Khabardar, Khabardar, Analysis, Finance Minister, Nirmala Sitharaman, Economy, Recession, İndustry, Market

Khabardar, Khabardar

खबरदार: वित्तमंत्री के मंदी से निपटने वाले ब्लूप्रिंट का विश्लेषण

मंदी से देश का सीधा सामना करवाने वाली रिपोर्ट #Khabardar @SwetaSinghAT पूरा कार्यक्रम:

23.8.2019

मंदी से देश का सीधा सामना करवाने वाली रिपोर्ट Khabardar SwetaSinghAT पूरा कार्यक्रम:

खबरदार में आज हम एक साथ दो बड़ी खबरों का विश्लेषण करेंगे. एक खबर में मोदी-मोदी की गूंज है और दूसरी खबर में मंदी-मंदी का अलार्म है, जिसको आज सरकार ने सुन लिया है और उससे निपटने के उपायों का ब्लूप्रिंट भी जारी किया है. एक तरफ पेरिस में मोदी-मोदी के नारे लग रहे थे और इन नारों से गूंजते हॉल में पीएम मोदी प्रवासी भारतीयों को संबोधित कर रहे थे. जबकि दूसरी तस्वीर में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण देश में आर्थिक मंदी के हालात पर देश को संबोधित कर रही थीं और मंदी से निपटने के लिए उठाए गए कदमों से देश को अवगत करवा रही थीं. खबरदार में देखिए पूरा विश्लेषण.

और पढो: आज तक

फ्रांस में लगे मोदी-मोदी के नारे, जानिए पीएम के भाषण की 10 बड़ी बातेंपीएम मोदी ने फ्रांस में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा, भारत और फ्रांस की दोस्ती अटूट है. ये मित्रता नयी नहीं है बल्कि सालों पुरानी है. हर परिस्थिति में दोनों देश साथ रहे हैं. दुख की घड़ी में भी दोनों देश साथ रहे हैं. हम आपसी उपलब्धि पर खुश होते हैं. पीएम ने कहा, फ्रेंच फुटबॉल टीम के बहुत से प्रशंसक भारत में हैं. इन दिनों सबलोग राम की भक्ति में डूबे हैं. पेरिस राम में राम गया है. उन्होंने कहा, भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है. भारत आशाओं और आकांक्षाओं का देश है. मुझे वादे याद रहते हैं इसलिए प्रचंड जनादेश मिला है.

सेबी के अध्यक्ष ने कहा, आईपीओ के खराब प्रदर्शन के लिए मंदी भी जिम्मेदारगांधीनगर। बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के अध्यक्ष अजय त्यागी ने शुक्रवार को कहा कि हाल के दिनों में कई प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गमों (आईपीओ) के खराब प्रदर्शन के लिए कई कारण जिम्मेदार हैं, जिनमें अर्थव्यवस्था की सामान्य मंदी प्रमुख है।

दुनिया में अर्थव्यवस्था को लेकर उथल-पुथल, भारत में मंदी जैसी कोई बात नहीं: निर्मला सीतारमणवित्त मंत्री ने भारत की अर्थव्यवस्था को बाकी देशों की अर्थव्यवस्था से बेहतर बताया। उन्होंने कहा कि भारत में मंदी जैसी कोई बात नहीं है, लेकिन हम अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए कई कदम उठा रहे है। पढ़ें बड़ी बातें NirmalaSitharaman FPIs economy

ऑटो इंडस्‍ट्री में मंदी: उत्पादन थमा, कर्मचारियों की छंटनी में आई तेजीआर्थिक सुस्‍ती की वजह से ऑटो इंडस्‍ट्री अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है. इन हालातों से निपटने के लिए ऑटो कंपनियां धुंआधार छंटनी कर रही हैं.

4 सेक्टर्स पर मंदी की मार, 4 सेक्टर कतार में, लाखों नौकरियां खतरे में...भारत में 4 सेक्टर्स पर आर्थिक मंदी का असर देखा जा रहा है। 4 सेक्टर्स ऐसे भी है जो जल्द ही मंदी की चपेट में आ सकते हैं। इस वजह से लाखों लोगों की नौकरियां खतरे में पड़ गई है।

Parle के बाद ब्रिटानिया पर मंदी की मार, महंगे होंगे बिस्‍किट के दामआर्थिक सुस्‍ती के दौर से गुजर रहे एफएमसीजी सेक्‍टर की दिग्‍गज कंपनी ब्रिटानिया बिस्किट के दाम बढ़ाने जा रही है. इसके अलावा कंपनी खर्च में भी कटौती कर सकती है.

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

24 अगस्त 2019, शनिवार समाचार

पिछली खबर

साइना नेहवाल, कश्यप ने विश्व चैम्पियनशिप में खराब अंपायरिंग की आलोचना की

अगली खबर

Delhi News - Latest Hindi News & Updates of Delhi at AajTak.in
पिछली खबर अगली खबर