Heatwave, Gaya, गया, लू, नीतीश कुमार

Heatwave, Gaya

गया: ANMMCH में लू से प्रभावित मरीजों से मिले नीतीश कुमार, अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

गया: ANMMCH में लू से प्रभावित मरीजों से मिले नीतीश कुमार, अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

6/20/2019

गया : ANMMCH में लू से प्रभावित मरीजों से मिले नीतीश कुमार , अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ डिप्सी सीएम सुशील मोदी भी मौजूद थे. अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती मरीजों से मिलने के बाद नीतीश ने अधिकारियों के साथ बैठक की और जरूरी दिशा-निर्देश दिए. अब तक औरंगबाद, नवादा और गया में लू से मरने वालों की संख्या 113 हो गई है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (एएनएमएमसीएच) में हीट स्ट्रोक (लू) से प्रभावित मरीजों से मुलाकात की. इस दौरान बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे. इसके बाद मुख्यमंत्री ने एएनएमएमसीएच में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक में लू और इंसेफेलाइटिस से निपटने की तैयारियों को चर्चा हुई. लू की वजह से औरंगाबाद, नवादा और गया में अबतक 113 लोगों की जान जा चुकी है.

बैठक के बाद मगध प्रमंडलीय आयुक्त पंकज कुमार पाल ने बताया कि अत्यधिक गर्मी पड़ने से औरंगाबाद, नवादा और गया में हीट वेव का असर रहा. सीएम ने हीट वेव से बचने के लिए व्यवस्थाओं की समीक्षा की और दिशा निर्देश दिए गए.

और पढो: ABP न्यूज़ हिंदी

बिहार में लू-चमकी से 200 से ज्यादा मौतें, हवाई सर्वेक्षण करेंगे सीएम नीतीशबिहार में इन दिनों लू और चमकी बुखार का कहर है. चमकी बुखार से जहां 125 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है तो वहीं लू से 75 से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हवाई सर्वेक्षण करने वाले हैं. sujjha NitishKumar अरे रुको साहब कुछ और बच्चों के सिसक सिसक कि मरने का इन्तज़ार तो कर लो ,और माँ बाप के रोने कि आवाज सुन लो फिर जाना , शायद आपके दिल को और सुकून मिल जाए । sujjha सुशासन बाबू की नींद जल्दी खुल गयी sujjha भाजपा के साथ रहकर नीतीश कुमार जी अब हवाई सर्वेक्षण पर ही विश्वास रखते हैं क्योंकि जमीनी सर्वेक्षण करने की अब इन में हिम्मत नहीं रही है सुशासन के नाम पर सत्ता में आए नीतीश कुमार अपने दुशासन चरित्र को चरितार्थ कर रहे हैं यह काल की तरह कमजोर को मिटा रहे है RahulGandhi

दिल्ली में केन्याई महिला की उसी के घर में चाकू मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिसदिल्ली के छतरपुर एक्सटेंशन में एक विदेशी महिला की हत्या का मामला सामने आया है. यहां एक महिला की उसी के घर में चाकू मारकर हत्या कर दी गई.

CJI गोगोई ने कहा- न्यायपालिका को लोकलुभावन ताकतों के खिलाफ खड़ा होना चाहिएन्यायमूर्ति गोगोई ने मंगलवार को रूस के सोची में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के मुख्य न्यायाधीशों के एक सम्मेलन में यह बात कही. उन्होंने कहा कि किसी देश के सफर के कुछ चरणों में जब विधायी और कार्यकारी इकाइयां लोकलुभावनवाद के प्रभाव में संविधान के तहत अपने कर्तव्यों एवं लक्ष्यों से दूर हो जाती हैं तो न्यायपालिका को इन लोकलुभावन ताकतों के खिलाफ खड़े होना चाहिए और संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करनी चाहिए. He is real custodian of independent judiciary. न्यायपालिका की जिम्मेदारी न्याय करने की है।खड़े होने, बैठने की नहीं।गोगोई साहब अगर राजनीति करनी है तो रिटायरमेंट ले लीजिए। खुल के बोल न न्यायपालिका को मोदी गैंग के खिलाफ खड़ा होना चाहिए ।

बिहार में दूसरे एम्स के निर्माण के लिए नीतीश सरकार ने नहीं दी जमीनबिहार में दिमागी बुखार (एक्यूट एनसिफेलाइटिस सिंड्रोम) का कहर जारी है. इस बीच यह महत्वपूर्ण बात सामने आई है कि बिहार में दूसरा नया एम्स नहीं बन पाया क्योंकि नीतीश सरकार चार साल तक राज्य में दूसरे प्रस्तावित एम्स के लिए ज़मीन आवंटित नहीं कर पाई. इसके बाद भारत सरकार ने दरभंगा मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल को ही एम्स की तर्ज़ पर अपग्रेड करके का फैसला किया. यह महत्वपूर्ण है कि 28 नवंबर 2014 को स्वास्थ्य मंत्रालय ने PMSSY के तीसरे चरण में जिन 39 अस्पतालों को अपग्रेड करने का फैसला किया था उसमें दरभंगा अस्पताल भी शामिल था. सहरसा में जमीन एम्स के लिए उपर्युक्त है लेकिन बिहार सरकार चुप्पी साधे है नीतीश जी की बीजेपी के साथ राजनीतिक सिद्धांतों की लड़ाई हो सकती है लेकिन ऐसा कोई निर्णय ना लें जिससे आम जनता को नुकसान पहुंचता हो|🙏🙏 Modi bihar chunav ke waqt jo 60000 karode dene ka wada kiya tha us me se le le

मुजफ्फरपुर में सैकड़ों बच्चों की जान लेने वाला चमकी बुखार क्या है | DW | 19.06.2019मुजफ्फरपुर में 2014 में चमकी बुखार से 100 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई थी. 2017 में गोरखपुर में जापानी बुखार से कई बच्चों की मौत हो गई थी. और 2019 में फिर से मुजफ्फरपुर में मौत ने 100 का आंकड़ा पार कर लिया है. लोकल गवर्नेंस भारत में शुन्य हो चुका है। जिला स्तरीय अधिकारियों में भ्रष्टाचार भरा है , चोर सब

बल्ब, शराब की बोतलें तोड़कर खा जाता है यह शख्स, रोज की खुराक 1 किलो कांच_MADHYA PRADESH LAWYER WHO EAT GLASSES EVERY DAY LIKE BREAKFAST NODAT– News18 Hindiहर व्यक्ति में दूसरों से अलग दिखने की चाहत होती है लेकिन मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले में अलग दिखने की चाहतें में एक व्यक्ति ने कांच खाना शुरू कर दिया. दयाराम साहू को ये आदत किशोर अवस्था में लगी और फिर वो लंबे समय से कांच खा रहे रह हैं. उनकी इस आदत के बारे में इलाके में सभी लोग जानते हैं और सामान्य रूप में लेते हैं. ये तो सही है खा लेता है निकालता कैसे है 🤔 sudhirchaudhary tera future hai be ye... tihadi.. चलिए कोई तो है जो इनका काम तमाम कर रहा है.......वो भी बिना किसी लाग लपेट....हमारी शुभकामनाएं इन महाशय के साथ हैं😀😄😀😄😀😄😃😁😄😄😁

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

21 जून 2019, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

आईओसी ने अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट की मेजबानी पर भारत पर लगा प्रतिबंध हटाया

अगली खबर

World Cup: न्यूजीलैंड ने 5 मैच में नहीं बदली टीम, अफ्रीका ने सबको उतारा, जानें बाकियों का हाल
आईओसी ने अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट की मेजबानी पर भारत पर लगा प्रतिबंध हटाया World Cup: न्यूजीलैंड ने 5 मैच में नहीं बदली टीम, अफ्रीका ने सबको उतारा, जानें बाकियों का हाल