कोरोना वायरस: पैकेज के 15 हज़ार करोड़ कहां होंगे ख़र्च

कोरोना वायरस: पैकेज के 15 हज़ार करोड़ कहां होंगे ख़र्च

26.3.2020

कोरोना वायरस: पैकेज के 15 हज़ार करोड़ कहां होंगे ख़र्च

पीएम मोदी ने स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए 15 हज़ार करोड़ का पैकेज देने की घोषणा की थी.

ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे शेयर पैनल को बंद करें इमेज कॉपीरइट Getty Images कोरोना वायरस के ख़तरे से निपटने के लिए भारत सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं पर ज़ोर दे रही है. मंगलवार रात को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में इस संबंध में महत्वपूर्ण घोषणा भी की. प्रधानमंत्री ने कहा,"कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए, देश के स्वास्थ्य संबंधी आधारभूत ढांचे को मज़बूत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने 15 हज़ार करोड़ रुपये का प्रावधान किया है." पीएम मोदी ने बताया कि इस पैकेज के इस्तेमाल से कोरोना वायरस से जुड़ी टेस्टिंग सुविधाएं, पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट्स, आइसोलेशन बेड्स, आईसीयू बेड्स, वेंटिलेटर्स और अन्य ज़रूरी साधनों की संख्या बढ़ाई जाएगी. साथ ही मेडिकल और पैरामेडिकल ट्रेनिंग का काम भी किया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों से अनुरोध किया गया है कि राज्यों में केवल स्वास्थ्य सुविधाएं ही प्राथमिकता होंगी. इमेज कॉपीरइट Getty Images कोरोना वायरस से भारत में मौतों का आंकड़ा 13 हो चुका है. वहीं, इससे संक्रमित हुए कुल लोगों की संख्या 649 हो गई है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले कई देशों के मुक़ाबले कम हैं. लेकिन, भारत की एक अरब से भी ज़्यादा आबादी को देखते हुए पहले से ही एहतियात बरती जा रही है. यहां डर है कि अगर वायरस कम्युनिटी स्तर पर फैलता है तो किसी भी अन्य देश की तुलना में भारत में ज़्यादा बुरे हालात हो सकते हैं. ऐसी ही स्थिति से निपटने की तैयारी के लिए सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए पैकेज दिया है. लेकिन, इस पैकेज के इस्तेमाल से आने वाले दिनों में कितना फ़ायदा हो सकता है. टेस्टिंग किट की आपूर्ति भारत में सवाल उठते रहे हैं कि यहां पर कोरना वायरस के मरीज़ों की टेस्टिंग कम हो रही है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कहा है कि भारत में और ज़्यादा टेस्टिंग किए जाने की ज़रूरत है. हालांकि, इस बात से इनकार करते हुए आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल बलराम भार्गव कह चुके हैं कि देश में पर्याप्त टेस्टिंग हो रही है और भारत हर दिन 10 हज़ार टेस्ट करने में सक्षम है. आईसीएमआर के मुताबिक़ बुधवार रात तक 24254 लोगों की जांच हो चुकी है. इमेज कॉपीरइट Reuters सरकार भले ही कम टेस्टिंग की बात से इनकार करती रही है लेकिन टेस्टिंग की सुविधा बढ़ाई जा रही है और इस पर ख़र्च हो रहा है. टेस्टिंग किट और लैब्स बढ़ाना सरकार की प्राथमिकताओं में से एक बन गया है. जहां शुरुआती दौर में सिर्फ़़ सरकारी लैब में कोविड19 की टेस्टिंग हो रही थी वहीं अब निजी लैब को भी इसकी अनुमति दे दी गई है. आईसीएमआर के डॉ. रमन ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में बताया था कि टेस्टिंग के लिए 22 लैब चेन को मंज़ूरी दी गई है. इन लैब्स के देशभर में कुल साढ़े 15 हज़़ार कलेक्शन सेंटर हैं. इसी के तहत हाल ही में तीन कंपनियों को टेस्टिंग किट की आपूर्ति के लिए भी चुना गया है. इनमें से दो कंपनियां विदेशी एक कंपनी भारतीय है. पुणे स्थित मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड को टेस्टिंग किट्स बनाने के लिए चुना गया है. घट सकता है टेस्टिंग का समय इस क़दम से कितनी मदद मिलेगी इसके बारे में मायलैब के मैनेजिंग डायरेक्टर हंसमुख रावल कहते हैं,"मौजूदा टेस्टिंग के तरीक़े में एक स्क्रीनिंग टेस्ट और एक कंर्फमेशन टेस्ट होता है. दोनों टेस्ट में जब पहली बार सैंपल आता है तो साढ़े सात घंटे लग जाते हैं. इन साढ़े सात घंटों में ही आप मरीज को बता पाओगे कि वो कोरोना वायरस से संक्रमित है या नहीं. लेकिन, हमारी टेस्ट किट में आप ढाई घंटे के अंदर ही मरीज को नतीजा बता सकते हो." उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बड़े स्तर पर जांच बहुत ज़़रूरी है. अगर किसी मरीज़ के लक्षण नहीं भी दिखेंगे तो भी हमारा टेस्ट उसे पकड़ पाएगा और इलाज जल्दी कर पाएंगे. इस तकनीक में लैब्स को किसी नए सॉफ्टवेयर की ज़रूरत नहीं होगी. उनके पास जो मौजूदा सेटअप है उसमें ही कर पाएंगे. भारत में क़रीब दो से ढाई हजार लैब हैं जो इस तरह के टेस्ट कर पाएंगे. इमेज कॉपीरइट SPL हंसमुख रावल ने बीबीसी को बताया,"हम फ़िलहाल एक सप्ताह में एक से डेढ़ लाख टेस्ट किट बना सकते हैं लेकिन इस समय हमारे पास इतनी क्षमता है कि हम इसे चार से पांच गुना बढ़ा सकते हैं. हमारी तैयारी पूरी है और हमें लगता है कि एक से डेढ़ हफ्ते में हम ज़रूरत का चार से पांच गुना उपलब्ध करा सकेंगे. हालांकि, मैं नहीं चाहूंगा कि ऐसा दिन आए. सरकार इसे रोकने के लिए सही क़दम उठा रही है." वहीं, डॉ. लाल पैथ लैब्स के मैनेजिंग डायरेक्टर अरविंद लाल कहते हैं कि अभी पूरी दुनिया में टेस्टिंग किट्स की शॉर्टेज है और बाहर से मंगाने में भी वक़्त लगेगा. भारत में किट बनाने वाली कंपनी अगर एक हफ्ते में एक लाख किट देगी भी तो ऑर्डर कर चुकीं लैब्स तक सैकड़ों या हज़ारों किट्स ही पहुंच पाएंगी. किट्स की आपूर्ति के चुनौतीपूर्ण काम होने वाला है. दरअसल, लॉकडाउन से प्रभावित हुई सप्लाई चेन को ठीक करने की ज़रूरत है ताकि सामान जल्दी बने और उसकी आपूर्ति हो सके. क्रिटकल केयर पर असर इंडियन सोसाइटी ऑफ़ क्रिटिकल केयर मेडिसिन (आईएससीसीएम) के मुताबिक़़ देश भर में तकरीबन 70 हज़ार आईसीयू बेड और 40 हज़ार वेंटिलेटर हैं. जिनमें से अधिकतर मेट्रो शहरों, मेडिकल कॉलेजों और प्राइवेट अस्पतालों में उपलब्ध हैं. इस संस्था का दावा है कि भारत में क्रिटिकल केयर में मरीज़ों के साथ मिल कर काम करने वाली ये इकलौती संस्था है. इमेज कॉपीरइट AFP स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़ भारत ने आपात स्थिति से निपटने के लिए तकरीबन 1200 और वेंटिलेटर मंगवाए हैं, जो जल्द ही टेस्ट के लिए उपलब्ध होंगे. मौजूदा समय की बात करें तो तो गंगाराम अस्पताल में क्रिटिकल केयर विभाग के चैयरमेन डॉ. बीके राव कहते हैं,"मामले बढ़ते हैं तो हमारे पास उपकरणों की कमी होगी. हमारे जितने भी वेंटिलेटर हैं उसमें 90 प्रतिशत से अधिक आयात होते हैं. इनकी आपूर्ति में कितना समय लगता है ये इस पर निर्भर करता है कि फ़िलहाल कितने वेंटिलेटर तैयार हैं और कितने निर्माण के लिए जाएंगे." डॉक्टर राव के मुताबिक़,"पूरे भारत में क़रीब 70 से 90 हजार आईसीयू बेड्स हैं. किसी भी अस्पताल में अन्य मरीज़ों के बावजूद भी 20 से 25 प्रतिशत की अतिरिक्त क्षमता बनी रहती है अगर देश में 80 हज़ार बेड हैं तो हम इसके एक चौथाई यानी 20 हज़ार बेड कोरोना वायरस के मरीज़ों के लिए रख सकते हैं." "अमूमन 10 से 20 प्रतिशत मरीज़ों को ही आईसीयू की ज़़रूरत होती है. इस तरह अगर मरीज़ों की संख्या एक लाख भी हो जाती है तो हम अन्य बीमारी के मरीज़ों के साथ गंभीर मरीज़ों को भी मौजूदा समय में संभाल सकते हैं. सरकार की तैयारी इससे ज़्यादा ख़राब स्थितियों के लिए है. अभी नए उपकरणों को मंगाने के लिए सरकार के पास काफ़ी समय है." आईसोलेशन बेड की स्थिति इमेज कॉपीरइट और पढो: BBC News Hindi

PM मोदी की अपील पर कांग्रेस का हमला, कोरोना से जंग पर उठाए कई सवाल



कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलियाई पीएम का चीन के मांस बाज़ार पर हमला

मौलाना साद का आलीशान फार्म हाउस: स्वीमिंग पूल और गाड़ियों का काफिला - trending clicks AajTak



कोरोना वायरस: किम जोंग-उन ने ऐसा क्या किया कि संक्रमण नहीं फैला

कोरोना वायरस: पिछले दो दिनों में तबलीग़ी जमात से जुड़े 647 नए मामले- ICMR - BBC Hindi



दिल्ली में कोरोना के 384 केस, 24 घंटे में 91 बढ़े, हालात चिंताजनक: अरविंद केजरीवाल

'रामायण' ने खड़ा कि‍या सवाल, क्या सास-बहू के नाटक देखना चाहते हैं इंडियन टेलीविजन दर्शक?



Anti India media wahi hoga jaha modi jee ne kharch kiye the pahle ane dijiye smy o v emergency money15.h. c r.ka v lupt uthayenge srkar av mahamari start huaa hai, lockdawn ke sath sath ghar tk ilaj v pahuchana chahiye nhi to ye 15h.c r koi kam ka nhi rhega corona se pahle spree ghar tk pahuche Bidhayek kharidega

अपना देश देखे BBC BJP ਕੇ ਚੁਨਾਵ ਫੰਂਡ ਮੇਂ पेशे से चिकित्सक sambitswaraj संबित पात्रा को हस्पताल में रहना चाहिए न कि टीवी के डिबेट शो में Lockdown21 coronavirusindia Ye jo log paidal apne apne ghar ja rahe hain kripya sarkar inki madad kare जहा भी हो तुम रंडियों के कोठे पे तो नही होगा इतना तय है ये मोदी सरकार है,ऐसे ही पैकजो के हिस्सेदारी से तुम रंडियों का कोठा बना और तुम लोग ऐश किये,अब सब सही जगह पहुचेगा

निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू, एक लाख 70 हजार करोड़ के आर्थिक पैकेज का एलानथोड़ी देर में बड़े आर्थिक पैकेज का एलान संभव, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी प्रेस कॉन्फ्रेंस coronavirus nsitharaman nsitharaman Good 🙏🙏 But nichle tbke tak ye aarthik package jb pahuche.. Tbhi yojna safal rahega 🙏🙏👍👍 Pls Stay home 👍👍 nsitharaman Her thinks should be attractive related for recent situation! समाज सेवक nsitharaman 1 rupya nahi milne wala Aam Aadmi ko

लॉकडाउन के बीच ग़रीबों के लिए आर्थिक पैकेज का ऐलानआर्थिक पैकेज के तहत पांच किलो गेहूं या चावल क़रीब 80 करोड़ लाभार्थियों को अगले तीन महीने तक दिया जाएगा. Tq mem nsitharamanoffc ianuragthakur commercial vehicles lone ka kya hoga.. अपराध के बजाय फौरन काम की जरूरत है कहीं फकत जुमला न साबित हो

Corona Virus Live Updates : 1 लाख 70 हजार करोड़ का आर्थिक पैकेजनई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। यह खतरनाक वायरस अब तक 21200 लोगों की जान ले चुका है। पीएम मोदी द्वारा भारत में किए गए 21 दिन के लॉकडाउन का आज दूसरा दिन है। लॉकडाउन से जुड़ी हर जानकारी...

डॉक्टर, नर्स, किसान, मजदूर, महिला और गरीबों के लिए राहत पैकेज, जानें किसको क्या मिलाडॉक्टर, नर्स, किसान, मजदूर, महिला और गरीबों के लिए राहत पैकेज, जानें किसको क्या मिला coronavirus lockusdown nsitharaman narendramodi PMOIndia nsitharaman narendramodi PMOIndia nsitharaman narendramodi PMOIndia nsitharaman All banks & Hosuing financial institutions shall declare that they will postpone the auto debit by ECS of all types of loans EMI & payment dates for 3 months without charging any penalty because peoples are not having jobs due to CORONA VIRUS.PMOIndia nsitharaman narendramodi PMOIndia मैडम मैने आज तक अपने 36 वर्ष की उम्र ओर 20 साल के करियर में कभी किसी सरकारी लाभ नहीं लिया पर इस वक़्त बेहद जरूरी महसूस हो रही सब तरफ़ से बंद है।

मोदी सरकार के कोरोना राहत पैकेज पर बोले राहुल गांधी- सही दिशा में पहला कदमLatest Hindi News ताज़ा हिन्दी समाचार, आज तक ख़बरें - india's Best News Channel, Aaj Tak Breaking News, Latest News Headlines and Breaking News ख़बरें, Hindi News Channel website, Today's Headlines, from India and World, Covering Business, Politics,Sports खेल, Entertainment, Bollywood News. Inko inki Nani Ji ke paas chor do Rahul Gandhi your welcome in bjp O to karna hi padega. 🙏

कोरोनावायरस: PM मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के बाद NPR और जनगणना का काम स्थगितगृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए एनपीआर और जनगणना का कार्य अगले आदेश तक के लिए रोक दिया गया है. Allah is best planner 👌👍 वो एक इंच पीछे नही हटेंगे का क्या हुआ! यही सही समय है कर डालो NPR



कोरोना वायरस: क्या इस वीडियो में दिख रहे लोग तबलीग़ी के थे?- फ़ैक्ट चेक

मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं!

लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता

5 मिनट के वीडियो में 5 संदेश, PM मोदी के मैसेज में छिपे हैं बड़े अर्थ

कोरोना के नाम पर अल्पसंख्यकों का नाम खराब करना दुर्भाग्यपूर्ण: अमेरिका

कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी

लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

27 मार्च 2020, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

G20 Virtual Summit: जी20 के नेताओं से बोले PM नरेंद्र मोदी, 'कोरोना से जंग में हम सबको मिलकर लड़ना होगा'

अगली खबर

कोरोना वायरस: पैंगोलिन में मिले कोविड-19 से मेल खाते वायरस
PM मोदी की अपील पर कांग्रेस का हमला, कोरोना से जंग पर उठाए कई सवाल कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलियाई पीएम का चीन के मांस बाज़ार पर हमला मौलाना साद का आलीशान फार्म हाउस: स्वीमिंग पूल और गाड़ियों का काफिला - trending clicks AajTak कोरोना वायरस: किम जोंग-उन ने ऐसा क्या किया कि संक्रमण नहीं फैला कोरोना वायरस: पिछले दो दिनों में तबलीग़ी जमात से जुड़े 647 नए मामले- ICMR - BBC Hindi दिल्ली में कोरोना के 384 केस, 24 घंटे में 91 बढ़े, हालात चिंताजनक: अरविंद केजरीवाल 'रामायण' ने खड़ा कि‍या सवाल, क्या सास-बहू के नाटक देखना चाहते हैं इंडियन टेलीविजन दर्शक? आज तक @aajtak कोरोना: यूपी में छोड़े जाएंगे 359 बाल कैदी, इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद होगी रिहाई कोरोना: पाकिस्तान ने 80 एकड़ जमीन पर क्यों बनाया नया कब्रिस्तान? - Coronavirus AajTak लॉकडाउन में फंसा तो 3 दिन में 400 km साइकिल चलाकर गांव पहुंचा ये शख्स Corona World LIVE: सिंगापुर में एक महीने के लॉकडाउन की घोषणा, स्पेन में लगातार दूसरे दिन 900 से अधिक मौतें
कोरोना वायरस: क्या इस वीडियो में दिख रहे लोग तबलीग़ी के थे?- फ़ैक्ट चेक मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं! लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता 5 मिनट के वीडियो में 5 संदेश, PM मोदी के मैसेज में छिपे हैं बड़े अर्थ कोरोना के नाम पर अल्पसंख्यकों का नाम खराब करना दुर्भाग्यपूर्ण: अमेरिका कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता दूसरी बार डोनाल्ड ट्रंप का कोरोना टेस्ट नेगेटिव, 15 मिनट में आया रिजल्ट आज तक @aajtak कोरोना पर देशवासियों से PM मोदी की अपील, 5 अप्रैल की रात 9 बजे आपके 9 मिनट चाहिए प्रधानमंत्री के वीडियो मैसेज पर शशि थरूर बोले- अभी प्रधान Showman को सुना, ये बस PM का 'फील गुड' मूमेंट था कोरोना वायरस: दुनिया में संक्रमित मरीज़ों की संख्या 10 लाख पार, 52 हज़ार की मौत - BBC Hindi