Ganeshachaturthi, Ganeshutsav, Ganesha Chaturthi, गणेश चतुर्थी, Ganesha Chaturthi 2021, गणेश चतुर्थी 2021

Ganeshachaturthi, Ganeshutsav

गणेश चतुर्थी को लेकर कई राज्यों में जारी की गई एडवाइजरी, लोगों से सादगी से उत्सव मनाने की अपील की

गणेश चतुर्थी को लेकर कई राज्यों में जारी की गई एडवाइजरी #GaneshaChaturthi #GaneshUtsav

08-09-2021 16:15:00

गणेश चतुर्थी को लेकर कई राज्यों में जारी की गई एडवाइजरी GaneshaChaturthi GaneshUtsav

मुंबई नागरिक निकाय ने लोगों से सादगी से गणपति उत्सव मनाने की अपील की है। इसे लेकर दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। बीएमसी ने सार्वजनिक गणपति मंडलों में भक्तों के लिए शारीरिक दर्शन पर प्रतिबंध लगाया है।

केरल को छोड़ दिया जाए तो भारत ने काफी हद तक कोरोना महामारी पर काबू पा लिया है। हालांकि तीसरी लहर की आशंका को लेकर केंद्र सरकार काफी सतर्क है। इस बीच राज्य सरकारों ने त्योहारी सीजन को देखते हुए कुछ खास कदम उठाए हैं। सरकारें किसी भी हाल में ढील नहीं देना चाहती। गणेश चतुर्थी को लेकर भी राज्यों में गाइडलाइंस जारी की गई हैं।

लखीमपुर हिंसा: किसानों को ‘धमकी’ देने वाले अजय मिश्रा केंद्रीय मंत्री बनने से पहले क्या थे लखीमपुर मामले में सुनवाई: सुप्रीम कोर्ट की यूपी सरकार को फटकार- आखिरी मिनट में रिपोर्ट देंगे तो कैसे पढ़ पाएंगे, रात 1 बजे तक किया था इंतजार UP चुनाव: प्रियंका के सिपहसालार अखिलेश की साइकिल पर सवार, कांग्रेस की नैया कैसे होगी पार?

महाराष्ट्र में नागरिकों से सादगी से त्योहार मनाने की अपीलमुंबई नागरिक निकाय ने लोगों से सादगी से गणपति उत्सव मनाने की अपील की है। इसे लेकर दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। बीएमसी ने सार्वजनिक गणपति पंडालों में भक्तों के लिए शारीरिक दर्शन पर प्रतिबंध लगाया है। इसके अलावा जुलूस में भाग लेने वालों की संख्या पर भी प्रतिबंध लगाया है।

यह भी पढ़ेंकर्नाटक में भी मूर्ति विसर्जन के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंधकर्नाटक सरकार ने गणेश चतुर्थी मनाने की अनुमति उन जिलों में दी है जहां COVID-19 परीक्षण सकारात्मकता दर दो प्रतिशत से कम है। हालांकि, पूजा पंडाल में या मूर्ति के विसर्जन के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम और जुलूस पर रोक लगाई गई है। राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा, 'गणेश की मूर्तियों को स्थापना के पांच दिनों के भीतर विसर्जित कर दिया जाना चाहिए और उनके विसर्जन के दौरान कोई जुलूस नहीं होना चाहिए।' सरकार ने निर्देश दिए हैं कि सादगी से उत्सव मनाया जाए और आयोजन में सिर्फ 20 लोग ही शामिल हो सकते हैं। headtopics.com

यह भी पढ़ेंगोवा में पटाखों और जुलूसों पर प्रतिबंध और पढो: Dainik jagran »

India Today Conclave 2021: Taj Palace Hotel, New Delhi on 8th and 9th October

India Today Conclave 2021 - Check out the full details and schedule of India Today Conclave event to be held at Taj Palace Hotel, New Delhi on 8th and 9th October 2021.

ड्रोन की नजर से देखें गोरखपुर में बाढ़ की तबाही: 23 साल की सबसे भीषण बाढ़ से 354 गांव 15 दिन से पानी में डूबे हैं, ढाई लाख लोगों ने छोड़ा घरगोरखपुर में बाढ़ कहर बरपा रही है। यहां 15 दिन से 7 तहसीलों के 354 गांव बाढ़ में डूबे हुए हैं। इससे ढाई लाख की आबादी पलायन करने को मजबूर हो गए। सबसे ज्यादा तबाही सदर तहसील में है। यहां 76 मोहल्ले बाढ़ से घिरे हुए हैं। करीब 50 हजार हेक्टेयर फसल बर्बाद हो गई है। | Gorakhpur Flood Situation Update; Dainik Bhaskar Ground Report From Uttar Pradesh City Gorakhpur:गोरखपुर में शहर से लेकर गांव तक मची है बाढ़ की तबाही, घर छोड़ ट्रैक्टर-ट्राली और ठेला बन रहा लोगों का आशियाना, क्रिया कर्म का भी नहीं इंतजाम If this is the situation of Gorakhpur, a place where Yogi belongs, then what to say about other places ?

जॉन्स हॉपकिंस की स्टडी: शिक्षित महिलाओं में शादी से पहले ही बच्चा पाने की चाहत बढ़ीआमतौर पर इंसान शादी के बाद बच्चा सोचता है. लेकिन पिछले कुछ सालों में इस सोच में बदलाव आया है. एक स्टडी के मुताबिक शिक्षित महिलाएं अब शादी से पहले अपना पहला बच्चा चाहती हैं. इस चाहत को रखने वाली महिलाओं की संख्या बढ़ी है. यह स्टडी की है जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के समाज विज्ञानी ने. समाचारों का निरन्तर गिरता स्तर। ऐसे लोग और बर्बाद करेंगे देश को। cया Koi news nahi milti ky tum logo ko ya desh ko barbad karke manage?

नागपुर में Corona की तीसरी लहर की शुरुआत, अगले 3 दिनों में सख्त पाबंदियांनागपुर। महाराष्ट्र के नागपुर से कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर अच्छी खबर नहीं आ रही है। नागपुर के प्रभारी मंत्री नितिन राउत ने कहा है कि शहर में कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत हो चुकी है। आगामी 3 दिनों में कड़े प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं।

Taliban ने की 33 मंत्रियों की सूची जारी, सरकार में नहीं किसी महिला की भागीदारीआख़िरकार तमाम उतार चढ़ावों को पीछे छोड़ कर तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान में सरकार बना ही ली है. फिलहाल तालिबान ने इसे कार्यवाहक सरकार का नाम दिया है और इसी के साथ अफ़गानिस्तान को इस्लामिक तरीके से तरक्की के रास्ते पर ले जाने की कसम भी खाई है. अफगानिस्तान के सरदार का नाम भी सामने आ गया है. तालिबानी सरकार की जिम्मेदारी मुल्ला मुहम्मद हसन अखुंद को सौंपी गई है. तालिबान ने मुल्ला मुहम्मद हसन अखुंद को प्रधानमंत्री चुना है. उसी अखुंद की ये सबसे नई तस्वीरें हैं. अखुंदजदा का पद सबसे बड़ा राजनीतिक और धार्मिक पद होगा. तालिबान ने 33 मंत्रियों की सूची जारी की है. सरकार में किसी भी महिला की भागीदारी नहीं है. देखें ये वीडियो. और इनकी education qualification क्या है, दारू बारूद असला

किसी ने Panjshir की तरह विरोध की हिमाकत की तो..., देखें Taliban की धमकीतालिबान का बरसों पुराना सपना आखिरकार पूरा हो गया. तालिबान ने दावा किया कि पंजशीर में उसका कब्जा हो गया है और अब पूरा अफगानिस्तान तालिबान के हाथ में है. उधर नॉर्दन अलायंस के नेता अहमद मसूद और पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह अंडरग्राउंड हो गए हैं. अहमद मसूद ने अपने ऑडियो संदेश में कहा है कि खून के आखिरी कतरे तक जंग जारी रहेगी. ताालिबान पंजशीर पर पूरी तरह कब्जे का दावा कर रहा है. वो अफगानिस्तान में स्थिरता का दावा कर रहा है, लेकिन साथ में धमकी भी दे रहा है कि अगर किसी ने पंजशीर की तरह विरोध की हिमाकत की तो तालिबानी लड़ाके उसका करारा जवाब देंगे. देखिए ये रिपोर्ट. क्रिमिनल हमेशा धमकी भाषा बोलते है।यही उनकी पहचान है। Panjsher Taliban ka ant hai,chod ke bagenge,usa ki tarah.

सरकार का नाम लेकर बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी- 100 नेताओं की लिस्ट लेकर बैठी है EDपुण्य प्रसून बाजपेयी ने दावा किया है कि प्रवर्तन निदेशालय (ED) 100 नेताओं की सूची लेकर बैठी है जिन्हें कभी भी बुलाया जा सकता है।