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में एक ऐसे व्यक्ति द्वारा किए गए हैं जो क्षेत्र का स्थायी निवासी नहीं है।विज्ञापनद जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी लॉ स्कूल में चीनी कानून के विशेषज्ञ प्रोफेसर डोनाल्ड सी. क्लार्क ने इस नए कानून का विश्लेषण करते हुए कहा कि वह कोई कारण नहीं देखते हैं, लेकिन यह निष्कर्ष निकालते हैं कि चीन 'ग्रह पर प्रत्येक व्यक्ति पर अतिरिक्त अधिकार क्षेत्र का दावा कर रहा है।

कैसे? विश्लेषकों का कहना है कि यह अनुच्छेद पश्चिम में मुखर हांगकांग प्रवासी के लिए है। इसके साथ, चीन प्रभावी रूप से उन्हें बता रहा है कि अगर वे हांगकांग में कदम रखते हैं तो उन्हें जुर्माना और जेल अवधि का सामना करना पड़ता सकता है। क्लार्क ने कहा, 'अगर आपने कभी ऐसा कुछ कहा है जो (चीनी) या हांगकांग के अधिकारियों के खिलाफ रहा है, तो हांगकांग से बाहर रहें।' कनाडा ने पहले ही एक सलाह जारी करते हुए कहा है कि हांगकांग के यात्रियों को 'राष्ट्रीय सुरक्षा के आधार पर मनमानी विरोध का खतरा बढ़ गया है।

इस मामले में चीन और भारत-प्रशांत पर केंद्रित एक थिंक टैंक जेसिका दून ने कहा कि यह प्रावधान ताइवान के उन नागरिकों के लिए भी खतरा है जो हांगकांग के लोकतंत्र कार्यकर्ताओं का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, 'मैं देख सकती हूं कि इसका इस्तेमाल ताइवान पर हांगकांग के कार्यकर्ताओं को समर्थन देने के लिए किया जा रहा है या हांगकांग या चीनी धरती पर ताइवान के नागरिकों को हिरासत में लेने के लिए किया जा रहा है।'

विजयवाड़ा कोविड अस्पताल में आग लगी, 11 की मौत खाना पहुंचने वाले हुए एकजुट, ख़ुद बनेंगे अपने बॉस जोधपुर: आठ साल पहले पाकिस्तान से आए एक परिवार की मौत और पढो: Amar Ujala »

हल्का सर्दी-जुकाम होना कोरोना में अच्छा: रिसर्च से पता चला कि सर्दी से लड़ने वाली टी-सेल्स इम्यून सिस्टम की ...

जर्नल साइंस में प्रकाशित शोध के मुताबिक, कोरोना के कुछ मरीजों में हल्के लक्षण दिखने की वजह यही टी-सेल्स हैं​​​​​,शोधकर्ताओं के मुताबिक, ऐसे लोगों में इन कोशिकाओं ने इम्यून सिस्टम को पूरी तरह ट्रेंड कर दिया है, अब इम्यून सिस्टम कोरोनावायरस को पहचान सकता है T Cells Coronavirus Immunity | Coronavirus Infectious Disease (COVID-19) Latest Research | Common Cold Train The Immune System To Recognize Corona; शरीर में कोल्ड वायरस को पहचानकर लड़ने वाली टी-सेल्स इम्यून सिस्टम की याद्दाश्त बढ़ा रहीं, ताकि ये कोशिकाएं कोरोना को भी पहचानें

चीन: वीगर मुसलमान औरतों की जबरन नसबंदी के आरोप, चीन का इनकारवीगर मुसलमानों को बंदीगृहों में रखने को लेकर पहले से ही चीन की आलोचना होती रही है. अब एक नई रिपोर्ट में उस पर फिर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. यह तो ठीक है, शेर के बच्चे दो ही अच्छे। ज्यादा पिल्ले पैदा करने से तो अच्छा है। और बीबीसी मान गया क्योंकि पुरा दाम मिल गया है FAKE NEWS

चीन का नया क़ानून हॉन्ग कॉन्ग के लिए क्यों बना चिंता का सबब?हॉन्ग कॉन्ग के लिए 1 जुलाई से लागू हो रहा है चीन का नया क़ानून. इसमें ऐसी क्या बात है जिससे लोग डर रहे हैं? Kashmir 😢

चीन को भारत का एक और जवाब, पीएम मोदी ने Weibo से हटने का लिया फैसलाnarendramodi बहुत बढ़िया मोदी जी narendramodi Kutty ka bacha modi narendramodi आज 60000 वेंटीलेटर आने वाले थे, सोचा पूछ लूँ l कहीं साहेब ने विधायक तो नहीं ख़रीद लिए उन पैसों से, वो क्या है न साहेब की सरकार के लिए तो 'विधायक' ही वेंटीलेटर हैं l

FATF में चीन के अध्यक्ष लियू का कार्यकाल खत्म, अल कायदा-ISIS पर कही ये बातशियांगमिन लियू ने कहा, दुनिया भर के लाखों लोगों के लिए अभी बेहद मुश्किल समय है. एफएटीएफ ने संकट के दौरान उभर रहे नए खतरों और कमजोरियों को उजागर करते हुए मनी लॉन्ड्रिंग, आतंकवादी फंडिंग सहित इस काम में लगे अधिकारियों की मदद करने का अपना काम जारी रखा है. Geeta_Mohan Gud news.. Yha pe bhi.ByeByechina and ByeByeTiktok 😂🤣🤣 Geeta_Mohan 👏🏾👏🏾 Geeta_Mohan Indian country is great

टिकटॉक जैसे ऐप्स और चीन का साइबर क़ानून क्या भारत के लिए ख़तरनाक है?चीन के साइबर सिक्योरिटी क़ानून में वो कौन से प्रावधान हैं जिससे भारत की संप्रभुता एवं एकता, सुरक्षा और व्यवस्था को ख़तरा है. चीन ने खुद ही ट्विटर, फेसबुक, यूट्यूब पर चीन में प्रतिबंध लगाया हुआ है jh**t ke barabar

चीन से तनाव के बीच रक्षामंत्री राजनाथसिंह शुक्रवार को कर सकते हैं लद्दाख का दौरानई दिल्ली। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख में चीनी सेना के साथ सीमा पर गतिरोध के मद्देनजर भारत की सैन्य तैयारियों का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को क्षेत्र का दौरा कर सकते हैं। सूत्रों ने यह जानकारी दी।