कोरोना: किसानों और मज़दूरों को भूल गई है सरकार?

कोरोना लॉकडाउन से प्रभावित असंगठित क्षेत्र को सरकार क्या भूल गई है?

25-03-2020 18:18:00

कोरोना लॉकडाउन से प्रभावित असंगठित क्षेत्र को सरकार क्या भूल गई है?

कारोबारियों और नौकरीपेशा लोगों को आर्थिक राहत देने वाली सरकार दिहाड़ीदारों, खेतिहर मज़दूरों और किसानों के लिए क्या कर रही है?

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटGetty Imagesवित्त मंत्रालय में जारी लगातार बैठकों और विचार-विमर्श के बाद मध्यम वर्ग और कॉर्पोरेट जगत को कोरोना से निपटने के लिए एक के बाद दूसरी राहतों का एलान हुआ.इसके बाद भारत के 50 से अधिक समाजसेवियों, बुद्धिजीवियों और राजनीतिज्ञों ने केंद्र और राज्य सरकारों को ख़त लिखकर लगभग 40 करोड़ से अधिक दिहाड़ीदारों, खेतिहर मज़दूरों, छोटे किसानों, वृद्धा पेंशन भोगियों और झुग्गी-झोपड़ियों में रहनेवालों विशेष वित्तीय मदद दिए जाने की अपील की है.

कई भाजपा नेता कोरोना संक्रमित, राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम का समय सही है? सुशांत सुसाइड केस में जांच पर क्यों हो रहा है बवाल? सुनिए क्या बोले संजय राउत सुशांत सिंह के सच से किसको डर? देखें हल्ला बोल

ख़त भेजनेवाले लोगों में से एक समाजसेवी रीतिका खेड़ा कहती हैं काम बंद हो जाने और रोज़ कमाने, रोज़ खानेवाला ये वर्ग महामारी से सबसे अधिक प्रभावित हुआ है लेकिन हुकूमत के ज़रिए दी गई राहतों में 'क्लास बाएस' यानी एक ख़ास वर्ग के लिए पूर्वग्रह साफ़ देखा जा सकता है.

हालांकि, सरकारी सूत्रों का कहना है कि सरकार इससे किसी भी तरह से अनजान नहीं और न ही इसे नज़रअंदाज़ करने की कोशिश कर रही है, बल्कि इसे लेकर तैयारी जारी है.रीतिका खेड़ा कहती हैं,"कामबंदी के बाद इनमें से बहुत के पास तो खाने को नहीं और सात-आठ फ़ुट लंबी और शायद उससे भी कम चौड़ी झुग्गियों में रहनेवालों के लिए सोशल डिस्टैंसिंग महज़ एक लफ़्ज़ है."

इमेज कॉपीरइटGetty Images19 मार्च को देश को दिए गए संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 इकॉनोमिक रेस्पॉन्स टास्क फ़ोर्स का एलान किया था. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़, इसके बाद हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम लीडर निर्मला सीतारमण ने वित्तीय राहतों को लेकर किसी टाइम टेबल या समय निर्धारित करने की बात से इनकार किया.

हालांकि, उसके बाद निर्मला सीतारमण ने इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल करने की तारीख़ को 31 मार्च की जगह 30 जून करने, जीएसटी रिटर्न दाख़िल करने की तारीख़ को भी जून के अंतिम सप्ताह में करने, बैंकों में मिनिमम बैलेंस की ज़रूरत नहीं होने, और बोर्ड मीटिंग करने की अविध में छूट जैसी राहतों का एलान किया. लेकिन इन्हें सीधे असंगठित क्षेत्र में कामगर लोगों को राहत पहुंचाने की श्रेणी में नहीं देखा जा रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार शाम देश के नाम फिर एक भाषण दिया जिसमें स्वास्थ्य के क्षेत्र को मज़बूती प्रदान करने के लिए 15,000 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की, लेकिन उससे ये साफ़ नहीं हो पाया कि 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान दिहाड़ी मज़दूर और असंगठित क्षेत्र में काम करनेवाले किस तरह गुज़ारा कर पाएंगे.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesसोशल मीडिया पर सवाल किए जा रहे हैं कि जब केरल अपने बलबूले 20,000 करोड़ के राहत पैकेज की बात कह रहा है तो प्रधानमंत्री की घोषणा महज़ 15,000 करोड़ तक ही क्यों सीमित है?लेकिन प्रधानमंत्री का ये एलान सिर्फ़ स्वास्थ्य क्षेत्र को लेकर है.

रामेश्वरम में दिखा सूर्य का अद्भुत नजारा, देखते रह गए लोग - trending clicks AajTak कोरोना महामारी: ब्रिटेन में अब कोरोना का टेस्ट सिर्फ़ 90 मिनट में कोरोना बना रोड़ा, अयोध्या आंदोलन के बड़े चेहरे भूमि पूजा में नहीं होंगे शामिल

हालांकि सरकारी सूत्रों का कहना है कि सरकार इस बारे में अंसगिठत, पेंशनधारी और दूसरे वैसे वर्ग के लोगों के बारे में जानकारियां जुटा रही हैं और इसको लेकर जल्द ही कोई ठोस नीति सामने आएगी.वित्त मंत्रालय इस मामले में नीति आयोग की भी मदद ले रहा है जहां सर्विस सेक्टर, जो सबसे अधिक असंगठित क्षेत्रों में से एक है, से जुड़े लोगों से पिछले कई दिनों से बैठकें जारी हैं.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesबहुत कुछ किया जाना बाक़ीकेंद्र और सुबाई हुकूमतों को भेजे गए ख़त में कहा गया है कि असंगठित क्षेत्र के मज़दूरों और समाज के दूसरे कमज़ोर तबक़ों को 'एक बार दी जानेवाली आकस्मिक राहत' में 3.75 लाख करोड़ रुपयों की दरकार है, जो भारत के जीडीपी का महज़ एक फ़ीसद है.

मानवाधिकार कार्यकर्ता हर्ष मंदर ने कहा कि सरकारें जब सुनतीं नहीं तो हमें उन्हें याद दिलाना पड़ता है.इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी भेजकर असंगठित क्षेत्र के मज़दूरों को सामाजिक सुरक्षा नीति के तहत विशेष भत्ता देने की बात कही थी.

सोनिया गांधी ने कहा था ये राहत इस बाबत जमा की गई वेलफेयर फंड से ख़र्च की जा सकती है.मंगलवार को ही राज्य के श्रम मंत्रियों को भेजे गए ख़त में केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने निर्देश दिया है कि फंड की जमा 52,000 करोड़ निधि का इस्तेमाल निर्माण क्षेत्र में लगे मज़दूरों के खाते में सीधे फंड ट्रांसफ़र करने में किया जाए.

पंजाब ने पहले ही निर्माण क्षेत्र में लगे पंजीकृत कामगारों में से हर एक को 3,000 रुपये देने का ऐलान किया है. हिमाचल इस बाबत हर ऐसे मज़दूर को एक हज़ार रुपये देगा.मुल्क में इस वक़्त निर्माण क्षेत्र में साढ़े तीन करोड़ पंजीकृत मज़दूर हैं.सरकारों को जो ख़त सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भेजा है उसमें कम से कम तीन माह का मुफ्त राशन मुहैया करवाने, जो बेधर हैं उनके लिए रहने का इंतज़ाम और सामूहिक रसोई लगाकर दिन में दो बार खाने की व्यवस्था करने की अपील की है.

और पढो: BBC News Hindi »

bhanwarmegh हमरे देश में 90% मजदूर किसानों का पंजीकरण नहीं है उनके पास सरकारी राशन और मुवजा कैसे पहुंचेगी सरकार जनता को मूर्ख बनाना छोड़ दे यह जनजीवन का समस्या है इसे वोट बैंक ना बनाया जाए चाहे वह शासक पक्ष हो या विपक्ष Dear_PM_We_are_hungry narendramodi NitishKumar What about British gov? Why are you delivering fake news? Govts. taking all necessary Actions & yesterday declared Huge package for needy people

और भी ग़म हैं ज़माने में तेरे ग़म के सिवा BBC chutiyon ki fauj hai... Sale Britain ki chinta kar.. Hamlog apne desh ko khud sambhal lenge... Aisi tasawir dikha dikha ke TRP badalete ho AP ka bhi kuch jimmedari banata hai samaj keliye Sir kisano ke liye kya hoga Govt Sabhi tabko ka pura khayal rakh rahi hai.. aur hamen pura vishwas hai him sab jaldi hi ish samashya ka samadhan nikal lenge.. Lekin tum aapna chutiapa chalu rakho thoda time pass ho jata hai reply karne mein.. bbchindifakenews

BBC न्यूज को अब शाहीनबाग की बिरयानी नहीं मीले गी ? भारत और चीन 50% से अधिक जनसंख्या की जिम्मेदारी सफलतापूर्वक संभाल रहे है, ब्रिटेन, जर्मनी जापान नही। U. K KE NEWS NAHI HOTI WAHA KAYA HALL CORONA KA PRINCE CHARLES KA KITANAE POSTIVE H CORONA SAE यह बिलंब से उठाया गया कदम है। सरकार की कोई तैयारी नही रहती है। जब मामला बेकाबू होने की स्थिति होने पर कदम उठाती है। इनका मंत्रिमंडल समूह किसी काम का नही है।

Kuch credibility h news ki, आप लोग चीन से भी पुछ लेते आखिर इतना खतरनाक virus कैसे फैलाया और पूरी दुनिया मे तबाही का समान कैसे भेजा ऐसा प्रतीत होता हैं कि कुछ मीडिया केवल भारतीय सरकारो की आलोचना करने का ही काम करती है क्योंकि इटली मे बाहर निकलने पर जुर्माना हैं कोई नही बोल रहा हैं लेकिन भारत सरकार के प्रयासो की आलोचना हो रही हैं क्या आप को नही पता जो निर्माण मजदूर हैं वो ज्यादातर भूमि हीन हैं।

सरकार के पास है क्या सिवा घंटा बजाने के ? अभी तो इससे भी बुरा हाल होगा । बीबीसी की अम्मा को भूल गई है सरकार!! बीबीसी bale जेहादी h Why the airlines were not stopped by the Centre govt. when the virus entered into Europe in Feb and into china in dec? Second,Centre govt. didn't ensure proper screening at the airport.Last international flight lands at Delhi airport on 23 March when the janta curfew was imposed.

Muslims behavior on coronavirus Shameless people islamic_radical_terrorism . They play Victim card if police or government take action अरे एलिजाबेथ का ये पिक किधर से मिला Sarkar NY lock down kiya hum full support karty hai laikin sarkar k zimmidari hai UN gareeb awaam aur mazdoor logo ki madad karein , jo roz Kama k khatein hai wo bechary 21 din kya karengy

रंडी की औलाद सरकार किसी को नही भूली है,यहाँ तक कि तुम लोगो को भी जो देश के विरोध में अफवाह फैला रहे हो,किसी दिन हत्थे लग गए तो लोग दूसरी बार कभी पत्रकारिता में वेश्यावृत्ति नहीकरोगे,कांग्रेसियो ने करने दिया पर अब तुमलोगो का बाप एयर भारत माँ का सपूत और लोगो का दुलारा मोदी जी pm है Answer: No A international news channel which is antii BJP.....nothing more than this.....Bilkul Bakwas Channel.

Yes Congress कोंग्रेस वाले हमेशा मज़दूर को भूल जाते थे। सिर्फ़ चुनाव पे याद करते थे। मोदी सरकार की सम्भावना अटल है। वो किसीको नहीं भूलते है। ग़द्दार मुसलमानो को भी नहीं ना तो christians ख्रिस्ति को। British Bakwas Channel. Why every time negative story by BBC ? Indian Govt is doing good job and giving all possible facility to daily wages workers and farmers

भेदभाव करने वाली सरकार वृद्धावस्था के कारण सब कुछ भूल गई है और बुद्धि का प्रयोग असंभव हो गया है। ३० करोड़ गरीब को मारने के लिए तैयार That's why everytime I saying, in these lockdown days, stay away from fake channels, watch only trusted 10000% सच btante wale like ndtvindia TheQuint or ye na samjhe ki ye to Hinduism ke khilaf hai ya Modi ke khilaf h, nhi ye kisi ke khilaf nhi h, ye sach dikate h 🇮🇳

गांड नही धोने वाले अब हमें हाथ धोना सीखा रहे है.... फिंरंगी पहले अपने देश पर ध्यान दे... असंघटित क्षेत्र के लिए हम देशवासी है.... समझे लेखक मुहम्मद फैसला अली सूत्रधार रितिका खेड़ा, यानि चोर का गवाह जेबकतरा तुम क्यों पतले हो रहे हो हम निपट लेंगे तुम अपना देश संभालो 💔 Kuch log ki life par koi neta log baat he nahi karta jo bahut jaruri hain

Only jumlebazi chotyapa ho Raha h Only jumlebazi इंग्लैंड में और पाकिस्तान में ज्ञान बाँटो। जेहादी बामियों की सलाह की जरूरत नहीं है। एक बामी मेयर ने इटली को चायनीज वायरस से कब्रिस्तान बना दिया। BBC jakar London me dekho..yaha tho hamari sarkar deklegi A koi neya baat nehi hai sarkar humesa logo ko bhul ja ta hai

अबे चुतियों बीबीसी वालों पगलट पहले खुद का देश देखले उसके बाद हिन्दुस्तान की बात करना..... हरामी सुअर Sarkar sirf ADANI AMBANI TATA jese logo ko janti h sirf सायद आप लोगो को पता नहीं हमारे देश में सर्व प्रथम परमेस्वर किसान ओर मजदूर ही है उनेहे केसे भुलेगे उनसे हीं यह संसार सुचारू है उमेहे भुल जाय्गे तो सब खत्म हो जायगा आप भी जय हिन्द

तू पाकिस्तान और अपने राजा की चिन्ता कर हम अपना देख लेंगे LallanPr Sayad, mera Bhi ehi man na hey. हम अपना देख लेंगे तू अपने मुल्ले अकाओ और अग्रजो को देख, था पंचायत करने की जरूरत नही, चल निकाल अर्बन नक्सल के गुलाम बीबीसी It's Seems Supports that the Lakhs were dies due to Chinavirus so they were Spreading Not the Awareness instead Provoking People to Come Out.

नहीं। राशन दुकान में चावल रू३ ,गेहूं रू२ में denekinvyavasyha है। पर इन गरीबों के लिए यह मुफ़्त ने देते तो अच्छा था। अवश्य ध्यान रखना चाहिये। बहुत संवेदनशील स्थिति है। किसी को नही भुली है पूरे 135 करोड़ जनता के लिये काम कर रही है । आप अपना ख्याल रखे BBC pl tell about UK Pl wait सही बात है सीधा सीधा भगवान अपने समर्पित भक्तो की ही परीक्षा लेता है....

That is the reason we need NPR so that everybody get accounted सब के सब बड़े शहरोँ के रहनेवाले टर टर कर रहे हैं उन्हें राशन उपलब्ध हो रहा है अब वे 'गरीबी हटाओ' वाले काँग्रेसी शासनकाल वाले मजदूर नही रहे ration लेने काम करने बाइक पर जाते हैं देख लो Responsible bussy hai corruption me सरकार कुछ नही भूली , फेक न्यूज बंद करो । चार्ल्स भाई को कोविद 19 कैसे हुआ ? इंडिया में राजनीति इस वक्त करोगे तो इंडियनस बीबीसी से रीश्ता तोड देंगे।

Kaisa channel h ise kuch khud b nhi pata hota h हां आप और आपके कांग्रेस के सेवा दल पप्पू जी के दिशा निर्देश पर क्या कर रहे हैं , कहें RSS से शिक्षा लें ! अरे आप के Prince को कोरोना कैसे होगया भई अपने देश की चिता करो ! जो गरीब सम्मानित जीवन जीना चाहती है सरकार चाहती है वो भीख मांगे तब सरकार उनकी थोड़ी मदद करके अपना ढेर सारा प्रचार करके अपना कद बढ़ा सके।

Most of the BBC News are anti-national or against the nation interest. Its just like propagating propaganda. Govt. of India is looking everyone. State Govt. is also doing. Especially muslim journalist are reporting anti India sentimenta.someone has to take action Bhind lahar मे गरीबी से परेशान विपदा की बुरी स्थिति न आये पर अगर आती है तब सरकार को दिल्ली उत्तरप्रदेश सरकार की तरह सहायता प्लान लागू करना चाहिए जिसमें बंद की स्थिति में गरीब जन को राशन और आर्थिक सहायता सरकार द्वारा मुहैय्या किया जाए , सरकार का जस बढेगा व साधुवाद होगा 🙏🏻🙏🏻

Yes उन्होंने कहा जो ज़ंहा हे वंही रहे...केसे रहे ये नही .. हम क्या करेंगे उनके लिए ये भी नही ... इटली वालों जेसी आवाज़ आइ की सिर्फ़ जवानो को बचाओ बाक़ी का wait करो हमारे यंहा ज़्यादा बूढ़े नही हे तो ये हे क्योंकि असंगठित क्षेत्र के लोग मोदी को वोट नहीं देते इसलिए सरकार ने उन्हें भूखे-प्यासे मरने के लिए छोड़ दिया ।

बहुत जल्द गरीबी दूर करेंगें गरीबों को हटाकर ।। नारायण नारायण Yes of course...😢🇮🇳🙏 tumse na ho payega...india hai ye sb sjhti hai or jaanti hai. Hmara desh or narendramodi sbki sochte hai...tum bs pakistan ki socho Sahi किसानों की फसल काटने को खड़ी है , उस पर स्टैंड क्लियर करे सरकार। England में क्या होता है? जल्द ही BBC की औकात सामने आने वाली है । इंडिया से कई गुना disaster हो सकता है ।

narendramodi ਬਹੁਤ ਵਧੀਆ ਉਪਰਾਲਾ ਇਸ ਡੇਅਰੀ ਵਾਲੇ ਦਾ| ਬਾਕੀ ਦੁਕਾਨਦਾਰਾਂਅਦਾਰਿਆਂ ਨੂੰ ਪਿੰਡ ਵਾਲਿਆਂ ਤੋਂ ਕੋਈ ਸਿੱਖਿਆ ਲੈਣੀ ਚਾਹੀਦੀ ਹੈ ਤੇ ਇਸ ਵਿਵਸਥਾ ਨੂੰ ਨਮੂਨਾ ਬਣਾ ਕੇ ਜਨਤਾ ਸਾਹਮਣੇ ਪੇਸ਼ ਕਰਨੀ ਚਾਹੀਦੀ A perfect example of social distance in current scenario. and other shopkeepers, outlets should take this as example nhi bhuli hai election ke waqt yaad aate hai ye

तू पाकिस्तान और अपने राजा की चिन्ता कर हम अपना देख लेंगे

महाराष्‍ट्र, पंजाब और चंडीगढ़ में लगाया गया कर्फ्यू, दिल्‍ली और राजस्‍थान में लगाने की तैयारीमहाराष्‍ट्र, पंजाब और चंडीगढ़ में लगाया गया कर्फ्यू, दिल्‍ली और राजस्‍थान में लगाने की तैयारी lockdownindia LockdownMaharashtra lockdownDelhi LockDownMumbaiPune LockDownPunjab Curfewinpunjab curfewinmaharashtra That’s is the only solution, otherwise horrible situation. Stop it 2 level . To fight against CORONA VIRUS URGENT AND IMMEDIATE ACTION For MUNICIPALITY'S OF BOMBAY AND THANE TO IMPOSED LAW TO BREAK CORONA CYCLE INTO COMMUNITY:- 'ASK ALL THE RESIDENTIAL SOCIETIES TO PUT WASH BASIN WITH SOAP AT ENTRANCE GATE OF SOCIETY' Surely this will help as a main role

150 रुपये से कम में Jio और Vodafone के प्लान्स, जानें बेनिफिट्स और वैलिडिटीVodafone Recharge Plans vs Reliance Jio Recharge Plans: 150 रुपये से कम में Jio 129 Plan, Jio 149 Plan के अलावा Vodafone 19 Plan, Vodafone 129 Plan और Vodafone 149 Plan मिलेगा।

कोरोना वायरस: डेडिकेटेड हॉस्पिटल, फ्री खाना और सैलरी के साथ मदद को तैयार है रिलायंसMaharashtra News: रिलायंस फाउंडेशन ने मुंबई में ऐसा पहला सेंटर बनाया है, जिसे कोरोना वायरस के मरीजों के लिए समर्पित किया गया है। इस सेंटर में 100 बेड का इंतजाम किया गया है। Bahut chhoti suruwat hai CSR ACTIVITIES carry on

कोरोना को लेकर आई राहत भरी खबर, गर्मी और नमी से कम हो सकता है प्रभावकोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच आई राहत की खबर, गर्म मौसम से पड़ सकता है फर्क PMOIndia realDonaldTrump WHO Coronavirus Covid19 pandemic WHO PMOIndia realDonaldTrump WHO आप सभी से निवेदन है की इस समय देश बहुत नाज़ुक दौर से गुज़र रहा है. ऐसे समय में हम सभी का कर्तव्य है की सरकार, पुलिस अधिकारी एवं अन्य सरकारी अधिकारियों की बात सुनें और सहयोगकरें. अफ़रा तफ़री ना फैलायें, घर पर रहें CoronaVirus COVIDー19 PMOIndia realDonaldTrump WHO Pagal patrika 56 degree celcius me Marta hai corona. 45-50 me to pahle insan hi marega na PMOIndia realDonaldTrump WHO गलत सूचनाएं न फैलाइये

पीएम मोदी ने शिवराज सिंह चौहान को दी बधाई, बताया कुशल और अनुभवी प्रशासकप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर शिवराज सिंह चौहान को बधाई देते narendramodi ChouhanShivraj कभी देश की जनता का भी प्रभाव कर दिया करें narendramodi ChouhanShivraj कहाँ तक रोया जाए, कोरोना का रोना, सबसे जरूरी काम है, सरकार में होना ।। “वाह रे समाज के विक्षिप्त प्रहरियों' narendramodi ChouhanShivraj 'सत्यमेव जयते' सत्य की विजय रही, झूठ अपने आप हुआ परास्त।। राम राज्य की स्थापना, तथा दिखावा की राजनीति का दुखद अन्त, एंव बड़बोले राजनीतिज्ञों का मुह काला हुआ।।√√।।

कोरोना वायरस: जेलों में भीड़ कम करेगी दिल्ली सरकार, कैदियों को देगी विशेष पैरोल और फर्लोकोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर दो वकीलों ने जेलों में भीड़ कम करने की मांग की थी और कहा था कि 5200 कैदियों की क्षमता वाले तिहाड़ जेल में 12,100 से अधिक कैदियों को रखा गया है और देश में अधिकतर जेलों की ठीक ऐसी ही स्थिति है. Tumhare dada par dada bahar nikal rahe hai swagat nahi karoge uska What about Dr Kafeel