Gorakhpur, Delhi, Upnews, Gorakhpur-City-Jagran-Special, Indian Railways, North Eastern Railway, Railway News, Gorakhpur To Vande Bharat, Vande Bharat Express, Vande Bharat Will Run From Gorakhpur, Up Top, Uttar Pradesh Main News, Top Gorakhpur News, Gorakhpur News, भारतीय रेलवे, पूर्वोत्‍तर रेलवे, रेलवे समाचार, गोरखपुर से वंदे भारत एक्‍सप्रेस, गोरखपुर से लखनऊ वंदे भारत एक्‍सप्रेस, गोरखपुर से चलेगी वंदे भारत एक्‍सप्रेस, Uttar Pradesh News

Gorakhpur, Delhi

गोरखपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र चलेगी वंदे भारत एक्‍सप्रेस, रेलवे ने शुरू की तैयारी

गोरखपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र चलेगी वंदे भारत एक्‍सप्रेस, रेलवे ने शुरू की तैयारी #Gorakhpur #delhi #UPNews

22-10-2021 05:15:00

गोरखपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र चलेगी वंदे भारत एक्‍सप्रेस, रेलवे ने शुरू की तैयारी Gorakhpur delhi UPNews

पूर्वोत्तर रेलवे और पूर्वांचल के लोगों की उम्मीदों को धीरे-धीरे पंख लगने लगे हैं। रेलवे बोर्ड ने देशभर में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की कवायद तेज कर दी है। मार्च तक पूर्वोत्तर रेलवे के रूटों पर भी तीन से चार ट्रेनें दौड़ने लगेंगी।

पूर्वोत्तर रेलवे और पूर्वांचल के लोगों की उम्मीदों को धीरे-धीरे पंख लगने लगे हैं। रेलवे बोर्ड ने देशभर में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की कवायद तेज कर दी है। टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। मार्च तक पूर्वोत्तर रेलवे के रूटों पर भी तीन से चार ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। जिसमें एक मुख्यालय गोरखपुर के रास्ते लखनऊ जंक्शन (यूपी की राजधानी) और पटना के पास वाले स्टेशन पाटलीपुत्र (बिहार की राजधानी) को जोड़ेगी। इसके अलावा लखनऊ से दिल्ली, गोरखपुर-लखनऊ-दिल्ली और गोरखपुर-लखनऊ के बीच भी वंदे भारत चलाने की योजना है।

नारायण राणे का दावा, मार्च में महाराष्ट्र में बीजेपी सरकार बनाएगी - BBC Hindi Prayagraj: प्रियंका गांधी ने पीड़ित दलित परिवार से की मुलाकात, कहा- यूपी में गरीबों, दलितों और किसानों की कोई सुनवाई नहीं 'स्टॉप इट डैड', आर्यन खान के दोस्त ने जब NCB दफ्तर से निकलते ही दिया रिएक्शन, देखें VIDEO

यह भी पढ़ेंलखनऊ-पाटलीपुत्र, लखनऊ-दिल्ली व गोरखपुर-दिल्ली के बीच मार्च तक चल सकती है वंदे भारतपूर्वोत्तर रेलवे का मुख्यमार्ग बाराबंकी- गोरखपुर-छपरा मार्ग (लगभग 425 किमी) राजधानी, शताब्दी, दूरंतो और वंदे भारत एक्सप्रेस की रफ्तार 110 से 130 किमी प्रति घंटा के लायक बन चुका है। इस रेलमार्ग की बढ़ी हुई मजबूती और गति ने गोरखपुर से दिल्ली के बीच की अधिक दूरी व अन्य तकनीकी समस्या को भी दूर कर दी है। दरअसल वंदे भारत भी शताब्दी की तर्ज पर चलती है।यानी 24 घंटे के अंदर इस ट्रेन को भी वापस अपने मूल प्रस्थान वाले स्टेशन पर पहुंचना अनिवार्य होता है। ऐसे में गोरखपुर से दिल्ली के बीच वंदे भारत का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है।

यह भी पढ़ेंवंदे भारत व राजधानी के लायक बन चुका है बाराबंकी-गोरखपुर-छपरा मार्गजानकारों के अनुसार इस ट्रेन में एसी चेयरकार ही लगते हैं। ऐसे में इस ट्रेन को इंटरसिटी के रूप में भी चलाने की तैयारी शुरू हो गई है। यूपी और बिहार को जोड़ने के बाद यह ट्रेन यूपी और दिल्ली के अलावा आने वाले दिनों में यह ट्रेन गोरखपुर और लखनऊ तथा गोरखपुर-प्रयागराज को भी आपस में जोड़ सकती है। पूर्वोत्तर रेलवे के बनारस-प्रयागज रूट पर पहले से ही वंदे भारत चल रही है। हालांकि, भविष्य में वंदे भारत में भी राजधानी की तरह एसी की शयनयान श्रेणी के कोच भी लगने लगेंगे। headtopics.com

यह भी पढ़ेंयहां जान लें कि 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह में प्रधानमंत्री ने देशभर में 75 वंदे भारत ट्रेन चलाने की घोषणा की थी। दैनिक जागरण ने भी पूर्वांचल के प्रमुख धार्मिक, ऐतिहासिक पर्यटन केंद्र और उभरती अर्थव्यवस्था वाले पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय गोरखपुर रूट पर भी राजधानी सहित देश की प्रमुख ट्रेनों (वंदे भारत, शताब्दी और दूरंतो) के संचालन के लिए हमें चाहिए राजधानी अभियान चलाया है।

यह भी पढ़ेंएक नजर में वंदे भारतअधिकतम 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है। 180 किमी प्रति घंटे करने की है योजना।इसे ट्रेन सेट-18 भी कहते हैं। सिर्फ विद्युतीकृत रेलमार्ग पर चलती है। दोनों तरफ इंजन होते हैं।पूरी तरह वातानुकूलित इस ट्रेन में दो पावर कार, 14 चेयर कार और दो एक्जीक्यूटिव कार होती हैं।

और पढो: Dainik jagran »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

.ALL FAST TRAINS ARE BEING RUN FROM UP TO DELHI N SOME TO KOLKATA WHEN THERE IS GREAT NEED TO RUN SUCH TRAINS TO PUNE BECAUSE IT HAS ALSO BECOME BIG BUSINESS CENTRE AND INDUSTRY HUN narendramodi_in PiyushGoyal RailMinIndia RSSorg आदरणीय सर नमस्कार सर लखनऊ से सीतापुर ,शाहजहाँपुर के कम्म्प्लीट इलेक्टिक रुट पर प्रकाश अपने माध्यम से डाले जिससे शहर वासियों को सस्ते ओर सुहाने सफर का लाभ प्राप्त हो । पिछ्ले कई दसको से शहर वाशी इन रूट पर बस का महंगा सफर करने को मजबूर है। सर सभी महंगा सफर नही कर सकते है। 🙏🙏

दिग्गजों की डुगडुगी : आलिया के फैन रणबीर, सनी देओल के भक्त, फरदीन की वापसीआलिया भट्ट और रणबीर कपूर की निकटता की खूब चर्चा है और यहां तक कहा जा रहा है कि जल्दी ही दोनों शुभमंगल सावधान कर फिल्म इडस्ट्री को दावत दे सकते हैं।

UP चुनाव: प्रियंका के सिपहसालार अखिलेश की साइकिल पर सवार, कांग्रेस की नैया कैसे होगी पार?उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रियंका गांधी के 'हाथ' को पकड़कर आगे बढ़ने की बजाय छोड़कर सपा प्रमुख अखिलेश यादव की साइकिल पर सवार होते जा रहे हैं. चुनाव से ऐन पहले एक के बाद एक बड़े नेता कांग्रेस छोड़ते जा रहे हैं, जिसके चलते प्रियंका गांधी के लिए यूपी की चुनावी राह और भी मुश्किल होती जा रही है. लगता है पास्सा उल्टा पड गया। अब होगा न्याय Ab boliye priyanka ji ab apka kya hoga aap ka mahilao ka 40 %vote ne aap ko khatre mai daal diya . Ab pahle ish dikkat ko sahi kijye fir bataye

भारतीय पनडुब्बी को अपने जल क्षेत्र में रोकने के पाकिस्तान के दावे की खुली पोलपाकिस्तान के उस दावे की पोल खुल गई है कि उसने पिछले सप्ताह अपने जल क्षेत्र में भारतीय पनडुब्बी को घुसने से रोका था। दरअसल भारतीय नौसेना के सूत्रों ने ऐसे विवरण पेश किए हैं जो बताते हैं कि पनडुब्बी पाकिस्तान के जल क्षेत्र से बहुत दूर मौजूद थी Hijada pakistan

अपनी पार्टी बनाएंगे, भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार: अमरिंदर सिंहकांग्रेस नेता और पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने अमरिंदर सिंह के एक नई राजनीतिक पार्टी बनाने और भाजपा से साथ सीट बंटवारे को लेकर तैयार होने की बात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अगर कैप्टन भाजपा के साथ जाना चाहते हैं तो ऐसा कर सकते हैं. उन्हें ‘सर्वधर्म सम्भाव’ का प्रतीक माना जाता था. ऐसा लगता है कि उन्होंने अपने अंदर के ‘धर्मनिरपेक्ष अमरिंदर’ को मार दिया है. इनसे कहो G 23 के बूढों को भी अपने साथ ले लें। 80 साल की उम्र में भी संतोष नहीं। घटिया आदमी निकला ये राजा 70 साल तक कांग्रेस ने सब दिया। एक कुर्सी मांग ली तो राजा की तिवरी चढ़ गई अब समय अमरेन्द्र साहब सत नाम वाये गुरु जपने का है न की पार्टी बनाने का ।

IRCTC के इस Flight Package के तहत कर सकते हैं Tirupati Devasthanam के दर्शनपैकेज के जरिये आप Lord Balaji Temple Padmavathi Temple Sri Kalahasti की यात्रा कर सकते हैं। यह यात्रा 1 रात और 2 दिन के लिए होगा। टूर की तारीख 23 अक्टूबर 2021 और 19 नवंबर और 20 नवंबर 2021 है।

जनसंघ के 70 साल: स्कूल के एक कमरे में 2 घंटे की बैठक के दौरान पड़ी जनसंघ की नींव, आज वहां भाजपा का कोई नेता नहीं जाताआज से 70 साल पहले यानी 21 अक्टूबर 1951, दिल्ली के मशहूर गोल मार्केट से करीब आधा किलोमीटर दूर राजा बाजार में एक पब्लिक स्कूल में दो घंटे के लिए कमरा लिया जाता है। इसमें कुछेक लोग शामिल होते हैं और एक नई पार्टी की नींव रखी जाती है। नाम भारतीय जनसंघ पार्टी। उस वक्त कांग्रेस के विकल्प के रूप में उभरी जनसंघ आज भाजपा में तब्दील हो चुकी है। आज उसका हेडक्वार्टर 1.7 लाख स्क्वायर फीट में फैला है। देशभर में ... | The foundation of Jana Sangh was laid after a meeting which lasted for 2 hours in a school, today no BJP leader goes there, even the people around do not know anything. sandhyadwivedi1 RSSorg BJP4India BJP4Delhi ज्यादा तिरछे मत चलो...IT raid का खुमार उतर गया क्या... sandhyadwivedi1 RSSorg BJP4India BJP4Delhi अब जाता तो कोई कालापानी में भी नही टैक्स चोर दैनिकभास्कर क्या कहना चाह रहा है