Rekha, Jayabachchan, Amitabhbachchan, Amitabh Bachchan, Rekha, Jaya Bachchan, अमिताभ बच्चन, रेखा, जया बच्चन, अमिताभ बच्चन-रेखा लव स्टोरी

Rekha, Jayabachchan

क्या आप अमिताभ बच्चन से प्यार करती थीं? रेखा से पूछा गया सवाल तो दिया था ऐसा जवाब

जब रेखा से पूछ लिया गया था अमिताभ बच्चन से जुड़ा सवाल, एक्ट्रेस ने दे डाला था ऐसा जवाब

20-09-2021 08:50:00

जब रेखा से पूछ लिया गया था अमिताभ बच्चन से जुड़ा एक सवाल, एक्ट्रेस ने दे डाला था ऐसा जवाब Rekha JayaBachchan AmitabhBachchan

जब रेखा से पूछ लिया गया था अमिताभ बच्चन से जुड़ा सवाल, एक्ट्रेस ने दे डाला था ऐसा जवाब

रेखा, अमिताभ बच्चन और जया बच्चन फिल्म सिलसिला के एक सीन में (फोटो सोर्स- इंस्टाग्राम रेखा फैनपेज)बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्रियों में शुमार रेखा को भला कौन नहीं जानता है। अपने 40 साल के लंबे फिल्मी करियर में लगभग 180 से अधिक फिल्मों में काम कर चुकीं रेखा और अमिताभ बच्चन के संबंधों को लेकर सिनेमा के गलियारों में काफी कुछ कहा जाता है। हालांकि अमिताभ ने कभी खुलकर इसपर कोई बात नहीं की और न ही जवाब दिया, लेकिन रेखा तमाम मौकों पर बोलती आई हैं।

आर्यन खान ड्रग्स केसः आरोपों के बीच एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पहुंचे दिल्ली - BBC Hindi क्रिकेटर शमी के खिलाफ अपशब्दों को हटाने के लिए कदम उठाए गए हैं: फेसबुक क्रूज पर जाने से पहले गोसावी ने भेजी थी तस्वीरें, कहा था नजर रखना : NCB के गवाह नंबर-1 ने NDTV से कहा

ऐसा ही एक मौका आया था सिमी ग्रेवाल के चर्चित टॉक शो ‘रेन्जेव्यू विद सिमी ग्रेवाल’ में, जहां रेखा से बिग बी को लेकर कई सवाल किये गए थे। बातचीत के दौरान रेखा ने अपने पिता जेमिनी गणेशन से लेकर पति मुकेश अग्रवाल से शादी और सुसाइड और अमिताभ संगरिलेशनशिप पर खुलकर बात की थी।

सिमी ने रेखा से पूछा था, क्या वह कभी अमिताभ बच्चन से प्यार करती थीं?तो रेखा ने कहा था- ‘बिल्कुल… यह भी कोई सवाल है…। मुझे अभी तक एक भी ऐसा पुरुष, महिला या बच्चा नहीं मिला है जो इसमें मेरी मदद कर सकता है, जो उन्हें पसंद न करता हो… तो मुझे इससे अलग क्यों किया जाना चाहिए? मैं क्या इंकार करती हूं? मुझे उनसे प्यार नहीं है? बिल्कुल है…।’ headtopics.com

बातचीत को आगे बढ़ाते हुए रेखा ने कहा था कि उन्होंने अमिताभ बच्चन के साथ कभी कोई व्यक्तिगत संबंध नहीं रखा। दोनों ने कोई निजी रिश्ता भी साझा भी नहीं किया था… यही सच है। रेखा ने तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए आगे कहा था कि- ‘ तमाम अफवाहों और अटकलों में कोई सच्चाई नहीं है’।

‘जया से नहीं हुई कोई अनबन’:रेखा ने कहा था कि तथाकथित अटकलों के कारण उनकी कभी भी जया बच्चन से कोई अनबन नहीं हुई। वो एक समझदार और परिपक्व महिला हैं.रेखा ने कहा थाकि हम एक ही बिल्डिंग में रहे थे और हमारा रिश्ता मजबूत था। वह मेरी ‘दीदी भाई’ थीं और अब भी हैं, चाहे कुछ भी हो जाए, उन्हें मुझसे कोई भी छीन नहीं सकता है। भगवान का शुक्र है कि उन्हें भी इसका एहसास है। हम जब भी मिलते हैं तो खूब बातचीत होती है। वह बहुत अच्छी महिला हैं।

रेखा से सवाल पूछना आसान था:बाद में ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए अपने साक्षात्कार में सिमी से जब यह पूछा गया कि रेखा ने अमिताभ के बारे में क्या कहा था? सिमी ने बताया था- ‘अमिताभ के बारे में उनसे सवाल पूछना आसान था। बहुत सारे लोग मुझसे अक्सर यह पूछते हैं कि मैंने उनसे यह राज कैसे खुलवाया था? मुझे खुद नहीं पता कि, मैंने क्या खास किया है! हालांकि मैं इसका विश्लेषण नहीं करना चाहती। मैंने सिर्फ अच्छे दोस्त के रूप में बातचीत की थी, जिसमें मैं और रेखा उस दौर की जिंदगी में जाकर सवालों के जवाब ढूंढ रहे थे।

और पढो: Jansatta »

वंदे मातरम्: 250 गोरखाओं के सामने 4000 पाक सैनिकों का सरेंडर, देखें सिलहट की शौर्यगाथा

हथियार हो या न हो, संख्या हो या न हो, हौसला तो है. कभी-कभी वीरता की कहानियां ही दुश्मन के दिलों में खौफ भरने के लिए काफी होती हैं. कभी-कभी रुतबा ही परिचय होता है. आज वंदे मातरम् के इस एपिसोड में 1971 के युद्ध की एक ऐसी ही कहानी बताएंगे, जब भारतीय सैनिकों ने संख्या में खुद से कहीं ज्यादा पाकिस्तानियों को शिकस्त दी थी. ये लड़ाई थी सिलहट की. ऐसा पहली हुआ था, जब भारतीय सेना ने एक ऑपरेशन में अपने सैनिकों को हैलीकॉप्टर के जरिए दुश्मन की जमीन में उतारा था. 1971 की ये पहली ऐसी लड़ाई थी जब पाकिस्तान के सरेंडर का नमूना देखने को मिला था. देखिए ये एपिसोड.

इस वजह से जया बच्चन को आ जाता है गुस्सा, परिवार रखता है खास ख्यालबॉलीवुड एक्ट्रेस जया बच्चन ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उन्होंने अपने फिल्मी करियर में कई हिट फिल्मों में काम किया और अवॉर्ड्स जीते। एक्ट्रेस अपने गु्स्से भरे वीडियोज को लेकर भी चर्चा में रहती हैं। लेकिन आप जानते हैं कि आखिर जया बच्चन को इतनी जल्दी गुस्सा क्यों आ जाता है।

काबुल एयरपोर्ट ब्लास्ट के तार भारत से जुड़े: 200 लोगों की जान लेने वाला फिदायीन 5 साल पहले दिल्ली में पकड़ा गया था, 12 आतंकी संगठनों से जुड़ा थातालिबान के कब्जे के बाद काबुल एयरपोर्ट पर 26 अगस्त को हुए फिदायीन हमले में करीब 200 लोगों की मौत हुई थी। इस मामले में अब नए-नए खुलासे हो रहे हैं। रविवार को जानकारी सामने आई कि ब्लास्ट करने वाले फिदायीन हमलावर को 5 साल पहले भारत से डिपोर्ट किया गया था। यह दावा इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (ISIS) से जुड़ी एक मैगजीन में किया गया है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक फिदायीन हमलावर का नाम अब्... | Kabul bomber was deported by India 5 yrs ago, काबुल एयरपोर्ट में हुए फिदायीन हमले में करीब 200 लोगों की मौत हुई थी। इस मामले में अब नए-नए खुलासे हो रहे हैं। रविवार को जानकारी सामने आई कि ब्लास्ट करने वाले फिदायीन हमलावर को 5 साल पहले भारत से डिपोर्ट किया गया था। PMOIndia दैनिक भास्कर के आजकल के न्यूज़ से यही लगता है इनको तालिबानियों से हड्डी मिल रही है भरपूर वफादारी पूरी शिद्दत से कर रहे है PMOIndia तेरा आफिस बिना ब्लास्ट के गिर जाए एक दिन। क्युकी पैसे किसी को देते नहीं हो नकली माल से बना होगा चोर भास्कर PMOIndia शिक्षक_ट्रांसफर_पोर्टल_चालू_करो ChouhanShivraj JM_Scindia Indersinghsjp माननीय शासक की जनप्रियता का आधार समदर्शिता होती है सिर्फ कुछ चहेतों को ट्रांसफर देने से सामान्य शिक्षकों की अनदेखी हुई है ट्रांसफर वंचितों के लिये पुनः पारदर्शिता से पोर्टल चालू करने की कृपा कीजिये

यूनिसेफ की तालिबान से अपील, अफगान लड़कियों को स्कूल से ना करें बेदखलतालिबान की ओर से स्कूल को फिर से खोलने की घोषणा में केवल लड़कों को ही स्कूल वापस जाने के निर्देश दिया गया है। यह कदम काबुल में सत्ता संभालने के बाद तालिबान द्वारा किए गए वादों के खिलाफ है। सांप को काटने से मना करने की अपील ही लगती है। यूनिसेफ वालों AC कमरे में बैठकर एक ट्वीट मारके बस फिर नाश्ता ड्रिंक पार्टी में व्यस्त हो जाओ।। और बहार बाहर तब आना जब भारत में विधवा विलाप करना हो।। जब हिन्दू सिख को खत्म कर रहे थे उनके धर्मस्थल खत्म कर रहे थे तो भी कर देते तो आज बात यहां तक ना पहुंचते पाकिस्तान में तो आज भी कर रहे हैं वही अपील कर दो या हिंदू सिख बौद्ध पारसी येजदी बलोच के लिए तुम्हारा दिल नहीं पसीजाता

आज का जीवन मंत्र: सार्वजनिक रूप से तीखी टिप्पणी करने से वाद-विवाद बढ़ सकता हैकहानी - एक बार आचार्य विनोबा भावे को योजना आयोग की बैठक में दिल्ली बुलाया गया। वहां बड़े-बड़े अधिकारी, विद्वान मौजूद थे और नेशनल प्लानिंग शब्द के साथ विचार-विमर्श हो रहा था। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta, motivational story of acharya vinoba bhave, prerak katha isnt that the strategy used since 8 yrs by 97%media/institutions/government ? यदि सार्वजनिक सेवा को दुरूस्त करना है तो सार्वजनिक टिप्पणी करना जरूरी है, आदमी कानून ,भगवान , लोकलाज की जगह आम राय से डरता है यदि कोई आपके साथ गलत कर दे तो सब तरफ बताओ

भूपेंद्र पटेल के चेहरे पर जब कांग्रेसी पार्षद ने फेंका था गिलास से पानी, पर नहीं खोया था आपा59 साल के पटेल पहले कडवा पाटीदार सीएम होने के अलावा अहमदाबाद शहर के पहले व्यक्ति भी हैं जिन्हें इस शीर्ष पद के लिए चुना गया है। उनसे पहले के 16 मुख्यमंत्री राज्य के अन्य हिस्सों से रहे हैं।

इस खिलाड़ी की वजह से कुंबले-कोहली में हुआ था विवाद, 'जंबो' को छोड़ना पड़ा था पदपूर्व दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले का नाम भारतीय क्रिकेट टीम के अगले कोच की रेस में आगे चल रहा है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) अनिल कुंबले के अलावा वीवीएस लक्ष्मण को टी20 विश्व कप के बाद रवि शास्त्री के कार्यकाल पूरा कर लेने पर मुख्य कोच पद के लिए आवेदन करने को कह सकता है. मैं मोदीजी का नाम प्रस्तावित करता हूं।