Caa, Supremecourt, Citizenshipnotification, सीएए, सुप्रीमकोर्ट, नागरिकताअधिसूचना

Caa, Supremecourt

ग़ैर-मुस्लिम शरणार्थियों से आवेदन मांगने वाली अधिसूचना सीएए से संबंधित नहीं: केंद्र

ग़ैर-मुस्लिम शरणार्थियों से आवेदन मांगने वाली अधिसूचना सीएए से संबंधित नहीं: केंद्र #CAA #SupremeCourt #CitizenshipNotification #सीएए #सुप्रीमकोर्ट #नागरिकताअधिसूचना

15-06-2021 13:48:00

ग़ैर-मुस्लिम शरणार्थियों से आवेदन मांगने वाली अधिसूचना सीएए से संबंधित नहीं: केंद्र CAA SupremeCourt CitizenshipNotification सीएए सुप्रीमकोर्ट नागरिकताअधिसूचना

बीते 28 मई को केंद्र की मोदी सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर गुजरात, छत्तीसगढ़, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के 13 ज़िलों में रह रहे अफ़गानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को भारतीय नागरिक के तौर पर पंजीकृत करने के लिए निर्देश दिया था. इस अधिसूचना को इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है.

नई दिल्ली:केंद्र ने सोमवार को उच्चतम न्यायालय में कहा कि गुजरात, राजस्थान, छत्तीसगढ़, हरियाणा और पंजाब के 13 जिलों में रहने वाले गैर-मुस्लिमों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने की खातिर आमंत्रित करने की अधिसूचना संशोधित नागरिकता कानून, 2019 (सीएए) से संबंधित नहीं है.

LAC पर भारत ने फिर सैनिक बढ़ाए: लद्दाख में चीन से निपटने के लिए सेना ने आतंकियों से लड़ने वाली यूनिट तैनात की, कश्मीर से 15 हजार सैनिक भेजे खुद्दार कहानी: दिल्ली में सड़क किनारे ठेला लगाया, घर-घर टिफिन पहुंचाए; लॉकडाउन में काम बंद हुआ तो इडली बेचने लगीं, अब हर दिन 2 से 3 हजार कमाई महाराष्ट्र में बारिश का कहर जारी, कम से कम 136 लोगों की मौत

इसके साथ ही केंद्र ने कहा कि यह (अधिसूचना) केंद्र सरकार के पास निहित शक्ति स्थानीय अधिकारियों को सौंपने की प्रकिया मात्र’ है.गृह मंत्रालय ने कहा कि केंद्र सरकार ने 2004, 2005, 2006, 2016 और 2018 में भी इसी तरह का अधिकार दिया था और विभिन्न विदेशी नागरिकों के बीच उस पात्रता मानदंड के संबंध में कोई छूट नहीं दी गई है, जो नागरिकता कानून 1955 और उसके तहत बनाए गए नियमों में निर्धारित है.

गृह मंत्रालय ने अपने हलफनामे में कहा कि 28 मई, 2021 की अधिसूचना सीएए से संबंधित नहीं है, जिसे कानून में धारा 6बी के रूप में प्रविष्ट किया गया है. यह सिर्फ केंद्र सरकार के अधिकार स्थानीय अधिकारियों को सौंपने के लिए है.हलफनामे में कहा गया है कि यह और अधिक जिलों के जिलाधिकारियों तथा अधिक राज्यों के गृह सचिवों को नागरिकता प्रदान करने के लिए शक्ति दिए जाने के संबंध में है. headtopics.com

गृह मंत्रालय ने कह कि उक्त अधिसूचना में विदेशियों को कोई छूट नहीं दी गई है और केवल उन विदेशी लोगों पर लागू होती है, जिन्होंने कानूनी रूप से देश में प्रवेश किया है.मालूम हो कि बीते 28 मई को केंद्र की मोदी सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर गुजरात, छत्तीसगढ़, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के 13 जिलों में रह रहे अफ़गानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को

भारतीय नागरिक के तौर पर पंजीकृतकरने के लिए निर्देश दिया था.केंद्रीय गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, इस आदेश को नागरिकता अधिनियम 1955 और नागरिकता नियम 2009 के तहत जारी किया गया था, क्योंकि नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 (सीएए) के तहत इसके नियमों का मसौदा अभी तक तैयार नहीं किया गया है.

भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने के लिहाज से वो लोग योग्य होंगे, जो इस समय गुजरात के मोरबी, राजकोट, पाटन और वडोदरा, छत्तीसगढ़ में दुर्ग और बलोदबाजार, राजस्थान में जालौर, उदयपुर, पाली, बाड़मेर और सिरोही तथा हरियाणा के फरीदाबाद और पंजाब के जालंधर में रह रहे हैं.

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल)ने बीते एक जून को उच्चतम न्यायालय में केंद्र की अधिसूचना को चुनौती दी थी. आईयूएमएल की याचिका में दलील दी गई थी कि सीएए के प्रावधानों की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली आईयूएमएल द्वारा दायर लंबित याचिका में केंद्र न्यायालय को दिए गए आश्वासन को दरकिनार करने की कोशिश कर रहा है. headtopics.com

कोविड-19 को लेकर सावधान रहें, अगले तीन महीने काफी महत्वपूर्ण हैं: वीके पॉल आज का इतिहास: 43 साल पहले दुनिया की पहली टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म हुआ, 282 बार फेल होने के बाद अपनी कोशिश में सफल हुए थे मैनचेस्टर के दो वैज्ञानिक टोक्यो ओलिंपिक LIVE: 10 मीटर एयर पिस्टल में मनु और यशस्विनी फाइनल में नहीं पहुंचीं; पीवी सिंधु ने अपना पहला मैच जीता, रोइंग टीम सेमीफाइनल में

याचिका में जब तक सीएए की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका अदालत में लंबित है, केंद्र को गृह मंत्रालय द्वारा जारी 28 मई के आदेश पर रोक लगाने का निर्देश देने की मांग की गई थी.28 मई की अधिसूचना के द्वारा सरकार ने ऐसे मामलों में 13 जिलों- गुजरात के मोरबी, राजकोट, पाटन और वडोदरा, छत्तीसगढ़ में दुर्ग और बलोदबाजार, राजस्थान में जालौर, उदयपुर, पाली, बाड़मेर और सिरोही तथा हरियाणा के फरीदाबाद और पंजाब के जालंधर के कलेक्टरों को नागरिकता प्रदान करने की अपनी शक्ति सौंप दी है.

इंडियन एक्सप्रेसकी रिपोर्ट के अनुसार, अधिसूचना में कहा गया है कि इस तरह अब 29 जिलों के जिला कलेक्टर और 9 राज्यों के गृह सचिव विदेशियों की निर्दिष्ट श्रेणी को नागरिकता देने के लिए केंद्र सरकार की शक्तियों का प्रयोग करेंगे. इसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार ने किसी भी समय इन शक्तियों का एक साथ उपयोग करने का अपना अधिकार बरकरार रखा है.

इसी तरह कीअधिसूचना2018 में कई राज्यों के अन्य जिलों के लिए भी जारी की गई थी. 2018 में केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली जैसे राज्यों के कलेक्टर और गृह सचिवों को भी इसी तरह की शक्तियां दी थीं.मालूम हो कि 11 दिसंबर 2019 को

संसद से नागरिकता संशोधन विधेयक पारितहोने के बाद से देश भर में विरोध प्रदर्शन हुए थे. राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के साथ ही ये विधेयक कानून बन गया.इसके तहत अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है बशर्ते ये 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए हों. headtopics.com

वर्ष 2019 में जब सीएए लागू हुआ तो देश के विभिन्न हिस्सों में व्यापक विरोध प्रदर्शन हुआ और इन्हीं विरोध प्रदर्शनों के बीच 2020 की शुरुआत में दिल्ली में दंगे हुए थे.(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ) और पढो: द वायर हिंदी »

Coronavirus Curfew Live Updates: कोरोना कर्फ्यू के बीच आज निकलेगी जगन्नाथ रथ यात्रा, गृह मंत्री अमित शाह ने की आरती

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। 5 दिनों के बाद एक बार फिर कोरोना के नए मामलों की संख्या 40 हजार से नीचे रही। इस दौरान मौतों की संख्या में भी थोड़ी कमी देखी गई। https://www.covid19india.org/ के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना के चलते 720 लोगों की जान गई है। अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथयात्रा, इस बार कोरोना वायरस महामारी के कारण आज कर्फ्यू के बीच निकाली जाएगी ताकि लोग इसमें शामिल न हो सकें। इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने जगन्नाथ मंदिर में आरती की। दूसरी तरफ कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट ने रूस में कहर मचाया हुआ है। रूस में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 25 हजार से अधिक नये मामले सामने आए हैं। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ...

बिहार : LJP के सियासी ड्रामे के बीच चाचा पशुपति पारस से मिलने पहुंचे चिराग पासवानलोक जनशक्ति पार्टी के भीतरी कलह सबके सामने आने के बाद बिहार की राजनीति में सियासी चहलदमी का दौर तेज हो गया है. लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान पार्टी के सांसद और चाचा पशुपति कुमार पारस के आवास पर उनसे मिलने पहुंचे है. इस मौके पर वहां भारी संख्या में मीडिया मौजूद है. REET2018_JOINING_DO Sos_Sourabh ashokgehlot51 GovindDotasra pantlp DrSatishPoonia lkantbhardwaj RajShikshaNews RajCMO कब होगा न्याय इस पर कब ध्यान दोगे। me_moharsingh RahulGandhi priyankagandhi बीजेपी और जेडीयू ने एलजेपी को हमेशा के लिए सफाया कर दिया अगले विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार खुद निपट जाएंगे, भाजपा ने उन्हें 2022 में स्लीपर, सृजन, ऐस्टीमेट धोटाला में जेल भेजकर मानेगी

WTC फाइनल से पहले कोहली के लिए गुड न्यूज, इस टीम के बनाए गए कप्तानWTC का फाइनल भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18-22 जून तक खेला जाएगा. इस मुकाबले के लिए टीम इंडिया जमकर तैयारी कर रही है. विराट कोहली के पास आईसीसी की ट्रॉफी जीतने का ये बेहतरीन मौका है. इस अहम मुकाबले से पहले कोहली के लिए एक अच्छी खबर है.

यूपी के शामली में प्रधान के उत्पीड़न से पलायन का क्या है मामला - BBC News हिंदीस्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस और प्रशासन उनकी शिकायतों पर ध्यान नहीं दे रहा है, पुलिस ने इन आरोपों से किया इनकार. BBC मुसलमानों और तथाकथित सेकुलर वामपंथियों के साथ मिलकर यूपी में ब्राम्हण राजपूतों के बीच वैमनस्य फैलाने का एजेंडा चला रहा है, ताकि यूपी चुनाव में भाजपा को कमजोर किया जा सके.. कहां गये भाजपाई जो सपा सरकार में हल्ला कर रहे थे,अब ये सब क्या..

लड़ेंगे कोरोना से: तीसरी लहर से निपटने के लिए तीन महीने में बनेंगे 50 मॉड्यूलर अस्पताललड़ेंगे कोरोना से: तीसरी लहर से निपटने के लिए तीन महीने में बनेंगे 50 मॉड्यूलर अस्पताल LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI थोड़ा सा प्यार हुआ है थोड़ा है बाकी

Elon Musk के ट्वीट के बाद Bitcoin के भाव में फिर हुई बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट कीमतएलन मस्क के ट्वीट के बाद Bitcoin की कीमत में 9 प्रतिशत का उछाल आया है। इसकी वजह

LoC News: गोलाबारी तो बंद लेकिन एलओसी के पास के गांव अब पानी के लिए परेशानभारत न्यूज़: जम्मू-कश्मीर के तंगधार के 6 गांवों के लोगं पानी की कमी से परेशान हैं। इन गांवों के लोग पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) की तरफ से आ रहे पानी पर खेती के लिए निर्भर हैं। पाकिस्तान के साथ फ्लैग मीटिंग नहीं होने की वजह से इन गांवों में खेती के लिए पानी नहीं पहुंच पा रहा है।