Muzaffarpurchildrendeath, Muzaffarpurkids, Muzaffarpur, Harsh Vardhan, Advanced Life Support Ambulance, Aes

Muzaffarpurchildrendeath, Muzaffarpurkids

चमकी बुखार: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मरीजों के लिए 8 एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस तैनात करने के निर्देश दिए

चमकी बुखार: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मरीजों के लिए 8 एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस तैनात करने के निर्देश दिए #MuzaffarpurChildrenDeath #muzaffarpurkids #Muzaffarpur

6/20/2019

चमकी बुखार: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मरीजों के लिए 8 एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस तैनात करने के निर्देश दिए MuzaffarpurChildrenDeath muzaffarpurkids Muzaffarpur

इसके अलावा मुजफ्फरपुर और उसके आसपास के जिलों में 10 बाल रोग विशेषज्ञों और पांच पैरा-मेडिक्स की केंद्रीय टीम को तैनात किया गया है. ये टीम राज्य सरकार के साथ तालमेल कर काम करना शुरू कर चुकी है. बता दें कि चमकी बुखार से बिहार में अबतक 150 बच्चों की मौत हो चुकी है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि बीमारी की जल्दी चेतावनी देने वाले संकेतों का पता लगाने के लिए दैनिक निरीक्षण और निगरानी का काम शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं. राज्य सरकार ने घर-घर जाकर सर्वेक्षण करने और संभावित मरीजों को नजदीकी पीएचसी ले जाने का काम शुरू किया है.

हर्षवर्धन ने कहा कि जल्द से जल्द वायरोलॉजी लैब को चालू करने के लिए श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में आईसीएमआर विशेषज्ञों की एक टीम तैनात की गई है. उन्होंने कहा कि पहले तैनात बहु-विषयी टीम 2019 में भर्ती और ईलाज कराने वाले एईएस रोगियों के सभी मामलों के रिकॉर्ड की समीक्षा कर रही है. यह टीम मौत के कारणों का पता लगाने के लिए मानकीकृत उपकरण का उपयोग कर रही है. अगले दो तीन दिनों में यह गतिविधि पूरी होने की उम्मीद है. इसी तरह की प्रक्रिया केजरीवाल अस्पताल में भी की जाएगी.

और पढो: ABP न्यूज़ हिंदी

drharshvardhan क्या ये 8 एम्बुलेंस पर्याप्त होगीं? क्या यह संख्या 80 नही होनी चाहिए और साथ एक डॉक्टर भी ताकी जो इलाके अस्पतालों से दूर है वहां तुरंत प्रथम उपचार के बाद उनको अस्पताल लाया जाय। BiharMedicalApathy drharshvardhan drharshvardhan जुमले बस सुनते रहो जुमले-आजमों से भरी सरकार में drharshvardhan drharshvardhan जी का 2014 का किया हुआ तो पूरा हुआ नहीं, देखते है इस बार पूरा होता है कि नहीं

drharshvardhan नितिश कुमार ने ध्यान नहीं दिया नहीं तो ऐसा नही होता

चमकी से फीकी हुई मुजफ्फरपुर के लीची की चमक, दुनियाभर में रहती है डिमांडबीते कुछ दिनों से बिहार में चमकी बुखार के कहर की वजह से 130 से ज्‍यादा बच्‍चों की मौत हो चुकी है. लीची को इस बीमारी की सबसे बड़ी वजह बताई जा रही है. deepak841226 Nobody eats this. deepak841226 shameonanjanaomkashyap

मुजफ्फरपुर में सैकड़ों बच्चों की जान लेने वाला चमकी बुखार क्या है | DW | 19.06.2019मुजफ्फरपुर में 2014 में चमकी बुखार से 100 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई थी. 2017 में गोरखपुर में जापानी बुखार से कई बच्चों की मौत हो गई थी. और 2019 में फिर से मुजफ्फरपुर में मौत ने 100 का आंकड़ा पार कर लिया है. लोकल गवर्नेंस भारत में शुन्य हो चुका है। जिला स्तरीय अधिकारियों में भ्रष्टाचार भरा है , चोर सब

बिहार में लगातार मासूम बच्चों की जान लील रहा है चमकी बुखार, 146 हुई संख्या– News18 हिंदीबिहार में चमकी बुखार ( AES )का कहर जारी है. राज्य और केंद्र के आनन-फानन में शुरू किए गए प्रयासों के बावजूद इस बीमारी ने अब तक 146 बच्चों को अपना ग्रास बना लिया है. अबे दलाल ज़िम्मेदार कौन सरकार या जनता यह बता MY DEAR NITISH KUMARJI , AB POLITICS SE BAHAR NIKLO AUR MARTE HUEY BACHHO KI JAAN BACHANE KI SOCHO नीतीश कुमार और सुशील कुमार वहा किया जक मार रहे बच्चे मर रहे है किया सरकार का फ़र्ज़ नहीं बनता उनका इलाज यदि अपने राज्य में नहीं हो रहा है तो बाहर भेज कर उनका इलाज करवाए सुशासन बाबू की पोल खुल रही है वो निक्कमे हो गए है सरकार देख रही बच्चे मर रहे सिस्टम की लाचार हो गया

मुजफ्फरपुर में मासूमों की मौत पर सुलगती सियासतबिहार में इंसेफिलाइटिस यानी चमकी बुखार का कहर जारी है. बुधवार को भी चमकी बुखार के कारण चार बच्चों की मौत हो गई. मृतकों की संख्या 110 से ज्यादा हो गई है. इसकी रोकथाम के लिए जो उपाय किए गए हैं वो नाकाफी साबित हो रहे हैं. इस बीच सियासत अपने जोरों पर है. मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर जमकर सियासत हो रही है. देखें वीडियो. drharshvardhan TanushreePande anjanaomkashyap SpecialReport NitishKumar narendramodi irvpaswan PrakashJavdekar SanjayJhaBihar बिहार में जनसँख्या का ये हाल है की जिन हॉस्टपिटल में १० बेड है रोगी के लिए वहा १०० लोग उपचार के लिए पहुंचते है,, ये १० बच्चे वाले के चक्कर में जो २ बच्चे वाले वालिद भी परेशान हो जाते है drharshvardhan TanushreePande anjanaomkashyap 🤔 drharshvardhan TanushreePande anjanaomkashyap

चमकी का कहर: शासन-सत्ता नाकाम रही, खामखां लीची बदनाम हुई!– News18 हिंदीबिहार के मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतमढ़ी और चम्पारण समेत 12 जिलों में एक के बाद एक बच्चों की मौत हो रही है. आंकड़ा 141 पहुंच गया है. बीमारी क्या है यह किसी को पता नहीं है. कभी यह एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम ( AES ) तो कभी ये चमकी बीमारी के नाम से जाना जाता है, लेकिन अभी तक इस पर कोई एक राय नहीं बन पाई है. अगर शासन और प्रशासन नाकाम रहती तो मौत सालों होती सिर्फ 2महीने नहीं, और पिछले साल के रिकॉर्ड भी देख ले और मरने वाले बच्चे सिर्फ महादलित के ही क्योंकि उनको ना ढंग से खाना मिल पाता है और नहीं साफ सफाई,

चमकी बुखार: बिहार में कुल 154, सिर्फ मुजफ्फरपुर में 120 बच्चों की मौत, डीएम ने सभी अधिकारियों की छुट्टी रद्द कीमुजफ्फरपुर के डीएम आलोक रंजन ने सभी अधिकारियों की छुट्टी रद्द कर दी है. उन्होंने अधिकारियों को को निर्देश दिया है कि वे गांव में कैंप करें और लोगों से मिले. अबतक सिर्फ मुजफ्फरपुर में 120 बच्चों की मौत हो गई है. पूरे राज्य में चमकी बुखार ने 154 मासूमों की जान ले ली है. DM & other official should be immediately suspended. Who is accountable 4 these deaths यदि बच्चों की मृत्यु से पहले छुट्टी रद्द करते तो सायद आज ये मासूम बच्चों की मृत्यु में आकड़े कम होते शर्म आनी चाहिए अधिकारीयों को मासूम नन्हे बच्चों की ज़िन्दगियाँ मौत से जूझ रही है और उनके छुट्टियाँ चाहिए Muzzafarpur MuzzafarpurChildrenDeath Muzzafarpurkids SaveTheChildren

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

21 जून 2019, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

'कालाधन में किसे पकड़ लाई मोदी सरकार?' बीजेपी प्रवक्ता का ये आया जवाब

अगली खबर

वेब शो 'फिक्सर' हमला मामला: FWICE ने सुरक्षा के लिए उठाए ये कदम
'कालाधन में किसे पकड़ लाई मोदी सरकार?' बीजेपी प्रवक्ता का ये आया जवाब वेब शो 'फिक्सर' हमला मामला: FWICE ने सुरक्षा के लिए उठाए ये कदम