कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया

कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया- नज़रिया

28-03-2020 10:30:00

कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया- नज़रिया

किसी भी महामारी की सबसे बड़ी मार हाशिए पर मौजूद ग़रीब तबका सहता है.

आम तौर पर अमीर और मध्य वर्ग का मानना यह रहता है कि महामारियां ग़रीबों के कंधों से होकर पैर पसारती हैं. लेकिन, अगर इतिहास पर नज़र डालें तो पता चलता है कि महामारियां अभिजात्य और उच्च तबके के हाथों ही मध्य वर्ग और फिर ग़रीबों तक पहुंचती हैं.मैं इलाहाबाद के पास एक गांव में रहने वाले एक उम्रदराज़ शख्स से फ़ोन पर बातें कर रहा था.

'2021 की शुरुआत में मिलेगा कोविड-19 का टीका', राहुल गांधी से चर्चा में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का दावा - BBC Hindi संकट में प्रवासी मजदूर: भूख-प्यास से बेहाल मां की स्टेशन पर ही मौत, जगाने की कोशिश करता रहा बच्चा डोनाल्ड ट्रंप भारत-चीन सीमा विवाद पर मध्यस्थता के लिए तैयार

बात कोरोना और उससे बचने की हिदायतों से जुड़ी हुई थी. बात के बीच में उन्होंने मुझसे पूछा,"कोई भी महामारी ग़रीबों के कंधों पर चढ़कर आती है या अमीरों के."यह मेरे लिए एक यक्ष प्रश्न की तरह था. शहरी मध्य वर्ग के किसी भी आदमी से अगर आप यह सवाल करें तो वह तुरंत बोलेगा,"ये झुग्गी-झोपड़ी वाले, मज़दूर, स्लम में रहने वाले लोग गंदे ढंग से रहते हैं और गंदगी फैलाते हैं. इन्हीं गंदगियों से महामारियां फैलती हैं."

क्या हैं इतिहास के सबक?अगर दुनिया में अब तक आई महामारियों के अनुभवों को खंगालें तो हमें चौंकाने वाला जवाब मिलता है.चाहे सन् 165 से 180 के मध्य फैला एन्टोनाइन प्लेग हो या 1520 के आसपास दुनिया भर में फैला चेचक (स्मॉल पॉक्स) या पीला बुखार (येलो फीवर), रसियन फ्लू, एशियन फ्लू, कॉलरा, 1817 के दौरान फैला इंडियन प्लेग हो, सभी के फैलने के रूट की मैपिंग करें तो साफ़ जाहिर होता है कि इन सभी महामारियों का पहला कैरियर अमीर वर्ग के कुछ लोग या अमीर वर्ग में एंट्री करने की जद्दोजहद करता मध्य वर्ग का एक तबका ही रहा है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहाक्या कोरोना वायरस कोविड 19 पहला ऐसा वायरस है जिसे पैन्डेमिक कहा गया है?कौन सा तबका हैज़िम्मेदार?ये सभी महामारियां दुनिया भर में प्रायः दुनिया की खोज में लगे कुछ नाविकों, कई व्यापारियों, कुछ समुद्री जहाज के चालकों एवं उसमें कार्यरत लोगों, युद्ध में जाने और युद्ध से आने वाले सैनिकों, पर्यटकों के एक तबके तथा उपनिवेशवाद के प्रसार के समय औपनिवेशिक शक्तिशाली देशों की व्यापारिक कंपनियों के आधिकारियों एवं कर्मचारियों या औपनिवेशिक शासन के अभिजात्य अफसरों के कंधों पर चढ़कर एक देश से दूसरे देशों में फैलती रही हैं.

फिर उन देशों और समाजों के 'कम गतिशील मध्य वर्ग' इनके माध्यम से एक 'निष्क्रिय निर्दोष ग्रहणकर्ता' के रूप में इन महामारियों का शिकार होकर उन्हें निम्न वर्ग एवं समाज के अन्य तबकों तक फैलने का कारण बनता रहा है.इमेज कॉपीरइटReutersअभिजात्य वर्ग और विदेश में आवाजाही करने वालों ने फैलाया कोरोना

अभी जिस कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए आज दुनिया का हर देश संघर्ष कर रहा है, उसने भी कुछ पर्यटकों, दुनियाभर के मुल्कों में हवाई यात्रा करने की क्षमता रखने वालों के एक समूह, विदेशों में कार्यरत लोगों का तबका, ग्लोबल रूप से स्वीकृत गायकों, कुछ अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों और कुछ बड़े नौकरशाहों, पांच सितारा होटलों में पार्टी आयोजित करने की शक्ति रखने वालों का एक तबका, ग्रीस, स्विट्जरलैंड और फ्रांस में हनीमून मनाने वालों मे से कुछ के देह में प्रवेश कर हमारे समाजों में फैलने का अवसर प्राप्त किया है.

बातचीत के बीच हमारे एक मित्र ने कहा,"भाई! यह कोरोना भी ग़ज़ब बीमारी है, यह हवाई जहाज पर चलता है, बड़े होटलों में ठहरता है. यह भूमण्डलीकरण और नव-उदारवादी अर्थव्यवस्था का सर्वाधिक फायदा उठाने वाले ग्लोबल हुए कुछ लोगों के साथ हमारे देश में पांव पसारता गया है."

इमरान ख़ान का भारत के सीमा विवाद पर ट्वीट, मोदी सरकार को बताया फ़ासीवादी actor sonu sood interview over migrants help amid lockdown - NDTV से बोले सोनू सूद- जिन्होंने हमारे घर बनाए, उन्हें सड़क पर ऐसे नहीं छोड़ सकते वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बर 'नरेंद्र मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता', राहुल पर बीजेपी का पलटवार

"इनसे ट्रैक्सी ड्राइवर, होटलों के बेटर, दुकानदारों, सैलूनवालों एवं देश के भीतर एक शहर से दूसरे शहर में कमाने गए लोगों को शिकार बना रहा है. अगर निरपेक्ष ढंग से देखें तो विभिन्न समाजों के प्रभावशाली तबके के कुछ लोगों की गति के साथ यह कोरोना महामारी गरीब वर्ग तक पहुँच रहा है."

हमारे समाजों का गरीब समुदाय, बिहार एवं उत्तर प्रदेश से मुंबई, पुणे, दिल्ली जाकर काम करने वाले खुले में झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले प्रवासी मजदूर इसके प्रथम वाहक नहीं रहे हैं.इमेज कॉपीरइटग़रीबनहीं होते वायरस के प्रथम कैरियरजिनकी जिंदगी में हम गंदगियां देखते हैं, जिन्हें हम गंदगियों और बीमारियों के प्रसार का कारण मानते हैं, वे इस बीमारी के 'प्रथम कैरियर' नहीं हैं.

दुनिया भर में महामारियों के प्रसार के ये अनुभव हमें अपने 'कॉमन सेन्स' में एक जरूरी परिवर्तन की मांग करते हैं. 'गरीबी' एवं बीमारी के प्रसार की आम अवधारणा को हमें अपने दिल और दिमाग से निकालना ही होगा. नहीं तो हमारे महानगरों और मेट्रो का अभिजात्य वर्ग इन मजदूरों, गरीबों, झुग्गी-झोपड़ी वालों को उपेक्षा की नजरों से ही देखता रहेगा.

यह विदित तथ्य है कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन का सबसे ज्यादा खामियाजा वह दिहाड़ी मजदूर, इनफॉर्मल सेक्टर में काम करने वाला श्रमिक, गांव का किसान उठा रहा है, जो इन महामारियों का कहीं से कारण नहीं रहा है.हालांकि, यह सुखद है कि हमारी राजसत्ता एवं सरकार आज उनकी समस्याओं के प्रति संवेदित हो कोरोना कवर के तहत इन संवर्गों को ध्यान में रख अनेक योजनाएँ लागू की हैं.

और पढो: BBC News Hindi »

BBCsarika Yes Bilkul sahi bat hi corona nahi Chinese virus... Yahi haqeeqat hai True...And wrost part is poors are on road dying in hunger...Rich are enjoying with thier family...Such decisions impacts only to poor not to rich.... Yes कम्युनिस्ट देश चीन ने फैलाया है ChineseVirus19 COVID19 गरीब अमीर कोई भी बिमारी या वायरस नहीं पहचानती, जिम्मेवार बनो बीबीसी अफवाह नहीं फैला

बिलकुल सही है। अंग्रेज लोग आज भी दुनिया में अराजकता फैलाने में लगे। BBC your concern should be on world's politics, specially Indian, they handling the epidemic from their well sterilized buildings and each time just giving hope to eat and live.....God Bless India..... Absolutely right बिल्कुल सही कहा आपने 😄😄😄😄😄😄😄😄😄😄😄😄😄

जो कमी रह गई थी उसे माननीय प्रधानमंत्री जी के मंत्रिमंडल समूह के अदूरदर्शी मंत्री ने पूरी कर दी। KaifiShaikh3 सही ये एक साजिश है गरीब जनता को परेशान करने का जो विदेश से आ रहे लोगों को मरने दो ना पोलिस वाले गरीब को क्यों मार रहे है भारत छोड़ कर विदेश जाने को कौन कहा है दम हैं तो एयरपोर्ट में ऊतर के कोरोना लाने वालो को मरो

कर्म करे अमीर चोदे लोग । फल पाए गरीब बेचारे लोग ।। 99 % इन अमीरों का हाथ है एड्स में भी अमीर देसो का हाथ था शाकाहार, माँसाहार पर भी बात कर ले bhosdik Right मिलना कभी मोकें का रहेगा इन्तजार मिडिया कर्मी आप जितनी सिद्दत से मजदूरों का पलायन दिखा रहे ये कोई तरीका नहीं,अभी लोगों को मानवीय आधार पर मदद की जरुरत है,आप लोगों को रोककर सरकार से बात कर इनको किसी सेल्टर में भेजने का इनके खाने पीने का इंतजाम करवाएं|पानी में डूबते इंसान से पूछना कैसा लग रहा आपको बजाये उसको बचाने

Take all precautions socialdistancing sanitize handwashing screening test treat but for Gods sake do not ignore homeopathyforcorona as support in prevention Influenzinum 1m once a week Ars Alba 200 once a day सरकार और पूरी दुनिया को ये पता ह की भारत में कितनी गरीबी है पर फिर भी सरकार ने उनके लिए कुछ तैयारिया नही की , साहब अब उन गरीबो के नाम से पैसे बाटने का क्या मतलब जब वो मोत से खेलने को मजबूर है

पूर्ण सत्य है Bencho china ne failaya hai likh Sprakashsingh7 गरीबों तक तो अभी तक पहुँची ही नही तब यह हाल है ।अगर गरीबों तक पहुँच गई तो भगवान भी नहीं बचा पाएगा ।There will be no one to count the deads, at least in India. सही है यह कोरोना अमीरों के कारण भारत आया है अब मरना गरीबों को अधिक पडेगा लेकिन सबको देश को बचाने की अपनी अपनी जिममेदारी निभानी चाहिए।।।

UmarFarookh9 कोरोना हो भी रहा है अमीर आदमियों को ब्रिटेन यूरोप इसका ज्वलंत उदाहरण है। what about many Europian countries...? BBC you then explain how it reached India? करोना खुद नहीं फैला, एक साजिश के तहत फैलाया गया है। इस साजिश के पीछे इजरायल और अमेरिका जैसे देश हैं जो विश्व जनसंख्या कम करने के लिए, ग्लोबल वार्मिंग को कम करने के लिए,मस्जिदे अक्सा को शहीद कर के थर्ड टेंपल बनाने के लिए, इस एक वायरस के पीछे कई सारी कहानियां छुपी हैं। wait & watch

Actually this is right सरकार को ना पहले गरीबों की फिक्र थी ना आज। अमीर विदेश से पासपोर्ट पर बीमारी को बिठा कर लाए और भुगतना ग़रीबों को पड़ रहा है.आपत्तिकाल व्यवस्थाओं व समाज की मनुष्यता का परीक्षाकाल होता है. दुखद है कि हम फेल हो रहे हैं! प्रत्येक नेतृत्व चेहरा बचाने व चमकाने में व्यस्त है और मध्यमवर्ग जान. हो सके तो आसपास की मनुष्यता बचाइए😢🙏

100% सत्य है, कोरेना को अमीरों ने फैलाया या नहीं यह तो ईश्वर जनता है मगर कोरेना के डर को BBC, NDTV ने जरूर फैलाया है। आज उसी डर से लोग जान बचाने के लिए जाने अनजाने भीड़ का हिस्सा बन एक राज्य से दूसरे राज्यों की सीमाओं पे खड़े है। कोरेना का प्रसार ना हो यह ईश्वर से कामना है। AmbedkriteB ब्राह्मणों ने सबसे ज़्यादा फैलाया... और यह सेल वाले PMCares मै_भी_वामन_मेश्राम

ये समय किसने फैलाया कहां से फैला की बहस करने का नहीं है। इस समय सभी का फोकस कैसे मदद पहुँचाई जाय और कैसे महामारी से मुक्ति पाई जा सकती है ये सोचने में होना चाहिए। बिल्कुल सही कहा आपने बिल्कुल उन अमीरों ने जो जानते हुए भी विदेश गए और बिना चेकप के घरों में घुसे रहे उदाहरण कणिका कपूर क्या वाहियात लेख लिखा है। कुछ भी लिख दो, क्योंकि खुद को काबिल दिखाना है?

अमीरों के लिए तो एयरोप्लेन भेजी गई उन्हें क्रोना वायरस के साथ लाने के लिए ओ भी दूसरी देश से। अपने देस में गरीब लोगों को बस तक नही मिल रही।😢 It's right Haa pr eski sja garibi ko milegi लेकिन अब गरीब फैलाने पर आमादा है और आप छाती पीटेंगे देशभक्ति वाली घर मे रहो सुरक्षित रहो 100% सही बात है Yes. That's why the poor have to suffer always.

It's not true कोरोना अमीरो ने फैलाया और मार खा रहे गरीब मजदूर BBC न्यूज ने सही कहा चीनी वायरस BBC. पाकिस्तान ओर चीन की मीली भगत हैं शायद ? मुजीब मोहम्मद—अंजना कश्यप समाज सदैव संपन्न और ताकतवर लोगों पर ही इल्जाम लगाता है। किसी साइकिल सवार का कार से एक्सीडेंट होने पर दोषी सदैव कार चालक को ही माना जाता है। इसी कारण अमीर और गरीब में कभी दोस्ती संभव नहीं है।

उसे जलती हुई लाशें दिखाई नहीं देती, मगर वह सूईं से धागा गुज़ार देता है।। लोगों को मरने दो आओ रामायण देखते है। Shi h बी बी सी में काम करने वाले लोगों का वेतन घटा कर इन्हें गरीबी रेखा के नजदीक लाना होगा। To kya ab garib bhi failane ki aajadi chahte hai? नरेंद्र मोदी, भाजपा और आरएसएस के लिए बहुत ही अच्छी खुशखबरी है अब तक 10 लोग मर चुके हैं भुखमरी से। इस शहर मे मजदूर जैसा दर-बदर कोई नही जिसने सबके घर बनाए उसका कोई घर नही।

सही है, और हमनें ऐसा होने दिया बिलकुल सही कहा आपने.. लेकिन हमारे देश की मिडिया इसे छिपा रही हैं..आप तो बीबीसी का ही सहारा हैं.. BBCsarika बिलकुल सही नज़रिया इतिहास गवाह हैं इस बात का की अमीरों का शौक़ गरीबों पर भारी पड़ती हीं हैं। मैं किसी के शौकिया होने का विरोधी नहीं परंतु किसी का शौक किसी कि जिंदगी में तबाही मचाए ये तो ईश्वर भी नहीं माफ करेंगे।

लेकिन इसमें उनकी कोई गलती नहीं. अमीरों की बीमारी ग़रीबों की जान ले रही है .... ये केन्द्र सरकार की नाकामी और लापरवाही है 😔 Kya aap log kiray pe rahne wale ke upar dharm de rhe hai vo log mkan malik ko kiraya keyse dege Mkanmalik ke upar kuch kijiy Apka news hamesha galat hi ray pesh karta hai jao tum log road pe or seva karo magar froud news nahi karo Paschaoge

गरीबों की चिंता किसी को नहीं अगर चिंता धरातल पर होती तो ये स्थिति नहीं होती BBCsarika BBCsarika MADAM, First time BBC not given correct fig of Corono infected in India and why these fig is very low when India after 2nd country in population. We have fear if cases comes like italy then what will do? HV you reply on this

कोरोना को ईरान और मक्का से वापिस आये लोगों ने फैलाया। तभी ब्रिटेन के मंत्री और राजमहल भी चपेट में आ गये। Fir tu kya chahta h🤔..failaya to china ne h ! इसीलिये आवश्यक है देश के सभी बडे़ लोगो की जांच हो..... बीमारी अमीर ला रहे है लाठी गरीब खा रहे है यही जोश एयरपोर्ट पे दिखाते तो आज आम आदमी सड़क पर लाठी ना खाते।

opalchaudhary कोरोना को अमीरों ने फैलाया गरीब भुगत रहे गरीबों का क्या कसूर है जरा देश की जनता सोचे कि हमारा क्या कसूर है अच्छा तो bbc वाले अमीर है या गरीब.. LockdownWithoutPlan Ssiddiqui12345 Who observe this...... million% true. Poor never afford to spent their holidays in foreign countries even poor migrant workers think 100 time to visit his village home even it 80/90 K.M. away from their working place. Just look the seen of ISBT all are poor migrant workers.

Bilkul sahi videsh Jane wala koi garib nai hota pr ye wakt in sab baaton k nai h. बिल्कुल सही हैं लेकिन भुगतना ग़रीब को पड़ रहा हैं दो दिन मे गांव याद आ गया बालक तो दो तीन ले रखे है। अमिरों की बिमारी का नतीजा गरीब लोग भुगत रहे हैं... 😡ह Sahi hai ye najariya 100℅. Right Baat Sahi hai If that is the case Amir only paying. Economy dip, no money rolling, no buisness. Why poor are crying for ? ( as per your narration ).

Shi bat h हां ये तो 100%सच है, क्योंकि गरीब थोडे ही विदेश में जा रहे हैं।जब राहुल ने दो महीने पहले चेताया था तब से अब तक लाखों लोग विदेश से कोरोना लेकर आये हैं।यहां तक कि कनिका की पार्टी से सारे देश में फैला,जिसमें वसुंधरा जैसे नेता भी थे।गरीब इतनी गर्मी में रहता है कि कोरोना खुद भाग जाये। Ye bat sahi hai garibo ne nahi amiro ne failaya hai bhog Garib rahe hai

अमीर लोग ही करोना को विदेश से लाया, तुमलोग अपने को क्या समझतेहो,सूवर के पिल्लों ,पेज3 पार्टी में लीन दिनरात शराब सेक्स में डूबे रहनेवाले वामपंथी ,गरीबो को ,गरीबी को हमेशा बेचकर ऐयाशी करने वाले वामपंथी मीडियाहाउस,तुमलोगो का खात्मा ही दुनिया के लिए शांतिहै,आतंकवाद, नक्सलवाद, जेहाद इन तीनो को तुमलोग ही संरक्षण देते हो

Baat to filhaal sahi h, 🤔🤔 यही कटु सत्य है । Yeh BBC hamesha hatred failata hai or kucch nhi iske Paas Always anti Indian post. Hate you BBC narendramodi AmitShah तुम अपना नजरिया अपने गांड में रखो भोंसड़ी के बीबीसी वालो इसे वामपंथियो ने फ़ैलाया । कोरोना को सरकार ने फैलाया हैरानी तो तब हो रही है जब विधायक ,सांसद को अपनी जेब से सहायता करनी चाहिए तो इसमें भी विधायक निधि का प्रयोग कर रहे है मतलब साफ़ है नेता किसी के नहीं होते

Right बिल्कुल सही कहा आप ने। Wo Subah kabhi to aayegi,jab duniya CORONA Virus se Aazaad hojaayegi. Hope वो सुबह कभी तो आएगी,जब दुनिया कोरोना वाइरस से मुक्त हो जाएगी। उम्मीद प्राकृतिक आपदा हैं कोई जिम्मेंबार नही During lock down painful picture in India.CoronaLockdown You are right bbc न केवल हमारे यहाँ बल्कि पूरे विश्व (सिर्फ चीन को छोड़कर ) में ये वायरस बाहर के लोगो के द्वारा ही फैला है जो विदेश में रहते है । हमारे यहाँ भी ये वायरस विदेश से आये हुए व्यक्तियों के द्वारा ही आया वो चाहे अपने नागरिक हो या फिर विदेशी ।गरीब विदेश जाने के बारे सोच ही नहीं सकता ।

It may be wrong to assume that all International travelers are rich. Many are labours who migrated for work यही फैक्ट है । ओर कोरोना इंडिया में प्लेन से आया न कि पैदल या रेल से । Ji ha Right Yes बीमारी अमीर ला रहे है लाठी गरीब खा रहे है ! यही जोश एयरपोर्ट पे दिखाते तो आज आम आदमी सड़क पे लाठी ना खाते। ये कैसा न्याय है! 😠😠

*बीमारी अमीर ला रहे हैं दूसरे देश से* *लाठी गरीब खा रहे हैं यही जोश एयरपोर्ट में दिखाते तो* *आज आम आदमी सड़क में लाठी न खाता,* 😡😡 इसमें कोई शक नहीं है Corona ko World mein XHNews China ne Failaya Have u got guts to Point t That God forbids Anchor will be sacked Funding to news Channel wl stop Now decide Is China Rich or Poor Masters at Art of Skewing Shame shame shame

Aur bugat greeb rha h बात तो आपकी सही है पर इस मर्ज़ की दवा तो कोई बनाये। इस अमीरी गरीबी की खाई सदियों से गहरी है। मानवता भी शर्मसार है साज़िस बड़ी गहरी हैं।। घुल गए हैं हवा में ज़हर कुछ इस कदर यहां गरीब तो फकीर है अमीर भी सहमे हुये है यह सच है कोरोना_आपदा अमीरों ने फैलायी और लाठी गरीब खा रहे,भूंख, वेरोजगारी, लाचारी इनके हिस्से आई ।

Are mc china ne failaya bc bbc YES Bitter truth BBC ye bol do China ne phelaya कोरोना अब गरीब और अमीर देखकर नहीं आएगी इसलिए सबको मिलकर इससे लड़ना है । Kitne bus h jo faltu khadhe the. Koi raht to sarkar ko. Is aapda ki gadhi me jarur muhaiya krani chahiye.🙏requesting सही है नज़रिया भारत मे ऐरोप्लेन से ही आया है corona ओर गरीब तो ऐरोप्लेन में बैठते नही।

लेकिन एक बात है अगर ये गरीबों में फ़ैल गया तो इसे रोकना मुश्किल हो जायेगा अमीर तो फिर भी कुछ कर लेंगे ये सच्चाई है. True अच्छा हुआ कोरोना को अमीरों ने फैलाया ही वरना ज़िम्मेदार गरीब होते तो उन्हें जीते जी मार दिया जाता। मैं कई दिनों से यहां बता रहा हूं कि यहां बीमारी भगवान का शुक्र है जो ऊपर से नीचे आई है मतलब अमीरों से होते हुए गरीबों तक अगर यहां बीमारी गरीबों से होकर अमीरो तक जाती मतलब कि नीचे से होकर ऊपर तक तो कई गरीबों को मौत के घाट उतार दिया जाता

Yes absolutely right sir जिसकी भरपायी सब जन कर रहे हैं | 😷😷 अब क्या करें Bilkul वायरस ना गरीबी देखता है और ना ही अमीरी देखता है इसलिए कृपया उँच नीच मत फैलाये यह समय एकता का है नफरत का नही eknyisoch देख बेटा सँभाल लें अपने आप को वैसे तू तो गरीब नहीं है न Please save our future ☹️🙏🏻 दुनिया की सबसे बेहतरीन नम्बर वन आर्मी भीम_आर्मी कोरोना महामारी के समय कही दिखाई नही दे रही है 🤔🤔🤔 कुछ दिन पहले भारत बचा रही थी 😹😹😹

Sahi hai Par peeta kisko ja raha hai? I don't know लेकिन सबसे ज्यादा परेशान गरीब ही है,अमीर नही। Bechare ghar jaate huwe gareebon ko? To kya karoge? Koi ilaz hai haraami?

कोरोना लॉकडाउन: 80 करोड़ ग़रीबों को तीन महीने तक मुफ़्त अनाजCorona बुलेटिन: 26 मार्च भारत में संक्रमित मरीज़: 593 मौतें: 13 ग़रीबों के लिए सरकार का ऐलान इलाज का सामान बनाने में देरी क्यों? चीन से भारत क्या सीख सकता है? दवा कब तक टिकेगी? Chin se bharat kya sikh sakta hai ? Seriously ? You all deserve a BBC in ur aes समय ही इंसान को सिखाता है चीन से हमें कुछ भी नहीं सीखना है। उनके पास जो भी है, चाहे वो बुद्धा हो या मार्शल आर्ट्स वो भी भारत की देन है। एक वामपंथी देश कि सनक ने पूरे दुनिया कि मानव सभ्यता पर आज सवाल लाकर खड़ा कर दिया है। एक बार इस मुसीबत से निकलने दो, फिर हम देखेंगे। ChineseVirusCorona

इंजिनियर ने लोगों से कोरोना फैलाने को कहा, इन्फोसिस ने नौकरी से निकालाChennai/Bangalore News: घर से बाहर निकलकर छींकने और कोरोना वायरस फैलाने की अपील करने वाले एक सॉफ्टवेयर इंजिनियर को इन्फोसिस ने नौकरी से निकाल दिया है। इस इंजिनियर को पुलिस ने भी गिरफ्तार कर लिया है। जेहादी कौम का पूर्ण रूप से बहिष्कार हो.... नाम भी बता देते इंजियर का

कोरोना से महायुद्ध की तैयारी, केंद्र ने कैबिनेट मंत्रियों को बांटी राज्यों की जिम्मेदारीकोरोना वायरस (CoronaVirus) से जंग में केंद्र सरकार और PM मोदी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. केंद्र और राज्य के बीच बेहतर समन्वय के साथ-साथ मंत्री स्तर पर मॉनीटरिंग भी की जा रही है. narendramodi PMOIndia Malegaon MLA needs to be taught a lesson he'll never forget.. narendramodi PMOIndia ऐसे ही ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों, सांसद व विधायकों की जिम्मेदारी को बाटा जाय। कोटेदार की जिम्मेदारी भी सुनिश्चित हो।। 😷🇮🇳🌏🙏

जोकोविक ने दिखाई दरियादिली, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सर्बिया को दिए 10 लाख यूरोवर्ल्ड नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक (Novak Djokovic) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ़ जंग में योगदान देने का फैसला करते हुए अपने देश सर्बिया (Serbia) को 10 लाख यूरो की मदद देने का फैसला किया है. इन पैसों से मेडिकल उपकरण खरीदे जाएंगे.

चंडीगढ़ के डॉक्टरों ने बनाया ऐसा बैग, वेंटिलेटर का बचेगा लाखों रुपए, कोरोना को मिलेगी मातपूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है. भारत भी इस वायरस से लड़ने के लिए खुद को तैयार कर रहा है. इस बीच स्वास्थ्य विभाग और लोगों को सबसे ज्यादा चिंता कम वेंटिलेटर की सता रही है. बहुत खूब ।। MoHFW_INDIA please check this device it is very helpful they can be installed anywhere and are very cheap PMOIndia Share for government

कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति ने अस्पताल से साझा किए अपने अनुभव, लोगों को दी ये सलाहLadengeCoronaSe कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति ने अस्पताल से साझा किए अपने अनुभव, लोगों को दी ये सलाह Coronavirus

योगी आदित्यनाथ का वो बयान जिस पर मच रहा है सियासी घमासान कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi ‘कोरोना आपदा को बदला लेने का अवसर मान रही मोदी सरकार’: छात्र नेताओं ने लगाया आरोप ट्विटर ने पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को झूठा बताया यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें? कोविड-19: तीन ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों पर कितना असर? नेपाल ने कहा, भारत के सेना प्रमुख ने हमारे इतिहास का अपमान किया कोरोना अपडेटः भारत में कोविड-19 से बीते 24 घंटे में 170 लोगों की मौत, मामले डेढ़ लाख पार - BBC Hindi योगी आदित्यनाथ क्या प्रवासी मज़दूरों पर बयान देकर घिर गए हैं? दरभंगा में ज्योति का घर बना पीपली लाइव, नींद अधूरी-खाना पीना छूटा नेपाल क्या हमेशा भारत को चीन का डर दिखाता है?