क्रिकेट में कमाल करने वाली हरमनप्रीत की कहानी

क्रिकेट में कमाल करने वाली हरमनप्रीत की कहानी

20-02-2020 09:58:00

क्रिकेट में कमाल करने वाली हरमनप्रीत की कहानी

महिला टी-20 वर्ल्ड कप 21 फ़रवरी से शुरु हो रहा है, हरमनप्रीत टी-20 वर्ल्ड कप में भारत की कप्तान हैं.

पिता को देखकर क्रिकेट खेलना शुरू कियाआठ मार्च 1989 को पंजाब के मोगा में जन्मीं हरमन की बात करें तो बचपन से ही उन्हें क्रिकेट का शौक था. हरमन के पिता हरमिंदर सिंह भुल्लर भी क्रिकेट खेलते थे और वो अपने पिता को चौके-छक्के लगाते देखती थीं. बस वहीं से उन्हें बाउंड्री लगाने का चस्का लग गया.

देश तक: सुशांत को 'बीमार' करने की साजिश किसकी? चीन का नाम लिए बिना राष्ट्रपति कोविंद ने संबोधन में साधा निशाना #70yearsofpartition: बंटवारे की लकीर - BBC News हिंदी

मोगा में लड़कियां खेल के मैदान पर कम ही दिखतीं और वो लड़कों के साथ ही क्रिकेट खेलतीं.जब नज़दीकी स्कूल के एक कोच कमलदीप सिंह सोढ़ी ने मोगा में हरमन को लड़कों के साथ खेलते हुए देखा और उन्हें गेंदबाज़ों की धुनाई करते देखा तो वो दसवीं के बाद हरमन को अपने स्कूल ले गए. और वहां से शुरु हुई कोचिंग और क्रिकेट का नया सफ़र.

छोटे कस्बे में लड़की का क्रिकेट खेलना रिश्तेदारों का नागवार गुज़रता था. लेकिन बीबीसी से एक साल पहले हुई बातचीत में हरमन के पिता ने बताया था कि हरमनप्रीत की उपलब्धि ने लोगों का मुंह बंद कर दिया.पंजाब और रेलवे के लिए खेलने के बाद 19 साल की उम्र में 2009 में हरमन ने वनडे में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ डेब्यू किया.

आज भले ही लोग हरमन को उनकी आतिशी बैटिंग के लिए जानते हों लेकिन जब वो टीम में आई थीं तो दुबली पतली हरमन को मीडियम पेस गेंदबाज़ी के लिए टीम में जगह मिली थी.इमेज कॉपीरइटGetty Imagesरिस्क लेने से नहीं डरतींमुंबई में वेस्ट्रन रेलवे में काम करते हुए हरमन ने अपनी बल्लेबाज़ी और फ़िटनेस पर ख़ूब काम किया.

जल्द ही वो अपने पसंदीदा क्रिकेट खिलाड़ीवीरेंदर सहवागकी तरह भारतीय बैटिंग की रीढ़ बन गईं. देखते-देखते 2016 में हरमन को टी-20 टीम की कप्तानी की ज़िम्मेदारी दे दी गई.बतौर कप्तान और खिलाड़ी हरमन की ख़ूबी रही है कि वो रिस्क लेने से नहीं डरतीं- चाहे नए खिलाड़ियों को मौका देना हो या ख़ुद की बैटिंग हो.

आपको 2017 वनडे वर्ल्ड कप का सेमीफ़ाइनल याद होगा जहां भारत का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से था जो मज़बूत टीम थी.हरमनप्रीत ने 115 गेंदों में नाबाद 171 रन बनाए थे जिसमें सात छक्के और 20 चौके शामिल थे. लोगों ने उनकी तुलना कपिल देव से की और हरमन रातों रात स्टार बन गईं. और ये तब जब हरमन चोटिल हो गई थीं और उनकी उंगली, कलाई और कंधे पर दिक्कत थी.

क्रिकेट के अलावा हरमन ने वो किया जो कम ही महिला क्रिकेट खिलाड़ी कर पाई थीं. कई बड़े ब्रैंड ने उन्हें अपना एम्सेडर बनाया. और पढो: BBC News Hindi »

बेंगलुरू में हिंसा किसने भड़काई? देखें दंगल में जोरदार बहस

बेंगलुरू हिंसा के मामले में 3 दिन बीत चुके हैं. पुलिस ने अब तक 206 लोगों को गिरफ्तार किया है. लेकिन सवाल ये है कि बेंगलुरू जलाने वालों पर प्रतिबंध कब लगेगा. बेंगलुरू हिंसा के मामले में PFI के राजनीतिक विंग SDPI का नाम सीधे-सीधे लिया जा रहा है, आज कांग्रेस पार्षद के पति भी गिरफ्तार हुआ है. बीजेपी के नेता कह रहे हैं कि ये हिंसा SDPI और कांग्रेस की वोट बैंक की लड़ाई का नतीजा है. इसीलिए आज हम दंगल में सवाल उठा रहे हैं कि बेंगलुरू हिंसा पर असल कार्रवाई कब होगी? देखें दंगल?

चीन में फैक्ट्रियां बंद होने की वजह से भारत में पैरासीटामॉल की कीमतों में 40% बढ़ोतरीबैक्टीरिया इंफेक्शन में इस्तेमाल होने वाले एंटीबायोटिक एजिथ्रोमाइसीन की कीमतें 70% बढ़ीं भारत करीब 80% तक फार्मा इंग्रीडिएंट्स चीन से आयात करता है कोरोनावायरस की वजह से चीन में प्रोडक्शन बंद, इसलिए भारत में आयात प्रभावित | Closure of factories in China increases prices of paracetamol in the country by 40%

अयोध्या में राम मंदिर की तरफ पहला कदम, ट्रस्ट की बैठक में हुए अहम फैसलेदिल्ली में बुधवार को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक हुई. इस बैठक में महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष चुना गया, जबकि VHP नेता चंपत राय महामंत्री बनाए गए. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नियुक्त किए गए, जबकि कोषाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी गोविंद गिरी को मिली. राम मंदिर का निर्माण कब शुरू होगा, इस पर अभी फैसला होना बाकी है. 15 दिन बाद ट्रस्ट के पदाधिकारी अयोध्या में फिर मिलेंगे. इसके बाद ही राम मंदिर निर्माण की तारीख तय होगी. अन्य खबरों के लिए देखें स्पेशल रिपोर्ट. anjanaomkashyap gopimaniar जिस देश की आबादी 130 करोड़ है वहाँ 70 लाख लोगों का जुटना, कोई बड़ी बात नहीं है। anjanaomkashyap gopimaniar Ahemedabad ki puri aabadi hi hai karib 70 lakh, matalab bacche, budhe, mahilayen sab nilklenge? anjanaomkashyap gopimaniar anjanaomkashyap कभी निर्भया के घर के बाहर का भी केंडल मार्च का दृश्य दिखा दो

तमिलनाडु में भीषण सड़क हादसा, लॉरी-बस की टक्कर में 19 लोगों की मौत, 25 घायलTamilnadu में भीषण सड़क हादसा, लॉरी-बस की टक्कर में 19 लोगों की मौत, 25 घायल Accident Tamilnaduaccident So said हमें यह जानकर खेद है कि सड़क दुर्घटना में अचानक मृत्यु हुई हम भगवान से प्रार्थना करते हैं कि 2 आपके परिवार को यू ताकत दे इस दुख की घड़ी में । जय श्री राम।

लखनऊ: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में तैनात कमांडो पर बेटी की हत्या की FIRलखनऊ. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) की सुरक्षा में तैनात सब इंस्पेक्टर कमांडो वेद प्रकाश सिंह पर शक के आधार पर पुत्री सृष्टि की हत्या की एफआईआर दर्ज (FIR) की गई है. वेदप्रकाश की पुत्री सृष्टि सिंह की सोमवार को संदिग्ध हालातों में विकासनगर के सरकारी घर में मौत हो गई थी. Lucknow Srishti Murder case police registers fir against defence minister rajnath singh security commando uprm upat | uttar-pradesh News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

राकेश मारिया का खुलासा- कसाब को समीर के रूप में मारने की थी लश्कर की योजनामुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने अपनी आत्मकथा में दावा किया कि लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) ने 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के आरोपी अजमल कसाब को हिंदू आतंकी साबित करने की थी और इस हमले को हिंदू आतंकवाद करार देने की मंशा थी. लश्कर + कांग्रेस । पूरी बात लिखो दल्लो। दिग्विजय सिंह ने तो किताब तक लॉन्च कर दी थी।। वो तो पाकिस्तान की साज़िश थी लेकिन यह दिग्विजय और महेश भट्ट ने क्यू इसे आरएसएस की साज़िश कहा था ? क्या इन दोनों की पाकिस्तान से पहले ही बातचीत हो गई थी ? ये जांच कराई जानी चाहिए HMOIndia NIA_India

अंदर की बात : जानें, बाबूलाल मरांडी की कैसे हुई BJP में वापसीझारखंड के बड़े आदिवासी नेता बाबूलाल मरांडी एकबार फिर भाजपा के साथ हैं. उन्‍होंने बीते दिन औपचारिक तौर पर अमित शाह की मौजूदगी में करीब 14 साल बाद फिर से बीजेपी में घर वापसी कर ली. AmitShah BJP4India BJP4Jharkhand बीजेपी यदि चुनाव से पहले मरांडी साहब को ससम्मान अपने पुराने धर मे ले आये होते तो स्थिति विपरीत भी हो सकता था ।खैर, जो बीत गयी वो बात गयी । AmitShah BJP4India BJP4Jharkhand अन्दर की बात यह हैं कि उनकी पार्टी की नांव डूब चुकी थी।।