क‍िसी के धर्म पर‍ि‍वर्तन से आखिर और क्या बदलता है? देखें 10तक

क‍िसी के धर्म बदलने से आखिर और क्या बदलता है? देखें #10Tak पूरा कार्यक्रम :

10 Tak, Waseem Rizvi

06-12-2021 21:37:00

क‍िसी के धर्म बदलने से आखिर और क्या बदलता है? देखें 10Tak पूरा कार्यक्रम :

उत्तर प्रदेश में शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी का इस्लाम को छोड़कर सनातन हिंदू धर्म अपनाना आज सबसे चर्चित खबर बनी. वसीम रिजवी धर्म परिवर्तन करके जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी बन गए. अब आपको ये समझना जरूरी है कि आखिर धर्म बदलने से क्या होता है? क्या एक व्यक्ति के धर्म बदलने से उसकी पहचान और उसके परिवार की पहचान का भी धर्म परिवर्तन हो जाता है? जिस सनातन धर्म में माना गया कि हिंदू जन्म से होता है, वहां क्या एक मुस्लिम नागरिक का एक हिंदू धर्मगुरु भी धर्म परिवर्तन करा सकता है? क्या धर्म परिवर्तन करने से जाति भी बदल जाती है? देखें 10 तक का ये एपिसोड.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

और पढो: AajTak »

ShortURL - URL Shortener

ShortURL is a url shortener to reduce a long link. Use our tool to shorten links and then share them, in addition you can monitor traffic statistics. और पढो >>

sita ram उपनयन संस्कार के बिना धर्म परिवर्तन कैसा? लिंग बदल जाता है जितेंद्र त्यागी जी को जय श्री राम कहना जय श्री महाकाल जिसे बदलना है अपना काल वह पूजे मेरा महाकाल देख लेना मूतने जाएगा तो पानी या ढेला लेकर जाएगा। जय श्री राम हिन्दू धर्म में हार्दिक बधाई

Waseem Rizvi ने इस्लाम छोड़ अपनाया हिंदू धर्म, मंदिर में हुआ धर्म परिवर्तनविवादास्पद बयानों में रहने वाले वसीम रिजवी ने इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया है. वसीम रिजवी अब जितेंद्र नारायण त्यागी हो गए. शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन रिजवी ने गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर में अपना धर्म परिवर्तन किया. इस दौरान मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद गिरि ने अनुष्ठान किया. धर्म परिवर्तन करने के बाद वसीम रिजवी ने कहा कि - अब वो सिर्फ हिंदुत्व के लिए काम करेंगे. वसीम रिजवी लगातार अपने बयानों को लेकर विवादों में रहे हैं. पिछले काफी वक्त से वो ऐसे बयान देते आए हैं जिन्हें इस्लाम विरोधी और मुस्लिम विरोधी माना गया. मुस्लिम समाज में भी वसीम रिजवी के खिलाफ काफी गुस्सा देखने को मिला. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. Ise to bahut pahle shiya se nikal diya gya tha, koi bolte ki batt h आपका स्वागत है सत्यं शिवं सुन्दरम् 🙏🙏

वसीम रिजवी के सनातन धर्म में शामिल होने पर क्या बोले मुस्लिम और हिंदू धर्मगुरु?शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने मुस्लिम धर्म को त्याग कर हिंदू धर्म अपना लिया. इसको लेकर देवबंदी उलेमा मुफ्ती असद कासमी का बयान आया है. उन्होंने कहा कि वसीम रिजवी इस्लाम से पहले ही खारिज हो चुके थे और उनके खिलाफ फतवा भी दिया गया था. वसीम रिजवी के जो कारनामे थे, वह मुसलमान के नहीं थे. RailwayExamCalendarDo Jai Shree Ram murge ko bhi mantra padkar, shudh krdo aur veg bana do kam se kam vegetarian kha to lenge

केजरीवाल के घर के बाहर धरने पर बैठे नवजोत सिंह सिद्धू, जानिए क्या है मामलानई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोतसिंह सिद्धू रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के सामने दिल्ली के सरकारी स्कूलों के अतिथि शिक्षकों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।

नौसेना के लिए निर्मित बड़ा सर्वेक्षण पोत ‘संध्यक’ लांच, जाने क्‍या है इसकी खासियतSurvey Ship Sandhyak launched रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट की मौजूदगी में 3400 टन वजन के इस जहाज का जलावतरण किया गया। रक्षा राज्य मंत्री भट्ट ने जीआरएसइ के प्रयासों की सराहना की और कहा कि इस सर्वेक्षण पोत से समुद्री सुरक्षा की निगरानी में काफी मदद मिलेगी।

रंगों का हमारे जीवन में क्या महत्व है, समझिएरंग महान कॉस्मिक स्वास्थ्य लाभ देने वाली शक्ति है. रंग सूक्ष्म कोषों को पुन: ऊर्जा और पोषण देकर शक्तिशाली बनाते हैं. आयुर्वेद ने सभी रोगों का कारण मुख्य रूप से रंग के असंतुलन को माना है. वात का संबंध नीले रंग से, पित का लाल रंग से और कफ का हल्के पीले रंग से है. आज हम आपको बताएंगे कि किस ग्रह का संबंध किस रंग से है और अच्छा स्वास्थ पाने के लिए किस रंग की वस्तुओं का खान-पान में प्रयोग करें. सूर्य का संबंध लाल, गोल्डन और नारंगी रंग से है. यदि आप सूर्य से शुभ फल पाना चाहते हैं तो लाल और पीले, नारंगी रंग की चीजों का सेवन करें, लाल रंग ऊर्जा, सृजन क्षमता को बढ़ता है. इस विषय पर ज्यादा जानकारी के लिए देखिए ये वीडियो.

क्या जलवायु के लिए फायदेमंद है एटमी ऊर्जा | DW | 03.12.2021आण्विक ऊर्जा के समर्थकों का दावा है कि इसकी बदौलत हमारी अर्थव्यवस्थाएं प्रदूषण फैलाने वाले फॉसिल ईंधनों से छुटकारा पा सकती हैं. लेकिन तथ्य क्या कहते हैं? क्या एटमी ऊर्जा वाकई जलवायु को बचाने में मदद कर सकती है? . . DWHindi NuclearEnergy