Covaccine, Who, Whoasks For Technical İnformation From Bharat Biotech, Will Get Screwed İf Indians Go Abroad

Covaccine, Who

कोवैक्सिन की मंजूरी में और देरी होगी: WHO ने भारत बायोटेक से मांगी तकनीकी जानकारियां, भारतीयों के विदेश जाने पर फंसेगा पेंच

कोवैक्सिन की मंजूरी में और देरी होगी: WHO ने भारत बायोटेक से मांगी तकनीकी जानकारियां, भारतीयों के विदेश जाने पर फंसेगा पेंच #Covaccine #WHO

27-09-2021 19:40:00

कोवैक्सिन की मंजूरी में और देरी होगी: WHO ने भारत बायोटेक से मांगी तकनीकी जानकारियां, भारतीयों के विदेश जाने पर फंसेगा पेंच Covaccine WHO

कोरोना की स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिलने में और देर हो सकती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने भारत बायोटेक से कुछ और तकनीकी जानकारियों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। ऐसे में विदेश जाने वाले लोगों खासकर स्टूडेंट्स (जिन्होंने कोवैक्सिन ली है) को और इंतजार करना पड़ सकता है। | WHO asks for technical information from Bharat Biotech, will get screwed if Indians go abroad

कोवैक्सिन की मंजूरी में और देरी होगी:WHO ने भारत बायोटेक से मांगी तकनीकी जानकारियां, भारतीयों के विदेश जाने पर फंसेगा पेंचजेनेवाएक घंटा पहलेकॉपी लिंककोरोना की स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिलने में और देर हो सकती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत बायोटेक से कुछ और तकनीकी जानकारियों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। ऐसे में विदेश जाने वाले लोगों खासकर स्टूडेंट्स (जिन्होंने कोवैक्सिन ली है) को और इंतजार करना पड़ सकता है।

PM उज्जवला योजना पर महंगाई की मार? कबाड़ में बिक रहे हैं सिलेंडर, लोग दोबारा नहीं भरवा रहे गैस 10 तक: हत्यारों ने दी महिला को दर्दनाक मौत, जमवारामगढ़ हत्याकांड को लेकर गेहलोत सरकार घिरी मुझे फंसाने के लिए वॉट्सऐप चैट की गलत व्याख्या कर रही है NCB : आर्यन खान ने कोर्ट में कहा

NDTV ने सूत्रों के हवाले से बताया कि WHO ने भारतीय कंपनी भारत बायोटेक से कोवैक्सिन से कुछ तकनीकी जानकारियां मांगी हैं। भारत बायोटेक इमरजेंसी यूज ऑथराइजेशन (EUA) के लिए WHO को पहले ही वैक्सीन से जुड़े सभी डेटा मुहैया करा चुकी है। बता दें कि EUA के बिना कोवैक्सिन को दुनिया भर के अधिकांश देशों द्वारा स्वीकृत वैक्सीन नहीं माना जाएगा।

हाल ही में केंद्र सरकार ने कहा था कि WHO कोवैक्सिन को जल्द ही कभी भी अपनी मंजूरी दे सकता है। न्यूज एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय में केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. भारती प्रवीण पवार ने पिछले शुक्रवार को कहा था, 'मंजूरी के लिए दस्तावेज जमा करने की एक प्रक्रिया है। कोवैक्सिन को WHO की आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी जल्द ही मिल जाएगी।' इससे पहले नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप के डॉ वी के पॉल ने भी कहा था कि कोवैक्सिन के लिए WHO की मंजूरी इस महीने के अंत से पहले मिलने की संभावना है। headtopics.com

ब्रिटेन ने भी कोवीशील्ड को लेकर फंसा रखा है पेंचइससे पहले ब्रिटेन ने भी कोवीशील्ड को मान्यता तो दे दी, लेकिन भारतीयों के लिए कुछ शर्तें जोड़ दीं। इस पर भारत ने नाराजगी भी जताई। नए नियमों के मुताबिक, कोवीशील्ड वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके भारतीयों को ब्रिटेन पहुंचने पर अब भी 10 दिन क्वारैंटाइन रहना पड़ेगा और टेस्ट भी कराने पड़ेंगे।

भारतीय नागरिकों ने ब्रिटेन के इस निर्णय को नस्लीय बताया है। NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन का कहना है कि उन्हें कोवीशील्ड लगवाने वालों से कोई परेशानी नहीं है। वे भारत के वैक्सीन सर्टिफिकेट पर भरोसा नहीं कर सकते हैं।क्या है ब्रिटेन का नया कोरोना ट्रैवल नियम?

ब्रिटेन सरकार ने 18 सितंबर को नियम जारी किया था कि अगर आप अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका में या संयुक्त अरब अमीरात, भारत, तुर्की, जॉर्डन, थाईलैंड और रूस में वैक्सीनेट हुए हैं, तो आपको ब्रिटेन में अनवैक्सीनेटेड माना जाएगा और ब्रिटेन पहुंचने पर 10 दिन क्वारैंटाइन होना होगा और टेस्ट कराने होंगे।

कोवैक्सिन का भी थर्ड फेज का ट्रायल पूरादूसरी तरफ भारत बायोटेक भी बच्चों पर कोवैक्सिन का तीसरे फेज का ट्रायल पूरा कर चुकी है। कंपनी ने कहा है कि वह अगले हफ्ते थर्ड फेज के डेटा DGCI को सौंप देगी। अभी थर्ड फेज के डेटा का एनालिसिस किया जा रहा है। वहीं सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया भी 2 से 12 साल की उम्र के बच्चों पर कोवावैक्स का दूसरे-तीसरे फेज का ट्रायल कर रही है। headtopics.com

फेसबुक ने BJP सांसद से जुड़े फर्जी अकाउंट नहीं किए ब्लॉक : व्हिसलब्लोअर Bihar: कांग्रेस में शामिल होने के बाद पहली बार गृहराज्‍य पहुंचे कन्‍हैया,दो सीटों पर उपचुनाव में करेंगे प्रचार गुरुग्राम : नमाज पढ़ रहे लोगों के सामने भीड़ ने लगाए 'जय श्रीराम' के नारे, पहले भी हो चुका है जगह पर विवाद और पढो: Dainik Bhaskar »

भारत-पाकिस्तान के महामुकाबले में कौन मारेगा बाजी? देखें हरभजन सिंह और शोएब अख्तर की खास बातचीत

टी-20 वर्ल्ड कप से पहले आज तक के खास कार्यक्रम 'सलाम क्रिकेट' के 'किसमें कितना है दम' सत्र में शोएब अख्तर और हरभजन सिंह ने शिरकत की. इस दौरान हरभजन सिंह ने इंडिया और पाकिस्तान के मैच पर कहा- दिक्कत तब होती है जब कोई खिलाड़ी भारत के खिलाफ गलत बात करता है, हमारे झंडे की बदमानी करते है. हरभजन ने भारतीय क्रिकेट टीम में हुए बदलाव की तारीफ की. तो हरभजन का मानना है कि पाकिस्तान क्रिकेट का स्तर पिछले 10-12 साल में काफी नीचे गया है. तो चुटकी लेते हुए शोएब ने कहा- हम अपना गुस्सा न्यूजीलैंड पर उतारेंगे, उन्हें नहीं -छोड़ेंगे. देखें वीडियो.

तस्वीरों में देखिए, पानीपत में किसान महापंचायत: रात में ही जुटने लगे थे किसान; प्रदर्शनकारियों को परोसा गया खाना और लड्‌डू, राकेश टिकैत और गुरनाम चढ़ूनी ने किया संबोधितहरियाणा के पानीपत जिले में रविवार को जिला स्तरीय किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। इसमें भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत मुख्य अतिथि थे। किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी और संयुक्त किसान मोर्चा के अभिमन्यु कुहाड़, रवि आजाद, मंजीत सिंह समेत अन्य किसान नेता भी शामिल हुए। | हरियाणा के पानीपत जिले में रविवार को जिला स्तरीय किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। इसमें भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत मुख्य अतिथि थे। RakeshTikaitBKU PMOIndia mlkhattar किसान नही टिकैत के चम्मचे हैं। मैं भी तो एक हरियाणा का किसान हुं।ये सब विपक्ष और टिकैत की सोची समझी राजनीति हैं।इनका सिर्फ एक ही काम हैं। सरकार को बदनाम करना।और देश को बदनाम करना।इनको किसानों से कोई मतलब नही है।बस इनकी राजनीति रोटियां सिकनी चाहिए।

रेड अलर्ट- अमेरिकी और चीनी हैकर्स के निशाने पर भारत और भारतीय; सुरक्षा, डाटा और पैसा खतरे मेंचीन और अमेरिका समेत कई बड़े देश भारत की अभेद्य साइबर सुरक्षा चक्र को भेदने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। इससे भारत की सुरक्षा लोगों-सरकार का डाटा और पैसा खतरे में है। कई रिपोर्ट्स सरकारी और विभिन्न एजेंसियों से संबद्ध साइबर एक्सपर्ट्स इस बात की पुष्टि करते हैं।

राजस्थान और हैदराबाद के इन खिलाड़ियों को लीजिए फैंटेसी टीम मेंराजस्थान रॉयल्स के लिए अगर प्लेऑफ में जगह बनाना है तो सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीतना काफी जरूरी हो जाता है क्योंकि बाकी टीमें आगे के मुकाबले में काफी मजबूत रहेगी।

नोएडा में किसानों और पुलिस के बीच हुई झड़प, तोड़े गए बैरिकेड!नोएडा में किसानों के साथ पुलिस की झड़प हो गई है। आंदोलनकारियों ने पुलिस बैरिकेड्स तोड़ दिए हैं और नोएडा प्राधिकरण के ऑफिस में घुस गए।

यूपी कैबिनेट का जातीय समीकरण: दलित वोटों में सेंध लगाने और पिछड़ों को पाले में लाने की कवायद, इसलिए 3 दलित चेहरे और 3 OBC, जितिन इकलौते ब्राह्मणउत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से 5 महीने पहले हो रहे मंत्रिमंडल विस्तार का इकलौता लक्ष्य जातिगत संतुलन है। ये मंत्री अपने इलाके में ठीक से पैर जमा पाएं, इससे पहले ही राज्य में चुनाव आचार संहिता लग जाएगी। योगी सरकार ने आनन-फानन में जिस तरह से मंत्रिमंडल विस्तार का फैसला लिया है, उसके पीछे कहीं न कहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन के जरिए जाटों की नाराजगी भी अहम वजह है। | UP Cabinet Minister Probable Minister List । Why BJP MLA Take Oath As Minister, दलित वोटों में सेंध लगाने और पिछड़ों को पाले में लाने की कवायद, इसलिए 3 दलित चेहरे और 3 ओबीसी...ब्राह्मण इकलौते जितिन myogiadityanath BJP4UP yadavakhilesh Mayawati Indian media has too long to is its lowest to the lowest level today in India under Narinder Modi administration. democracy is No more in our country,So,Stop being Hippocrates. myogiadityanath BJP4UP yadavakhilesh Mayawati आज UP सरकार में बड़ा फेरबदल:विधानसभा चुनाव से पहले योगी कैबिनेट का विस्तार, शाम साढ़े 5 बजे 7 मंत्री लेंगे शपथ; एक ब्राह्मण चेहरा बाकी 6 पिछड़े और दलित​​​​​​​ UPElections2022 UPCabinet myogiadityanath BJP4UP myogiadityanath BJP4UP yadavakhilesh Mayawati लेकिन विपक्ष कारण पंडित ने फिर बाजी मारी एक कैबिनेट सौ राज्यमंत्री पर भारी..

आंध्र प्रदेश और ओडिसा के तट से टकराया Cyclone Gulab, राहत में जुटी NDRF की टीमेंचक्रवात गुलाब ने दस्तक दे दी है. चक्रवात गुलाब आंध्र प्रदेश और ओडिसा के तट से टकरा चुका है. जिसकी वजह से काफी नुकसान की खबरें सामने आ रही हैं. तटीय इलाको में कई पेड़ उखड़ गए हैं और कई मकान को नुकसान पहुंचा है. राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (एनडीआरएफ) की कई टीमें राहत बचाव कार्य में जुटी हुई है. फिलहाल जानमाल के नुकसान की खबरें नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी से चक्रवात गुलाब के मद्देनजर बातचीत की है. और केंद्र के समर्थन का आश्वासन दिया है. देखें वीडियो.