चन्नी तो बने पंजाब के सीएम, पर यूपी में हलचल क्यों है भला - BBC News हिंदी

चन्नी तो बने पंजाब के सीएम, पर यूपी में हलचल क्यों है भला

20-09-2021 14:32:00

चन्नी तो बने पंजाब के सीएम, पर यूपी में हलचल क्यों है भला

मायावती ने चन्नी के चयन को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना. पंजाब को लेकर कांग्रेस के फ़ैसले पर बीजेपी ने क्या कहा, पढ़िए

चन्नी ने रचा इतिहासचन्नी दलित समुदाय से आते हैं. कांग्रेस नेताओं के मुताबिक उनका 'दलित होना, मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंचने के लिए बड़ी वजह साबित हुआ.' पंजाब में अगले साल की शुरुआत में चुनाव में होने हैं. ऐसे में चन्नी का मौजूदा कार्यकाल कुछ ही महीनों का रहेगा. लेकिन फिर भी वो एक इतिहास बनाने में कामयाब रहे हैं.

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा स्थल पर क़ुरान रखने वाले की पहचान हुई - BBC News हिंदी भारत से मैच से पहले अपनों के ही निशाने पर आई पाकिस्तानी टीम - BBC News हिंदी इसराइली पीएम बेनेट नेफ़्टाली ने कहा- 'वी लव इंडिया' तो जयशंकर ने दिया ये जवाब - BBC News हिंदी

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दिया तब जिन कांग्रेस नेताओं के नाम भावी मुख्यमंत्री के तौर पर चर्चा में थे, उनमें चन्नी का नाम शामिल नहीं था. रविवार दोपहर तक उनके नेता चुने जाने को लेकर कोई चर्चा नहीं थी.लेकिन, चन्नी के नाम का एलान हुआ तो कांग्रेस के नेता ज़ोर शोर से ये बताने लगे कि वो पंजाब के पहले 'दलित मुख्यमंत्री' होंगे.

कांग्रेस के सीनियर नेता मनप्रीत बादल ने रविवार को मीडिया से कहा, "पंजाब में एससी पॉपुलेशन (दलित आबादी) हिंदुस्तान में सबसे ज़्यादा है. करीब 33 फ़ीसदी. जब से हिंदुस्तान आज़ाद हुआ है जम्मू कश्मीर हिमाचल पंजाब हरियाणा दिल्ली राजस्थान आज तक पूरे नार्थ इंडिया में कोई दलित मुख्यमंत्री नहीं बना. " headtopics.com

इमेज स्रोत,Getty Imagesमायावती ने क्या कहा?उत्तर प्रदेश की चार बार मुख्यमंत्री रह चुकी मायावती दलित समुदाय से ही आती हैं और उनकी गिनती देश के सबसे बड़े दलित नेताओं में होती रही है. मायावती की बहुजन समाज पार्टी की नज़र पंजाब के दलित वोट बैंक पर भी है. अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मायावती की बीएसपी ने पंजाब में अकाली दल के साथ गठजोड़ किया है.

मायावती यूपी चुनाव अकेले लड़ेंगी पर वो और उनकी बसपा कितनी सक्रिय हैं?मायावती ने दावा किया कि कांग्रेस ने चन्नी को मुख्यमंत्री बीएसपी और अकाली दल के गठजोड़ से चिंतित होकर बनाया है.उन्होंने कहा, " ये भी स्पष्ट है कि कांग्रेस पार्टी यहां अकाली दल और बीएसपी के गठबंधन से काफी ज़्यादा घबराई हुई है. मुझे पूरा भरोसा है कि पंजाब के दलित वर्ग के लोग भी इनके हथकंडे के बहकावे में कतई नहीं आने वाले हैं."

सियासी समीकरणपंजाब में अकाली-बीएसपी गठजोड़ की कामयाबी के लिए दलित वोटों को ही सबसे अहम माना जा रहा है. लेकिन, मायावती की पार्टी का असल दांव उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में लगा होगा, जहां बीते करीब तीन दशक से दलितों का सबसे ज़्यादा वोट उन्हें हासिल होता रहा है.

इस बार प्रबुद्ध (ब्राह्मण) सम्मेलन के जरिए बीएसपी ब्राह्मण और दलित वोट बैंक को साथ लाने का वो ही फॉर्मूला आजमाने की कोशिश में है, जिसने साल 2007 में मायावती की पार्टी को पहली बार अकेले दम पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बहुमत दिलाया था.किसी वक़्त कांग्रेस यही समीकरण कांग्रेस के लिए सत्ता का रास्ता तैयार करता था. इस बार भी प्रियंका गांधी वाड्रा को आगे करते हुए कांग्रेस उत्तर प्रदेश में पुराने फार्मूले को आजमाने की कोशिश में है. headtopics.com

भारत की नई उपलब्धि, कोरोना वैक्सीन का 100 करोड़ का आंकड़ा पार Prime Time With Ravish Kumar: किसान आंदोलन -Court में सुनवाई, सरकार कहां गई? लाइफ में पहली बार असली जेल पहुंचे शाहरुख: कांच की दीवार के पीछे खड़े बेटे से शाहरुख खान की हुई बात, दोनों हुए भावुक

इमेज स्रोत,RIYAZ HASHMIइमेज कैप्शन,चंद्रशेखर आज़ाद से अस्पताल में मिली थीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधीप्रियंका गांधी वाड्रा ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भी ये समीकरण साधने की कोशिश की थी.भीम आर्मी के चंद्रशेखर आज़ाद रावण से उनकी मुलाक़ात को इसी कोशिश का हिस्सा माना गया था. हालांकि, तब कांग्रेस कोई कमाल कर दिखाने में कामयाब नहीं रही थी.

उत्तर प्रदेश में विरोधी दल कांग्रेस को अब तक गंभीरता से नहीं ले रहे थे लेकिन चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब में सरकार का मुखिया बनाकर कांग्रेस ने दोनों प्रदेशों (पंजाब और उत्तर प्रदेश) में राजनीतिक बहस को नई दिशा देने की कोशिश की है.जानकारों की राय में कांग्रेस आंतरिक गुटबाजी के बाद भी फ़िलहाल पंजाब में सबसे बड़ी ताक़त के तौर पर देखी जा रही है. अगर चन्नी के हिस्से थोड़ी भी कामयाबी आई तो वो दलित चेहरे के तौर पर दूसरे राज्यों में भी पार्टी का ग्राफ ऊंचा कर सकते हैं और जिस तरह कांग्रेस नेता रविवार शाम के बाद से कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू से ज़्यादा चर्चा चरणजीत सिंह चन्नी और उनके दलित समुदाय से जुड़े होने की कर रहे हैं, उससे यही संकेत मिल रहा है.

हालांकि, विरोधी दलों के नेता इन संकेतों से आगे भी देख रहे हैं और कांग्रेस की दुखती रग दबाने की कोशिश में हैं.इमेज स्रोत,Getty Imagesसिर्फ़ वोट बैंक?मायावती ने भी सोमवार को कांग्रेस पर निशाना साधने के लिए पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत के बयान का हवाला दिया.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक चन्नी के नेता चुने जाने के बाद हरीश रावत ने कहा, अगला विधानसभा चुनाव "नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा. सिद्धू बेहद लोकप्रिय हैं."इस बयान पर कांग्रेस में भी सवाल उठे. मुख्यमंत्री पद की रेस में शामिल रहे पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने ट्विटर लिखा कि ये बयान 'सीएम की ताक़त को कमतर करने वाला है.' headtopics.com

मायावती ने भी सवाल उठाने में देर नहीं की. उन्होंने कहा, "मीडिया के जरिए आज ही मुझे ये भी मालूम हुआ कि पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव इनके नेतृत्व में नहीं बल्कि गैर दलित के ही नेतृत्व में लड़ा जाएगा. जिससे भी ये साफ जाहिर हो जाता है कि कांग्रेस पार्टी का दलितों पर अभी तक भी पूरा भरोसा नहीं जमा है. "

वहीं, बीजेपी नेता अमित मालवीय ने ट्विटर पर लिखा, " कांग्रेस की चतुर राजनीति में दलित अब सिर्फ राजनीतिक मोहरे हैं. वो दावा करते हैं कि उन्होंने एक दलित को मुख्यमंत्री बनाया है, उन्हें सिर्फ़ नाइटवाचमैन की तरह उतारा गया है, जब तक गांधी परिवार के वफ़ादार सिद्धू सत्ता न सभांल लें. लेकिन वो राजस्थान में दलित युवक की लिंचिंग पर गहरी चुप्पी साधे हुए हैं. "

आज का जीवन मंत्र: भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैं SC ने कहा किसानों को प्रदर्शन का अधिकार, अनिश्चितकाल के लिए सड़क रोकने का नहीं - BBC Hindi आर्यन खान की ज़मानत अर्जी पर बॉम्बे HC में सुनवाई मंगलवार को

साल 2014 के बाद से भारतीय जनता पार्टी दलितों को साथ लाने के लिए अतिरिक्त कोशिश करती दिखाई देती है. पार्टी को इसका फ़ायदा भी मिल रहा है.इमेज स्रोत,Getty Imagesजीत का समीकरणसेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज (सीएसडीएस) के प्रोफ़ेसर और राजनीतिक विश्लेषक संजय कुमार के मुताबिक, "साल 2009 से पहले तक बीजेपी के पास दलित वोट 10-12 फ़ीसदी थे. साल 2014 में बीजेपी के पास दलित वोट 24 फ़ीसदी हो गए. यानी दोगुने. साल 2019 में बीजेपी के खाते में 34 फ़ीसद दलित वोट आए."

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपनी सरकार के साढे चार साल के कामकाज का ब्योरा पेश किया और दावा किया कि अगले विधानसभा चुनाव में 'बीजेपी को 350 से ज़्यादा सीटें मिलेंगी.' भारतीय जनता पार्टी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश की 403 में से 312 सीटें हासिल की थीं.

इस नतीजे को दोहराने के लिए बीजेपी की नज़र दलित वोटों पर है और सोमवार को जब पंजाब में कांग्रेस नेता राज्य के पहले दलित मुख्यमंत्री को बधाई दे रहे थे तभी योगी आदित्यनाथ ट्विटर पर बाबा साहेब आंबेडकर को याद कर रहे थे.योगी आदित्यनाथ ने लिखा, " बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने अपनी मेहनत व बुद्धिमता से भारत को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान दिया. उनका त्यागमय जीवन हमें आत्मविस्मृति से उभारकर अपने गौरवशाली अतीत के साथ पुन: जोड़ने को प्रेरित करता है."

हालांकि, मायावती ने कांग्रेस के साथ बीजेपी पर निशाना साधा.उन्होंने कहा, "सच्चाई ये है कि इनको मुसीबत में है या फिर मजबूरी में ही दलित वर्ग के लोग याद आते हैं. अब यूपी में विधानसभा चुनाव होने में कुछ समय बचा हैं तो यहां भाजपा भी इसी कोशिश में जुटी है. "

और पढो: BBC News Hindi »

क्या कैप्टन अमरिंदर किसानों के साथ सरकार की ओर से मध्यस्थता करेंगे? देखें हल्ला बोल

कैप्टन का प्लान किसान! पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी सियासत को किसानों के रास्ते आगे बढ़ाने का मन बनाया है. कैप्टन ने अपनी नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है लेकिन लिखा है कि अगर किसानों की समस्या का हल निकलता है तो वो बीजेपी के साथ गंठबंधन करेंगे. माना जा रहा है कि वो किसान समस्या को लेकर सरकार और किसानों के बीच मध्यस्थता करेंगे. कैप्टन ने अपनी नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है. साथ ही किसानों की समस्या का समाधान ढूंढने और बीजेपी के साथ गठबंधन की कवायद भी शुरु कर दी है. पंजाब के पूर्व सीएम ने ट्वीट किया कि अगर किसानों के हित में किसान आंदोलन का हल निकाला जाता है तो 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए सिटिंग अरेंजमेंट को लेकर उम्मीद की जा सकती है. तो क्या बीजेपी कैप्टन अमरिंदर सिंह की मदद से किसान आंदोलन का हल ढूंढने की कोशिश कर रही है. क्या कैप्टन अमरिंदर किसानों के साथ सरकार की ओर से मध्यस्थता करेंगे. देखें हल्ला बोल का ये एपिसोड.

उत्तर प्रदेश में भी लोग बीजेपी से दलित मुख्यमंत्री की मांग करने लगे हैं बीजेपी से दलित मुख्यमंत्री होना चाहिए तभी बीजेपी को वोट करेंगे Jumlebaaj mc bhosadiwala राजस्थान से ये ख़बर है और आजकल हर चार दिनों में एक राष्ट्रवादी पाकिस्तान के लिए जासूसी करते हुए पकड़ा जा रहा है लेकिन मजाल है किसी का मुंह खुल जाए, मजाल है कोई इनको पाकिस्तान भेजने की बात कहे।शास्त्रों में इसे ही दोगलापन कहा गया है।

पहले BBC का नाम होता था! आज सिर्फ नाम का रह गया! अपने सुविधानुसार न्यूज़ होती हैं! सीएम पंजाब का बना राजनैतिक भुकम यूपी में आया🤔🤔 Bhan g BJP bhakt दलित_विरोधी_भाजपा दलित_विरोधी_भाजपा दलित_विरोधी_भाजपा प्यारी वाली धुंवें का डर सताए। UP will too get Mayavati, that's why.

LIVE: चरणजीत चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री, चुने गए विधायक दल के नेतापंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच कई महीनों से चला आ रहा सत्ता का संघर्ष आखिर अंजाम तक पहुंच ही गया. कैप्टन अमरिंदर सिंह को चुनाव से ऐन पहले इस्तीफा देना पड़ा है. अब देखना होगा कि कांग्रेस राज्य में चुनाव से पहले नया सीएम किसे बनाती है?

Aapki EAST InDIA COMPANY se poochiye Kyonki Yogi ke naam se BBC ki bhi fatati hai कहीं भाजपा भी तो यूपी में दलित मुख्यमंत्री नहीं बना रही है, Congress takes 𝐁𝐨𝐥𝐝 Decision Godi Media & BJP Get Clean 𝐁𝐨𝐥𝐝 ! Punjab बीजेपी लगे हाथ तो मायावती जी को सीएम बना दे योगी जी को उतारकर एक झूठा कार्ड खेलने में क्या है चार-पांच महीने की तो बाकी है सीएम कुर्सी और चिल्ला चिल्ला कर मीडिया बता देगी बीजेपी दलितों को साथ लेकर चलती है बाद में मंदिर में मत जाने देना जब इलेक्शन हो जाए

पंजाब चुनता है पंजाब के बाशिंदे को मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश चुनता है बाहरी बाशिंदे को मुख्यमंत्री suryapsingh_IAS myogiadityanath narendramodi Channi se challi hogaya fanta दलित मुख्यमंत्री मास्टरस्ट्रोक 👍 उत्तरप्रदेशरोडवेजराजकीयकरो आदरणीय myogiadityanath उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की तमाम समस्या का संज्ञान लें। विनम्र अनुरोध है कि उत्तर प्रदेश परिवहन निगम को राजकीय रोड़वेज घोषित करने पर विचार करें। सरकार की छवि बेहतर होगी और जनहित के साथ रोडवेज का कल्याण होगा।

अब क्या हुआ

चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के अगले CM, निर्विरोध चुने गए कांग्रेस विधायक दल के नेतापंजाब में कांग्रेस ने आखिरकार नए मुख्यमंत्री का नाम तय कर लिया. चरणजीत चन्नी पंजाब के अगले मुख्यमंत्री होंगे. चंडीगढ़ में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में चरणजीत सिंह चन्नी को नेता चुन लिया गया. ना ना गलत है। राहुल गांधी जी को बनाओ पंजाब का चीफ मिनिस्टर। विरोधियों की देखो फिर कैसी सुलगती है Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITCofficial AITC_Parliament BanglarGorboMB Kitne din tak agar captain k khemese nahi he to floor test hoga, or ab randhava k apman ke bad vo bhi captain k taraf chale jayenge.

पंजाब का CM वेटिकन के इशारे पर नियुक्त हुआ है खबर आ रही है पंजाब के नए CM चरणजीत चन्नी धर्मान्तरित ईसाई हैं.. लुटियन मीडिया दलित होने की झूठी खबर फैला रही है इसका मतलब सोनिया गांधी ने सोच समझ कर ही अपनी चाल चली है.. अब पंजाब में खुल कर धर्मांतरण का खेल होगा कमीने कोंग्रेसी 😜👌👌

कैप्टन के इस्तीफे के बाद खट्टर के मंत्री का सिद्धू पर तंजइस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मेरा फैसला आज सुबह हो गया था, मैं बातचीत के लहजे से अपमानित महसूस करता था। बार बार विधायकों की बैठक होती थी। ऐसा माना गया कि मैं सरकार नहीं चला पा रहा हूं।

सिद्धू के नेतृत्व में पंजाब चुनाव लड़ने वाले बयान पर जाखड़ का सख़्त जवाब - BBC Hindiपंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने ट्वीट करके प्रदेश कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत के बयान पर हैरानी जताई है.

पंजाबः रावत बोले- सिद्धू के नेतृत्व में लड़ेंगे पंजाब चुनाव, बयान पर पनपा विवाद!झाखड़ ने ट्वीट किया, ‘‘चरणचीत सिहं चन्नी के पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के दिन, रावत का ‘‘ सिद्धू के नेतृत्व में चुनाव लड़ने का बयान’’ काफी चौंकाने वाला है।'

चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री, राज्य को मिलेगा पहला दलित सीएमचरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे। हरिश रावत ने ट्वीट कर बताया कि चरणजीत सिंह चन्नी को विधायक दल का नेता चुना गया है और वह पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे।