Soniagandhi, Whyno Leader Speaks Against Gandhi Family, Congress Has Only 203 Mlas Out Of 951 Seats İn 7 States

Soniagandhi, Whyno Leader Speaks Against Gandhi Family

गांधी परिवार ही कांग्रेस: सोनिया को चुनौती देने वालों को मिली हार, आखिर क्यों कोई कांग्रेस में गांधी परिवार का वर्चस्व नहीं तोड़ सका

गांधी परिवार ही कांग्रेस: सोनिया को चुनौती देने वालों को मिली हार, आखिर क्यों कोई कांग्रेस में गांधी परिवार का वर्चस्व नहीं तोड़ सका #SoniaGandhi @INCIndia @RahulGandhi @akshayvajpaye

16-10-2021 17:59:00

गांधी परिवार ही कांग्रेस: सोनिया को चुनौती देने वालों को मिली हार, आखिर क्यों कोई कांग्रेस में गांधी परिवार का वर्चस्व नहीं तोड़ सका SoniaGandhi INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) यानी कांग्रेस की सुप्रीम बॉडी की शनिवार को मीटिंग तो हुई, लेकिन इससे कुछ ठोस निकलता नजर नहीं आया। अगले साल सितंबर तक सोनिया गांधी पार्टी की अध्यक्ष बनी रहेंगी। | Why no leader speaks against Gandhi family, Congress has only 203 MLAs out of 951 seats in 7 states

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) यानी कांग्रेस की सुप्रीम बॉडी की शनिवार को मीटिंग तो हुई, लेकिन इससे कुछ ठोस निकलता नजर नहीं आया। अगले साल सितंबर तक सोनिया गांधी पार्टी की अध्यक्ष बनी रहेंगी।यानी यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में कांग्रेस सोनिया की लीडरशिप में ही चुनाव लड़ेगी, क्योंकि इन 5 राज्यों में 2022 के शुरुआती महीनों में ही चुनाव होना हैं। वहीं गुजरात और हिमाचल प्रदेश में अगले साल के आखिर में चुनाव हैं।

किसानों की एक और मांग के सामने झुकी सरकार, अब पराली जलाना क्राइम नहीं, मंत्री बोले- 'घर लौटें किसान' भारत सरकार ने एलन मस्क की इंटरनेट कंपनी पर रोक लगाई - BBC Hindi कृषि मंत्री तोमर MSP पर बोले और किसानों से भी की अपील - BBC Hindi

पायलट और प्रसाद चुनाव लड़े, पर बुरी तरह हारेएक्सपर्ट्स ये मानते हैं कि कांग्रेस में गांधी परिवार को सीधे चुनौती देने वाला कोई नहीं है। इसके पहले जिन्होंने भी ये कोशिश की उन्होंने मुंह की खाई। राजेश पायलट से लेकर जितेंद्र प्रसाद तक संगठन में चुनाव लड़े थे, लेकिन बुरी तरह हारे। इसलिए यह तो तय है कि आने वाले समय में राहुल गांधी ही कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए जाएंगे।

और यदि कांग्रेस 5 में से 2 राज्यों में भी सरकार बना लेती है तो गांधी परिवार पर होने वाले निशाने कम हो सकते हैं। सीनियर जर्नलिस्ट रशीद किदवई कहते हैं, पंजाब में जिस तरह से लीडरशिप को बदला गया है, यदि वहां जीत मिलती है तो जो लोग अभी आलोचना कर रहे हैं, वो उल्टा निशाने पर आएंगे। headtopics.com

7 में से सिर्फ पंजाब में ही कांग्रेस की सरकारजिन 7 राज्यों में अगले साल चुनाव होना है, वहां विधानसभा की 951 सीटें हैं और इन सभी में मिलाकर कांग्रेस के अभी कुल 203 विधायक हैं। इन 7 में से सिर्फ पंजाब ऐसा राज्य है, जहां कांग्रेस सत्ता में है, लेकिन वहां भी पार्टी के अंदर भारी उठापटक चल रही है।

CWC की मीटिंग के दौरान सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ अन्य नेता।G-23 ग्रुप के नेताओं को सोनिया की नसीहतगोवा में कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व सीएम रहे लुईजिन्हो फलेरियो TMC का दामन थाम चुके हैं। ऐसे में सवाल खड़े हो रहे हैं कि पार्टी के गर्त में जाने के बावजूद कोई ठोस निर्णय CWC में क्यों नहीं लिया गया। G-23 ग्रुप (कांग्रेस नेताओं का वो समूह जिसने पिछले साल सोनिया गांधी को पत्र लिखकर संगठन चुनाव की मांग की थी) के नेताओं को सोनिया गांधी ने मीडिया के बजाय सीधे उनसे बात करने की नसीहत दी है।

सबसे बड़ी चुनौती यूपी, यहां सिर्फ 7 विधायकयूपी में कांग्रेस पूरा जोर लगा रही है। लखीमपुर हिंसा के बाद प्रियंका और राहुल गांधी सड़कों पर नजर आए। हालांकि यहां की 403 सीटों में से कांग्रेस के पास अभी सिर्फ 7 सीटें हैं। गुजरात की 182 सीटों में से 66 कांग्रेस के पास हैं। इसी तरह पंजाब में 117 में से 80 और हिमाचल प्रदेश की 68 में से 19 सीटों पर कांग्रेस के विधायक हैं।

5 राज्यों में शून्य पर आए तो लीडरशिप सीधे निशाने पर होगीकिदवई कहते हैं, अगले साल जिन 5 राज्यों में चुनाव हैं, वहां यदि कांग्रेस शून्य पर आती है तो सेंट्रल लीडरशिप सीधे निशाने पर आ जाएगी। हालांकि मौजूदा परिस्थितियों को देखकर ऐसा लग रहा है कि पंजाब और उत्तराखंड में पार्टी सत्ता में आ सकती है। headtopics.com

किसान सोमवार को नहीं करेंगे 'संसद मार्च', संयुक्त किसान मोर्चा का फैसला फाइव स्टार होटल में हो रही थी शादी, 2 करोड़ के गहने और नकदी ले चंपत हुआ चोर सऊदी अरब, ईरान, अमेरिका ने इन देशों से आने वाले लोगों पर लगाई रोक - BBC News हिंदी

गोवा में भी चुनावी समीकरण बदल रहे हैं, क्योंकि वहां क्षेत्रीय दलों के साथ ही ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस भी सभी सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है। ऐसे में हो सकता है कि वो कुछ वोट काटें। इससे किसे फायदा-नुकसान होता है ये देखना होगा। और पढो: Dainik Bhaskar »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye और जिसने कोशिश की जिन्दा नही बचा INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye कांग्रेस के पास बहुत पैसा है भाई, कौन बोलेगा, अगर किसी ने मुँह खोला तो उसे बाहर का रास्ता दिखा दिया जायेगा. कांग्रेस में रहना है तो अपना वजूद त्याग कर ही रह सकते है. बहुत से उदाहरण हैं कांग्रेस के.

INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye यह वर्चस्व नहीं.. कांग्रेस पार्टी के ताबूत में ठोकी गई आखिरी कील है INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye सबके सब तलचट्टू चमचे है INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye गांधी परिवार नही है गांधी जी का उपनाम मत बदनाम करो ये लोग किसी को कांग्रेस अध्यछ नही बनने देंगे यही कांग्रेस के विनाश का कारण बनेगा

INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye गाँधी परिवार से इतनी दिक्कत क्यों..? ये डर है कि बदहज़मी..? ये हमारा आंतरिक मामला है, इसमें दखल दिया तो जवाब मिलेगा.. जब गाँधी परिवार के 3-3 सदस्यों ने देश के लिए बलिदान दिया तब दिक्कत नहीं हुई किसी को..? priyankagandhi ShayarImran SupriyaShrinate INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye जहाँ लोकतंत्र मतलब सिर्फ एक परिवार - था, है और रहेगा 👍👍👍

INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye क्यो नही,परिवार ही पार्टी है,परिवार मे पैदा होनेवाले ही आगामी अध्यक्ष है,गाँधी का पट्टा है ही,वोट कैसे नही मिलेगा और सत्ता भी INCIndia RahulGandhi akshayvajpaye क्योंकि जीवनभर गुलामी का वचन दे रखा है

'मैं ही कांग्रेस की पूर्णकालिक अध्यक्ष', सोनिया गांधी का जी 23 के नेताओं पर निशानासोनिया गांधी ने जी 23 के नेताओं को दो टूक सुनाते हुए कहा कि मुझसे बात करने के लिए मीडिया की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा, मैं ही कांग्रेस की स्थायी अध्यश्क्ष हूं।

कांग्रेस वर्किंग कमेटी बैठक: G-23 को सोनिया गांधी ने दिया जवाब, बोलीं- मैं फुलटाइम कांग्रेस प्रेसिडेंट हूंशनिवार को कांग्रेस की सर्वोच्च संस्था कांग्रेस कार्यसमिति बैठक हो रही है. यह बैठक करीब 9 महीने बाद हो रही है. G-23 में शामिल नेता कई सप्ताह से इस बैठक की मांग कर रहे थे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इस बैठक की अध्यक्षता कर रही हैं. सोनिया गांधी ने अपने ओपिनंग वक्तव्य में कहा है कि- वो फुल टाइम कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष हैं. कबिल सिब्बल ने कुछ दिनों पहले कहा था कांग्रेस पार्टी में कोई फुल टाइम प्रेसिडेंट नहीं है, सिर्फ अन्तरिम प्रेसिडेंट है. लेकिन, अब सोनिया गांधी ने अपने वक्तव्य से यह साफ कर दिया है कि कांग्रेस में फुल टाइम प्रेसिडेंट है. देखें वीडियो. कपिल सिब्बल को जबाब देने में काफ़ी देर कर दी सोनिया गांधी ने । इस अन्तराल में काफ़ी कुछ घटित हो चुका है ।

सोनिया गांधी सवाल उठाने वालों पर बोलीं और ख़ुद को बताया पूर्णकालिक अध्यक्ष - BBC Hindiकांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने साफ़तौर पर कहा है कि वो पूर्णकालिक अध्यक्ष के तौर पर काम कर रही हैं. CWC सोनिया गांधी मनोनीत गेंग की मीटिंग खत्म सभी जड़खरीद गुलामों ने राहुल गांधी को जिललेइलाही ववने के लिए दंडवत की अब चार बजे मोजूदा सरकार को कोसने के लिए ओर गांधी परिवार के लिए खसीदे पढने के लिए महान चापलूस सुरजेवाला सहयोगी चापलूस बेणुगोपाल के साथ प्रेश कांफ्रेंस करेंगे It was learned from the Media that Sonia Gandhi taken as working president of NC. Now she is saying I am president not working president. She must say when She became working President and when became President. Now the Great leaders to think upon the High Command of congress how the president became working President and president. They to realise congress is what Sonia Speak.

'गांधी की देशभक्ति या आरएसएस के धोखे में से एक को चुनना होगा'एक के बाद एक ट्वीट कर एआईएमआईएम प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोहन भागवत पर हमला बोला। ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि हमेशा की तरह, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का भाषण झूठ और अर्धसत्य से भरा था। खाम खा ! मोटर माउथ की तरह बेवजह चिल्लाना आदत बन गयी हैं

G-23 को सोनिया गांधी की नसीहत: मैं ही हूं कांग्रेस की फुलटाइम प्रेसिडेंट; मुझसे मीडिया के जरिए बात न करेंदिल्ली में चल रही कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में सोनिया गांधी ने पार्टी के G-23 नेताओं को साफ संदेश दिया है कि वे ही पार्टी की फुल टाइम प्रेसिडेंट हैं। बता दें G-23 से आशय कांग्रेस के उन 23 नेताओं से है जिन्होंने पिछले साल सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर कांग्रेस में बड़े बदलाव और फुल टाइम प्रेसिडेंट की जरूरत बताई थी। सोनिया ने बिना नाम लिए पार्टी नेताओं को ये नसीहत भी दी है कि वे साफगोई की समर्थ... | Congress working committee meet today expected decision on elections for new chief INCIndia RahulGandhi अब इस मिटिंग से साफ हो गया कि राहुल और प्रियंका के पास नहीं जाना है। समस्या हो तो मेरे पास आना है।चले और अपना अपना काम देंगे, कुर्सी का सपना देखना नहीं चाहिए । अक्टूबर 2022 में अध्यक्ष मिलेगा।

CWC मीटिंग: कांग्रेस का अध्‍यक्ष कब चुना जाएगा, G-23 से कैसे निपटेंगी? सोनिया गांधी ने इशारों में सब बता दियाCWC Meeting Today: कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शुरू होने से पहले सोनिया गांधी ने तीखे लहजे में कहा कि किसी को मीडिया के जरिए उनसे बात करने की जरूरत नहीं है। गांधी परिवार का ड्रामा जारी है। सरनैम के अलावा इनके पास कोई योग्यता नहीं है। देश में क़ाबिल, शिक्षित, अनुभवी, जमीन से जुड़ कर संघर्ष करके स्वयं अपना पहचान बनाने वाले नेतृत्व का अकाल नहीं है। तलवा चाट कांग्रेस पार्टी। 9महिनो से चयनित बेरोजगार तडप रहे हैं 16 जुलाई से धरने पे बैठे हैं पर उनकी पीड़ा सुनने वाला कोई नहीं,जननायक जी तक आवाज पंहुचा दो ashokgehlot51 GovindDotasra Sos_Sourabh rpbreakingnews 1stIndiaNews REET2018_JOINING_DO REET2018_धरनाप्रदर्शन_बीकानेर