कोरोना के इलाज में काम आने वाली दवा रेमडेसिवीर के निर्यात पर केंद्र सरकार ने लगाई रोक -आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi

वाराणसी के संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में NSUI ने मारी बाज़ी आज की बड़ी ख़बरें:

11-04-2021 17:31:00

वाराणसी के संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में NSUI ने मारी बाज़ी आज की बड़ी ख़बरें:

कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज में इस दवा को काफ़ी ज़रूरी समझा जाता है और कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण इसकी मांग भी बढ़ी है.

13:01छत्तीसगढ़: बीजापुर में एक और नक्सली हमला, दंतेवाड़ा में एक माओवादी की मुठभेड़ में मौतGANESHCopyright: GANESHमिनगाछल नदी पर बन रहे वाटर फिल्टर प्लांट में संदिग्ध माओवादियों द्वारा वाहनों में आगजनी की घटना हुई हैImage caption: मिनगाछल नदी पर बन रहे वाटर फिल्टर प्लांट में संदिग्ध माओवादियों द्वारा वाहनों में आगजनी की घटना हुई है

'अच्छा इलाज नहीं मिला...जल्द जन्म लूंगा' फेसबुक पर लिखने के कुछ घंटे बाद ही चल बसे एक्टर राहुल वोहरा वैक्सीन नीति को लेकर बरसे सिसोदिया, कहा- इमेज मैनेजमेंट के लिए केंद्र ने अपनों को मरने के लिए छोड़ दिया सिंगल डोज वैक्सीन से बढ़ेगी वैक्सीनेशन की रफ्तार? देखें रिपोर्ट

आलोक प्रकाश पुतुलरायपुर से, बीबीसी हिंदी के लिएछत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में पुलिस ने एक मुठभेड़ में एक माओवादी के मारे जाने का दावा किया है. दूसरी तरफ़, बीजापुर में पुलिस ने कहा है कि एक वाटर फिल्टर प्लांट के निर्माण कार्य में लगे पांच वाहनों को संदिग्ध माओवादियों ने आग के हवाले कर दिया है.

दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अभिषेक पल्लव ने बीबीसी से कहा,"आमने-सामने की मुठभेड़ हुई है. एक माओवादी का शव बरामद किया गया है. मौके पर कई माओवादियों के मारे जाने या घायल होने के प्रमाण मिले हैं. अभी सर्चिंग अभियान जारी है."पुलिस ने कटेकल्याण के गादम इलाके में हुई इस मुठभेड़ में मारे गये संदिग्ध माओवादी की पहचान वट्टी हूंगा के रूप में की है, जिस पर एक लाख रुपये का इनाम था. headtopics.com

बीजापुर के नैमेड थाना क्षेत्र में मिनगाछल नदी पर बन रहे वाटर फिल्टर प्लांट में संदिग्ध माओवादियों द्वारा वाहनों में आगजनी की ख़बर है. ज़िले के पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप के अनुसार पुलिस बल को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है.GANESHCopyright: GANESHपुलिस का कहना है कि संदिग्ध माओवादियों ने पहले ही काम बंद करने की चेतावनी दी थी. रविवार को हथियारबंद माओवादियों का एक दल पहुंचा और निर्माण कार्य में लगे वाहनों में बैठे लोगों को उतारा और उन्हें भविष्य में काम नहीं करने की चेतावनी देते हुए वाहनों में आग लगा दी.

माओवादी हिंसा में बढोत्तरी पिछले कुछ दिनों में बस्तर के इलाके में लगातार माओवादी हिंसा में बढ़ोत्तरी हुई है. सप्ताह भर पहले बीजापुर में ही संदिग्ध माओवादियों के साथ मुठभेड़ में 22 जवान मारे गये थे.इससे पहले 26 मार्च को बीजापुर के ही ज़िला पंचायत सदस्य बुधराम कश्यप की संदिग्ध माओवादियों ने हत्या कर दी थी. 25 मार्च को कोंडागांव में सड़के निर्माण में लगे 12 वाहनों में माओवादियों ने आग लगा दी थी.

GANESHCopyright: GANESH23 मार्च को नारायणपुर में माओवादियों के साथ एक मुठभेड़ में डिस्ट्रिक्ट रिज़र्व गार्ड के 5 जवान मारे गये थे. पुलिस के अनुसार 20 मार्च को दंतेवाड़ा में एक मुठभेड़ में 2 संदिग्ध माओवादी मारे गये थे.उसी दिन बीजापुर में ही पुलिस आरक्षक सन्नू पुनेम को संदिग्ध माओवादियों ने अपहरण के बाद हत्या कर दी थी. 13 मार्च को सुनील पदेम नामक कथित माओवादी आईईडी लगाते हुए विस्फोट के दौरान मारा गया था.

पांच मार्च को नारायणपुर के इलाके में भारत-तिब्बत सीमा सुरक्षा बल के प्रधान आरक्षक रामतेर मंगेश की एक आईईडी विस्फोट में मौत हो गई थी.इसी तरह एक दिन पहले चार मार्च को दंतेवाड़ा के फुरनार में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के लक्ष्मीकांत द्विवेदी नामक एक जवान की आईईडी विस्फोट में मौत हो गई थी. headtopics.com

पुणे का ये शख्स है 'चलता फिरता प्लाज्मा बैंक', 14 बार डोनेट कर चुका है प्लाज्मा बिहार: इंसानियत को भी मार रहा कोरोना, शव को नदी किनारे फेंककर भागे एंबुलेंसकर्मी झारखंड: कोरोना संकट के बीच चार महीनों से कई डॉक्टरों को नहीं मिला वेतन, सीएम से मदद की गुहार और पढो: BBC News Hindi »

देशव्यापी लॉकडाउन से टूटेगी Corona की चेन, कब थमेगी Covid की सुनामी? देखें खबरदार

कोरोना की सूनामी झेल रहा भारत इस कशमकश में है कि संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाए या नहीं? मेडिकल जर्नल द लैन्सेट का ये आकलन है भारत में बड़ी तादाद में लोगों की जान जा सकती है. कई एक्सपर्ट ये कह रहे हैं कि भारत में थोड़े समय के लिए लॉकडाउन जरूरी है ताकि संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके. देश के कई राज्यों में पहले ही लॉकडाउन वाले हालात हैं. ऐसे में राष्ट्रीय लॉकडाउन की देश को जरूरत है. कोरोना की दहशत के बीच लोगों के मन में ये बात भी है कि दूसरी लहर के जानलेवा कहर से मुक्ति कब मिलेगी. IIT कानपुर के वैज्ञानिक कोरोना की दूसरी लहर के डेटा पर नजर रख रहे हैं और लगातार अनुमान लगा रहे हैं कि कोरोना की ये मारक शक्ति कब थोड़ी कम होग. WHO ने पुष्टि कर दी है कि कोरोना हवा से फैल रहा है. इतने गंभीर संकट के बावजूद न तो लोग सबक लेने को तैयार हैं.. और न ही सरकार और सिस्टम कुछ कर पा रहे हैं. आज तक ने देश के अलग-अलग हिस्सों से रिपोर्ट तैयार की है. वहीं एयरफोर्स संकट की घड़ी में देश के साथ खड़ा है. देखें कोरोना पर विस्तृत पड़ताल, खबरदार में.

Standard of bbc news. Enjoy Isse koi khas farq nahin padta. Asal voters to baniya community hai, jo Modi-Modi chillati rahti hai. Phir woh voters hain jo mandir-maszid ki politics karte hain. Shahar wale jab mijaz badlenge tab kuchh antar padega. NSUISweepsVaranasiAgain Evm hota to namumkin tha Ye bhi koi news hain 😂😂

आजकल bbc भी bjp संगठन की हार पर खुशियां मनाने लगी! जस्ट like रविश कुमार मोदी और उनके मंत्रियों को पता चला तो यहां के छात्रों को भी अर्बन नक्सल और टुकड़े गैंग का बताने लगेंगे. वोह तो मोदी जी दीदी ओं दीदी की फबतियाँ कसने में बेंगॉल में मज़े के रहे थे सो वाराणसी प्रचार वास्ते नहीं आ सके MrsGandhi