Harmilanbains, Sprinter, Worldchampionship, Jalandhar-City-Jagran-Special, Hoshiarpur Female Sprinter Harmilan, Harmilan Bains Won The Title, Female Sprinter Harmilan Bains, Punjab Commonman Issues, Hp Commonman Issues, Hoshiarpur News, Punjab Top, Jalandhar News, Punjab News, Latest Hindi News, होशियारपुर समाचार, पंजाब समाचार, ताजा खबरें, जालंधर समाचार, Punjab News

Harmilanbains, Sprinter

गोल्ड मेडलिस्ट हरमिलन बैंस बोलीं- पिता रोजाना लगवाते थे आठ घंटे दौड़, विश्व चैंपियनशिप जीतने का है लक्ष्य

गोल्ड मेडलिस्ट हरमिलन बैंस बोलीं- पिता रोजाना लगवाते थे आठ घंटे दौड़, विश्व चैंपियनशिप जीतने का है लक्ष्य #HarmilanBains #Sprinter #WorldChampionship

18-09-2021 13:30:00

गोल्ड मेडलिस्ट हरमिलन बैंस बोलीं- पिता रोजाना लगवाते थे आठ घंटे दौड़, विश्व चैंपियनशिप जीतने का है लक्ष्य HarmilanBains Sprinter WorldChampionship

हरमिलन के पिता अमनदीप सिंह बैंस और माता माधुरी ए सिंह ने लाडली को गोल्ड के लिए हमेशा हमेशा जज्बा भरते रहे। माता-पिता के उम्मीदों को पंख लगाते हुए ऐसा करिश्मा दिखाया जिसकी तारीफ में सबके हाथ सैल्यूट में बरबस ही उठ गए।

हिंदी फिल्म दंगल की तरह माहिलपुर की एथलीट हरमिलन बैंस का गोल्ड मेडल भी है। उसने 22 साल बाद नेशनल रिकार्ड तोड़ कर नया इतिहास रचा है। हरमिलन के पिता अमनदीप सिंह बैंस और माता माधुरी ए सिंह ने लाडली को गोल्ड के लिए हमेशा हमेशा जज्बा भरते रहे। वह सात से आठ घंटे बेटी को रोज दौड़ लगवाते थे। माता-पिता के उम्मीदों को पंख लगाते हुए ऐसा करिश्मा दिखाया, जिसकी तारीफ में सबके हाथ सैल्यूट में बरबस ही उठ गए। तेलांगना के शहर वारंगल में 60वीं नेशनल ओपन एथलेटिक्स चैंपियनिशप में होशियारपुर के कस्बा माहिलपुर की हरमिलन बैंस ने 15 सौ मीटर की दौड़ में गोल्ड जीत कर 2002 का रिकार्ड तोड़ दिया। उस समय बुसान एशियन गेम्स में एथलीट सुनीता रानी ने यह रिकार्ड अपने नाम किया था। खास बात यह है कि उस समय बुसान में हरमिलन की मां माधुरी ए सिंह बैंस ने भी 800 मीटर दौड़ में रजत पदक पर धाक जमाई थी। प्रसिद्ध दौड़ाक अमनदीप सिंह बैंस और माधुरी ए सिंह की बेटी हरमिलन सिंह बैंस भी अपने माता-पिता की तरह अच्छी एथलीट है। इन्होंने भी एशिया जूनियर वर्ल्ड कप प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व कर चुकी है।

आर्यन खान केस में ट्विस्ट: एक गवाह का दावा- '18 करोड़ में तय हुई थी डील', NCB का इनकार यूपी: युवाओं को सौगात, अगले महीने फ्री टैबलेट-लैपटॉप बांटेगी योगी सरकार Mann Ki Baat: आज 82वीं बार मन की बात करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी, इन मुद्दों पर रख सकते हैं विचार

यह भी पढ़ेंलाडली के जज्बे पर पूरा भरोसागोल्ड मेडल विजेता हरमिलन बैंस ने बताया कि तेलगांना में राष्ट्रीय ओपन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के बाद उसका टारगेट विश्व चैंपियनशिप और उसके चीन में होने वाले एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने का है। यह सपना उसकी मां माधुरी का है। वह इसके लिए कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार है। पिता अमनदीप सिंह बैंस ने कहा बेटी के जज्बे पर उन्हें पूरा भरोसा है। खालसा कालेज माहिलपुर के ट्रैक पर घंटों पसीना बहाती हैं। हरमिलन बैंस ने पटियाला में सम्पन्न हुई राष्ट्रीय इंटरस्टेट चैंपियनशिप में मामूली से अंतर में टोक्यो ओलिंपिक में टिकट हासिल करने से चूक गई थी।

यह भी पढ़ेंहरमिलन के नाम कई रिकार्ड दर्जदोआबा स्कूल माहिलपुर में 10वीं की थी। सेंट सोल्जर डिवाइन पब्लिक स्कूल की 12वीं की छात्रा हरमिलन बैंस ने रांची में हुए नेशनल लेवल एथलीट प्रतियोगिता में 1500 मीटर और 800 मीटर में दूसरा स्थान,गुजरात में हुई एथलेटिक्स प्रतियोगिता में देश मे तीसरा स्थान,  सन 2009  में सीबीएसई स्कूल खेलों में 800 व 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। headtopics.com

2011 सेंट्रल बोर्ड पंजाब एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 800 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक, जलंधर में हुई पंजाब स्कूल खेलों में 600 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक और नेशनल स्कूल खेलों में 800 व 600 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता।सन 2016 को बेंगलुरु में हुई जूनियर नेशनल फेडरेशन खेलों में 1500 व 800 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता। एशियन खेलों व जूनियर वल्र्ड कप में क्वालीफाई किया।

जून 2017 में वियतनाम एशियाई खेलों व जुलाई में पोलैंड में हुई जूनियर वल्र्डकप में देश का प्रतिनिधित्व किया।हाल में ही मई में तमिलनाडु में हुए इंटर यूनिवर्सिटी एथलेटिक्स खेलों में 1500 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता था।पिछले साल नवंबर में पटियाला में हुई सीनियर नेशनल फेडरेशन कप में 1500 मीटर दौड़ 4:25 के समय में पूर्ण कर स्वर्ण पदक हासिल किया।

हरमिलन कौर बैंस ने 8 मार्च को पटियाला में हुए फेडरेशन कप मुकाबले में 1500 मीटर दौड़ में अपने ही 4:25 मिनट के रिकार्ड में सुधार करते हुए 4:21 मिनट में पूरा कर तीसरा स्थान प्राप्त किया था।अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं माता-पितायह भी पढ़ें और पढो: Dainik jagran »

Kashmir दौर के पहले दिन गृहमंत्री Amit Shah ने क्या-क्या किया? खबरदार में देखें विश्लेषण

जम्मू-कश्मीर दौरे के आज पहले दिन गृहमंत्री अमित शाह ने एक ही संबोधन में सरकार और देश के विरोधियों को कड़ा संदेश दे दिया. उन्होंने साफ कर दिया कि सरकार कश्मीर के लोगों के लिए सोच रही है. अपने राजनीतिक विरोधियों को उन्होंने बता दिया कि 370 हटाया जाना जम्मू कश्मीर के विकास के लिए जरूरी था. उन्होंने देश के दुश्मनों को भी बता दिया कि आतंकी घटनाओं से भारत डरने वाला नहीं है और आतंक की हर नई चुनौती को वो अपने अंदाज में जवाब देगा और करार जवाब देगा. अमित शाह अपने इस दौरे में सबसे पहले शहीद परवेज़ अहमद के घर गए और उनके परिवार को सांत्वना दी. उनके इस कदम की सराहना हर वो परिवार कर रहा है, जिसका कोई अपना देश की सुरक्षा के लिए सीमाओं पर तैनात है. ये कदम एक संदेश है कि देश सबसे पहले अपने सीमा रक्षकों की परवाह करता है. देखिए खबरदार का ये एपिसोड.

नुसरत के बच्चे के पिता पर सस्पेंस खत्म: निखिल जैन नहीं, एक्टर यश दासगुप्ता ही हैं नुसरत जहां के बेटे के पिता, बर्थ सर्टिफिकेट से हुआ खुलासातृणमूल सांसद नुसरत जहां के न्यू बॉर्न बेबी के पिता की अटकलें आखिरकार खत्म हो गई हैं। बच्चे के बर्थ सर्टिफिकेट के मुताबिक, नुसरत के रूमर्ड पार्टनर देबाशीष दासगुप्ता ही उनके बेटे के पिता हैं। देबाशीष को यश दासगुप्ता के नाम से जाना जाता हैं। नुसरत के बच्चे यिशान जे दासगुप्ता के सर्टिफिकेट में उनकी जन्म तिथि 26 अगस्त है मेंशन है। बता दें नुसरत प्रेग्नेंसी के दिनों से ही अपने रूमर्ड पार्टनर यश के साथ र... | Birth certificate of Nusrat Jahan's son Yashan goes viral, actor Yashdas Gupta's name in father's column Koi baat nhi, jain nhi तो gupta shi.😂😂 Kya news diya hai, inaam to banta h चलो तुम्हे एक राज़ की बात बताती हूं... ये बकवास दिखाने से अच्छा ढंग से करेंट अफेयर्स कवर करवा दिया भाई...जो कि सही न्यूज कहलाता है...देश में बेरोजगारों की कमी नही है...अभी जितनी TRP आती हैं, उससे तो ज्यादा ही बढ़ेगी.... घर में हर तीसरे इंसान को करेंट अफेयर्स की जरूरत है...😁😂

आरोपी ओसामा का पिता मास्टरमाइंड, चाचा भी ISI Terror Module का हिस्सा!दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जिस टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है उसके तार फैलते जा रहे हैं. नए खुलासे के मुताबिक इस मॉड्यूल का सरगना गिरफ्तार संदिग्ध ओसामा का पिता है जो दुबई में मदरसा चलाता है. वहीं प्रयागराज का रहने वाला ओसामा का चाचा भी इस मॉड्यूल में शामिल था जो अब फरार है. पुलिस ने दोनों की गिरफ्तारी के लिए बड़े पैमाने पर कार्रवाई शुरू कर दी है. पहले आतंकी साजिश के 6 चहरे सामने आए फिर ISI और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम की शह पर भारत के बड़े शहरों को त्योहारों के दौरान दहलाने का खुलासा हुआ. और अब इस पूरी साजिश का दुबई कनेक्शन सामने आया है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

Manoj Bajpayee के पिता Hospital में भर्ती, हालत गंभीर

पिता को विदेश में छोड़कर अकेले भारत लौट आई थीं इंदिरा गांधी, पति फिरोज गांधी थे वजहइंदिरा गांधी साल 1958 में पिता पंडित जवाहर लाल नेहरू के साथ भूटान जा रही थीं। इस दौरान फिरोज गांधी को हार्ट अटैक आ गया था। इसके बाद इंदिरा तुरंत वापस लौट आई थीं।

शादीशुदा जिंदगी में दखलअंदाजी नहीं: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- अलग धर्मों के बालिग जोड़े को पसंद का जीवनसाथी चुनने का हक, माता-पिता भी दखल नहीं दे सकतेइलाहाबाद हाईकोर्ट ने अलग-अलग धर्मों के बालिग जोड़े की शादीशुदा जिंदगी में किसी के भी दखल देने पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने कहा है कि अलग-अलग धर्मों के बालिग जोड़े को अपनी पसंद का जीवन साथी चुनने का पूरा अधिकार है। उनके माता-पिता भी दोनों के वैवाहिक जीवन में हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं रखते हैं। | Allahabad High Court Big Decision: High Court Says No right to interfere in married life of adult couple: बालिग जोड़े के शादीशुदा जीवन में हस्तक्षेप का हक नहीं: हाईकोर्ट ने कहा- अलग धर्मों के बालिग जोड़े को अपनी पसंद का जीवन साथी चुनने का अधिकार, माता-पिता भी नहीं कर सकते हस्तक्षेप Western minded judges. Trying to break cultural back bone of country. Justice of law prevails over justice of Court. A severe jolt to the Government raising the storm in a teacup

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का 'टेस्ट' लेने खुद उतरे नितिन गडकरी, ड्राइवर ने दौड़ा दी 170 की स्पीड से कारशुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे का कार ने निरीक्षण किया। इस दौरान उनकी कार 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती नजर आई। माननीय मंत्री nitin_gadkari जी मोदी सरकार के दक्षतम् मंत्री हैं। चाहे सड़क या नमानी गंगा से जुड़ी परियोजनाएँ हों,गुणवत्ता के साथ समय पर पुरी हुईं।नमानी गंगा पर काम प्रायः ठप सा है अब।माननीय गड़करी जी सीधे चुनौतियों का सामना करने में माहिर हैं,पर ऐसे जोखिम से बचना चाहिए उन्हें ।