Cowin, Narendramodi, Coronavaccination, 100 Crorevaccinations, Cowın, Cowın App, Cowın Registration, Cowın Eligibility, Cowın Certificate Download, Cowın News, Covid Vaccine Intelligence Work, Cowin App Registration, Covid Vaccine Certificate, Co-Wın Vaccinator App

Cowin, Narendramodi

कोविन का गुणगान: पीएम बोले- दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन Co-WIN से आसान हुआ, घर से निकलें तो मास्क जरूर पहनें

कोविन का गुणगान: पीएम बोले- दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन Co-WIN से आसान हुआ, घर से निकलें तो मास्क जरूर पहनें #CoWin #NarendraModi @PMOIndia #coronavaccination #100CroreVaccinations

22-10-2021 11:38:00

कोविन का गुणगान: पीएम बोले- दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन Co-WIN से आसान हुआ, घर से निकलें तो मास्क जरूर पहनें CoWin NarendraModi PMOIndia coronavaccination 100CroreVaccinations

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज पूरे होने को बड़ी उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा जब महामारी तेजी से फैल रही थी तब हमारे सामने वैक्सीनेशन बड़ी चुनौती था। इस मुश्किल काम को हमने डिजिटल प्लेटफॉर्म कोविन (Co-WIN) की मदद से आसान से कर लिया। उन्होंने ये भी कहा कि जैसे हमें घर से बाहर निकलते समय जूते पहनने की आदत है, उसी तरह मास्क पहनने की आदत भी बना लीजिए। | PM Narendra Modi Praising Co-WIN Vaccinator APP, Said it Made Vaccination Easy; Registration Process, Certificate Download; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज पूरे होने को बड़ी उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा जब महामारी तेजी से फैल रही थी तब हमारे सामने वैक्सीनेशन बड़ी चुनौती था।

कोविन का गुणगान:पीएम बोले- दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन Co-WIN से आसान हुआ, घर से निकलें तो मास्क जरूर पहनेंनई दिल्ली4 घंटे पहलेकॉपी लिंकप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज पूरे होने को बड़ी उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा जब महामारी तेजी से फैल रही थी तब हमारे सामने वैक्सीनेशन बड़ी चुनौती था। इस मुश्किल काम को हमने डिजिटल प्लेटफॉर्म कोविन (Co-WIN) की मदद से आसान से कर लिया। उन्होंने ये भी कहा कि जैसे हमें घर से बाहर निकलते समय जूते पहनने की आदत है, उसी तरह मास्क पहनने की आदत भी बना लीजिए।

बिहार में मृत व्यक्ति ने जीता पंचायत चुनाव - BBC Hindi जम्मू और कश्मीर का विशेष दर्जा वापस दिलाने के लिए अंतिम सांस तक लड़ूंगा: उमर अब्दुल्लाह - BBC Hindi चीन और उत्तर कोरिया पर बोलते हुए जापान के पीएम ने क्यों कही हमला करने की बात - BBC Hindi

139 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले भारत में वैक्सीनेशन का काम आसान नहीं था। बिना हड़बड़ी वैक्सीनेशन का काम आराम से हो सके, इसके लिए एक प्रॉपर चैनल जरूरी था। इस चैनल का काम किया कोविन (Co-WIN) ने बखूबी किया है। कोविड-19 महामारी से लड़ने वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू हुआ था, उसके 21 अक्टूबर को 100 करोड़ डोज पूरे हो गए। करीब 31% आबादी को दोनों डोज लग चुके हैं।

कोविन प्लेटफॉर्म की मदद से ही 100 करोड़ डोज का सफर आसानी और तेजी से पूरा हो पाया है। इस प्लेटफॉर्म को ऐसे डिजाइन किया गया कि लोग आसानी से अपना रजिस्ट्रेशन करा सकें। सरकार ने इसका ऐप भी बनाया। इसे एंड्रॉयड और आईओएस दोनों प्लेटफॉर्म पर इस्तेमाल कर सकते हैं। कोविन प्लेटफॉर्म सिस्टमैटिक है। ये ऐसा सिंगल प्लेटफॉर्म है जहां से रजिस्ट्रेशन, वैक्सीनेशन और सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं। headtopics.com

कोविन प्लेटफॉर्म क्या है और ये कैसे काम करता है?इस डिजिटल प्लेटफॉर्म को नेशनल हेल्थ पोर्टल (NHP) ने डिजाइन किया है। कोविड महामारी से जीतने के लिए ही इसे Co-WIN का नाम दिया गया। इसमें Co का मलतब कोविड और WIN का मतलब जीत है। आप वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, तब कोविन प्लेटफॉर्म पर जाना होगा। आप इसका ऐप भी इन्स्टॉल कर सकते हैं, या फिर selfregistration.cowin.gov.in पर जा सकते हैं। यहां अपने मोबाइल नंबर से आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। यदि मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन में प्रॉब्लम आ रही है तब आधार कार्ड से रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। आप सिंगल लॉग इन से सभी फैमिली मेंबर्स का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन की प्रोसेससबसे पहले कोविन ऐप या वेबसाइट पर जाएं। अपना मोबाइल नंबर डालें। OTP आएगा इसे डालकर लॉग इन करें।अब आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पेन कार्ड, पासपोर्ट, पेंशन पासबुक, NPR स्मार्ट कार्ड, वोटर ID, यूनीक डिसएबिलिटी ID या राशन कार्ड में से कोई एक फोटो ID प्रूफ को चुनें।

अपने द्वारा चुनी गई ID का नंबर, नाम डालें। इसके बाद जेंडर और डेट ऑफ बर्थ को चुनें।मेंबर एड होने के बाद आप अपने निकटतम एरिया का पिन कोड डालें। वैक्सीनेशन सेंटर की लिस्ट आ जाएगी।अब वैक्सीनेशन की डेट, टाइम और वैक्सीन को सिलेक्ट करें। सेंटर पर जाकर वैक्सीनेशन कराएं।

वैक्सीनेशन सेंटर पर आपको रिफरेंस ID और सीक्रेट कोड की जानकारी देना होगी। जो आपको रजिस्ट्रेशन करने पर मिलती है।इसी तरह आप अपने लॉग इन से दूसरे मेंबर को जोड़कर उनके वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।कोविन प्लेटफॉर्म के खास फीचर्सइस प्लेटफॉर्म से आप वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। साथ ही, अपने वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट भी डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए सिर्फ आपको इस प्लेटफॉर्म पर लॉग इन करना है। यदि आप विदेश जा रहे हैं तब इसके लिए यहां से इंटरनेशनल ट्रैवल सर्टिफिकेट भी डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें... headtopics.com

बागपत में बोले अनुराग ठाकुर – अखिलेश भाई, तुम दंगे करवाते हो, हम दंगल कराते हैं - BBC Hindi बीजेपी के मंत्रियों, नेताओं ने ये तस्वीर पोस्ट की और मच गया सोशल मीडिया पर हंगामा? - BBC News हिंदी कर्नाटक विदेश यात्रियों की गहन जांच करेगा, कोविड वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर कई कदमों का ऐलान

कोविन प्लेटफॉर्म पर लॉग इन करने के बाद International Travel Certificate पर जाएं।अब अपने डेट ऑफ बर्थ और पासपोर्ट नंबर की डिटेल देकर रिक्वेस्ट को सबमिट कर दें।आपके फोन पर सर्टिफिकेट की लिंक आ जाएगी, जहां इसे इसे डाउनलोड कर पाएंगे।कोविन प्लेटफॉर्म को सरकार ने की अलग-अलग प्लेटफॉर्म से जोड़ा है। इसे आरोग्य सेतु और उमंग ऐप से जोड़ा गया है। यानी आप इन दोनों ऐप की मदद से भी वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके साथ वॉट्सऐप की मदद से भी वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। ये सभी प्लेटफॉर्म यूजर को कोविन पर लेकर आते हैं।

देश के बाहर भी कोविन ऐप की डिमांडदुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन भारत में हो रहा है। कोविन प्लेटफॉर्म का ही कमाल है कि ये वैक्सीनशन बिना किसी अफरा-तफरी के तेजी से हो रहा है। ऐसे में अब कोविन ऐप की डिमांड अब दूसरे देशों से भी आ रही है। भारत इस ऐप को ओपन सोर्स प्लेटफॉर्म के रूप में तैयार कर रहा है, ताकि सभी देश इसके सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर सकें। कोविन ऐप के चीफ आरएस शर्मा ने के मुताबिक, दुनिया के 76 देशों ने इसमें दिलचस्पी जताई है। इनमें कनाडा, मैक्सिको, नाइजीरिया, पनामा, वियतनाम और यूगांडा जैसे देश शामिल हैं।

और पढो: Dainik Bhaskar »

UP Elections में Owaisi किसका बनाएंगे और किसका बिगाड़ेंगे खेल? देखें

अरबी मूल की एक पुरानी कहानी है लैला मजनू. सदियों पुरानी ये कहानी उत्तर प्रदेश में लखनऊ की लड़ाई में बहुत चर्चा में आई है. जहां खुद की तुलना लैला से करते हैं हैदराबाद की पार्टी के मुखिया असुद्दीन ओवैसी. पिछले नौ महीने में कम से कम बारह बार ओवैसी खुद को लखनऊ जीतने की लड़ाई में लैला बोल चुके हैं. जिसके मजनू वो बीजेपी, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस को कहते हैं. क्या वाकई ओवैसी उत्तर प्रदेश की राजनीतिक दुनिया की वो लैला हैं, जिसका साथ किसी भी पार्टी में मुस्लिमों की मोहब्बत का वोट लुटवा सकता है? क्या ना... ना करके भी अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ ओवैसी से कोई रिश्ता आगे पनप सकता है? देखिए ये एपिसोड.

PMOIndia स्वयं भी बाहर निकले तो मास्क जरूर पहने। अपना नारा 'दो गज दूरी मास्क है जरूरी' न भूले,शायद बुढ़ापे का असर है शायद इसलिए भूल जाते है। PMOIndia Pm किसी का गुणगान नहीं करते तारीफ करते हैं सब्दों का चयन ठीक नहीं लगा PMOIndia सभी जगह घुमकर बतलाओ कि अगले सरकार मैं सरसों तेल 300₹ किलो , चीनी 100₹ पैट्रोल 150₹ लीटर, डीजल 144₹ ली होगा,

PMOIndia मिया फ़क़ीर जब पूरा देश मे मरीज़ों और उनके रिश्तेदारों इस्पताल में bed से लेकर ऑक्सिजन ढूंढ रहे थे तब वो डरपोक बेफिक्र बनकर खुद को बचाने झोला लेकर अंडरग्राउंड हो गया था खुद को सुरक्षित रखने और अब बिल से बाहर निकलकर नाचने लगा☺️😊☺️😊 उसके लिए 'Me First'

'मुफ्त वैक्सीनेशन' पर हुई डिबेट में कांग्रेस नेता से भिड़ गए अवनिजेश अवस्थी, कही ये बात'मुफ्त वैक्सीनेशन' पर हुई डिबेट में कांग्रेस नेता से भिड़ गए राजनीतिक विश्लेषक अवनिजेश अवस्थी, प्रियंका गांधी पर उठाए सवाल Debate PriyankaGandhi

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से मरने वालों की संख्या 47 हुई, नैनीताल से संपर्क बहालउत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में मरने वालों की संख्या 40 से अधिक हो गई है. भारी बारिश से कई मकान ढह गए. कई लोग अब भी मलबे में फंसे हुए हैं. सड़कों, पुलों और रेल पटरियों को नुकसान पहुंचा हैं. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य भर में भारी क्षति हुई है. सामान्य स्थिति में लौटने में समय लगेगा. धामी ने राहत प्रयासों के लिए प्रत्येक ज़िलाधिकारियों को 10-10 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं.

उत्तराखंड के बाद बंगाल से सिक्किम तक बारिश से तबाही, दार्जिलिंग में लैंडस्लाइडबंगाल के जलपाईगुड़ी और दार्जिलिंग के पड़ाही इलाकों पर पिछले 45 घंटे से लगातार हो रही बारिश के चलते कई जगहों पर लैंडस्लाइड की घटनाएं सामने आई हैं. महानदी में एनएच 55 पर भूस्खलन हुआ है. सुकना तक सड़क जाम हो गई है. कुरस्योंग में लैंडस्लाइड के चलते एक घर को भी नुकसान पहुंचा है. बताया जा रहा है कि घटना के वक्त घर पर कोई मौजूद नहीं था.

भारत से मैच से पहले अपनों के ही निशाने पर आई पाकिस्तानी टीम - BBC News हिंदीटी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के आग़ाज़ से वहाँ के प्रशंसक काफ़ी नाराज़ हैं. लोग जमकर अपनी ही टीम पर तंज़ कस रहे हैं. 2014 में जितना सामान 100 रुपये में मिलता था उतने ही सामान के 2021 में 200 रुपये ख़र्च करने पड़ते हैं. Pakistan मे सारे पोंके है 😁 westindies ke sath jeeta tha pakistan

आज का जीवन मंत्र: भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैंकहानी - महात्मा गांधी जी चंपारण के एक गांव में सेवा कार्य कर रहे थे। उसी समय वहां से जुलूस निकल रहा था। गांधी जी को उत्सुकता जागी कि चंपारण में कुछ तो अलग होता है, मैं भी जाकर देखूं कि यहां कैसा जुलूस निकल रहा है। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta, story of mahatma gandhi, prerak katha GodiMedia se bhi prassan hotey hain bhagwaan Jo sacche aur acche ho.un ke sath kabi bura nhi hota 😇😇 बलि बलपूर्वक नहीं होनी चाहिए

कुशीनगर: जहां भगवान बुद्ध का बीता आखिरी समय, पढ़िए उस शहर से जुड़ी 10 रोचक बातेंकुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट करीब 260 करोड़ रुपये की लागत से 589 एकड़ भूभाग में बना है। यह उत्तर प्रदेश का तीसरा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा है और बौद्ध धर्मस्थल को दुनिया भर से जोड़ने के मकसद से इसका निर्माण किया गया है।