क्या अमरीका ने कुर्दों के साथ धोखा किया?

क्या अमरीका ने कुर्दों के साथ धोखा किया?

10-10-2019 04:36:00

क्या अमरीका ने कुर्दों के साथ धोखा किया?

तुर्की ने उत्तर-पूर्वी सीरिया में हवाई हमला शुरू कर दिया है. इस हमले का सबसे ज़्यादा असर अमरीका के सहयोगी रहे कुर्दों पर पड़ेगा.

Image captionहाल ही में तुर्की के राष्ट्रपति रैचेप तैयप अर्दोआन और अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सीरिया में सेफ ज़ोन पर चर्चा की हैबाद में ट्रंप ने सैनिकों को वापस बुलाने की प्रक्रिया को टाल दिया लेकिन तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैय्यप अर्दोआन सुरक्षित क्षेत्र की मांग पर अड़े रहे.

महेंद्र सिंह धोनी: 'पल दो पल का शायर हूं' ..कहते हुए कहा क्रिकेट को अलविदा सुरेश रैना: धोनी के साथ ही इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास Suresh Raina Announce Retirement: सुरेश रैना ने भी कहा क्रिकेट को अलविदा, सबको चौंकाया

अगस्त, 2019 में अमरीका और तुर्की सुरक्षित क्षेत्र के निर्माण पर सहमत हो गए. कुर्द अधिकारियों ने भी इसका समर्थन किया और वाईपीजी ने सीमा पर किलेबंदी और बंकरों को समाप्त कर दिया. लेकिन दो महीने के बाद ट्रंप ने फ़ैसला लिया कि सुरक्षित क्षेत्र का निर्माण तुर्की सेना अकेले करेगी.

अर्दोआन इस प्रस्तावित 480 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर के निर्माण को लेकर आश्वस्त हैं. उनके मुताबिक़ इससे तुर्की की सीमा सुरक्षित रहेगी ही साथ में यह इलाक़ा क़रीब 20 लाख सीरियाई शरणार्थियों का घर भी बन जाएगा. व्हाइट हाउस के मुताबिक़ तुर्की ने इलाक़े में सक्रिय इस्लामिक स्टेट लड़ाकों को भी पकड़ने की ज़िम्मेदारी ली है.

लेकिन सीरियाई डेमोक्रेटिक फ़ोर्सेज (एसडीएफ) ने कहा कि अमरीका ने उनकी पीठ पर चाकू घोंपा है. एसडीएफ ने चेताते हुए कहा है कि तुर्की की आक्रामकता से यह इलाक़ा हमेशा के लिए युद्ध क्षेत्र में तब्दील हो जाएगा और इस्लामिक स्टेट को हराने की कोशिशों को धक्का लगा है.

तुर्की इतना चिंतित क्यों है?तुर्की को पीपल्स प्रोटेक्शन यूनिट्स (वाईपीजी) से ख़तरा महसूस होता है. वाईपीजी, सीरियाई कुर्दिश डेमोक्रेटिक यूनियन पार्टी (पीवाईडी) का सैन्य विंग है.तुर्की की सरकार का मानना है कि वाईपीजी, कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) का ही विस्तार है. पीकेके 1984 से ही तुर्की में कुर्द की स्वायत्तता के लिए संघर्ष कर रहा है. इसे अमरीका और यूरोपीय यूनियन ने आतंकवादी समूह माना है.

वाईपीजी और पीकेके, एक समान विचारधारा से प्रेरित हैं. लेकिन दोनों कहते हैं कि वे अलग-अलग संगठन हैं. वाईपीजी को लेकर तुर्की के दावे को अमरीका ने भी ख़ारिज किया है.सीरिया में बीते आठ साल से चल रहे संघर्ष के दौरान अमरीका, इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ पश्चिमी देशों के संघर्ष में सहयोगी रहा है लेकिन इस दौरान किसी का भी पक्ष लेने से बचता रहा है.

सीरियाई डेमोक्रेटिक फ़ोर्सेज़ (एसडीएफ) के कुर्द और अरब सैन्य बलों में वाईपीजी प्रभुत्व वाला समूह है. अमरीकी नेतृत्व वाले बहुराष्ट्रीय सहयोगियों से हवाई हमले, हथियार और सैन्य सलाहकारों की मदद के चलते एसडीएफ ने उत्तरी पूर्वी सीरिया में दसियों हज़ार वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को इस्लामिक स्टेट से ख़ाली कराया है. इस इलाक़े में एक स्वायत्तशासी प्रशासन की स्थापना की गई है. माना जा रहा है कि इस इलाक़े में पांच से दस लाख कुर्द और 15 लाख अरब लोग रह रहे हैं.

धोनी की कप्तानी के वो 10 बेमिसाल फ़ैसले भारत के सबसे सफल कप्तान MS Dhoni ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा, नहीं दिखेगा उनका कूल अंदाज VIDEO: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से महेंद्र सिंह धोनी का संन्यास, लिखा ये संदेश और पढो: BBC News Hindi »

देश तक: सुशांत की डायरी में जिस प्रियंका का जिक्र, आजतक पर खोले राज

सुशांत सिंह राजपूत के कुछ ऐसे राज, कुछ ऐसी कहानी जो अबतक हर किसी से अछूती हैं. सुशांत सिंह राजपूत की वकील रहीं प्रियंका खेमानी ने आजतक से EXCLUSIVE बातचीत की है. इस दौरान प्रियंका खेमानी ने सुशांत के बारे में कई बातों से पर्दा हटाया. सुशांत ने अपनी डायरी में जिस प्रियंका का जिक्र किया था वही प्रियंका ने आजतक से बातचीत की है. वहीं सुशांत के परिवार और उनसे जुड़े कई लोग सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं. बिहार सरकार और सुशांत के परिवार का दावा है कि मुंबई पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच नहीं कर रही है. इसीलिए इंसाफ और सीबीआई जांच की मुहिम दिनोंदिन तेज होती जा रही है. देखिए ये रिपोर्ट.

कश्मीर में भारत के साथ भी करेगा। अमरीका की फितरत ही ऐसी है कोई नई बात नही Prostitution is more truthful than modern politics. Always it's true face of US...and along with China has same parameters USA ki nature Wahi hai Bilkul kiya... अमरीका कुर्दो के शाथ कोई धोखा नही किया हैजिसे गलत पाया जारहा है उसे बाहर निकाल दिया जारहा है

Koi dhoka nahi kiya , Kurd musalman hai aur musalman kisi ka saga nahi hota Kitab ke alawa. तुर्की के बमबारी के बाद तो फिलहाल यही लग रहा है। Ask mohammad Sadiq Who has turned England into hell realDonaldTrump अमेरिका एक दूसरे से लड़ाकर जनसंख्या नियंत्रण करा रहे हैं Kurd ek hokr west ko sabak shikho

क्या कुर्दों को छोड़ तुर्कों के क़रीब जा रहा अमरीका?इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ाई में कुर्दों ने अमरीका का साथ दिया लेकिन क्या अमरीका उन्हें अब अकेला छोड़ रहा? अमरीका जहां जा राह है उसे जाने दो राहुल गांधी कहां है यह कहिए अमेरिका कहा नहीं जा रहा है ? चीन , पाकिस्तान , कोरीयी , इरान , साउदी ?

इमरान के मंत्री ने दी दशहरा की बधाई, लोगों ने याद दिलाया ‘अखंड भारत’अक्सर भारत के खिलाफ सोशल मीडिया पर बयानबाजी करने वाले पाकिस्तानी सरकार में मंत्री फवाद चौधरी ने भी ट्विटर अकाउंट पर दशहरा की बधाई दी, लेकिन इधर से हिंदुस्तानी ट्विटर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल कर दिया. Chaudhry what happened? सबसे गंदा तो हमारा मीडिया है! जो सीधी बात को भी लोगों को इस तरह से उलटा दिखाता है! बेवकूफो बधाई दी है गलत तो नहीं कहा कुछ! देख लो भक्तो, अखंड भारत होने के बाद हिन्दुओं और मुसलमानों की संख्या बराबर हो जायेगी। चलेगा ना।

महाराष्ट्र: आउटसाइडर का टैग हटाने के लिए BJP अध्यक्ष ने दोस्त के घर डाला डेराचंद्रकांत पाटिल को पुणे की कोथरड सीट से टिकट दिया गया है. बीजेपी ने सिटिंग विधायक मेधा कुलकर्णी का टिकट काटकर चंद्रकांत पाटिल को मैदान में उतारा है. We must raise our voice against this FIR and urge the govt to uphold freedom of expression, even when it involves disagreement with the govt. SaveFreeSpeech

मंजिलें और भी हैं: लोगों के ताने और फुटबॉल के शौक ने बदल दी जिंदगीमैं कश्मीर के श्रीनगर की रहने वाली हूं। फुटबॉल का खुमार जब मुझ पर चढ़ा, तब मैं यहां के एक सरकारी स्कूल में पढ़ रही थी... KirenRijiju IndiaSports nadianighat JammuandKashmir Article370

पीलीभीत: जब बंदर ने यूपी पुलिस के कोतवाल के बीने जुएंथानाध्यक्ष श्रीकांत द्विवेदी अपनी मेज पर बैठकर कुछ जरूरी काम निपटा रहे थे तभी एक बंदर अचानक से उनके कंधे पर आकर बैठ गया. बंदर बैठा ही नहीं बल्कि उनके सिर में जुएं ढूंढने लगा. जय बजरंग बली। UP police kisi se kuch b krwa skti hai...😄 Lagta hay bander maharaj line hajir na ho jay

हांगकांग में काली पोशाक पहने प्रदर्शनकारियों ने लगाए हाई कोर्ट के सामने आजादी के नारेचीन को आर्थिक नुकसान हो रहा है और उसकी छवि भी बिगड़ रही है। महाशक्ति बनने को अग्रसर चीन को सूझ नहीं रहा कि वह हालात को काबू में लाने के लिए क्या करे। Hongkok me bhi 370 h kya China khallaas