Coronavirus, रिकवरी रेट कोरोना वायरस, कोविड 19, कोरोना वायरस, Covid 19 Recovery Rate, Covid 19 News, Covid 19 İn İndia, Coronavirus Good News, Corona Crisis, Ahmedabad News, Ahmedabad News İn Hindi, Ahmedabad Latest News, Ahmedabad Headlines, अहमदाबाद समाचार

Coronavirus, रिकवरी रेट कोरोना वायरस

कोरोना मरीज 1 लाख के पार लेकिन गुड न्यूज भी, अहमदाबाद में 140 फीसदी बढ़ा रिकवरी रेट, झज्जर में 100% ठीक

कोरोना मरीज 1 लाख के पार लेकिन गुड न्यूज भी, अहमदाबाद में 140 फीसदी बढ़ा रिकवरी रेट, झज्जर में 100% ठीक via @NavbharatTimes #CoronaVirus

23-05-2020 09:41:00

कोरोना मरीज 1 लाख के पार लेकिन गुड न्यूज भी, अहमदाबाद में 140 फीसदी बढ़ा रिकवरी रेट, झज्जर में 100% ठीक via NavbharatTimes CoronaVirus

अहमदाबाद न्यूज़: भारत में कोरोना के मामले एक लाख के पार हो गए हैं। इस बीच हरियाणा के झज्जर जिला 100 फीसदी रिकवरी रेट की ओर बढ़ रहा है। अहमदाबाद में भी बीते 15 दिनों के भीतर रिकवरी रेट में 140 फीसदी का उछाल आया है।

हाइलाइट्सअहमदाबाद में कोरोना को लेकर अच्छा संकेत सामने आया हैशहर में रिकवर होने वालों की संख्या 140 फीसदी की दर से बढ़ीICMR के नए दिशानिर्देशों से बढ़ी डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्याहरियाणा के झज्जर में तो 100 फीसदी मरीज ठीक होने के करीबअहमदाबाद

बीजेपी नेता सोनाली फोगाट ने मंडी अधिकारी की चप्पलों से की पिटाई हथिनी की मौत: गिरफ़्तार अभियुक्त ने कहा- विस्फोटक नारियल में था अफसर पर चप्पल बरसाती रहीं BJP नेता, मूक दर्शक बनी रही पुलिस

देश भर में कोरोना के मामले एक लाख के पार हो गए हैं लेकिन इस बीच अच्छी खबर भी है। देश के कई हिस्सों में कोरोना से रिकवर होने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। संकट के इस वक्त में यह अच्छा संकेत है। अहमदाबाद नगर निगम ने दावा किया है कि बीते 15 दिनों में शहर में रिकवरी रेट में 140 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

अहमदाबाद के अलावा हरियाणा के झज्जर जिले में भी कोरोना से रिकवर होने वालों का आंकड़ा 100 फीसदी पहुंचने वाला है। बताया गया कि झज्जर में एक नया सामने आया मामला छोड़ दें तो जिले के सभी 90 मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है और उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। झज्जर पहले तो कोरोना से बिल्कुल अप्रभावित था लेकिन अचानक से जिले में कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 90 हो गई थी।

अहमदाबाद से अच्छी खबरवहीं कोरोना के बड़े प्रभावित इलाकों में शुमार अहमदाबाद से भी अच्छी खबर सामने आ रही है। गुरुवार को 24 घंटों में 25 लोगों की कोरोना से मौत होने के बीच जिले में रिकवरी रेट बढ़ने का दावा किया गया है। आईएएस राजीव गुप्ता ने बताया कि शहर में 5 मई को रिकवरी रेट 15.85 प्रतिशत था। वहीं गुजरात का रिकवरी रेट 22.11 प्रतिशत और भारत का रिकवरी रेट 28.62 प्रतिशत था। उन्होंने दावा किया कि पिछले पखवाड़े में अहमदाबाद प्रशासन द्वारा अपनाई गई बहुस्तरीय रणनीति के कारण शहर में रिकवर होने वालों की संख्या अप्रत्याशित रूप से बढ़ी है।

यह भी पढ़ेंःकोरोना से मौतों पर भारत कैसे लगा रहा है ब्रेक, जानिएगुप्ता ने बताया कि गुजरात के 92 प्रतिशत और भारत के 43 प्रतिशत के मुकाबले अहमदाबाद में रिकवरी रेट्स में 140 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है। 21 मई को शहर में रिकवर होने वालों की दर 38.1 दर्ज की गई थी। वहीं, इसी दिन गुजरात में रिकवरी रेट 42.51 प्रतिशत और भारत की रिकवरी रेट 41.06 प्रतिशत थी। गुप्ता ने हालांकि, शहर में बढ़ते रिकवरी रेट के पीछे के कारणों को लेकर पूछे गए सवालों का कोई जवाब नहीं दिया।

140 फीसदी रिकवरी रेट बढ़ने का मतलबवैसे देखा जाए तो अहमदाबाद में कोरोना के कहर में कमी नहीं आई है। गुरुवार को गुजरात राज्य में कोरोना से 29 लोगों की मौत हुई। इसमें 25 लोग अकेले अहमदाबाद के हैं। अधिकारियों ने बताया कि 15 दिनों के अंतराल में कोरोना मरीजों की रिपोर्ट देखें तो अहमदाबाद में बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 15 फीसदी से बढ़कर 38 फीसदी तक पहुंच गया। इस तरह से शहर में रिकवरी रेट दोगुने से भी ज्यादा हो गया।

वहीं इसके मुकाबले गुजरात राज्य में 15 दिन पहले जो रिकवरी रेट था, उसमें 92 प्रतिशत ही बढ़ोतरी दर्ज की गई। 5 मई तक प्रदेश में 22 फीसदी मरीज ठीक हो रहे थे जबकि 21 मई के आंकड़ों के मुताबिक रिकवर होने वाले कोरोना मरीजों की संख्या 42 फीसदी हो गई।यह भी पढ़ेंः

ग़रीबों को कैश ट्रांसफ़र की योजना जारी रहनी चाहिए: मुख्य आर्थिक सलाहकार कोरोना संकट के बीच पत्रकारों पर मीडिया हाउस गिरा रहे हैं गाज BJP नेता सोनाली फोगाट ने अफसर को जड़ा थप्पड़, बरसाई चप्पल, वीडियो वायरल

फ्रंट लाइन वर्कर्स को सलामत रखकर आपके घर को सुरक्षित रख रहा है डोमेक्सआईसीएमआर के नए दिशानिर्देशों से बढ़ा रिकवरी रेटअहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (एएमसी) के अधिकारियों ने बताया कि अस्पताल से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की बढ़ती संख्या के पीछे प्रमुख कारण आईसीएमआर के नए दिशानिर्देश भी हो सकते हैं। इसके तहत अब डिस्चार्ज किए जाने से पहले मरीज का कोरोना टेस्ट करना अनिवार्य नहीं है। साथ ही इलाज के 14 दिनों के भीतर अगर मरीज में कोविड-19 से संबंधित कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देता तो उसे डिस्चार्ज किया जा सकता है।

हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि आईसीएमआर के दिशानिर्देशों के अलावा अस्पताल के स्टाफ और कोविड केयर सेंटर्स द्वारा मरीजों की ठीक ढंग से देखभाल भी रिकवरी रेट बढ़ाने के पीछे जिम्मेदार है। उन्होंने बताया कि शहर में सर्विलांस करने वाली टीमों की संख्या भी बढ़ाई गई है। पहले 318 टीमें सर्विलांस के लिए लगी थीं, अब इनकी संख्या 616 हो गई है। उन्होंने कहा कि यह कोविड-19 मरीजों की जल्दी पहचान और रिकवरी रेट बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएंगी।

और पढो: NBT Hindi News »

रिकवरी रेट में सुधार के आंकड़े भ्रामित कर रहे हैं। आंकड़ो में उतार चढ़ाव मरीजों के स्वास्थ्य व उम्र पर निर्भर करता है।यदि कम उम्र के मरीज बीमार होते हैं तो रिकवरी रेट हाई होता है और अधिक उम्र के केस में उल्टा। भारत मे कम उम्र के लोगों की संख्या अधिक है इसलिये यहाँ असर कम है। 140 फीसदी लोग ठीक हो रहे हैं। असंभव। बीमार 100 लोग हुए और ठीक हुए 140 मरीज। भाई कैसे? हमें भी समझाओ।

देश में कोरोनावायरस के 1.18 लाख केस, इनमें 73 फीसदी मामले पांच राज्यों से आए Coronavirus (Covid-19) Tracker India Latest News, Corona Cases in India State-Wise Live News Updates: भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1 लाख 18 हजार के आंकड़े को पार कर चुकी है, हालांकि 48 हजार लोग डिस्चार्ज भी हुए हैं।

घरेलू उड़ान के लिए 7 सेक्शन में बांटे गए रूट, टिकट के लिए अधिकतम सीमा तयदेश में कोरोना वायरस महामारी की वजह से लॉकडाउन लागू है. इस बीच सामान्य होने की ओर एक कदम बढ़ाया गया है. 25 मई से देश में घरेलू उड़ानें शुरू हो रही हैं. HardeepSPuri Please do PC on stranded indians and actions by MEA HardeepSPuri Sir jab aapne 30th may tak lockdown kiya hai tab aap 25th may se flights kyon chala rahe hai. Jab trains 1 June se chalegi then y flights 4rm 25th may. Lockdown kyon kiya phir 30th tak. Y not the trains can also move 4rm 25th may onwards. Kuch samaj nahin aaya yeh sir HardeepSPuri

RamMandir: श्रीराम जन्मभूमि परिसर में प्राचीन मंदिर के अवशेष मिलने से संत समाज में उल्लासShri Ram JanamBhoomi Teerth Kshetra Trust श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि मलबा हटाने के दौरान कई मूर्तियां और एक बड़ा शिवलिंग मिला है। जय श्री राम 🚩🚩 लेकिन कांग्रेस और मुस्लिम पक्षकार इन सबूतों को नहीं मानेंगे क्योंकि एक का कर्म और दूसरे का धर्म झूठ की बुनियाद पर........ Hinduon me ullash

कोरोना वायरस के टीके के मामले में आगे रहना चाहता है भारत | DW | 20.05.2020ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की एक संभावित वैक्सीन का भारतीय कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बड़े स्तर पर निर्माण शुरु कर चुकी है. आखिर कितनी जल्दी कोविड-19 का टीका तैयार होने की उम्मीद है. Coronavirus Pandemic coronavaccines COVID19 great👍

Corona World LIVE: पाकिस्तान में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के मामले 48 हजार पारCorona World LIVE: पाकिस्तान में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के मामले 48 हजार पार CoronaUpdate Lockdown coronavirus CoronaHotSpots CoronaVirusUpdate coronaupdatesindia PMOIndia MoHFW_INDIA WHO realDonaldTrump POTUS

श्रमिक ट्रेन में कई महिलाएं बनीं मां, ट्रेन के कोच में खिलीं किलकारियांएक से 21 मई तक श्रमिक ट्रेन में कम से कम 24 महिलाओं ने सफर किया है। भारतीय रेल के अधिकारियों ने बताया कि इन 24 महिलाओं में Kya baat hai, train me Maternity coach hona chae , डर तोह इस बात का हैं कहीं ये किलकारियां मुरझा ना जाए। मौजूदा हालत को देखते हुए गरीब का भविष्य सिर्फ अंधकार में डूबा हुआ है । ना रोजगार है, ना शिक्षा और देश की अर्थव्यवस्था ध्वस्त होते जा रही है । हर तरफ गरीबी छाई हुई है । इन 6 वर्षों में देश का काया पलट कर दिया इस सरकार ने ! 🙏🙏🙏🙏❤️❤️❤️

कोरोना वायरस: दुनिया भर में 65.6 लाख से ज़्यादा संक्रमित, 3.87 लाख लोगों की मौत - BBC Hindi कोरोना अपडेटः जॉर्ज फ़्लॉयड को कोरोना संक्रमण भी हुआ था - BBC Hindi राहुल ने फिर लॉकडाउन को बताया फेल, कहा- राज्यों को उनके हाल पर छोड़ रहा केंद्र ट्रंप ने विभाजन की आग भड़काई, अमरीका के पूर्व रक्षा मंत्री का आरोप ट्रंप की बेटी टिफ़नी विरोध प्रदर्शनों के समर्थन में जब सब कुछ रामभरोसे ही छोड़ना था, तो तालाबंदी कर अर्थव्यवस्था की रीढ़ क्यों तोड़ी...? मोदी सरकार पर सिब्बल का वार, कहा- आत्मनिर्भर भारत अभियान एक और जुमला भूकंप के इतने झटके दिल्ली-एनसीआर में क्यों आ रहे? बासु चटर्जीः रजनीगंधा, चितचोर और 'छोटी सी बात' वाले बासु दा नहीं रहे अमित शाह को दिल्ली दंगों पर एक अनजानी संस्था की रिपोर्ट क्यों सौंपी गई केरल में हथिनी की मौत, मेनका गांधी के आरोप सवालों में