Islamicstate, Terrorist, India, Youth, आतंकी संगठन, İsis Arrested İn İndia, İsis İn İndia, İsis, İndian Youths, Terrorist Organization, İslamic State, National İnvestigation Agency, Nia

Islamicstate, Terrorist

गुमराह: आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के निशाने पर भारतीय युवा, अब तक 168 गिरफ्तार

देश में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रहा आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) सोशल मीडिया के जरिये भारतीय युवाओं को लगातार

18-09-2021 04:25:00

गुमराह: आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के निशाने पर भारतीय युवा, अब तक 168 गिरफ्तार IslamicState Terrorist India Youth

देश में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रहा आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) सोशल मीडिया के जरिये भारतीय युवाओं को लगातार

एनआईए प्रवक्ता के मुताबिक, अब तक 31 मामलों में चार्जशीट दायर की गई है। आखिरी चार्जशीट जून में दायर की गई थी। इन मामलों में 27 आरोपियों के खिलाफ सुनवाई के बाद अदालतों ने सजा मुकर्रर कर दी है।प्रवक्ता के अनुसार, जांच में पता चला है कि आईएस भारत में अपने पांव पसारने के लिए ऑनलाइन माध्यमों से प्रचार अभियान चला रहा है। इस संगठन ने देश में अपना कोई भर्ती केंद्र नहीं खोला है, लेकिन सोशल मीडिया के जरिये यह लगातार युवाओं का ब्रेनवॉश कर उन्हें अपने यहां भर्ती कर रहा है। युवाओं को ओपन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम के जरिये लुभाया जाता है। एक बार जब कोई व्यक्ति रुचि दिखाता है तो उसे व्हाट्सएप जैसे एनक्रिप्टेड सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करके विदेशों में ऑनलाइन हैंडलर के साथ बातचीत करने के लिए प्रेरित किया जाता है। एनआईए ने लोगों से अपील की है कि वह इंटरनेट पर ऐसी किसी भी गतिविधि को देखें तो तत्काल एजेंसी के ध्यान में लाएं।

पाकिस्तान को भारत पर जीत दिला सकते हैं ये पाँच कारण - BBC News हिंदी इमरान ख़ान दिल्ली में जलसा करें तो मोदी से बड़ा जलसा होगा: पाकिस्तानी मंत्री - BBC News हिंदी लगातार पांचवें दिन बढ़ी पेट्रोल-डीज़ल की कीमत, राहुल गांधी बोले- टैक्स डकैती बढ़ती जा रही है - BBC Hindi

संदिग्ध गतिविधि की सूचना देने को एनआईए ने हॉटलाइन नंबर किया जारीएनआईए ने आईएस से किसी भी संदिग्ध गतिविधि की जानकारी देने के लिए हॉटलाइन नंबर भी जारी किया है।011-24368800पर ऐसी किसी भी गतिविधि की सूचना दी जा सकती है। सोशल मीडिया पर प्रचार करने या युवकों को बहकाने जैसे मामलों की सूचना इस नंबर पर तुरंत दी जा सकती है।

युवाओं से ऐसे काम करा रहा आतंकी संगठनजांच एजेंसी के मुताबिक, व्यक्ति का कितना ब्रेनवॉश हुआ है, इसका आकलन कर आईएस का ऑनलाइन हैंडलर उसका उपयोग ऑनलाइन कट्टरवादी सामग्री अपलोड करने के लिए करते हैं। साथ ही इन युवाओं को स्थानीय भाषा में आईएस की किताबों का अनुवाद करने, साजिश बनाने, एक स्लीपिंग मॉड्यूल के रूप में तैयारी करने, हथियारों का संग्रह (आईईडी) और उन्नत गोला-बारूद जमा करने, उपकरणों को तैयार करने, आतंकी फंडिंग जुटाने के साथ ही हमले करने के लिए भी तैयार किया जाता है। headtopics.com

तमिलनाडु में आईएस के दो ठिकानों पर मारे छापे, एक गिरफ्तारराष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने तमिलनाडु में दो स्थानों पर छापे मारे तथा इस्लामिक स्टेट और कट्टरपंथी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर की विचारधारा का समर्थन करने वाले फेसबुक पोस्ट से संबंधित मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया।

जांच एजेंसी के अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि तिरुवरूर जिले के बावा बहरु द्दीन को एनआईए ने बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा कि यह मामला मदुरै में दर्ज है और मोहम्मद इकबाल से जुड़ा हुआ है, जो अपने फेसबुक अकाउंट का उपयोग एक खास समुदाय को बदनाम करने तथा विभिन्न धर्मों के बीच सांप्रदायिक वैमनस्य को बढ़ावा देने वाले पोस्ट अपलोड करता था।

अधिकारी के मुताबिक, इकबाल ने हिज्ब-उत-तहरीर के नाम पर बहरु द्दीन सहित अन्य लोगों के साथ मिलकर इस्लामिक स्टेट को फिर से स्थापित करने और भारत सहित विश्वभर में शरिया कानून लागू करने की साजिश रची। इस साजिश को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने बंद कमरों में बैठकें कीं और भारत की संप्रभुता व क्षेत्रीय अखंडता को बाधित करने के इरादे से पोस्ट अपलोड करने के लिए विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर कई अकाउंट बनाए थे। तमिलनाडु के मदुरै, इरोड, सलेम और तंजौर जिलों में हुईं इन बैठकों का संचालन बहरुद्दीन ने किया था।

एनआईए के अधिकारी के अनुसार तिरुवरूर जिले के मन्नारगुडी और तंजौर जिले के मंसूर अली थैकल इलाके में बृहस्पतिवार को मारे गए छापों में हिज्ब-उत-तहरीर से संबंधित आपत्तिजनक साहित्य व तीन डिजिटल उपकरण जब्त किए गए। उन्होंने कहा कि मामले में आगे की जांच की जा रही है। headtopics.com

आर्यन खान केस में ट्विस्ट: एक गवाह का दावा- '18 करोड़ में तय हुई थी डील', NCB का इनकार सऊदी अरब के क्राऊन प्रिंस का यह लक्ष्य क्या भारत के बिना पूरा होगा? - BBC News हिंदी लखनऊ... भूमाफिया रफीक गिरफ्तार: फर्जी रजिस्ट्री तैयार कर जमीन पर कर रहा था कब्जा, प्रियंका व राहुल के साथ फोटो हो रही वायरल

विस्तार गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को आतंकी संगठन की बढ़ती सक्रियता पर चिंता जताई और कहा कि देश में अब तक 37 आतंकी हमलों, आतंकी साजिश और फंडिंग के मामलों में 168 लोगों को पकड़ा गया है। ये सभी इस्लामिक स्टेट की विचारधारा से प्रेरित थे।

विज्ञापनएनआईए प्रवक्ता के मुताबिक, अब तक 31 मामलों में चार्जशीट दायर की गई है। आखिरी चार्जशीट जून में दायर की गई थी। इन मामलों में 27 आरोपियों के खिलाफ सुनवाई के बाद अदालतों ने सजा मुकर्रर कर दी है।प्रवक्ता के अनुसार, जांच में पता चला है कि आईएस भारत में अपने पांव पसारने के लिए ऑनलाइन माध्यमों से प्रचार अभियान चला रहा है। इस संगठन ने देश में अपना कोई भर्ती केंद्र नहीं खोला है, लेकिन सोशल मीडिया के जरिये यह लगातार युवाओं का ब्रेनवॉश कर उन्हें अपने यहां भर्ती कर रहा है। युवाओं को ओपन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम के जरिये लुभाया जाता है। एक बार जब कोई व्यक्ति रुचि दिखाता है तो उसे व्हाट्सएप जैसे एनक्रिप्टेड सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करके विदेशों में ऑनलाइन हैंडलर के साथ बातचीत करने के लिए प्रेरित किया जाता है। एनआईए ने लोगों से अपील की है कि वह इंटरनेट पर ऐसी किसी भी गतिविधि को देखें तो तत्काल एजेंसी के ध्यान में लाएं।

संदिग्ध गतिविधि की सूचना देने को एनआईए ने हॉटलाइन नंबर किया जारीएनआईए ने आईएस से किसी भी संदिग्ध गतिविधि की जानकारी देने के लिए हॉटलाइन नंबर भी जारी किया है।011-24368800पर ऐसी किसी भी गतिविधि की सूचना दी जा सकती है। सोशल मीडिया पर प्रचार करने या युवकों को बहकाने जैसे मामलों की सूचना इस नंबर पर तुरंत दी जा सकती है।

युवाओं से ऐसे काम करा रहा आतंकी संगठनजांच एजेंसी के मुताबिक, व्यक्ति का कितना ब्रेनवॉश हुआ है, इसका आकलन कर आईएस का ऑनलाइन हैंडलर उसका उपयोग ऑनलाइन कट्टरवादी सामग्री अपलोड करने के लिए करते हैं। साथ ही इन युवाओं को स्थानीय भाषा में आईएस की किताबों का अनुवाद करने, साजिश बनाने, एक स्लीपिंग मॉड्यूल के रूप में तैयारी करने, हथियारों का संग्रह (आईईडी) और उन्नत गोला-बारूद जमा करने, उपकरणों को तैयार करने, आतंकी फंडिंग जुटाने के साथ ही हमले करने के लिए भी तैयार किया जाता है। headtopics.com

तमिलनाडु में आईएस के दो ठिकानों पर मारे छापे, एक गिरफ्तारराष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने तमिलनाडु में दो स्थानों पर छापे मारे तथा इस्लामिक स्टेट और कट्टरपंथी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर की विचारधारा का समर्थन करने वाले फेसबुक पोस्ट से संबंधित मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया।

जांच एजेंसी के अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि तिरुवरूर जिले के बावा बहरु द्दीन को एनआईए ने बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा कि यह मामला मदुरै में दर्ज है और मोहम्मद इकबाल से जुड़ा हुआ है, जो अपने फेसबुक अकाउंट का उपयोग एक खास समुदाय को बदनाम करने तथा विभिन्न धर्मों के बीच सांप्रदायिक वैमनस्य को बढ़ावा देने वाले पोस्ट अपलोड करता था।

कांग्रेस की सदस्यता के नए नियम: शराब और ड्रग्स से दूर रहना होगा, सार्वजनिक रूप से पार्टी की नीतियों की आलोचना नहीं कर सकेंगे डाबर के विज्ञापन पर तहलका: समलैंगिक जोड़ा मना रहा करवाचौथ, लोग बोले- ये हमारी संस्कृति के खिलाफ लालू बनेंगे तेजस्वी के सारथी!: उपचुनाव में प्रचार के लिए निकले तो बेटे को हिम्मत मिलेगी, भाजपा को मुश्किलों में डाल सकते हैं

अधिकारी के मुताबिक, इकबाल ने हिज्ब-उत-तहरीर के नाम पर बहरु द्दीन सहित अन्य लोगों के साथ मिलकर इस्लामिक स्टेट को फिर से स्थापित करने और भारत सहित विश्वभर में शरिया कानून लागू करने की साजिश रची। इस साजिश को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने बंद कमरों में बैठकें कीं और भारत की संप्रभुता व क्षेत्रीय अखंडता को बाधित करने के इरादे से पोस्ट अपलोड करने के लिए विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर कई अकाउंट बनाए थे। तमिलनाडु के मदुरै, इरोड, सलेम और तंजौर जिलों में हुईं इन बैठकों का संचालन बहरुद्दीन ने किया था।

एनआईए के अधिकारी के अनुसार तिरुवरूर जिले के मन्नारगुडी और तंजौर जिले के मंसूर अली थैकल इलाके में बृहस्पतिवार को मारे गए छापों में हिज्ब-उत-तहरीर से संबंधित आपत्तिजनक साहित्य व तीन डिजिटल उपकरण जब्त किए गए। उन्होंने कहा कि मामले में आगे की जांच की जा रही है।

और पढो: Amar Ujala »

Kashmir दौर के पहले दिन गृहमंत्री Amit Shah ने क्या-क्या किया? खबरदार में देखें विश्लेषण

जम्मू-कश्मीर दौरे के आज पहले दिन गृहमंत्री अमित शाह ने एक ही संबोधन में सरकार और देश के विरोधियों को कड़ा संदेश दे दिया. उन्होंने साफ कर दिया कि सरकार कश्मीर के लोगों के लिए सोच रही है. अपने राजनीतिक विरोधियों को उन्होंने बता दिया कि 370 हटाया जाना जम्मू कश्मीर के विकास के लिए जरूरी था. उन्होंने देश के दुश्मनों को भी बता दिया कि आतंकी घटनाओं से भारत डरने वाला नहीं है और आतंक की हर नई चुनौती को वो अपने अंदाज में जवाब देगा और करार जवाब देगा. अमित शाह अपने इस दौरे में सबसे पहले शहीद परवेज़ अहमद के घर गए और उनके परिवार को सांत्वना दी. उनके इस कदम की सराहना हर वो परिवार कर रहा है, जिसका कोई अपना देश की सुरक्षा के लिए सीमाओं पर तैनात है. ये कदम एक संदेश है कि देश सबसे पहले अपने सीमा रक्षकों की परवाह करता है. देखिए खबरदार का ये एपिसोड.

Punjab से बरामद हुए टिफिन बम और हथियारों के आतंकी कनेक्शन की होगी जांचदिल्ली पुलिस ने पंजाब से पिछले महीने टिफिन बम और हथियारों की बरामदगी के पाकिस्तान मॉड्यूल के आतंकी कनेक्शन की जांच भी शुरू कर दी है. ये बरामदगी जरनैल सिंह भिंडरावाले के भतीजे के घर से हुई थी. दरअसल पंजाब से जो विस्फोटक बरामद हुए वैसे ही विस्फोटक दिल्ली पुलिस की स्पेशल ने पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल से बरामद किए हैं. ये टेरर नेटवर्क दुबई से जुड़ा है और देश के कई हिस्सों तक पहुंच चुका है. पुलिस को इस मामले में 3 लोगों की तलाश है. देखें कहां तक पहुंची है पुलिस की जांच.

जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में आतंकी हमला, रेलवे पुलिसकर्मी की हत्याये आतंकी हमला कुलगाम के वनपोह इलाके का बताया जा रहा है. यहां पर आतंकियों ने बंटू शर्मा नाम के रेलवे पुलिसकर्मी पर गोलियां चला दी थीं. हादसे में बंटू बुरी तरह घायल हो गए थे. उन्हें पास के एक निजी अस्पताल में गंभीर अवस्था में एडमिट करवाया गया था. लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. sunilJbhat Very sad happening. My country’s security personnel are capable of handling toughest challenges.

शंघाई सहयोग संगठन में मोदी का भाषण, अफ़ग़ानिस्तान पर क्या कहा? - BBC Hindiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन ने अपने भाषण में अफ़ग़ानिस्तान का ज़िक्र किया अखंड_पनौती_दिवस मोदी_रोजगार_दो मोदी_है_तो_बर्बादी_है मोदी_आया_बेरोजगारी_लाया मोदी_रोजगार_पर_बात_करो राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस NationalUnemploymentDay BerojGarDiwas ModiBornToDestroyDemocracy ModiBornToDestroyDemocracy berozgardiwas ki hardik shubhkamnaye 🙏🏻

Punjab से क्यों जुड़ रहे ISI के आतंकी नेटवर्क के तार? देखें क्यों हाई अलर्ट पर एजेंसियांहिंदुस्तान में आतंक फैलाने की पाकिस्तानी साजिश के तार अब फैलते जा रहे हैं. दिल्ली में जिस टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ हुआ उसके तार पंजाब से जुड़ने की आशंका है. दरअसल अगस्त महीने में NIA ने पंजाब में रेड कर टिफिन बम की शक्ल में आईईडी बरामद की थी. इनके साथ-साथ RDX और कुछ पिस्टल समेत हैंड ग्रेनेड और कारतूस बरामद किए गए थे. अब दिल्ली पुलिस ये पता लगा रही है कि क्या पंजाब से NIA की ओर से की गई बरामदगी का प्रयागराज से मिले RDX और बम से कोई कनेक्शन है? पुलिस का शक इस वजह से गहरा गया है क्योंकि दोनों विस्फोटकों के बीच काफी समानता है. पंजाब में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया. देखें वीडियो.

तबाही मचाने के लिए पुलों और रेल पटरियों को उड़ाने वाले थे ISI प्रशिक्षित आतंकी, पूछताछ में सनसनीखेज जानकारियां दीदिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों ने पूछताछ में सनसनीखेज जानकारियां दी हैं। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी खुफि‍या एजें‍सी आइएसआइ ने इन आतंकियों को बड़े पैमाने पर लोगों की हत्‍या करने के लिए पुलों और रेलवे पटरियों को उड़ाने के लिए ट्रेनिंग दी थी।

तबाही मचाने के लिए पुलों और रेल पटरियों को उड़ाने वाले थे ISI प्रशिक्षित आतंकी, पूछताछ में सनसनीखेज जानकारियां दीदिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों ने पूछताछ में सनसनीखेज जानकारियां दी हैं। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी खुफि‍या एजें‍सी आइएसआइ ने इन आतंकियों को बड़े पैमाने पर लोगों की हत्‍या करने के लिए पुलों और रेलवे पटरियों को उड़ाने के लिए ट्रेनिंग दी थी।