Gujarat, Anticonversionbill, Gujarat Love Jihad Punishment, Gujarat Love Jihad Law, Gujarat Freedom Of Religion, Gujarat Forced Marriage, Gujarat Conversion Law, Law Against Conversion, Anti Love Jihad Law, Gujarat Government, Gujarat Governor Acharya Devvrat, Acharya Devvrat, Vijay Rupani

Gujarat, Anticonversionbill

गुजरात: विवाह के जरिये धर्मांतरण रोधी कानून लागू, चार से सात साल तक जेल की सजा का प्रावधान

गुजरात में विवाह के जरिये धर्मांतरण कराने के खिलाफ कड़ी सजा के प्रावधान वाला कानून मंगलवार को लागू हो गया।

15-06-2021 22:10:00

गुजरात: विवाह के जरिये धर्मांतरण रोधी कानून लागू, चार से सात साल तक जेल की सजा का प्रावधान Gujarat AntiConversionBill vijayrupanibjp BJP4India

गुजरात में विवाह के जरिये धर्मांतरण कराने के खिलाफ कड़ी सजा के प्रावधान वाला कानून मंगलवार को लागू हो गया।

गुजरात धर्म की स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 को विधानसभा में एक अप्रैल को बहुमत से पारित किया गया था। इसे गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने मई में मंजूरी दे दी थी। गुजरात धर्म की स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 के तहत शादी के जरिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने पर सख्त सजा का प्रावधान रखा गया है। इस कानून के तहत चार से सात साल तक की सजा का प्रावधान है।

हिंदू मंदिरों पर हमले के बाद बांग्लादेश में कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शन - BBC News हिंदी मांडविया पर भड़कीं मनमोहन सिंह की बेटी: अस्‍पताल के बेड पर लेटे पिता की तस्‍वीर पब्लिक होने पर बोलीं- मेरे पेरेंट्स चिड़ियाघर के जानवर नहीं निहंगों को हटाने की मांग: किसान नेता बोले- हमारा आंदोलन कोई धार्मिक मोर्चा नहीं, निहंगों को यहां से चले जाना चाहिए

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने 22 मई को गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 को अपनी स्वीकृति दे दी थी, जिसमें कुछ मामलों में 10 साल तक की कैद और 5 लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। राज्य की विधानसभा ने इस साल एक अप्रैल को यह विधेयक पारित किया था। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने पुष्टि की कि सीएमओ की 4 जून की घोषणा के अनुसार राज्य में कानून लागू किया गया है।

विधेयक पेश करते हुए सरकार ने कहा था कि वह 'उभरती हुई प्रवृत्ति पर अंकुश लगाना चाहती है जिसमें महिलाओं को धर्म परिवर्तन के उद्देश्य से शादी का लालच दिया जाता है।'लव जिहाद कानून की खास बातें:-केवल धर्मांतरण के उद्देश्य से विवाह या विवाह के उद्देश्य के लिए धर्मांतरण के मामले में विवाह को पारिवारिक न्यायालय या न्यायालय द्वारा रद्द कर दिया जाएगा। headtopics.com

कोई भी व्यक्ति, प्रत्यक्ष या अन्यथा, बलपूर्वक या जबरदस्ती, या कपटपूर्ण साधनों से, या विवाह द्वारा, या विवाह में सहायता करने के लिए धर्मांतरण नहीं करवा सकेगा।इसमें लव जिहाद हुआ है या नही, ये साबित करने का भार (Burden of Proof) अभियुक्त, अभियोगकर्ता और सहायक पर होगा।

हर कोई जो अपराध करता है, अपराध में मदद करता है, अपराध में सलाह देता है, उसे समान रूप से दोषी माना जाएगा।इस प्रावधान का उल्लंघन करने पर कम से कम तीन साल और पांच साल तक की कैद और कम से कम दो लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है।महिला, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के संबंध में सजा का प्रावधान चार से सात वर्ष के कारावास और तीन लाख रुपये से कम के जुर्माने से दंडनीय होगा।

इन प्रावधानों का पालन नहीं करने वाले संगठन का पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा और ऐसे संगठन को कम से कम तीन साल की कैद और 10 साल तक की कैद और पांच लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है।ऐसा संगठन आरोप पत्र दाखिल करने की तिथि से राज्य सरकार से वित्तीय सहायता या अनुदान के लिए पात्र नहीं होगा।

इस अधिनियम के तहत अपराधों को गैर-जमानती और संज्ञेय अपराध माना जाएगा और पुलिस उपाधीक्षक के पद से नीचे के अधिकारी द्वारा जांच नहीं की जाएगी।विस्तार एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। यूपी और मध्यप्रदेश के बाद अब गुजरात सरकार ने भी लव जिहाद कानून 15 जून से लागू कर दिया है। headtopics.com

इन आसान तरीक़ों से खाना बर्बाद होने से बचाएं - BBC News हिंदी उद्धव का भाजपा पर बड़ा हमला: दशहरा रैली में बोले- ठुकराए प्रेमी की तरह व्यवहार कर रही है भाजपा, इनके लिए सत्ता की भूख नशे की लत जैसी है IPL 2021: डु प्लेसिस को भूल CSA ने सिर्फ एक खिलाड़ी को दी बधाई, भड़क गए डेल स्टेन

विज्ञापनगुजरात धर्म की स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 को विधानसभा में एक अप्रैल को बहुमत से पारित किया गया था। इसे गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने मई में मंजूरी दे दी थी। गुजरात धर्म की स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 के तहत शादी के जरिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने पर सख्त सजा का प्रावधान रखा गया है। इस कानून के तहत चार से सात साल तक की सजा का प्रावधान है।

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने 22 मई को गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 को अपनी स्वीकृति दे दी थी, जिसमें कुछ मामलों में 10 साल तक की कैद और 5 लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। राज्य की विधानसभा ने इस साल एक अप्रैल को यह विधेयक पारित किया था। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने पुष्टि की कि सीएमओ की 4 जून की घोषणा के अनुसार राज्य में कानून लागू किया गया है।

विधेयक पेश करते हुए सरकार ने कहा था कि वह 'उभरती हुई प्रवृत्ति पर अंकुश लगाना चाहती है जिसमें महिलाओं को धर्म परिवर्तन के उद्देश्य से शादी का लालच दिया जाता है।'लव जिहाद कानून की खास बातें:-केवल धर्मांतरण के उद्देश्य से विवाह या विवाह के उद्देश्य के लिए धर्मांतरण के मामले में विवाह को पारिवारिक न्यायालय या न्यायालय द्वारा रद्द कर दिया जाएगा।

कोई भी व्यक्ति, प्रत्यक्ष या अन्यथा, बलपूर्वक या जबरदस्ती, या कपटपूर्ण साधनों से, या विवाह द्वारा, या विवाह में सहायता करने के लिए धर्मांतरण नहीं करवा सकेगा।इसमें लव जिहाद हुआ है या नही, ये साबित करने का भार (Burden of Proof) अभियुक्त, अभियोगकर्ता और सहायक पर होगा। headtopics.com

हर कोई जो अपराध करता है, अपराध में मदद करता है, अपराध में सलाह देता है, उसे समान रूप से दोषी माना जाएगा।इस प्रावधान का उल्लंघन करने पर कम से कम तीन साल और पांच साल तक की कैद और कम से कम दो लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है।महिला, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के संबंध में सजा का प्रावधान चार से सात वर्ष के कारावास और तीन लाख रुपये से कम के जुर्माने से दंडनीय होगा।

इन प्रावधानों का पालन नहीं करने वाले संगठन का पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा और ऐसे संगठन को कम से कम तीन साल की कैद और 10 साल तक की कैद और पांच लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है।ऐसा संगठन आरोप पत्र दाखिल करने की तिथि से राज्य सरकार से वित्तीय सहायता या अनुदान के लिए पात्र नहीं होगा।

मिल गया टीम इंडिया को नया कोच: राहुल द्रविड़ टी20 वर्ल्ड कप के बाद से 2023 के वर्ल्ड कप तक रहेंगे कोच लखबीर के शव का तरनतारन आने पर विरोध: पंचायत सदस्यों और ग्रामीणों ने कहा- जिस पर गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का आरोप, गांव में नहीं होने देंगे उसका संस्कार अयोध्या दर्शन के लिए जाने वाले आदिवासियों को 5 हजार रुपये की आर्थिक मदद देगी गुजरात सरकार

इस अधिनियम के तहत अपराधों को गैर-जमानती और संज्ञेय अपराध माना जाएगा और पुलिस उपाधीक्षक के पद से नीचे के अधिकारी द्वारा जांच नहीं की जाएगी।आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

भास्कर इंटरव्यू- दीपा मलिक: समाज की नकारात्मक सोच को दूर करने के लिए खेलना शुरू किया, नए भारत में जल्द खत्म होगा भेदभाव

जिद... जुनून... जज्बात... इन तीन चीजों के बिना सफलता हासिल नहीं कर सकते हैं। इसका सटीक उदाहरण हैं पैरालिंपिक मेडलिस्ट दीपा मलिक। 51 साल की दीपा लकवा ग्रस्त होने के बाद खेल से दूर हो गई थीं, लेकिन उनका खेल से ऐसा लगाव था कि 36 की उम्र में वापसी की और 46 की उम्र में देश को पैरालिंपिक में मेडल दिलाया। उन्होंने कहा, 'मैंने समाज की नकारात्मक सोच को दूर करने के लिए खेल का सहारा लिया। उम्र, दिव्यांगता, ल... | Deepa Malik Interview Started playing to remove negative thinking of society discrimination will end soon in new India

vijayrupanibjp BJP4India Very good.. keep it up always...grt stuff

गुजरात: आप के दफ्तर के उद्घाटन में विधायक गुलाब सिंह यादव समेत पांच की कटी जेबगुजरात: आप के दफ्तर के उद्घाटन में विधायक गुलाब सिंह यादव समेत पांच की कटी जेब Gujarat AAP ArvindKejriwal AamAadmiParty ArvindKejriwal AamAadmiParty आम आदमी पार्टी मे सब चोर है ArvindKejriwal AamAadmiParty चोर पार्टी है जुमला वाज पार्टी।देस से भ्गाना है दिल्ली बचाना है। ArvindKejriwal AamAadmiParty Sanjay Singh hoga, 😀😀

LoC News: गोलाबारी तो बंद लेकिन एलओसी के पास के गांव अब पानी के लिए परेशानभारत न्यूज़: जम्मू-कश्मीर के तंगधार के 6 गांवों के लोगं पानी की कमी से परेशान हैं। इन गांवों के लोग पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) की तरफ से आ रहे पानी पर खेती के लिए निर्भर हैं। पाकिस्तान के साथ फ्लैग मीटिंग नहीं होने की वजह से इन गांवों में खेती के लिए पानी नहीं पहुंच पा रहा है।

Elon Musk के ट्वीट के बाद Bitcoin के भाव में फिर हुई बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट कीमतएलन मस्क के ट्वीट के बाद Bitcoin की कीमत में 9 प्रतिशत का उछाल आया है। इसकी वजह

गुजरात: लोक गायिका ने घर पर लगवाया कोविड-19 का टीका, जांच के आदेशगुजरात की लोक गायिका गीता रबारी सोशल मीडिया पर तस्वीर साझा की थी, जहां वे अपने घर पर कथित रूप से कोविड-19 टीका लगवाते हुए दिख रही हैं. इस पर विवाद होने के बाद तस्वीर सोशल मीडिया से हटा ली गई है. प्रशासन ने संबंधित महिला स्वास्थ्यकर्मी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

68 साल के MLA आज भी फिट: राजस्थान में मकराना के विधायक ने युवाओं के साथ पुशअप्स लगाए, कहा- फिटनेस के लिए फुटबॉल अच्छा जरियाराजस्थान के नागौर जिले की सीट मकराना से विधायक रूपाराम मुरावतिया 68 साल की उम्र में भी फिट हैं। रोजाना योग के साथ पुशअप्स भी लगाते हैं। रविवार को अपनी फिटनेस का सबूत उन्होंने युवाओं के साथ पुशअप्स लगाकर दिया। | Makrana MLA reached among the youth preparing for army recruitment in Murawatiya farm; Do 28 pushups equal to them; Said - stay fit stay healthy because the first happiness is healthy body हमारे क्षेत्र से ही है🙏

नागपुर में वारदात: सात साल की बच्ची के साथ स्कूल के शौचालय में दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तारमहाराष्ट्र के नागपुर जिले में स्कूल के शौचालय में सात साल की बच्ची के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म करने के आरोप में एक व्यक्ति Kha gya knoon vyavstha kha gaye lagata hai aage bhi aisa hi hoga jab koi baat sunta nahi hai is des ka pradhanmantri modi khuch keh ta nahi kya desh ko sabhal raha hai apni apni bhan betiyo ko drindo se vachao veti hai to sab khuch hai