Farmersinsuranceopen, किसान, कृषि, फसल, बीमा, सब्सिडी

Farmersinsuranceopen, किसान

क्या सरकार ने किसानों का साथ छोड़ दिया है? | DW | 21.02.2020

फसल बीमा योजनाओं में केंद्र सरकार के योगदान में कटौती करने के निर्णय की कृषि विशेषज्ञ आलोचना कर रहे हैं.

21-02-2020 18:52:00

भारत में किसान ों के लिए बीमा योजनाओं में केंद्र सरकार ने जो बदलाव किये हैं उन पर विवाद खड़ा हो गया है और किसान ों का साथ छोड़ देने के लिए केंद्र सरकार की आलोचना हो रही है. देखिए- farmersinsuranceopen

फसल बीमा योजनाओं में केंद्र सरकार के योगदान में कटौती करने के निर्णय की कृषि विशेषज्ञ आलोचना कर रहे हैं.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंभूमि पर अधिकारदेश में कृषि भूमि के मालिकाना हक को लेकर विवाद सबसे बड़ा है. असमान भूमि वितरण के खिलाफ किसान कई बार आवाज उठाते रहे हैं. जमीनों का एक बड़ा हिस्सा बड़े किसानों, महाजनों और साहूकारों के पास है जिस पर छोटे किसान काम करते हैं. ऐसे में अगर फसल अच्छी नहीं होती तो छोटे किसान कर्ज में डूब जाते हैं.

कोरोना संक्रमण: तब्लीग़ी जमात से जुड़े सवाल पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- ''बहुत हुआ'' महाराष्ट्र सरकार सौतेली मां बनकर भी सहारा देता तो वापस नहीं आते श्रमिक : सीएम योगी कोरोना वायरस: दुनिया के 10 सबसे अधिक संक्रमित देशों में भारत शामिल - BBC Hindi

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंफसल पर सही मूल्यकिसानों की एक बड़ी समस्या यह भी है कि उन्हें फसल पर सही मूल्य नहीं मिलता. वहीं किसानों को अपना माल बेचने के तमाम कागजी कार्यवाही भी पूरी करनी पड़ती है. मसलन कोई किसान सरकारी केंद्र पर किसी उत्पाद को बेचना चाहे तो उसे गांव के अधिकारी से एक कागज चाहिए होगा.ऐसे में कई बार कम पढ़े-लिखे किसान औने-पौने दामों पर अपना माल बेचने के लिए मजबूर हो जाते हैं.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंअच्छे बीजअच्छी फसल के लिए अच्छे बीजों का होना बेहद जरूरी है. लेकिन सही वितरण तंत्र न होने के चलते छोटे किसानों की पहुंच में ये महंगे और अच्छे बीज नहीं होते हैं. इसके चलते इन्हें कोई लाभ नहीं मिलता और फसल की गुणवत्ता प्रभावित होती है.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंसिंचाई व्यवस्थाभारत में मॉनसून की सटीक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती. इसके बावजूद देश के तमाम हिस्सों में सिंचाई व्यवस्था की उन्नत तकनीकों का प्रसार नहीं हो सका है. उदाहरण के लिए पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के क्षेत्र में सिंचाई के अच्छे इंतजाम है लेकिन देश का एक बड़ा हिस्सा ऐसा भी है जहां कृषि, मॉनसून पर निर्भर है. इसके इतर भूमिगत जल के गिरते स्तर ने भी लोगों की समस्याओं में इजाफा किया है.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंमिट्टी का क्षरणतमाम मानवीय कारणों से इतर कुछ प्राकृतिक कारण भी किसानों और कृषि क्षेत्र की परेशानी को बढ़ा देते हैं. दरअसल उपजाऊ जमीन के बड़े इलाकों पर हवा और पानी के चलते मिट्टी का क्षरण होता है. इसके चलते मिट्टी अपनी मूल क्षमता को खो देती है और इसका असर फसल पर पड़ता है.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंमशीनीकरण का अभावकृषि क्षेत्र में अब मशीनों का प्रयोग होने लगा है लेकिन अब भी कुछ इलाके ऐसे हैं जहां एक बड़ा काम अब भी किसान स्वयं करते हैं. वे कृषि में पारंपरिक तरीकों का इस्तेमाल करते हैं. खासकर ऐसे मामले छोटे और सीमांत किसानों के साथ अधिक देखने को मिलते हैं. इसका असर भी कृषि उत्पादों की गुणवत्ता और लागत पर साफ नजर आता है.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंभंडारण सुविधाओं का अभावभारत के ग्रामीण इलाकों में अच्छे भंडारण की सुविधाओं की कमी है. ऐसे में किसानों पर जल्द से जल्द फसल का सौदा करने का दबाव होता है और कई बार किसान औने-पौने दामों में फसल का सौदा कर लेते हैं. भंडारण सुविधाओं को लेकर न्यायालय ने भी कई बार केंद्र और राज्य सरकारों को फटकार भी लगाई है लेकिन जमीनी हालात अब तक बहुत नहीं बदले हैं.

महाराष्ट्र में 31 मई के बाद चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने पर हो रहा विचार : NDTV से बोले आदित्य ठाकरे तबलीगी जमात पर किया सवाल तो हर्षवर्धन बोले- चर्चा से होता है कष्ट आज तक @aajtak

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंपरिवहन भी एक बाधाभारतीय कृषि की तरक्की में एक बड़ी बाधा अच्छी परिवहन व्यवस्था की कमी भी है. आज भी देश के कई गांव और केंद्र ऐसे हैं जो बाजारों और शहरों से नहीं जुड़े हैं. वहीं कुछ सड़कों पर मौसम का भी खासा प्रभाव पड़ता है. ऐसे में, किसान स्थानीय बाजारों में ही कम मूल्य पर सामान बेच देते हैं. कृषि क्षेत्र को इस समस्या से उबारने के लिए बड़ी धनराशि के साथ-साथ मजबूत राजनीतिक प्रतिबद्धता भी चाहिए.

ये हैं भारतीय किसानों की मूल समस्याएंपूंजी की कमीसभी क्षेत्रों की तरह कृषि को भी पनपने के लिए पूंजी की आवश्यकता है. तकनीकी विस्तार ने पूंजी की इस आवश्यकता को और बढ़ा दिया है. लेकिन इस क्षेत्र में पूंजी की कमी बनी हुई है. छोटे किसान महाजनों, व्यापारियों से ऊंची दरों पर कर्ज लेते हैं. लेकिन पिछले कुछ सालों में किसानों ने बैंकों से भी कर्ज लेना शुरू किया है. लेेकिन हालात बहुत नहीं बदले हैं.

रिपोर्ट: अपूर्वा अग्रवाल

और पढो: DW Hindi

दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए एक्शन मोड में आई केजरीवाल सरकारदिल्ली में तीसरी बार सत्ता हासिल करने वाली केजरीवाल सरकार एक्शन मोड में आ चुकी है. एक ओर उसने जहां गारंटी कार्ड में किए गए वादे पूरे करने के लिए कदम आगे बढ़ा दिए हैं तो वहीं दूसरी ओर दिल्ली के प्रदूषण को कम करने के लिए भी प्रयास शुरू कर दिए हैं. JournoAshutosh Samosa khaana kam kiya? JournoAshutosh शाहीनबाग बंद करो, प्रदुषण अपने आप ख़त्म हो जायेगा. JournoAshutosh MASTER MIND OF SHAHINBAG.

लोकसभा के संपर्क में हैं PSA के तहत हिरासत में बंद फारूक अब्दुल्लाहिरासत में होने के बावजूद जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला का लोकसभा से संपर्क लगातार बना हुआ है. गिरफ्तारी के बाद वो तीन बार लोकसभा को छुट्टी के लिए अर्जी दे चुके हैं. Jail Mei thikk hai Ab arjiya hi de sakte hai rasgulla khane ka samay gaya

क्या 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम में बुलाए जाएंगे विपक्षी नेता, सरकार ने दिया ये जवाबजब भारत दौरे के समय अमेरिका की फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप के स्कूलों का दौरा करने को लेकर सवाल किया गया, तो विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप और मेलानिया ट्रंप के दौरे की योजना अमेरिकी दूतावास ने बनाई है. Geeta_Mohan Geeta_Mohan जब राष्ट्रपति ट्रम्प की पत्नी मेलानिया ट्रम्प दिल्ली के सरकारी स्कूल का भ्रमण करने जाएंगी तब भाजपा को दिल्ली के उन सांसदों को भी उनके साथ भेजना चाहिए जिन्होंने दिल्ली चुनावों के दौरान अपने कुछ स्कूलों के वीडियो ट्वीट किए थे।खासकर hansrajhansHRH ManojTiwariMP rameshbidhuri को।

अहमदाबाद से दिल्ली वाया आगरा, भारत में 48 घंटे क्या-क्या करेंगे ट्रंप-मेलानिया, पढ़ें शेड्यूलअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी सोमवार को भारत पहुचेंगे. दो दिवसीय दौरे के दौरान दोनों मेहमान दिल्ली, आगरा और अहमदाबाद का दौरा करेंगे. Geeta_Mohan Andha bhakt Khush ho jayiga kiyu key onka dosra. Papa a Raha hai India Geeta_Mohan डोनाल्ड ट्रंप के पीछे पीछे घूमने से तुमको दलाली मिलती हैं गरीबों को कुछ नहीं मिलता Geeta_Mohan डोनाल्ड ट्रंप अा रहा हैं तो नाच गाना शुरू कर दो दलालों

Donald Trump's India Visit: जानें दो दिवसीय दौरे में क्या-क्या करेंगे अमेरिकी राष्ट्रपतिअमेरिकी राष्ट्रपति के लिए न सिर्फ अहमदाबाद में बल्कि दिल्ली में भी खास इंतजाम किए जा रहे हैं. अधिकारिक जानकारी के मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप 24 फरवरी को तकरीबन साढ़े ग्यारह बजे अहमदाबाद पहुचेंगे. realDonaldTrump POTUS FLOTUS narendramodi जिन्होंने सम्पूर्ण कश्मीर को बंधक बनाने का समर्थन किया है वह भी शाहीन बाग की एक सड़क के बंद होने से विधवा हो चुके हैं दोगले नहीं दो बाप तले वाली की संतान हैं realDonaldTrump POTUS FLOTUS narendramodi अमरीका से आएंगे दो दिन खाएंगे, पिएंगे, फिर हग देंगे घूमेंगे और भारत सरकार के करोड़ो रुपए बर्बाद कर के जाएंगे। realDonaldTrump POTUS FLOTUS narendramodi trump modimay India narendramodi

पश्चिम बंगाल के मदरसों में बढ़ रही है हिंदू छात्रों की संख्या, जानिए क्या है कारणमदरसा बोर्ड के अध्यक्ष के मुताबिक मदरसों में दाखिला लेने वाले हिंदू छात्रों के प्रतिशत में खासी बढ़ोतरी देखी गई है. इस्लामीकरण का राह बन रहा है। जागो प्यारे PMOIndia narendramodi rajnathsingh PiyushGoyal AmitShah JPNadda BJP4India ShivSena UdhavThakare PL WAKE UP गजवा ए हिन्द ...