Buy, Wear, Gold, Jewel, Festive Season, Spent, Restraint, Corona Crisis, Festive Activities, Visible, Country, Potential

Buy, Wear

खरीदो तो सोना पहनो तो गहना

खरीदो तो सोना पहनो तो गहना in a new tab)

17-10-2021 22:15:00

खरीदो तो सोना पहनो तो गहना in a new tab)

समृद्धि और उत्सव के साथ को लेकर नैतिक विरोधाभास की चाहे जितनी रेखाएं हम खींच लें पर इन दोनों की करीबी को झुठला नहीं सकते।

अच्छे कारोबार की उम्मीद में देशभर के ज्वेलर्स भी पहले से तैयारी कर चुके हैं। त्योहारी मौसम में गहनों की सबसे ज्यादा बिक्री होती है और वे इस अवसर का भरपूर लाभ उठाना चाहते हैं। लिहाजा कंपनियों और छोटी बड़ी दुकानों की तरफ से ग्राहकों के लिए लुभावने प्रस्ताव भी हैं। धनतेरस का आना अभी शेष है, जब सोना खरीदना सबसे शुभ माना जाता है।

एप्पल का पेगासस के ख़िलाफ़ अदालत जाना भारत सरकार के लिए शर्मिंदगी का सबब बन सकता है मन की बात LIVE: मोदी बोले- मुझे सत्ता में रहने का आशीर्वाद मत दीजिए, मैं हमेशा सेवा में जुटा रहना चाहता हूं अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, गठबंधन पर हो सकती है बात

जेवरात कारोबार से जुड़े जानकारों का अनुमान है कि इस साल त्योहारी मौसम में सोने की बिक्री कोरोना-पूर्व यानी 2019 की समान अवधि की तुलना में 15 फीसद तक अधिक हो सकती है। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के मुताबिक, अक्तूबर-दिसंबर 2019 के दौरान देश में 194.3 टन सोना बिका था। इस साल की समान तिमाही में 223.1 टन सोना बिक सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, पिछले साल सोने की कीमतों में रेकार्ड तेजी, पूर्णबंदी और शादी-ब्याह टलने के कारण लोग सोना खरीदने से बच रहे थे। इसके कारण पिछला त्योहारी मौसम फीका रहा था। लेकिन इस साल वैश्विकऔर घरेलू अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटने के कई संकेतों के कारण निवेश के लिए सोने की मांग घटी है। नतीजतन कीमतों में गिरावट का रुझान है।

पिछले साल अगस्त में सोने का भाव रेकार्ड स्तर पर था। 56,200 रुपए की ऊंचाई पर पहुंचने के बाद सोने के भाव को लेकर तब उसी तरह की बात हो रही थी जैसे आज सेंसेक्स के इसी त्योहारी मौसम या साल के अंत तक साठ हजारी हो जाने की उम्मीद की जा रही है। पर इस साल न सिर्फ तेजी का रुख थमा है बल्कि कीमत घटने के साथ खरीदारी का आंकड़ा फिर से चढ़ने लगा है। इन दिनों सोने का भाव पचास हजार रुपए से नीचे चल रहा है। ऐसे में स्वाभाविक तौर पर सोने की खरीद को लेकर आकर्षण बढ़ा है। headtopics.com

टाइटन कंपनी की चीफ डिजाइन आफिसर रेवती कांत बताती हैं कि कोविड-19 की तीसरी लहर का खास डर नहीं दिख रहा है। इस बीच, प्रीमियम रेंज की खरीदारी काफी बढ़ गई है। हमें उम्मीद है कि बिक्री के लिहाज से यह सीजन पिछले साल से बेहतर रहेगा। इसी तरह स्टैंडर्ड चार्टर्ड पीएलसी के एनालिस्ट सुकी कूपर कहते हैं कि अर्थव्यवस्था में तेजी आने के साथ देश में सोने का आयात बढ़ा है। पेंट-अप डिमांड भी ऊंचे स्तर बनी हुई है। निवेश मांग की कमी के चलते फिजिकल मार्केट में सोने की कीमत कम ही रहने वाली हैं। आल इंडिया जेम्स एंड जूलरी डोमेस्टिक काउंसिल के चेयरमैन आशीष पेठे को लगता है कि सोने की कीमतों में नरमी के रुख के कारण इस साल शादियां भी अधिक होंगी और सोने की खरीदारी भी। जाहिर है कि ऐसे में चालू तिमाही में सोने की बिक्री 2019 की समान अवधि की तुलना में ज्यादा होने की उम्मीद है।

और पढो: Jansatta »

UP Elections में Owaisi किसका बनाएंगे और किसका बिगाड़ेंगे खेल? देखें

अरबी मूल की एक पुरानी कहानी है लैला मजनू. सदियों पुरानी ये कहानी उत्तर प्रदेश में लखनऊ की लड़ाई में बहुत चर्चा में आई है. जहां खुद की तुलना लैला से करते हैं हैदराबाद की पार्टी के मुखिया असुद्दीन ओवैसी. पिछले नौ महीने में कम से कम बारह बार ओवैसी खुद को लखनऊ जीतने की लड़ाई में लैला बोल चुके हैं. जिसके मजनू वो बीजेपी, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस को कहते हैं. क्या वाकई ओवैसी उत्तर प्रदेश की राजनीतिक दुनिया की वो लैला हैं, जिसका साथ किसी भी पार्टी में मुस्लिमों की मोहब्बत का वोट लुटवा सकता है? क्या ना... ना करके भी अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ ओवैसी से कोई रिश्ता आगे पनप सकता है? देखिए ये एपिसोड.

उद्धव ठाकरे पर फडणवीस का पलटवार- एजेंसियों का दुरुपयोग करते तो आधी कैबिनेट जेल में होतीदेवेंद्र फडणवीस ने उद्धव सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ठाकरे जिस सरकार का नेतृत्व कर रहे हैं, वो अब तक के इतिहास की सबसे भ्रष्ट सरकार है Maharashtra DevendraFadnavis (sahiljoshii) sahiljoshii राम राज्य तो आपकी सरकार मे था और केंद्र कि सरकार तो राम राज्य से भी बेहतर फिर उत्तर प्रदेश का क्या कहना ये तो स्वर्ग प्रदेश है ऐसी सरकार तो स्वयं इंद्र कि भी नहीं तभी तो आपके नेता मंत्री मोदी और घटिया योगी कि कल्पना भगवान राम से और हनुमान से करते है sahiljoshii यह छोटा फेकू हैं फडणविस, इसने खुद SRA घोटाला किया हैं, इसके मंत्री मंडल के 18 मंत्री भ्रष्ट थे उन्हें यह बिना कोई जांच किए खुद ही क्लिनचिट दे देता था sahiljoshii Sab laga yehi haal koi new baat batao bhai sahab.. congress thi tab ye bolte or BJP ki thi tab congress wale ye bolte the.. sach baat to ye hi dono same hai sirf public ullu bana rahe ho aur kuch nahi...

अंतरिक्ष में अगर इंसान की मौत हो जाए तो उसके शव के साथ क्या होगा?जल्द ही वह समय आ सकता है जब हम छुट्टियां मनाने के लिए या रहने के लिए अन्य ग्रहों की यात्रा करेंगे। वाणिज्यिक अंतरिक्ष कंपनी ब्लू ऑरिजीन ने भुगतान करने वाले ग्राहकों को उप कक्षीय उड़ानों से भेजना शुरू कर दिया है और उद्योगपति एलन मस्क को अपनी कंपनी स्पेस एक्स के साथ मंगल ग्रह पर एक बेस शुरू करने की उम्मीद है।

तस्वीरों में- कहीं नवरात्री का जुलूस, तो कहीं अंतरिक्ष की यात्रा - BBC News हिंदीदेखिए इस हफ्ते दुनियाभर के अलग अलग देशों से ली गई शानदार तस्वीरें

वैक्सीन लगाई तो सांप से डसा दूंगी, VIDEO: मेडिकल टीम पहुंची तो महिला ने सांप निकालकर सामने रख दिया, गांववालों के समझाने पर लगवाया टीकाअजमेर जिले के नागेलाव गांव में एक महिला ने कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए पहुंची टीम को सांप दिखाकर डरा दिया। महिला सपेरा है, जो वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार नहीं थी। बार-बार टीम को सांप दिखाकर डरा रही थी। टीम के ऊपर सांप छोड़ने की धमकी भी दे रही थी। जैसे ही मामले की जानकारी बाकी ग्रामीणों को मिली, सभी मौके पर पहुंचे। फिर महिला को समझाया गया, तब जाकर वो वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हुई। | If I applied the vaccine, I would be bitten by a snake and scared the medical department team by showing a snake; Saperan denied at first, finally after the consultation, not only himself but also 20 others were vaccinated Baapre dek ke hi tand lag gayi muje🥶 🤣🤣🤣 है भगवान।

बोर्ड की परीक्षा नहीं दे पाई, तो लिख दी किताब | DW | 15.10.2021बिहार के मुजफ्फरपुर की पंद्रह साल की एक लड़की कोविड महामारी के कारण 10वीं की बोर्ड परीक्षा नहीं दे पाई. वह दुखी तो हुई लेकिन हताश होने के बदले बच्चों की मनोभावना प्रकट करती एक किताब लिखी. यह किताब आजकल चर्चा में है.

MP: दुकानदार ने सिगरेट के पैसे मांगे तो पीट पीट कर दी हत्या!शहडोल जिले के देवलौंद थाना क्षेत्र के एमपीईबी कालोनी निवासी पप्पू सोनी की एक छोटी सी किराना दुकान थी. शुक्रवार रात मोनू खान, पंकज वैश्य, विराट सिंह, संदीप सिंह नाम के युवकों ने दुकान पर आकर पहले सिगरेट ली और जब पैसा देने की बारी आई तो विवाद करते हुए सिगरेट का पैसा देने से इनकार कर दिया.