कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से

कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से

01-04-2020 10:24:00

कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से

सरकार का दावा है कि उसने कोरोना से निपटने के लिए सही समय पर क़दम उठाए लेकिन सवाल कई हैं, जिनके जवाब आने बाकी हैं.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटGetty Imagesपिछले दिनों 'मन की बात' में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की वजह से लोगों को हो रही परेशानी के लिए माफ़ी मांगी.उन्होंने कहा,"मैं सभी देशवासियों से दिल से माफ़ी मांगता हूं. मुझे लगता है कि आप मुझे माफ़ कर देंगे."

ट्रंप ने चीन को लेकर की दो बड़ी घोषणाएं, WHO से अमरीका को किया अलग सपा नेता अबू आजमी के खिलाफ दर्ज हुई FIR, लेडी पुलिस ऑफिसर से अभद्रता का आरोप अम्फान: तूफान प्रभावित लोगों की मदद को आगे आए शाहरुख खान

उन्होंने कहा,"चूंकि कुछ फ़ैसले लेने पड़े जिससे आपके सामने तमाम मुश्किलें आ पड़ी हैं. जब मेरे ग़रीब भाइयों और बहनों की बात आती है तो वे सोचते होंगे कि उन्हें कैसा पीएम मिला है, जिसने उन्हें मुश्किलों में झोंक दिया है. मैं दिल की गहराई से उनसे माफ़ी मांगता हूं."

क्या प्रधानमंत्री का माफ़ी मांगना काफ़ी है?माफ़ी के बावजूद कई ऐसे सवाल अब भी हैं, जिनके जवाब ज़रूरी हैं.सरकार प्रवासी मज़दूरों को लेकर इस क़दर बेपरवाह क्यों थी?बड़े शहरों से गाँव और कस्बों की ओर पलायन तभी शुरू हो गया था जब प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए 24 मार्च की रात 8 बजे पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया था.

लॉकडाउन के ऐलान में कहा गया कि यह रात 12 बजे से प्रभावी हो जाएगा.ऐसे में लोगों को खाने-पीने की चीज़ें और दवाएं लेने के लिए बमुश्किल कुछ घंटों का ही समय मिल पाया.प्रवासी मज़दूर काम ठप्प हो जाने और बुनियादी चीज़ें नहीं मिलने की दिक्क़तों से जूझ रहे थे. लेकिन पीएम के भाषण में कहीं भी इस बात का ज़िक्र नहीं था कि कंस्ट्रक्शन और असंगठित क्षेत्र के मज़दूर इससे कैसे निपटेंगे.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesकई मीडिया रिपोर्ट्स में ये बात सामने आई है कि भूख, बीमारी, ज़्यादा पैदल चलने की वजह से और सड़क हादसों में कई मज़दूरों की मौत हुई है. भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 35 लोगों की मौत हो चुकी है.यह नामुमकिन है कि सरकार के पास बड़े शहरों में मौजूद प्रवासी मज़दूरों की आबादी के बारे में आँकड़े नहीं रहे होंगे.

सरकार ने महामारी से लड़ने के लिए पश्चिमी देशों की देखादेखी यहां भी अचानक लॉकडाउन को लागू कर दिया.दूसरे देशों से तुलना करें तो भले ही वहां मेडिकल सुविधाओं, टेस्टिंग किट्स की कमी या दूसरी दिक्क़तें होंगी लेकिन उनके यहां भारत जैसी प्रवासी मज़दूरों की बड़ी तादाद नहीं है.

हमारे शहरों में ऐसा एक बड़ा तबका है जो रोज़ाना की मज़दूरी पर जीवनयापन करता है.2017 के इकॉनॉमिक सर्वे में कहा गया है कि 2011 से 2016 के बीच क़रीब 90 लाख लोग एक राज्य से दूसरे राज्य पैसे कमाने के लिए गए.2011 की जनगणना के मुताबिक़, देश के अंदर एक जगह से दूसरी जगह जाने वाले प्रवासी मज़दूरों की संख्या क़रीब 1.39 करोड़ है.

कोरोना को लेकर गुजरात सरकार को कड़ी फटकार लगाने वाली हाईकोर्ट पीठ में बदलाव किया गया कोरोना के बीच काले अमरीकी की मौत क्यों बनी बड़ा मुद्दा जीडीपी के ताज़ा आंकड़े लॉकडाउन के असर की सिर्फ़ झांकी भर हैं?

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अधीन आने वाले स्वायत्त संस्थान इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ पॉप्युलेशन साइंसेज़ के मुताबिक़, प्रवासी मज़दूरों को सबसे ज़्यादा रोज़गार कंस्ट्रक्शन सेक्टर देता है. इसमें क़रीब चार करोड़ मज़दूर लगे हुए हैं.इसके बाद घरेलू कामकाज में क़रीब दो करोड़ मज़दूर (आदमी-औरतें) काम करते हैं. टेक्सटाइल में यह आंकड़ा 1.1 करोड़ है जबकि ईंट-भट्ठे के काम से एक करोड़ लोगों को नौकरी मिलती है.

इसके अलावा ट्रांसपोर्टेशन, खनन और खेतीबाड़ी में भी बड़ी तादाद में प्रवासी मज़दूर लगे हुए हैं.प्रवासी मज़दूरों के मुताबिक़, लॉकडाउन के बाद उनकी नौकरियां छूट गई थीं. कंस्ट्रक्शन और दूसरी इंडस्ट्रीज में काम बंद हो जाने की वजह से उन्हें वहां से निकलना पड़ा.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesसरकार इस मानवीय संकट का अंदाज़ा क्यों नहीं लगा पाई?सरकार ने ग़रीब तबके के लिए कैश ट्रांसफ़र और राशन वितरण जैसे उपायों का ऐलान किया है लेकिन कई मज़दूरों के पास न तो बैंक खाते हैं न ही राशन कार्ड.सरकार ने ऐलान किया कि मकान मालिक लॉकडाउन के दौरान मज़दूरों से इस महीने का किराया नहीं मांगेंगे. इन आदेशों का पालन नहीं करने वालों के लिए आईपीसी की धारा 188 के तहत छह महीने की जेल या जुर्माने की बात कही गई है.

प्रधानमंत्री ने 24 मार्च को जब 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की तो उन्होंने ये सारी बातें नहीं कही थीं. उन्हें लोगों को आश्वस्त करना चाहिए था कि सरकार रहने और खाने-पीने की समस्या नहीं होने देगी.जब हालात बिगड़े तब सरकार को इसकी याद आई. पीएम मोदी की इस घोषणा की तुलना 2016 की नोटबंदी से की जा रही है. अचानक से प्रधानमंत्री ने देश की 80 फ़ीसदी करेंसी को अमान्य बना दिया था.

इसके बाद देश भर में भगदड़ जैसी स्थिति पैदा हो गई थी.पीएम मोदी बाद में लोगों से अपील करते दिखे थे कि बस कुछ दिन का वक़्त दे दीजिए सब ठीक हो जाएगा नहीं तो जिस चौराहे पर बोलेंगे मैं खड़ा रहूंगा.किंग्स कॉलेज लंदन के प्रोफ़ेसर और द पैंडेमिक परहैप्स (2015) के लेखक कार्लो काडफ़ फ़िलहाल भारत में ही रहते हैं.

काडफ़ कहते हैं,"भारत में ग़रीब, हाशिये पर मौजूद लोग और जोखिम में आने वाले तबकों पर सबसे बुरा असर हुआ है. पहले से असमानता झेल रहे ये लोग इससे और बुरी तरह से प्रभावित होंगे."वो पूछते हैं कि इस तरह के कड़े उपायों को लागू करने से पहले इनके परिणामों और इनकी क़ीमत पर चर्चा क्यों नहीं की गई.

राजस्थान के पूर्व बीजेपी अध्यक्ष भंवरलाल शर्मा का 95 साल की उम्र में निधन खबरदार: दिल्ली-NCR, हरियाणा समेत देश के कई इलाकों में भूकंप के झटके केंद्र जारी करे लॉकडाउन की गाइडलाइंस, राज्यों पर छोड़े फैसला लेने की आजादी: सचिन पायलट

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesइकनॉमिस्ट ज्यां द्रेज ने एक लेख में लिखा है"वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के ऐलान किए गए राहत पैकेज में प्रधानमंत्री ग़रीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) में 16,000 करोड़ रुपए पहले से प्रतिबद्धता वाले प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) और महात्मा गांधी नेशनल रूरल एंप्लॉयमेंट गारंटी एक्ट (मनरेगा) के 5,600 करोड़ रुपए की मज़दूरी में बढ़ोतरी भी शामिल हैं जिन्हें रूरल डिवेलपमेंट मिनिस्ट्री 23 को नोटिफाई भी कर चुकी थी."

द्रेज के मुताबिक़, राशन और कैश ट्रांसफर के लिहाज़ से यह राहत पैकेज ठीक है. लेकिन, तमाम ग़रीब अभी भी पीडीएस कवरेज से बाहर हैं जिसमें नेशनल फूड सिक्यॉरिटी एक्ट के तहत 2011 के आबादी के आँकड़ों को शामिल किया गया है.वो लिखते हैं कि पीएमजीकेवाई आवंटन के तहत कैश ट्रांसफर के लिए आवंटित 31,000 करोड़ रुपए की रक़म जो प्रधानमंत्री जनधन योजना वाले खातों में जाएगी, उससे हर ग़रीब के खाते में हर महीने 500 रुपए आएंगे. यह शुरुआती तीन महीने चलेगा. किसी भी औसत परिवार के लिए 500 रुपए महीने में घर चलाना नामुमकिन है.

जो ग़रीब लोग पीडीएस या पीएमजीकेवाई में कवर नहीं हो पा रहे हैं उनके लिए क्या प्रावधान हैं. इन खामियों को दूर क्यों नहीं किया गया?इमेज कॉपीरइटGetty Imagesक्या लॉकडाउन के अलावा भी कोई विकल्प था?24 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार यह देख रही है कि किस तरह से इस महामारी ने दुनिया के विकसित देशों को भी घुटनों पर ला खड़ा किया है.

उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि इन देशों ने इससे निपटने के लिए पर्याप्त क़दम नहीं उठाए या इनके पास संसाधनों का अभाव था. हक़ीक़त यह है कि कोरोना वायरस का फैलाव इतनी तेज़ी से हुआ है कि सारी तैयारियों और कोशिशों के बावजूद दुनिया के देश इससे निपटने में मुश्किलों का सामना कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग ही फ़िलहाल इससे प्रभावी तौर पर जीतने का एकमात्र ज़रिया है.उन्होंने कहा कि सरकार अलग-अलग देशों के इससे निपटने के तरीक़ों के विश्लेषण से इस नतीजे पर पहुंची है.लेकिन, दक्षिण कोरिया अपने यहां इस बीमारी की चपेट में आने वालों की संख्या को कम करने में सफल रहा है और उसकी वजह ज़्यादा से ज़्यादा टेस्टिंग करना रही है.

यहां तक कि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) लगातार इस बात पर ज़ोर दे रहा है कि इस महामारी को रोकने में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही सबसे अहम टेस्टिंग है.लेकिन, पीएम मोदी की स्पीच सुनकर यही समझ आता है कि भारत ने इससे सिर्फ़ यही सबक लिया है कि सामाजिक दूरी और लॉकडाउन के ज़रिए ही वायरस की चेन को तोड़ा जा सकता है.

लॉकडाउन का उद्देश्य था कि लोगों को समूहों में जमा होने से रोका जा सके लेकिन ये प्रवासी पैदल समूहों में जाते दिखे.सरकार और सिस्टम की आलोचना शुरू हुई तो उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने दिल्ली में बसें भेज दीं और ये बसों में एक साथ बैठकर गए. ऐसे में लॉकडाउन को लेकर सोशल डिस्टेंस बनाए रखने का मामला भी ध्वस्त होता दिखा.

ये अपने गाँव गए लेकिन गृह राज्य की सरकारों ने इनके साथ क्या सुलूक किया वो भी जगज़ाहिर है. इन्हें क्वॉरंटीन में भेजने की बात कही गई लेकिन वहां बुनियादी सुविधाएं तक नहीं हैं.इमेज कॉपीरइटGetty Imagesदक्षिण कोरिया से भारत ने सबक़ क्यों नहीं लिया?मार्च 2020 की शुरुआत में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) ने ऐलान किया कि कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी है. इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग और सेल्फ-आइसोलेशन को अपनाने की बात कही गई ताकि इसे फैलने से रोका जा सके.

हालांकि, इस मामले में दक्षिण कोरिया एक अपवाद रहा जिसने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग का सहारा लिया और कोरोना की चेन को तोड़ने में सफल रहा. दक्षिण कोरिया ने लॉकडाउन जैसे कड़े उपायों को नहीं अपनाया.भारत सरकार के एजेंडे में बड़े पैमाने पर टेस्टिंग करना शामिल नहीं है. सरकार ने कहा है कि वह रैंडम सैंपलिंग करेगी. सिस्टेमेटिक टेस्टिंग की ग़ैर-मौजूदगी में यह नहीं पता चल पा रहा है कि यह महामारी कहां तक फैली है.

प्रोफ़ेसर काडफ़ रीफ्रेमिंग द कोरोना कन्वर्सेशन में लिखते हैं,"जहां मेडिकल केयर आसानी से उपलब्ध है, पर्याप्त संख्या और अच्छी तरह से ट्रेंड स्टाफ हैं और क्षमताएं लचीली हैं, वहां पर मरीज़ों के ज़िंदा बचे रहने की ज्यादा उम्मीद है. स्पेन में हर 1000 लोगों पर तीन बेड हैं, इटली में यह आँकड़ा 3.2 का है, फ्रांस में यह 6, जर्मनी में 8 और साउथ कोरिया में यह आंकड़ा 12.3 है.''

इमेज कॉपीरइटनिजी लैब्स को टेस्टिंग किट्स बनाने कीमंज़ूरीमें देरी क्यों?भारत में किट्स की कमी से यह पता चल रहा है कि यहां पर्याप्त टेस्टिंग नहीं हो रही है. शुरुआत में आईसीएमआर ने यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) और यूरोपियन सीई सर्टिफिकेशंस वाली टेस्टिंग किट्स को मंज़ूरी दी. इसमें चेन्नई बेस्ड ट्राइविट्रोन हेल्थकेयर जैसी भारतीय कंपनियों को छोड़ दिया गया.

ट्राइविट्रोन चीन को पाँच लाख किट्स भेज चुकी है. हालांकि, कंपनी ऐसी किट्स को विकसित कर रही है जिनके ज़रिए एक दिन में हज़ारों सैंपल्स को टेस्ट किया जा सके, लेकिन सरकार ने शुरुआत में तकरीबन दोगुनी क़ीमत पर किट्स का आयात किया.ट्राइविट्रोन और मायलैब डिस्कवरी अब भी आईसीएमआर और सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन से अपनी टेस्टिंग किट्स की मंज़ूरी मिलने का इंतज़ार कर रही हैं.

दूसरी ओर, स्विस कंपनी की सब्सिडियरी रोशे डायग्नोस्टिक्स इंडिया को टेस्ट लाइसेंस मिल गया.2019 में मायलैब को एचआईवी, हेपेटाइटिस बी और सी की टेस्टिंग किट्स के लिए भारत की पहली एफडीए अप्रूव्ड मॉलीक्यूलर डायग्नोस्टिक कंपनी के तौर पर मान्यता मिल गई.ट्राइविट्रोन की संयुक्त उद्यम में पार्टनर चीन में लैबसिस्टम्स डायग्नोस्टिक्स चीन में किट्स बेच रही थी. कंपनी ने कहा है कि वह हर दिन 7.5 लाख टेस्टिंग किट्स बना रही है.

आईसीएमआर के नेटवर्क में मौजूद लैब्स के कराए जाने वाले कोविड-19 टेस्ट का ख़र्च क़रीब 4,500 रुपए बैठता है जो ग़रीबों के लिए एक बड़ी रक़म है.अमरीकी फर्म थर्मो फिशर साइंटिफिक और स्विस कंपनी रोशे डायग्नोस्टिक्स की किट्स का इस्तेमाल आईसीएमआर कर रही है.एक और विवाद कोसारा को लेकर पैदा हुआ, यह अमरीकी और भारतीय फर्मों का संयुक्त उद्यम है. यूएस एफडीए सर्टिफिकेशन को लेकर स्पष्टता के बगैर ही इसे टेस्टिंग किट्स बनाने का शुरुआती लाइसेंस मिल गया.

रिपोर्ट्स के मुताबिक़, काफ़ी बाद में पॉलिसी में बदलाव किया गया कि ऐसे स्वदेशी मैन्युफैक्चरर्स को भी इजाज़त दी जाए जिन्हें पुणे के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से टेस्ट की मंज़ूरी मिल चुकी है.इमेज कॉपीरइटGetty Imagesदुनिया में सबसे कम टेस्टिंग वाले देशों में भारत क्यों?

27 मार्च तक भारत ने केवल 26,798 टेस्ट किए थे, जो दुनिया भर में देशों के किए जा रहे सबसे कम टेस्ट्स में हैं.इस बात का कोई स्पष्ट डेटा नहीं है कि भारत में कितने टेस्ट उपलब्ध हैं और टेस्टिंग किट्स की कमी की वजह से टेस्टिंग का क्राइटेरिया सख्त है.केवल उन लोगों की टेस्टिंग की जा रही है जो कि या तो इस महामारी से प्रभावित देशों की यात्रा करके लौटे हैं या कोविड-19 के मरीजों के संपर्क में आए हैं.

20 मार्च को आईसीएमआर ने कहा कि टेस्टिंग क्राइटेरिया में लक्षणों के आधार पर हेल्थकेयर वर्कर्स और हाई-रिस्क लोगों को भी शामिल किया जा सकता है.रिपोर्ट्स के मुताबिक़, डब्ल्यूएचओ की हर 1,000 लोगों पर एक डॉक्टर की सिफ़ारिश के उलट भारत में हर 10,000 लोगों पर एक डॉक्टर है.

भारत को इन सवालों से भी जूझना पड़ रहा है कि उसने समय रहते किट्स और पीपीई का उत्पादन क्यों नहीं बढ़ाया. साथ ही वेंटिलेटर्स के लिए भी गंभीरता से कोशिशें क्यों नहीं हुई.सरकार ने 28 मार्च को केवल यह संकेत दिया कि देश स्टेज 3 में पहुंच गया है.अपनी दूसरी स्पीच में प्रधानमंत्री ने कहा था कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों और देश में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को मज़बूत बनाने के इलाज के लिए 15,000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है.

पीएम ने कहा था, 'इससे कोरोना टेस्टिंग इकाइयों, पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (पीपीई), आइसोलेशन बेड्स, आईसीयू बेड, वेंटिलेटर्स और दूसरे ज़रूरी इक्विपमेंट्स की संख्या तेज़ी से बढ़ाने में मदद मिलेगी.'इमेज कॉपीरइटGetty Imagesवेंटिलेटर्स की कमी कैसे पूरी होगी?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आँकड़ों के मुताबिक़, भारत के पब्लिक सेक्टर के पास केवल 8,432 वेंटिलेटर हैं जबकि प्राइवेट सेक्टर के पास 40,000 वेंटिलेटर हैं.टाटा मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, हुंदई मोटर इंडिया, होंडा कार्स इंडिया और मारुति सुज़ुकी इंडिया से सरकार ने वेंटिलेटर बनाने की संभावनाएं तलाशने के लिए कहा है.

वेंटिलेटरों की ज़रूरत कोविड-19 से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों को लाइफ सपोर्ट देने में पड़ती है.एक्सपर्ट्स कह चुके हैं कि भारत को देश में वेंटिलेटरों की मौजूदा संख्या के मुक़ाबले 8-10 गुना ज्यादा तक वेंटिलेटरों की ज़रूरत पड़ेगी.हालांकि, कार कंपनियां भी अब इनके उत्पादन से जुड़ चुकी हैं, फिर भी देश में वेंटिलेटरों की तेज रफ्तार मैन्युफैक्चरिंग करना एक बड़ी चुनौती है.

दूसरे देश वेंटिलेटरों को हासिल करने में तेजी दिखा रहे थे. साथ ही मीडिया की रिपोर्ट्स से पता चल रहा था कि केवल सामाजिक दूरी बनाने के आयातित कॉन्सेप्ट से ज्यादा मेडिकल तैयारियां करने की ज़रूरत है. और पढो: BBC News Hindi »

Yaar modi ji ko bol do road prr aa jaye or aap news wale alcohal n cigrates pine walo ko crona ni hota kya मोदीजी परिस्थिति के अनुसार कार्य किया सवाल तो हर परिस्थिति में उठते हैं अमेरिका ओर यूरोप के बारे क्या ख्याल है मोदी जी से कोई सवाल नही है बी बी सी मोदी न होता तो कोरोना भारत मे कहर बरपाने मे काफी आगे होता अमेरिका इटली से समझे ।।

झठुअल साले चैनल वाले पहले इंग्लैंड को बचा और पाकिस्तानी मूल के नपोरे सम्वदाता अपने गधे पाकिस्तान को देख साला गधा पागल इमरान रो रोके बोले रहा है यदि लाकडाउन किया तो हमारे बेवकूफ पागल पाकिस्तानी भूख से मर जायेंगे अरे गधे अपने नाली के कीड़े पाकिस्तान को देख गधे सवाल करेगा कौन? Chutiya sala thoo h teri patrakaarita par

Corona virus means Chinese and muslims. Both are a dangerous viruses for all the nations BBC means Big Basterds Channel. तुम्हारा PM तो सवाल पूछने लायक भी नहीं है। इंग्लैंड में पूछ जा के !! Ye dehli bus stand kabhai मोदी से सवाल करेगा कौन? और मोदी जवाब देगा किसको? यहां अंडभक्त बैठे हैं ना सब को गरियाने केलिए! और उधर B & D मिडिया है सवाल करने वालों को गद्१साहित करने के लिए!

You JehadiGang BBC Tera Savi sawal bebuniyad hai , lock down aise hi hota hai . Pahle ghosna karke nahi ho sakta tha बगैर समुचित योजना अचानक लांकडाउन Modi ji ap har decisions Lene me nakamyab h air APNI nakamyabi chupane ke liye aap media,police ,force Ka galat istamal karte h ,please ainda se Asia na kare ki desh ki janta ko preshaan Hona pade

बीबीसी वालो tumlog इंग्लैंड को सीरिया बस थोड़े हो दिनों में बना ही दोगे अब उधर ही रहो यहां अपनी मा बहन मत करवाओ bhosdiwalo हा हरामजादे तू पप्पू का मूत पिता रह बीबीसी आतंकी चैनल है को सिर्फ कटुओं को भर रखा है भागो बहनचोद Han tum to swalon ke liye ho. Kuch public ki Sewa bhi karoge. Ya congion ke hi goon gawoge. Chale jao ndtv ya Rabish ko le lo sath. Modi sarkar to sab swalon ka janab deti hi hai. Tum ye PM rahat Kos kuch daan Kiya tumhare channel be. Ya khane ko hi ....

Modiji achha kr rahe hai kabhi unki tarif bhi kr dia kre BBC pls change ur channel name & keep hajihaji fakeu anti hindu feku secular channel...Naam bada hai thoda aapke fakeu aur partial news jaisa.. Sabal .1 . jamat me kya ho rha Tha Sabal. 2 . Allah ke ghar me carona nhi hota Sabal .3. Muslim ko sabhi adhikar mile Sabal.4 . Muslim ko Kabhi carona nhi honga

When the country is trying hard to cope with Nizamuddin links on the other end, in Andhra Pradesh, a religious is being celebrated at Bhadrachalam and is telecast live to celebrate Ramnavami with a considerable no of people in close gathering !!! अबे bcc कभी मुल्लों से पूछ ले सवाल bc news ॥ हरि ॐ ॥ थोडे दिन की बात है फिर तुम्हारा विनाश निश्चित है!

अच्छा, जरा निजामुद्दीन वालो से सवाल जवाब नहीं करोगे, और dr. पुलिस पे थूकने वालो से l क्युकी बीबीसी एक एंटी इंडिया एंटी हिन्दू एंटी आरएसएस इस्लामिक जिहादी नेटवर्क है l तेरे को किसने बोला दखल अंदाजी करने😟 Ye bjp bhakt hai inke dimag gobar bhara hai agar tumhare pass koyi gufa rahengi to inko lejaye yaha se

Where he used the emergency fund ? Nation wants to know .. and why trust ? 518_2100 सवाल जवाब हम बाद में कर लेंगे। अभी वक़्त कदम से कदम मिलाकर चलने का और देश कोरोना से बाहर कैसे निकले, फोकस होना चाहिए। इन लोगो से भी पोछो की इस क्यो कर रहे है।इनको भी समझाओ।नही तो राहुल जी को ही समझा लो।या उनसे भी पॉच लो कि सिर्फ सविंधान ही बचना है या जान।

shame on सूअर news Channel 😡😡 In India, Muslims are not safe, only they are made the target. Why? Isn't that man a Muslim in everything Why BBC is always act like Anti modi . Kin sobalo se be u bbc hi jaanta hai Congressi chamche मुझे ये महसूस हो रहा है कि मोदी जी समस्या से बहुत अच्छी तरह से लड रहे है और जो मजदूरों के पलायन कि बात है, उसके लिए कुछ जिमेदारी राज्य सरकार की भी बनती है,

Is lakho ki bheed se corona ka koi khatra nhi tha kyuki is bheed ka dharam nhi pta. Markaj me fase huye 1000 logo se khatra ho gya kyuki wo muslims h isliye. Jbki pm ne bola tha jo jaha h wahi rhe pure desh me lockdown ho rha h. British bastard corporation must ask questions to UK situation and not to worry about India we are not any colony of bastards now Worry for your people deaths , now worst in Europe UK govt didn't do anything to check, trace , treatment. Modi is doing fine

PreetiS99099323 ओर कोय न्यूज नहीं हैं क्या कितनी बार इसको रिपीट करोगे अपनी चोंच अपने देश में मारो जहां मरनेवालोका आंकड़ा हजारों में हुआ है. साले अपने देश की चिंता करो उसे बचा नही पा रहे दुसरे के घर मे देख रहे हो Sarkar ka kaam hai sawalo se bachna. Pooch ke to dikha do maan jayenge ISLAMIC VIRUS JIHAD NOW ACTIVE IN INDIA IF ANYWONE AGREE RETWEET THIS TWEET 🙏

तुम बिकाऊ मिडिया बालो क्यो..... Get some life BBCHindi your lop-sided biased anti-India journalism has long been exposed. Have some Shame, act responsible and do some soulsearching atleast in these turbulent times the World, India and people are going thru. Lives are at stake. CoronavirusPandemic

chinkis Miss chinkis, have you compare Indian Coronvirus count with any other develop country? So far India has manage such a low count of Coronvirus patient, and the only country which had went to lock down in so early stage. So please stop your bias propaganda. Big BC (BBC) मोदी सरकार से सवाल करने से अच्छा है कि आप इंग्लैंड सरकार से सवाल करे। मोदी जी से हम सवाल कर लेंगे अगर नहीं मिला तो 2024 में दुबारा सवाल करेंगे जब तक जबाब नहीं देंगे जाने नहीं देंगे सत्ता से। बगैर जबाव दिया जाने नहीं देंगे

देश का सबसे पनौती pm इन वालों की अलग ही भसड़ चल रही है। तुम लोग पहले अपने वतन ब्रिटेन के हालात का ध्यान रखों। भारत की चिंता करना छोड़ दें। Bsdk terrorist organization ho tum log...tum to yhi dekhna chahtey they ki India barbad ho jaye Mind ur own business वैसे जो काम nsa अजीत डोभाल एक रात में न कर पाए, कसम से योगी जी के होमगार्ड, खैनी रगड़ते हुए कर देते। शुक्र मनाओ मोदी है, तो इतनी नौटंकी देखी जा रही है, अपने कभी thewirehindi से पूछो उनकी भी योगी जी से फेक न्यूज के चक्कर में सूजा दी है।

Apni Aukad me Raho, Bhangar Brothers company सवालों के जवाब तो देने ही होंगे और सवाल जायज भी है। And midia jab koi news nahi pati hai to mandir maaszid karke logo to bhadkati hai ya Hindu Muslim karti hai Ye khud to office me baith kar badkau news dekar bhadka deti hai janta ladti hai मोदी से सबाल पूछने की तेरी औकाद नहीं है।

अबे चुप साले दलाल चैनल लंदन में जा कर गिनती गिन कितने मारे ओर जिंदा हुए। BBC नहीं बच सकती इन चुतियापों से ? Hey Your any Link is not open Who the hell are you ask the question to Indian Gov? You should ask questions to UK Gov. CoronaSankat......Nakam Modi badnam musalman itna bhi mat giro sarka k fir uth na sako Modi_Sarkar_Haye_Haye

logo ko kuda kuda k mara J raha he, Chin ko q kuch nahi kia J Rah h,attack karo china ko comunist attack kia he democracy k upor विदेशी मिडिया कुछ भी बोल दे हम भारतीय मोदीजी के साथ हे फैल नही होने देगे ,मुसलान भी समझने लगा है विदेशीयो की चाल मे नही आना नही तो मौलाना साद बना देगे ,मोदीजी हे देश सुरक्षित हे ,

BBC न्यूज फेंक न्यूज चैनल Hurrrr Kaise nhi bachegi inke media viruh Kya Kar rhi bachane me to lagi hai Are Bhai tum rk woh sau batao kaishe jitoge ,itna rayta faila hua hai ki biryani ki jagah nahi hai पहले अपनी लंदन और पूरे यूरोप का हाल बताओ भारत विरोधी मीडिया तुम लोगों के दिमाग में ही चल रहा है कि भारत अब तक इतना सुरक्षित कैसे जबकि पूरे जीवन ऑफ हिल रहा है

देखता रह भारत विरोधी मीडिया हमेशा विरोध करके देख लिया है आगे भी देखेगा तेरे जैसे अर्बन नक्सली माइंड और जी हर ग्रुप वाले कुछ नहीं उखाड़ पाएंगे Indira Emergency and Modi Emergency Situations are different. People of INDIA is ready for Modi EMERGENCY . Because it is the safety of People of INDIA. So....INCIndia PMOIndia INDIA need after Delhi Migrant & Tabliq incident a ARMY and strict law

Lockdown bahut jaruri tha isse 3 kam ho gaye ek to corona ke case samne aane lage desh ke gaddar samne aa rahe hai or 3rd ye sabko pata chal gaya ki desh ke liye CAA or NRC ku jaruri hai.... PreetiS99099323 U MEAN COVID786 SE OK Ye haun BJP ki corona faelao party. Chittiyan Kalaiyan. U still don't get it, our people watch and read you because we love to watch and read your idiot news for laughter purpose 🤣🤣 & also to get prepare from your propaganda & mess..so keep spreading fake news and lies. Ooo and plz let us know about status of ChinaVirus in London.

पूरी दुनिया की विदेशी ताकते भारत के अन्दर छिपे देशद्रोही इस्लामी ईसाई वामपंथी काग्रेसी बॉलीवुड मीडिया बुद्धजीवियों के द्वारा भारत की अर्थव्यवस्था को चोट पहंचाने मे कामयाब होते दिखाई दे रहे हैं लॉकडाऊन को फेल करने के लिए लाखों को दिल्ली से पलायन हो या निजामुद्दीन का इस्लाम हो आकथू IAS_Saeed When Police, Medical team went in search of Nizamuddin attendees 1. Gujarat: Stone pelting in Gomtipur 2. Bihar: Stone pelting in Madhubani 3. Maharashtra: Medical team assaulted in Ahmednagar Other side Rajasthan: Mass gathering at Sarwar Dargah Why aren't they cooperating?

MonazirAlig BBC walo ne kabhi indian govt ka support kiya hai Big BC Maha MC से एक कदम पीछे RashtrawadiBoy तुम लोग फेक न्यूज़ चलाते हो तुम्हारी बातों का क्या जवाब दिया जाए? इतने सालों से हिंदुस्तान में। हराम की रोटी तोड़ रहे हैं आज हिंदुस्तान मुसीबत में ₹2 दान दे देते हैं। लेकिन तुम मीडिया वाले सिर्फ लेना। जानते हो।

Kaun pucha sawal bhai?! Where’s PK? Only PK can ask some questions! मोदी सरकार हर सवाल से बच जायेगी क्योकि उन के पास बहुत ही अच्छा जबाब हिन्दू मुस्लिम और मामला ज्यादा बड़ा हुआ तो पाकिस्तान You need to blame Mr Modi &his coterie for not taking immediate action when he was warned in Jan, instead he waits till 21st mar to take action.he should be held accountable for every death due to COVID19 in india. Spl Thanks to Kanika k for exposing the entire system on Mid Mar.

बच जाएगी क्यू के दलाल मीडिया की पूरी फौज हे उनके पास बेटा तुम्हे अभी पता नही है। ऐसा हिन्दू-मुस्लिम फेक के मारेंगे ना, दंगे हो जाएंगे दंगे। ढूंढते रहना फिर कोरोना को। कोई बदतमीजी कर रहा है कोई थूक रहा है कोई खुदकशी की कोशिश कर रहा है - ये सीख रहे थे जमात में ? और सीखाने वाले मौलाना साद का तो कहना ही क्या, गायब! - अब आएं ना हाथ मिलाने, एक प्लेट में खाना खाने कोरोना_पॉजीटिव के साथ!!!

शर्त लगा लो? बच जाएगी, क्यूंकि यहाँ मीडिया_वायरस है ! तेरे सवालों को पूछता कोन है बे.. पूरे विश्व मे कोरोना ChineseVirusCorona जानवरों से आया होगा लेकिन हिंदुस्तान में ये जाहिल से ही आया है।।😡😡 It's better look at ur country lond on Khud ki gilli hui padi hai.... Kya kya kiya gaya London me aur USA me to fight against corona ? Aur kya kya options mauzood the ? Kejriwal ji ke mngmt ki taraf aapki imaandaai chand paiso me kurbaan ho gayi , markazi jamaat par ek shabd nahi nikla ,Gazab

कौन माई का लाल है जो ये सवाल पूछ ले? आम खाते हैं? कैसे खाते हैं काट के या चूस के? Ban BBC Abe bc... Tera sarkar kya kar rha hai ? Tera apna PM safe nahi hai, public to bhagwan bharoshe hi hai . Kaunsa chaman chamak ye article likhta hai or kaun sa maal fuk kar You prestitutes... ShamefulBBC BoycottBBC. Ask your questions to Boris Johnson.

सरकार पर उंगली न उठाइये, कुछ लोग तो इसी इंतजार में है कि सब फेल हो जाये और बड़ा नुकसान हो , राजनीति करने का मौका मिले । लेकिन ऐसा होगा नही 'ये नया भारत है' संकट में और आसानी से भी बच सकती हैं हिन्दू मुस्लिम करके जो आजकल मेडिया से कराया जा रहा है Sb paisa Kha gayi modi sarkar Tum logo ka v time aayega.. Waqt hai sudhar jao....

तुमसे ना हो पाएगा B(sdk)BC Time for FIR for misreporting 😜 सरकार बचेंगी तो सवाल होंगे..? 🤔 Uske liye PC honi chahiye. Lekin monologue chal raha hai. Khud hi sawal banate hai khud hi jawab dete hai. पहले कोई माई का लाल सवाल करे तो सही Boris jonsan se jake buch harami BBC कौन से सवाल , शायद ये सवाल होंगे BBC के 1) PM सर , सब नेता घर मे बैठे हैं , किसी का इंटरव्यू आपके खिलाफ कैसे लेंगे ? 2)सर हम कुछ हिंदुस्तान के कुछ लोगो को जानबूझकर आपकी नीतियों की बुराई करने को रखा हैं , लेकिन कोई क्यों नही कह रहा ? हैँ ना BBC वालो ।

Or Vo hi chhtan jese log gand pe lath kha rhe h🤣🤣 आप कौन है सवाल पूछने वाले? Gau mutra hai abhi bachne k lie बीबीसी तुम्हारे अण्टे सटक जायेँगे मोदी सरकार को घेरने मे.. Apne swalo ko picwade m ghusa lo..modi g jitni lagan se kam kr rhe hai vo sbhi ko dikhayi de rha hai Jis Insan Ne notebandi Mein Bhukamp marva Diya Jis Insan Ne JST Mein berojgari Kar De use Insan Ne ab kya Vada Kiya vah aise hi Karega Jis Jaisa pahle Kiya

kejari sebkit e sawal kiye ho Har cheez sarkar nahi karti hai ap logo se nivedan hai ki gharpe rahiye or social distance banaye rkhe jai hind कुत्तो तुम्हे पूछता ही कौन है , तुम आजकल सिर्फ एक टट्टी ओनलाइन पोर्टल बनके रह गए हो जहा रीडर्स और रिपोर्टर 90% मुसलमान है । वैसे मोदी सरकार bbcnews से सवाल ही नहीं लेती। इसलिए आप भारतवर्ष के लिए बेफिक्र हों और अपने साम्राज्य UKGoverment पर ध्यान लगाए वरना इस बार CoronavirusOutbreak की वजह से वहां का सूरज अस्त हो जाएगा।

किसी सवाल का जवाब ही नहीं देगी सरकार? जिसमें जितनी हिम्मत हो सरकार का 'बाल' उखाड़ के दिखाए! Inko koi farak nahi padta Who questions, is considered to be anti-national... अबे भूमेसरी के बिग b. c.। आ रहा अपने देश में ज्ञान पेल। Bachod bbc... Go to hell.. 👿👿👿 Chal be dalal You still stuck in 18th century. Bsdk

Chinese viruse..y ky puch dala.. BBC doesn't find anything positive so people always shows negative side and surprisingly always मोदी सरकार को बचना नहीं है, बचना आप जैसों को है, आपके समाप्त होने का समय नज़दीक है। उल्टी गिनती शुरू करें। Biased Broadcasting Cunt am15n LOL.. do you think ordinary AryanBrahmin Hindu cares about these questions? As long as Modi is delivering what he was elected for i.e. humiliating, oppressing, killing Muslims, he is safe.

अभी यहां स्थिति अमेरिका और इटली जैसी हो जाती है तब तुम कहते बंद क्यों नहीं किया तुम्हें तो बस न्यूज़ बनाना है BBC वालों या तो आप चुटिया हो या तो हमें चुटिया बना रहे हो कौन कहता है कि दुकानें बंद है और एक घटना दिल्ली में ही क्यों हुई बेंगलुरु भी तो है वहां के लोगों क्यों पलायन कर रहे हैं अब CM का काम भी नरेंद्र मोदी करेंगे क्या गलती दिल्ली के सीएम की और इल्जाम नरेंद्र मोदी जी पर

kya kiya feku ne inke liye Yeh channel musulman ka chamcha hai. kuch nahi kiya sarkar ne sab kuch logo ko hi kar ne ko kaha gaya. ab nakame chupane k liye kuch naya hi layenge drama dekhna. तुम अपना दोगलापन जारी रखो। पूछो वत्स! Partibha_Singh Ye kya jawab dega kbhi jindgi me koi jawab diya hai Biwi ko no answer Baap ko no answer Desh ko no answer Sirf neeta ambani ko answer dete hai saheb

Modi jindabad, Modi government is working better than others pary . you are right Chutiyo... सवाल पूछने के लिये तो पेहले जिंदा बचो.... बाद मे पूछ लेना.. घटिया लोग... Partibha_Singh BBC mc इसको भी भी कोराना होना चाहिए देश का दुश्मन है आरएसएस आतंकी विदेशी मीडिया england अमरीका से जो सवाल पूछने थे वो भारत से पूछ रही है । क्यूँकि भारत को नीचा दिखाने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ते ये लोग

BBC just know how to be anti govt as ur fav govt not in power this time. So stay calm and cool. India will recover soon from Covid with a less impact than European Union. अब आप सोच रहे होंगे किस बंदे ने तो एक के बाद एक इतने क टीयूट कर दिए मगर शायद यह सारे ट्यूट मुझे करने नहीं पड़ते अगर मेरी देश की मीडिया यह सवाल सरकार से कर लेती और मुझे पूरा यकीन है की मीडिया एक भी सवाल सरकार से नहीं करेगी शायद कुछ ही न्यूज़ चैनल है जो इन मुद्दों पर बात करेंगे

अब जनता यह परेशानी कि emi भरनी और या नहीं और सरकार ने अभी तक इस पर अपना रुख साफ नहीं किया यह तो वही हुआ कि चुनाव के वक्त पार्टियां वादे कर देती है मगर पूरा नहीं करते कुछ इसी तरह आरबीआई ने भारत सरकार ने लोगों को वादा तो किया है मगर उसको पूरा कैसे करना है इसका कोई पता नहीं ऐसे बहुत से सवाल है जो सरकार से पूछे जाना चाहिए जैसे एक मसला और है सरकार ने और आरबीआई ने यह घोषणा तो कर दी लोन करता है उनकी emi 3 महा के लिए आगे बढ़ा दी जाए मगर वो कैसे बढ़ाएं उस पर ब्याज देना होगा कि नहीं देना होगा इसकी कोई कंडीशन नहीं बताई

You have no rights asking questions to PMOIndia You are against every decision of narendramodi You people spread disinformation which leads situation to worse Jin logo ne apni umar bhar gaaliyan khaai ho,wo gaali hi de sakte h..hum sab aapke saath h modiji... तो तू क्या उखाड़ लेगा बे, कटुई छेद क्या सरकार ने शहरों में काम कर रहे मजदूरों के लिए कुछ कदम उठाए थे क्या और अगर कुछ कदम उठाए थे तो जो लोग दिल्ली और अन्य बड़े शहरों से अपने अपने घर लौट रहे थे और बड़ी संख्या में थे इसकी नौबत कैसे आई और जो लोग घरों से निकलकर हाईवे तक के आए वह कैसे आए पुलिस प्रशासन क्या कर रहा था

और जब 22 मार्च को फैसला लिया तो उसकी भी कोई तैयारी पूरी नहीं की थी अब इतने बड़े देश को पूरी तरह बंद करने की तैयारी में हो आपने एक बार भी नहीं सोचा की हमारे देश में लाखों लोग गांव से आ कर शहरों में रहते हैं क्या सरकार ने इन गांव से आए लोगों के लिए कुछ प्लान बनाया था क्या मेरी बीबीसी से अपील है कि आप भारत में अपने रिपोर्टिंग बड़े लेवल पर करें ताकि सरकार की गलतियों का पर्दाफाश हो सरकार ने कोरोना मामले में बहुत लापरवाही बरती है भारत में पहला मामला जनवरी को ही आ गया था मगर सरकार ने एक्शन 22 मार्च को लिया

इनके सारे काम रात 12 से ही होते है।☹️☹️ Agar ase harkate mandir mai hota na tum log khub sillata hota abhi nambhi lenese khabrahat horahi hai जितनी चिंता हमारे देश की मीडिया को देश के गरीब मजदूर वर्ग की नहीं है उन भूखे प्यासे गरीबों की नहीं है जो सड़क किनारे रहते थे उससे कहीं ज्यादा चिंता तो पाकिस्तान के हिंदू और सिखों की हो रही है भाई हम पहले अपना देश तो देख लो मगर ऐसा सवाल करने वाले ही गलत साबित कर दिए जाते हैं

By mistaken he become higher post, I m 100% assured that an anpad person never take right decision on right time. Always remember. हो सकता है कि मरकज वालों से गलती हुई हो मगर क्या उस गलती को धर्म से जोड़ना सही था अब मरकज को जिम्मेदार ठहरा सकते हो वहां पर जो जिम्मेदार लोग हैं उन्हें भी जिम्मेदार ठहरा कर उनके ऊपर कार्रवाई कर सकते हो मगर हमारी मीडिया ने मरकज की गलती को पूरी कोम मड दिया है

पूरी दुनिया में कोरोनावायरस हो रहा है पर अधिकतर दुनिया के बड़े-बड़े देश कोरोना की महामारी में इस्लाम की तरफ आगे बढ़ रहे हैं मगर एक हमारा देश है एक कोरोना जस्सी महामारी पर भी मुसलमान और इस्लाम को टारगेट किया जा रहा है जैसे कि आज के वक्त मैं कोरोनावायरस भारत में फैला है इसकी जवाबदारी सरकार की है मगर सरकार से सवाल कोई नहीं पूछेगा अगर गलती से विपक्ष ने यह सवाल पूछ लिया तो मीडिया उसे ही टारगेट करके कहेगी क्या आप इस मुश्किल की घड़ी मे भी राजनीति कर रहे हो

और हमारे देश के मीडिया ऐसी मीडिया बन चुकी है जो एक तरह से सरकार का डिफेंस सिस्टम हो जब भी कोई मुद्दा सरकार के खिलाफ होता है उस पर कभी मीडिया ज्यादा तवज्जो ही नहीं देती उल्टा उसे दबाने में लगी रहती है आप को मांफी मांगने की कोई जरूरत नही है। आपको कोई भी कुर्सी से हटा नहीं सकता इसलिए कि आप कुर्सी पर ( आर एस एस) से हो कर आए हैं (फंड में मिलने वाला पैसा बिहार के एलकशन में काम आएगा संभाल कर रखो आप से गुजारिश है)

बीबीसी वालों तुम कभी पॉजिटिव न्यूज़ नहीं दे सकते हो क्या एक तुम्हारे बस का यही रहा है कि भारत में कुछ भी करके माहौल खराब करना और बचना भी नहीं चाइए ऐसी निकम्मी सरकार से ये याद रखा जायेगा बीजेपी भारत को अच्छी पुदिसन पर कभी नहीं आने देगी it's true Apke news channel ko Modi ke alava duniya mai kuch nhi dikhta kya

Desh vasi modiji ke sath hai ...koi tension nahi hai Aaj tak desh sewa ki hai or aage bhi karte rahenge Or koi Kitna bhi jhuta aarop laga de... Heera hamesha chamakata hi hai ... मैं मानता हूं कि जमात के सारे लोग दोषी है! लेकिन एयरपोर्ट तो आप के कब्जे में था 16 देश के लोगों को बिना जांच के आने कैसे दिया ? कटु सत्य

और तुम दलाली से नहीं रूक सकते। फेक न्यूज चैनल जनवरी से लेकर अब तक खाली तबलीगी जमात के लोग ही इंडिया में आए हैं बॉर्डर सील नहीं किया तो दोस्त जनता को दे रहे हैं मैं एक बात जानना चाहता हूं जो लोग विदेश से आए थे वह पैदल आए थे अगर वीजा पर आए थे तो सरकार की जिम्मेदारी है किसी का कोई गलती नहीं अंग्रेज की दलाली करने वाले आजादी का मतलब क्या जाने वापस

Dekhna wo din dur nhi jb ye log chai wale ko v apna bhagwan bolne lge ge देश के गद्दार कभी देश को आगे नहीं बढ़ने देंगे अरे तेरी अम्मा का $ बीबीसी BBC BC इंतजार में था भारत के लोग मरे इसके बाद सब मोदी पर थोप दे पर पानी फिर गया Dear PMOIndia please ban such stupid media houses who spreading panic in such suituion.

बीबीसी वालों को प्रधानमंत्री महारानी प्रिंस चार्ल्स को भी नहीं भूलना चाहिए Molana VinodKu51806624 मोदी सरकार नाकाम है Modi jab rafale, banko li loot, desh ki economy , aur desh ke riots ke sawaalo se Bach gaya tho corona tho Modi ke liye uphaar hai kyo ki ab saare failure ka teekra corona pe footage मरकज़ में विदेशी आ कैसे गये उनको वीजा किसने दिया और बिना कोरोना जाँच के एयरपोर्ट से बाहर कैसे आगये! किसकी जवाबदारी है?

मोदी जी जब हाथी चलता है तो कुत्ते भोंकते रहते हैं आप 56 इंच का सीना तान के चलिए हम आपके साथ हैं भारतीय जनता पार्टी बहुत अच्छा काम कर रही है Go to hell bbc ask question to your country What after 14april....plan b hai koi.... Yes. In some way govt. Took right action but it is also true that they fail in so many ways. It is good to save the person influence by covd19 but on other way they played with life of migration more than 2 Lakh in all over India . Same to govt

यह ज्ञान अपने बोरिस को दो ,यहाँ से पहली फुरसत में निकल Modi aur modi media corona jihad se lad rahe hai parehan na karo BBC सवाल तो सही, इस लिए तो देश की गोदी मीडिया और दलाल पत्रकार हिन्दू मुस्लिम कर रहे हैं मीडिया_वायरस You are not authorised to ask questions BBC. First ask from zin ping.... Why are organisation like BBC still exists? Go and save Europe first... India is capable enough and need not to have your advisory

और सवाल पूछेगा कौन कनखजूरे जा के पहले लंदन और ब्रिटेन वालो से सवाल पूछो पोंगल आंग्ल पत्रकारिता। GetWellSoonBBC Kiya bat karte ho bhai kisi ko kuch nahi dikhne wala andu bhakt he desh me gatar to gatar sale आप ही अपना ज्ञान बखार दे,इस situation में क्या कर सकते थे। बस दो हफ्ते और थे देशवासी घर में कैद थे भारत जंग जितने ही वाला था तभी दिल्ली की निजामुद्दीन की घटना *मस्जिदों में सरकारी ताले लगाओ* 🙏🏼🚩😢

निजामुद्दीन तो झांकी है, लाखों लाख मस्जिदें अभी बाकी हैं ! 'वायरस जिहाद' Apna desh 🇬🇧main ja k dek tera Prince or PM dono infected hai भारत को ललकारने की औक़ात ना करना BBC अब भारत सरकार ब्रिटिश सरकार से ज़्यादा मज़बूत और जवाबदेही सरकार है। और मोदी सरकार दुनिया की सबसे मज़बूत और ज़िम्मेदार सरकार है BBC जैसे इनको सिर्फ़ बदनाम करने की कोशिश कर रहे है

Stay away from our matters. Think of your own country. इस चैनल के हर पतलकार की गिरफ्तारी हो.. सुटिया BBC news वाले जाओ अपने को संभालो महारानी, प्रधानमंत्री जैसे लोग नही बच पाए हैं,और यहाँ होशियारी मार रहे हो।तुमको जलन हो रही है कि आखिर कैसे भारत सुरक्षित रह गया है। तभी तो हरामियों मुँह से विष्ठा त्याग कर रहे हो। वो तो कुछ गद्दार शांति दूत के कारण कुछ परेशानी बढ़ी है

और तुम लोगों को BBC बिदेशि अंग्रेज नजरीए से सरकार को देख रहा है। सरकार ने अच्छे कदम उठाए हैं। इसलाम प्रचारक लकडाउन का उलंघन कर रहे हैं। यह BBC को दिखाई नहीं दे रहा है। No need to worry we all have a PM who do not except joking.. मोदी सरकार को कोसने के अलावा तुम्हारे पास और कोई काम है आज विश्व की सबसे बड़ी चुनौती समस्याओं में हत्या, आतंकवाद, बलात्कार, धर्म परिवर्तन, लव-जिहाद,, कोरोनावायरस जिहाद, आदि आदि समस्याओं में कटुओं बकरियों के स्पेशलिष्टों, औरंगजेब की औलादों यानी मुल्लों से ही है। डिजाइनर फाल्गुनी पत्रकारिता में लगे हुए गद्दारों, सुधर जाओ।

आज तक किसी सवाल का जवाब दिया है क्या कुछ भी बोल लो नही देंगे जवाब तूं कौन है भारतीय मूल की आवाम मोदी जी के सभी फैसलों से खुश है। पहले तुम्हारे PM और prince Charles को तो कोरोना से बचा BC BBC 😎 बीबीसी लुब्रांडू.... चाइना का चमचा Govt has cared all Peoples. No body has died in hunger When the so called VVIP NRIs were airlifted at that time you didn't suggested to think about the inter state infiltration may happen.

Andh bhakt sab kach ki nali k h kya ye ashleel bahut hote h. inm koi sanskar bhi hote. ye h to agayani. तुम कौन होते हो सवाल पूछने वाले Ye log aise hai jo apne ma pap ke bhi huye Congress ke chamche hai in logo ko ulta karke latka dena chahiye kuch pata nahi hai bhokte rahte hai sale Lockdown के बाद plane चलाना महँगा पड़ गया

BBC when you tweet a 13y child is dead in Britain, otherwise fully fit but PM Britain not in the condition of asking questions. सवाल तेरे पिताजी चायना से पुछ के तु कोन से हलाला की पैदाईश है। सवाल सरकार से पूछो गान्ड अंध भक्त की फट जाती है सवालों से बचाने के लिए तो दल्ला मीडिया ने दिनरात मरकज के पीछे हो हल्ला मचा रखा है

अबे बीबीसी अपना देश भी देख ले कभी और जहां 30 करोड़ लोग chinese virus फैलाने को सोचते है और मीडिया बिकाऊ हो वहाँ हालात सम्हालना असम्भव है फिर भी हम सब लगे हुए है तुम अपने आकाओं की धो मोदी का जो होगा सो होगा पहेले BBC के BDS वालो तुम निकलो हमारे देश से BBC વાળાવ તમારી મા નો **ડો મારે ચીકી નાવ tu uthayega swal uthaigiri

Puchega kon ? Public ki maarne me mahir log Sarkar chala rahe hn.. Aur itne chutiye log jo apni marwane k liye khushi se line m khade ho jate hn... avinashmeena444 KDGothwal1 Ramrata04989837 go back to UK.. खेर हाथी चले बाजार कुत्ते भोंके हजार😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂

तेरी ऐसी की तेसी तु कोन है मोदी पे सवाल करने वाला 💪💪💪💪💪💪💪💪💪💪💪💪हर हर मोदी 💪💪💪💪💪💪⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️⚔️ आप यकीन मानो सरकार किसी सवाल का जवाब नहीं देगी और बच के निकल जाएगी, हमेशा की तरह 🤨 Srkakar jabab bhi dene pdengd.. Who r you India k log sache bhakt hai.. Jinka Poojna duniya ka sabse Acha hai.. Lekin jinki bhkti ya pooja kr rhe vo log hi makkar or jhoote hai

मोदी सरकार की लापरवाही की वजह से भारत में कोरोनावायरस महामारी का रूप लिया दलाल मीडिया से बस यही कहूंगा bsdk मेरे अंगने के तुम्हारा क्या काम है अब तो तुमलोग जग ही जाओगे।अपने जमात का पैरवी जो करना है। NizamuddinMarkaj CoronaJihad अरे तेरी ऐसी की तैसी तू लंदन संभाल हम हिन्दुस्तानी अपने देश को संभाल लेंगे

अपना मुल्क सम्भालो Yes मोदी सरकार हर सवालो से बच सकती है जब तक मोदी जी के भक्त जिन्दा है केवल नाकारात्मक खबरें हर शवाल का जबाब है भारतीय मीडिया के पास बसरते कि शवाल सरकार से पुछे जाए। pattalkar aur dalal modia bacha legi ise... Resignation Not true. in this time think positive lockdown is intime decision After it’s state government can’t stop migrating to other states..No one Died because of Hunger. Govt doing his Best for people of India 🇮🇳

Kisme dam hai sawal puchne ki, koi sunega tab na..... Aisi gandi sarkar dekhi nhi, carona jaisi bimari me bhi hindu muslim kr rhe hai, sab miller ek dusre ki madad krni chahiye yahan to nafrat hi failayi ja rahi hai, पहले अपने राजकुमार को बचा लो। हर एक चीज के लिए मोदी जी ही जिम्मेदार हैं बाकी तो सारे हरिशचंद हैं दूध के धुले हुए हैं कुछ मीडिया वाले भी जिनकी वजह से भारत जैसे देश में यह लोग अशांति फैला रहे हैं ईश्वर इनको जल्दी से जल्दी दंड दे

ब्रिटिश_बकचोदी_चैनल जिनका अपना युवराज और प्रधानमंत्री कोरोना पीड़ित है वह विदेशी दल्ले मोदी सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं हराम के जनों सवाल उठाने हैं तो उन मुसलमानों पर उठाओ जो चीनी महामारी का प्रयोग काफिरों को मारने के लिए कर रहे हैं If lockdown was not declared or delayed.. And then after seeing 20-30k people death.. Situation would have been horrible and that time again this paid media would have come saying PM is not doing anuthing and he is just sleeping dump

Riteshkurai सवाल जितना भी करलो हम तो हमारे दिये गये सवालों के ही जवाब देते हैं। बाकी सवालों पर मौनीबाबा बन जाते हैं। Tujhe to block kar deti hoon.dalle कांग्रेस की राह पर BBC ।नहीं बचेंगे केवल नकारात्मक विचारो के साथी बनकर। BBC namaji chenal Wo bach jaigi qki inke pass dalal media hai सारे सवालों से सरकार बच जाएगी हिन्दू, मुस्लिम और धार्मिक नशा का जो इनके पास टेबलेट है. सभी न्यूज़ एंकर को खिल्ला दे देंगे और रही बात भक्त की तो वो पहले से ही नशे मे है.

Bbc सुना है ब्रिटेन के pm को कोरोना हो गया है,और प्रिंस चाल्स को भी,,,, अबे यँहा का कर रहे हो जाओ अपना pm बचाओ Tu talwe chat.ho sake to corona se mar bhi Jaana.koi jarurat nahi teri. BC first look your country😡😡😡. Ye hmare prime minister hai agr hme koi problems hoga to hm log unse baat kr lenge tu phle apne hal dekha lo BC.

सवालों से बचने के लिए तो मुसलमानो को आगे किया गया गया है!! दिल्ली के मजनूं का टीला स्थित गुरुद्वारे में 200 से ज़्यादा लोगों के मौजूद होने का पता चला CoronaVirus MajnuKaTilla Borish Johnson se aur apni maharani se sawal poocho तेरी मां की ऐसी की तैसी हराम खोर जिश देश का खाता है वहीं शेड करता है AnilVerrma सवाल करें या बबाल करें मोदी सरकार पर कोई खतरा नहीं । बस देश कोराना के हाथों में चला गया है ।

Sawal Ye Hai Ki Sawal Karega Kon? Chinese Carona jihad chal Raha hai. अंग्रेज चले गए औलाद छोड़ गए? Urban naksalites murdabad Tum jaiso ko jeb me dalke chalti hai modi sarkar.....aaa thooo! Yes agree, we hope our leadership must have had worked hard to fix the crisis. They will do it with our support. It's time to be with them.

Bach sakti hai.. Har baar ki trah.. Bas hindu musalmaan Karna hai.. Jo kar rhe hai😴 एक बीबीसी है जो सत्य को दिखा देती है वरना यह दलाल मीडिया तो हमें कुछ बताती ही नहीं उनको तो हिंदू मुसलमान से खाली हो तब ना देश के बारे में सोचें जो देश क्या झाला थी उसका सिर्फ और सिर्फ जिम्मेदार न मोदी है न बीजेपी बल्कि भारतीय गोदी मीडिया है जो दलाली की हद पार कर चुकी

पहले जाके ब्रिटेन से पूछ 😂 वास्तव में सभी ब्यूरोक्रेट्स चापलूसी,चाटूकारिता में सिर्फ मोदी जी को प्रसन्न करने में लगे रहते हैं। उनकी हर आदेश को मानते हैं कभी भी उसके भावी कुप्रभाव को नहीं बताते, परिणाम हर बंधी के बाद आमनागरीक परेशान हुए हैं। आर्थिक, शारीरिक मानसिक नुकसान अलग से झेलना पड़ता है यह विदेशी चैनल सवाल करेगा अब 😂😂

कभी खुद भी अपने बारे में सवाल कर लिया कर यार।सड़ने की भी कोई हद होती है। प्रवासी मज़दूर या विप्रवासी मज़दूर मोदी कभी आओ एनडीटीवी पर रविशकुमार के सामने दिखाओ 56 इन्ची छाती। अभी सवालों का समय नही,अभी ज़िन्दगियों को बचाने की जद्दोजहद है, ज़िंदा बचेंगे तो सवाल पूछेंगे ना। Pehle apne baap boris johnson se pucho!

आपने ब्रिटिश सरकार से भी पूछा है? या फिर बीबीसी को दुनिया में सिर्फ भारत दिखता है HardikP68353930 Sawaal? ye sunte kab hain? bas apne mann ki baat bakte hain ..Worst news channel ..i never seen before Tum ho kaun Sawaal karne wale Ur always disfavour of modi govt.... बात तो सही है। जा चुतिया अपना काम कर लॉक डाउन नहीं होता तो हमें खबर ही नहीं होती कि विदेशों से किस तरह मुसलमान भारत में आकर मस्जिदों में छुप कर रहते हैं...!!

प्रिंस चार्ल्स का क्या हाल है लंदन का देख लो पहले..... यहाँ ज्ञान न पेलो You are BBC Hindi. If anybody just listen to what you have written, one can easily identify who can tweet it. BBC Hindi should be banned from India. One would be able to find 100s of legal reasons to do that. BJP4India तुम तो इतंजार में बैठे थे कि बीमारी से व्यापक हानि हो लेकिन हुआ ठीक इसका उल्टा । और तुमको हमेशा मोदी विरोध ही करना है तो करते रहो क्योंकि तुम्हारे इस जिहादी सोंच का लोगो पर कोई प्रभाव नही पड़ता है

बीबीसी वालों की पेमेंट कांग्रेस पार्टी फण्ड से तो नही होती है ? Huge numbers of deaths in Britain but your so called queen is running from here and there. At least indian PM is facing all questions & taking all possible steps. He is not coward like Britain’s many leaders & of course queen 😜 पीएम मोदी के माफ़ी के नाटक से कुछ नहीं होता।सबको पता है ये दिखावे की माफ़ी थी। नोटबंदी में लगभग दो सौ लोगों की जान गयी लेकिन मोदी ने गलती के लिए कभी माफ़ी नहीं माँगी। निर्लज्जता से राज्यों में विधायकों की ख़रीद फ़रोख़्त हो रही है।लेकिन याद रखें हर घमण्ड का एक झारखण्ड होता है।

मुसलमानी news चेंनल। जैसे अभियान में लगा है यह समूह,लगता दंगा कराना ही इसका उद्देश्य है। चलो करा दो दंगा, खूब खबरें एवं छापने के लिए फोटो मिलेंगे, पर पढने वाले नहीं।फिर मत कहना पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। Get lost BBC, Jihadi channel मोदी जी अपनी नाकामी छुपाने के लिए भारत में कोरोनावायरस को मुसलमान बना दिया है मोदी जी महान नेते हैं 🇮🇳जय हिंद 🇮🇳

अरे भाई नोट बंदी में अर्थमंत्री, RBI गव्हर्नर को तब पता नही था ये तो आम लोग है इन्को कौन गिनंता है सवाल तो इतने है कि जिनका जवाब कोई नहीं दे सकता. तब्लीग़ी जमात के लोगों की चिंता कर जो पूरे भारत में वायरस फैला रहे हैं। मोदी के साथ पूरा हिंदुस्तान खड़ा हैं। BBC ki ma ka bsda मादर जात मोदी के साथ 100 करोड़ भारतीय चट्टान की तरह खड़े हैं ! जाके इंग्लैंड की फिक्र कर

इस देश मे 100% लाकडाउन का पालन देश के मंत्री, सासंद, विधायक ओर बड़े बड़े नेता ही कर रहे है। सब घर पर रामायण देखकर महाभारत मचाने की गोटियां फिट कर रहे! मोदी सरकार का कोई कूच बिगाड़ भी नहीं सकता तुम्हारा बाप ही रहेगा मोदी। गधे भाई मोदीजी जरूर जवाब देंगे मगर मोदी जी को सिर्फ Corona से नहीं लड़ना हैं यहां के झाहिल बुजदिल बेवकूफ और घटिया लोगों से भी लड़ना हैं समय निकाल कर गधे न्यूज़ भाई आपको जवाब देंगे मोदीजी

Yaha. Sab AndhChu. hain Inko Bas Modi Hi dikhain Deta h Insaan nahi.. MODI H THO MUMKIN H BBC बीबीसी हिंदी वाले भक्तों को पहचानते नहीं हैं इन्हें ज्ञान मत दो भेजा ही नहीं है आपके पास कोई गुफा है तो उसमें ले जाओ 😂😂 सरकार का कहना है, आप ही सवाल करिये, आप ही जवाब सोचिये! ना सोच पाये तो विपक्ष से जवाब मांगिये!

सच्चाई मत बताओ सच्चाई सुनकर भक्तों के पिछवाड़े से धुआं उठने लगता है भारतीय मीडिया की तरह आरती गाओ Dekh Lo sardana ji asali media Ye hoti hai. aajtak sardanarohit anjanaomkashyap bankers_we अबे जेहादी पहले इंग्लैंड को बचा । जाकर रोड पे नमाज पढ़ कोरोना मरीज को गले लगा और उसे पोस्ट कर। BBCWorld save your england

chu$ya apna desh bancha pahle Apko sawalo ki padi yaha logo ki Jan per ban ayi hai nijamudin walo ne pure Desh ko sankat main dal diya hai हिम्मत हो तो चौराहा पर खडा कर लो और पूछ लो । Bigg bhencho.ek question dhang ka nahi hai Ye bhakton ki nagri hai Discrimination amid pandemic, Pakistan refuses to give food to Hindus as Covid-19 rages

बी बी सी हिंदी की परवाह कौन करता है। आप अपने देश इंग्लंड की फिकर करो Why link is not open Bhok aur bhok Bilkul nahi bach sakti sarkar PM ji ko jawab dena hoga .👇 अबे BBC वालों घूम कर के ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करो टेस्ट करो रटे जा रहे हो यह करने का कितना मिला बे। मजदूर का पलायन हुआ ये भारत का आंतरिक मुद्दा था चलो ये न्यूज़ देते चलता। पर उसमे जोड़ दिया भारत ज्यादा से ज्यादा टेस्ट नही कर रहा। पूरा जमीर ही बेच दिए हो क्या चीन को।।

Tum jaise dogle ab Modi se sawal puchoge? आपके सवाल मूर्खता भरे हैं ।राजा अपनी प्रजा व देश को जानता है।सरकार सही निर्णय बहुत कूछ देख, सुन कर लेती ।देख लो मुसलिम कोरोना पौलीटिक्स सामने आ गयी । इस बात की जाँच होनी चाहिये कि क्या हजरत निजामुद्दीन के मरकज में छिपे लगभग 2300 देशी और विदेशी आत्मघाती जेहादियों ने क्या ISIS के मॉडल पर पूरे भारत में कोरोना वायरस के द्धारा तबाही फैलाने की साजिश रची थी।

अच्छा, अब आये हो मोदी से सवाल करने। पहले अपने सवाल से पार पा ले । 😳😏 Idhar kon aaya hai bhakto ka tweet padhne 😂😂😂 Tweet is for limited time Reply fast like fast RT fast Sare sawal apne piche batti bana kee daal le. दूसरों के यहाँ झाँकना बंद करे. वह दिन दूर नहीं जब मोदी जी दूसरे पप्पू न साबित हों BBC hamesha jihadi o ka support karta hai

लेख कम्युनिस्ट मानसिकता से दुषप्रेरित है।मजदूरलॉकडाउन के पूर्वदिन तक ब्यवस्थित एवं पैसा कमा रहाथा लॉकडाउनके बाद भुखमरी कैसे हो सकती है लेख में विवरण नहीं है।लेख में उठाये गये ऐसे सभी बिंदु दुष्प्रचार एवं बदनाम करने की नीयत से प्रतीत हो रहा है।काम करनेवाले को बदनाम नही करना चाहिए। शकुनी बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना

सही कहा बीबीसी ने hmmmm लेकिन वोट फिर भी मोदी जी को ही देंगे समझा लव डे 🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣 H Jab tk hindu muslman pakistan he modi ka kuch nahi bigad sakta he koe bhi Apni chinta karo.... Hamare pas modi ji he humlogo k liye देश सवाल नहीं करेगा सिर्फ और सिर्फ नेता करेंगे जिनकी नैय्या आने वाले दिनों में डूब जाएगी। आज भारत की जनता उसके साथ जो जान बचाने केलिए खुद को आगे कर एक कठिन दौर में कड़ा फैसला ले।

Sawal karne ke liye zinda rahna jaruri hai. india_fights_corona At this time let us follow the decisions taken by Honorable Prime Minister Shri Narendra Modi along with him.This is the good of all of us.Neither do politics on them nor surround them with riders.Please follow their orders. Jai Hind Jai Bharat Vande Mataram

लेकिन सहाब किसी का ज़वाब ही नहीं देते Go to Hell BBC ask questions to your PM Mr. Boris गोदी भेडिया सब सभालदेंगे । ये एक प्रकार की बीमारी है जिसे परपीड़ा सुख कहा जाता है,अन्ग्रेजी में सैडिस्ट,बिजेपी और भक्त इस बीमारी से ग्रस्त हैं,इन्हे दूसरों को तकलीफ में पंहुचा कर मजा आता है । Anyone who has self respect will NOT visit others home if they did not get respect. But are such a asshole who do not have any self respect. They have to peep into other’s affairs even if asked to mind their coverage in their own nations. Bullshit

Moron. Go and blabber about UK conditions. manuwadivirus kya baat bolta bhai .kiska himmat sawal puch le K चार दिन शिवराज मामा के लिए रुक सकते हैं लेकिन एक दिन मजदूरों के लिए नहीं। हमारी सरकार सही काम कर रही है कुछ लोग हैं जो कोरोना को देश मे फैलाना चाहते है मुसलमान कभी सुधर ही नहीं सकता Bkl tere PM ko Corona ho gya use bcha na pahle

बीबीसी वालो कुछ ब्रिटेन के अच्छे काम और वहां की Corona को काबू करने के लिए किए गए उत्तम कामों का भी उल्लेख कर लो । Chup bilkul Bikau Channel...openly saying this. Ask questions to Sonia Gandhi, Rahul Gandhi Kejriwal and Molana who are always distorting this country. Understood. सरकार ने वहां से निकाल कर बहुत ग़लत किया वही निजामुद्दीन छेत्र को सिल कर चाहिए था

तू अपना रण्डी रोना ब्रिटेन में बता या दिखा You are anti Indian abe chutio..bs kro..ku apni g****d mra rhe ho बी बी सी वालों, मुल्ला मौलवियों से पूछो, क्या अल्लाह ने कोरोना वायरस से मरने को कहा हैं puriyash41 Save India 🇮🇳 La dooba 📍 CORRECT Tu hota kon hai puchne baala dalla Abe chutiyon tum salle BBC apni Gan sambhalo, Modi ji know what's going on and peoples in Bharat are in better position then your so called colonial British peoples. 🖕

Fack news nhi felao BBC walo भक्क तेरी बहन को सुवर चो%&*$ BBC के मालिकों के राजघराना नही बच पाया कोरोना से, बताइये कारण। अरे, पहले ईटली, अमेरिका काे पाठ पढाओ KBC chal raha hai BC सवालों से बचने के लिए ही तो ताली थाली घंटी बजाने को बोला गया और अब मिडिया को नेजामुद्दीन का मीडिया_वायरस को मिल गया communal राग अलापने के लिए ताकि लोग प्रधानमंत्री की गलती को छोड़ एक community को देने लगे.

Modi ji we are with you and these people are bastards as they can only criticize you including bbc कैसे सवाल लाॅकडाउन का पालन क्यो नही किया Modi govt. Sach se darti hai, question se darti hai. Modi uski fault chupane k liye Hindu Muslim karwara hai. BycottBBCNews fake news , desh virodhi baate bs karta hai, ब्रिटिश ब्रॉडकास्ट है,

इसमें मोदी सरकार क्या कर सकती थी/है सरकार का इंफ्रास्ट्रक्चर बहुत मज़बूत नहीं है अमेरिका की हालत कितनी अच्छी है आंकड़ा देखिए? इटली स्वास्थ्य में No. 2 पर उसकी हालत तो दैनिय साबित हुई प्रधानमंत्री ने तो साफ़ कहा चेन तोड़ना ही एकमात्र विकल्प है हम सफ़ल ज़रूर होंगे 1ALOKJOSHI अबे पहले अपने देश के पीएम बोरिस जॉनसन को तो बचा ले मर रहे है अंग्रेज़ साले

सरकार को यदि पता होता कि कुछ नेता जान से भी खिलवाड़ करके मजदूरों को भड़का देंगे, तो 4 दिन पहले ही कार्यवाही कर दी गई होती, सब निकलेंगे एक एक करके, हम लोगो को सब समझ आता है हमे सरकार से किसी भी जवाब की जरूरत नहीं, हम हिन्दुस्तानी वोटर भरोसा करते है मोदी सरकार पर, ये सब बातें हैं बातों का क्या दुनिया का सबसे रोग क्या कहेंगे लोग...

दिल्ली चुनाव में लगे थे, फिर मध्य प्रदेश के विधायक का अपहरण में लगे थे उसके बाद मध्यप्रदेश की चुनी हुई सरकार को गिराने में लगे थे, वहां के विधायक को अपहरण कर के उसे जबरन खरीदने के लगे थे। मोदी सिर्फ सत्ता का भुका है।(2/2) अभी भी धरातल पर solution ढूँढने के बजाय ठीकरा किसपे फोड़ना हे वो सिर ढूँढ के रोज़ बदले जा रहे, ये वो केस नही ही मोटा भई की ध्यान भटका दो बस , लाशों का अम्बार लगना शुरू हुआ अगर तो कुछ न बच पाएगा आप भी नही हम भी नही वो भी नही

कभी जभी इमरान सरकार की भी दिखा दिया करो हमे अपनी सरकार में कोई खोट नजर नही आ रहा लेकिन कुछ मीडिया वालों की नीयत साफ नही दिख रही है और तो सब ठीक चल रहा है और सबकुक सरकार के इसी हिसाब से चलेगा सुन ले बो ताकते 56 इंच क्या समझे guru9899 वो सवाल का जवाब भी नही चाहिए ,हम कोरोना से बचे हुए है ये मोदी सरकार की ही देन है ,

देश को बर्बाद करने के लिए यह फ़कीर झोला छाप कोई कसर नहीं छोड़ेगा। बिना तैयारी नोट बंदी, बिना तैयारी जीे एस टी, बिना तैयारी घर बंदी, कोरोना से लड़ने का कोई भी तैयारी नहीं। जनवरी में डबलू एच ओ ने गाइडलाइन जारी किया सरकार को लेकिन यह ट्रंप की दलाली में लगे थे, (1/2) दुखद हकीकत यह है कि केन्द्र सरकार की प्राथमिकताएं कोरोना की रोकथाम से ज्यादा, अहमदाबाद में अमरीकी राष्ट्रपति का स्वागत-सत्कार तथा मध्य प्रदेश में चुनी हुई कमल नाथ सरकार को गिराना था 🙄

कुछ नया लिखिए ये तो पुराना हो गया पहले तू अपने मुल्लों को बचा ले मोदी सरकार से BBC चूतिये मीडिया_वायरस abpnewshindi ZeeNews News18India IndiaTVHindi NewsNationTV aajtak ndtvindia ANI आपको नागरिकों को जोखिम में डालने का लाइसेंस मिला। दैवी समूह को लगता है कि कानून को धता बताना और साथी नागरिकों को जोखिम में डालना सही है। फिर भी पहली पंक्ति में संसाधनों का दावा करने के लिए पहुंचे। भारत उन्हें जोखिम में डालकर विदेश से वापस लाता है, लेकिन आभार व्यक्त नहीं किया गया

Comments me gobar bhakto ko dekho kaise bilbilane lge headline dekhkar unke pappa ko koi na sawal puche. Wo thukenge v na to bhkt chaat lenge. Nichta oa v limit hoti hai Bbc jab is bimari Ko WHO badawa dene me chaina ka sahyog kar rah taha tab aap kanha the hara desh sanatan ka desh ha gayan ki bat WHO or CHAINA ko kiyo nahi deta bbc

Bacha sakta he hindu Muslim karkar ' मरकज़ निजामुद्दिन ' वाले हो क्या 😡 ' कोरोना फैलाने में लगे रहो ' साले क्युटियों... 😠 तु होता कौन है पुछने वाला He may not be handling coronavirus situation well but nicely handling media. you always show wrong news . why you not show that muslims those spread corona to whole counrty . are u also stand with those NizamuddinMarkaz

अपना इंग्लैंड को बचाओ मोदी की फिक्र मत करो।उनके साथ 130 करोड़ है। कोरोना चीन से पैदल चलकर तो भारत में आया नहीं होगा देश में सबसे पहला संक्रमित कौन था और कहाँ से भारत आया एयरपोर्ट पर चैकिंग क्यों नहीं हुई उसकी एयरपोर्ट पर कोरोना संक्रमित को यदि समय रहते चैक कर लिया होता तो आज भारत को लॉक_डाउन की जरूरत नहीं पड़ती

Nijamuddin m jo hua wo un jihadiyo ki mansikta batata h insaniyat ke dushman h wo log UK इंग्लैंड वाले मर रहे हैं जा के उनसे सवाल पूछ ना । लॉक डाउन नहीं होता तो हमें खबर ही नहीं होती कि विदेशों से किस तरह मुसलमान भारत में आकर मस्जिदों में छुप कर रहते हैं...!! लोकहितार्थ सुस्वागतम। Tu hota kon hai भोसडीके puchhne wala रण्डी के पिल्लों

हा भोसड़ी के तू होता कौन है पूछने वाला ना बचने दो पर मरकज तोबच जाएगी Tu apni bacha bsdk

31 मार्च कोरोना वायरस अपडेट: जानिए चंद मिनटों में कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबरCoronaUpdate CoronaLockdown 31 मार्च कोरोना वायरस अपडेट: जानिए चंद मिनटों में कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर At any condition we will win and corona will defate. COVOD19 IndiaFightsCorona request district administration of major religious centers eg Mathura/Vrindavan/Varanasi/Haridwar/Rishikesh/Ujjain/Allahabad/Ajmer etc where several Ashrams/Hostels r being run & foreigners visit such places frequently to check all such plaves PMO YogiAdityanath NarendraModi

कोरोना का कहरः जीबी रोड पर फंसी हैं 2000 से ज्यादा यौनकर्मी, 200 से ज्यादा बच्चेजीबी रोड के करीब 2000 से अधिक यौनकर्मी अपने ठिकानों में ही बंद हैं, वैश्यालयों के मालिकों ने तालाबंदी के कारण जिस्मफरोशी का कारोबार बंद कर दिया है. TanushreePande दुखद है TanushreePande Iske liye raghav chadha theek hai usko bhejo khane ka packet lekar jaega bahut bolata hai TanushreePande पता न ई सब मोदी जी को वोट दिया था कि नही

जयपुर: तेजी से बढ़े कोरोना के मरीज, 84 निजी अस्पतालों को कब्जे में लेगी सरकारजयपुर में जिस तेजी से कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा उसे देखते हुए सरकार ने शहर के 84 निजी अस्पतालों को कब्जे में लेने का फैसला लिया है. इससे संबंधित आदेश भी जारी हो चुका है. Friends, we can only defeat this epidemic by locking ourselves down. स्थिति नियन्त्र से बाहर होती जा रही है It must be done imm to save jaipur citizens

कोरोना: मस्कट से लौटे एक शख्स ने राजस्थान में फैलाया वायरस, सरकार के लिए बना सिरदर्दजयपुर का रामगंज मोहल्ला सरकार के लिए बड़ा सिरदर्द बन गया है. इलाके में कोरोना का प्रकोप ऐसा फैल रहा है कि हर रोज 2 से 3 नए मरीज सामने आ रहे हैं. sharatjpr sharatjpr रिट्वीट करिए ।...👇👇👇 मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस sharatjpr मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस मीडिया_वायरस

कोरोना वायरस: क्या है भारत के सबसे उम्रदराज़ शख्स की कोरोना पर जीत की कहानीकेरल के 93 साल के एक बुजुर्ग और 88 साल की उनकी पत्नी ने हाल ही में कोरोना वायरस से जंग जीती है. well👍

ये हैं देश के 10 कोरोना हॉटस्पॉट्स जहां लगातार बढ़ रहे हैं कोविड-19 के मरीज

चीन के साथ सरहद पर तनाव को लेकर पीएम मोदी का 'मूड ठीक नहीं' है: ट्रंप मोदी सरकार में मध्यम वर्ग क्या ताली और थाली ही बजाएगा? सोनिया गांधी की डिमांड- प्रवासी मजदूरों के लिए खजाना खोले मोदी सरकार खबरदार: पुलवामा पार्ट-2 में पाकिस्तान की भूमिका का विश्लेषण दिल्ली: AAP विधायक प्रकाश जारवाल की जमानत अर्जी कोर्ट से खारिज राहुल की मांग- लोगों को कर्ज नहीं, पैसे की जरूरत, 6 महीने तक गरीबों को आर्थिक मदद दे सरकार कोरोना पर बोले उद्धव ठाकरे, शुरुआत में नहीं की गई सही तरीके से जांच कोरोना: 46 घंटे की ट्रेन यात्रा, सिर्फ दो बार खाना और तीन बार पानी चीन को घेरने के लिए बनाया चक्रव्यूह! किसी भी चाल को कामयाब नहीं होने देगा भारत PM से हुआ प्रभावित, 10वीं के छात्र ने बना डाली 'टचलेस ऑटोमेटिक सेनेटाइजर मशीन' प्रवासी मज़दूरों से किराया नहीं लिया जाए - सुप्रीम कोर्ट