गीता गोपीनाथ IMF में अब इस अहम पद को संभालेंगी - BBC Hindi

विदेशों में बसे बांग्लादेश के लोग अपनी मेहनत से कर रहे कमाल

03-12-2021 09:57:00

विदेशों में बसे बांग्लादेश के लोग अपनी मेहनत से कर रहे कमाल

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रमुख अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ संगठन की फर्स्ट डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर जैफ्री ओकामोटो की जगह लेने वाली हैं.

सारांशअफ़ग़ानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने तालिबान को अपना भाई बताया है और उनके साथ काम करने पर ज़ोर दिया है. एक साक्षात्कार में उन्होंने लड़कियों शिक्षा और महिलाओं की नौकरी पर भी बात की.केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़, भारत में पहली बार कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के दो मामले कर्नाटक में पाए गए हैं.

यति नरसिंहानंद महिलाओं के प्रति अभद्रता पर गिरफ़्तार, अब हेट स्पीच का मामला भी - BBC News हिंदी

भारतीय मौसम विभाग ने गुरुवार को चक्रवाती तूफान ‘जवाद’ को ध्यान में रखते हुए ओडिशा के चार ज़िलों में रेड अलर्ट घोषित किया है. इसके साथ ही सात ज़िलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.लाइव रिपोर्टिंगसंबंधित समाचारलाइव रिपोर्टिंगरिपोर्टर- कमलेश मठेनीtime_stated_uk

पोस्ट किया गया 7:247:24सऊदी अरब को मनाने के लिए क्या लेबनान के सूचना मंत्री देंगे इस्तीफ़ा?Reutersलेबनान के सूचना मंत्री जॉर्ज कोर्डाहीImage caption: लेबनान के सूचना मंत्री जॉर्ज कोर्डाहीलेबनान के सूचना मंत्री जॉर्ज कोर्डाही अपना इस्तीफ़ा देकर सऊदी अरब की नाराज़गी दूर कर सकते हैं. समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है. headtopics.com

कोर्डाही के इस्तीफ़े का मक़सद हाल में दोनों देशों के बीच पैदा हुए राजनयिक विवाद को हल करने की ओर बढ़ना है.फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों इस महीने सऊदी अरब के दौरे पर जा रहे हैं. बताया गया है कि मैक्रों इस दौरे में दोनों देशों के बीच के विवाद को दूर करने के लिए बातचीत कर सकते हैं.

आज का कार्टून: टॉप 10 गरीबों की सूची? - BBC News हिंदी

रिपोर्ट के अनुसार, जॉर्ज कोर्डाही का इस्तीफ़ा बातचीत का दरवाज़ा खोलने की कोशिश हो सकती है.EPACopyright: EPAफ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों दोनों देशों के बीच सुलह की कोशिश कर सकते हैं.Image caption: फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों दोनों देशों के बीच सुलह की कोशिश कर सकते हैं.

क्या है पूरा विवाद?लेबनान इन दिनों खाड़ी देशों के साथ अब तक के सबसे ख़राब राजनयिक संकट का सामना कर रहा है.इसकी वजह अक्टूबर के अंत में जॉर्ज कोर्डाही की वो टिप्पणी ज़िम्मेदार है, जिसमें उन्होंने सऊदी अरब के यमन में हस्तक्षेप करने की आलोचना की थी.यमन के ईरान समर्थक हूती विद्रोहियों के पक्ष में बात करते हुए उन्होंने कहा था कि वो देश ''बाहरी दख़ल'' से जूझ रहा है.

इसके बाद विवाद बढ़ने पर उन्होंने माफ़ी मांगने या पद छोड़ने से भी मना कर दिया. उन्होंने कहा कि उनका वो इंटरव्यू उनके मंत्री बनने से पहले रिकॉर्ड किया गया था.उसके बाद, उनके बयान से नाराज़ होकर सऊदी अरब ने लेबनान के राजदूत को अपने यहाँ से निकालते हुए अपने राजदूत को भी लेबनान से वापस बुला लिया. साथ ही, लेबनान की कमज़ोर अर्थव्यवस्था को झटका देने के लिए उसने वहां से होने वाले सभी आयातों पर प्रतिबंध लगा दिया. headtopics.com

गणतंत्र दिवस परेड में झांकी को लेकर ममता के बाद अब स्टालिन भी हुए नाराज़ - BBC Hindi

खाड़ी के दूसरे देश, जो लेबनान के पुराने सहयोगी रहे हैं जैसे संयुक्त अरब अमीरात और कुवैत, उन्होंने भी कड़ी सजा वाले राजनयिक क़दम उठाने का एलान किया.ReutersCopyright: Reutersसऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फ़ैसल बिन फ़रहान अल-सऊदImage caption: सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फ़ैसल बिन फ़रहान अल-सऊद

सऊदी अरब को हिज़्बुल्ला से है दिक़्क़तनवंबर के मध्य में, सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फ़ैसल बिन फ़रहान अल-सऊद ने कहा था कि उनके देश की लेबनान के साथ जुड़ने की फिलहाल कोई योजना नहीं है.उन्होंने लेबनान को हिज़्बुल्ला के प्रभाव से मुक्त करने के लिए दुनिया के नेताओं से आवश्यक क़दम उठाने की भी अपील की थी.

हालांकि लेबनान पर पकड़ रखने वाले संगठन हिज़्बुल्ला ने सऊदी अरब के फ़ैसलों को"अतिरंजित" बताते हुए कोर्डाही के इस्तीफ़ा न देने के फ़ैसले का समर्थन किया था.उसने कहा था कि इस संकट को रियाद ने जन्म दिया और उसके आगे लेबनान को नहीं झुकना चाहिए. साथ ही आरोप लगाया कि सऊदी अरब लेबनान में गृह युद्ध कराना चाहता है.

और पढो: BBC News Hindi »

कोरोना की पाबंदियों के बीच होंगे चुनाव, किस पार्टी को मिलेगी जीत? देखें शखंनाद

चुनावी शंखनाद शुरू हो चुका है. चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में चुनाव का ऐलान कर दिया है. नेताओं ने कमर कस ली है. वहीं कई पाबंदियां लागू हो चुकी हैं. सबके अपने दावे हैं, सबके अपने वादे हैं. इस बार मतदाताओं की संख्या बढ़ी है. ऐसे में कोरोना और मतदाताओं की संख्या को देखते हुए चुनाव आयोग ने पूरा प्लान तैयार किया है. चुनाव आयोग की तारीखों के ऐलान के बाद देश के सबसे बड़े सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ की प्रतिक्रया भी सामने आई है. देखें कैसे तारीखों के ऐलान के बाद शुरू हुआ बयानों का दौर.

गीता गोपीनाथ को मिला प्रमोशन, अब IMF में नंबर टू की हैसियत में देंगी सेवाएंIMF की प्रमुख अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ अगले महीने वाशिंगटन स्थित संस्‍था में नंबर दो अधिकारी बन जाएंगी। IMF ने गुरुवार को इसकी घोषणा की। गोपीनाथ पहली उप प्रबंध निदेशक (FDMD) के रूप में जेफ्री ओकामोटो का स्थान लेंगी।

IMF में पहली महिला डिप्टी एमडी होंगी गीता गोपीनाथ, पढ़िए उनकी कामयाबी की कहानीमूल रूप से केरल की रहने वाली गीता गोपीनाथ ने ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई भारत में ही की। उन्होंने साल 1992 में दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से अर्थशास्त्र में ऑनर्स की डिग्री प्राप्त की।

IMF की चीफ इकॉनमिस्ट गीता गोपीनाथ का हुआ बड़ा प्रमोशन, संस्था में नंबर टू बनींIMF ने गुरुवार को घोषणा की कि गीता गोपीनाथ अगले महीने जॉफ्री ओकामोतो की जगह लेंगी और फर्स्ट डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर बनेंगी. IMF की चीफ क्रिस्तलीना जॉर्जीवा के बाद गीता गोपीनाथ का ही नंबर होगा. ऐसा पहली बार होगा जब वॉशिंगटन स्थित इस अंतराष्ट्रीय संस्था में शीर्ष के दो पदों पर महिलाएं बैठेंगी. hmmmm..... she follows the order/guidance of select conglomerate well then. सबकी तरक्की हो रही है लेकिन मोदी मूर्ख बने हुए हैं।

भास्कर LIVE अपडेट्स: गीता गोपीनाथ बनेंगी IMF की फर्स्ट डेप्युटी मैनेजिंग डायरेक्टर, 2022 में मिलेगी जिम्मेदारीइंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता गोपीनाथ जल्द ही इसकी फर्स्ट डेप्युटी मैनेजिंग डायरेक्टर (FDMD) बनने वाली हैं। वर्तमान FDMD जेफ्री ओकामोटा अगले साल अपने पद से इस्तीफा दे रहे हैं। इसके बाद गीता गोपीनाथ को यह जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। IMF ने गुरुवार को एक प्रेस रिलीज में इस बात की जानकारी दी है। | Breaking News Headlines Today, Pictures, Videos and More From Dainik Bhaskar (दैनिक भास्कर), Coronavirus Vaccine and Omicron Coronavirus Variant Students को सड़को पर उतरने को मजबूर मत करो भाजपाइयों, तुम्हारी सारी तानाशाही धरे के धरे रह जाएगी..👎 JusticeForRailwayStudents तानाशाह_भाजपा_सरकार RahulGandhi myogiadityanath yadavtejashwi Pak pm Aapko sabse pahle ghabrana nahi he

स्टडी में खुलासा, डेल्टा की तुलना में ओमीक्रोन में दोबारा इंफेक्शन की संभावना तीन गुना ज़्यादा!आंकड़ों के आधार पर पता चला कि ओमिक्रोन पहले हुए संक्रमण से मिली प्रतिरक्षा से बचने की क्षमता रखता है। 27 नवंबर तक कोविड पॉज़ीटिव पाए गए 2.8 मिलियन रोगियों में से 35670 को दोबारा संक्रमण हुआ था क्योंकि वे 90 दिनों में ही दोबारा कोविड पॉज़ीटिव हो गए थे।

मुजफ्फरपुर में मोतियाबिंद के ऑपरेशन में गड़बड़ी, 65 में से 15 लोगों की निकालनी पड़ी आंखजानकारी के लिए बता दें कि बीते 22 नवंबर को मुजफ्फरपुर के आई हॉस्पिटल में 65 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ था. जिसमें ज्यादातर लोगों की आंखों में इंफेक्शन हो गया.