Indian Institute Of Technology Hyderabad, Center For Healthcare Entrepreneurship, Aerobiosys Innovations, Iıt Hyderabad, Developed Low-Cost Ventilator, Emergency-Ventilator, Jeevan Lite

Indian Institute Of Technology Hyderabad, Center For Healthcare Entrepreneurship

कोरोना मरीजों को 'जीवन लाइट' से मिलेगी राहत की सांस, IIT हैदराबाद ने बनाया सस्ता वेंटिलेटर

IIT हैदराबाद ने पोर्टेबल वेंटिलेटर तैयार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है. ये बेहद सस्ता और इमरजेंसी में इस्तेमाल करने लायक है @Ashi_IndiaToday

03-04-2020 19:11:00

IIT हैदराबाद ने पोर्टेबल वेंटिलेटर तैयार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है. ये बेहद सस्ता और इमरजेंसी में इस्तेमाल करने लायक है Ashi_IndiaToday

जीवन लाइट दूसरे मेडिकल उपकरणों यानी वेंटिलेयर से सस्ता और अच्छा है. इसमें वायरलेस कनेक्टीविटी है और इसको रिमोट से कंट्रोल किया जा सकता है. कोरोना वायरस के प्रकोप में जीवन लाइट से डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की भी सुरक्षा होगी.

इस वेंटिलेटर को 'जीवन लाइट' नाम दिया गया है, जो हाईटेक और कई खूबियों से लैस है. इसको मोबाइल ऐप के जरिए ऑपरेट किया जा सकता है और एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी ले जाया जा सकता है. इतना ही नहीं, अगर कभी बिजली आपूर्ति बाधित होती है या किसी इलाके में बिजली की समस्या है, तो इसको बैटरी से ऑपरेट किया जा सकता है.

अब करोना को मेरे मुल्क से गारत कर दे, नफरतें खत्म हों, फिर से वही भारत कर दे: चार मशहूर शायरों ने दिया उम्मीद का पैगाम 'पिंजरा तोड़' की लड़कियांः गिरफ़्तारी, ज़मानत और फिर पुलिस कस्टडी लद्दाख : भारत और चीन ने तैनात किए 1000 से 1200 जवान, बातचीत से भी मामला सुलझाने की कोशिश जारी

जीवन लाइट के प्रोग्रेस को रिव्यू करने के बाद आईआईटी हैदराबाद के डायरेक्टर प्रोफेसर बी. एस. मूर्ति ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमित ज्यादातर उन मरीजों को इमरजेंसी लाइफ सपोर्ट की जरूरत होती है, जो बुजुर्ग हैं. इसका इस्तेमाल सभी उम्र के लोगों को आक्सीजन की कमी होने पर किया जा सकता है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करेंसेंटर फॉर हेल्थकेयर एंटरप्रेन्योरशिप की प्रोफेसर रेनू जॉन का कहना है कि जीवन लाइट वेंटिलेटर दूसरे सस्ते उपकरणों से अच्छा है. इसमें वायरलेस कनेक्टीविटी है और इसको रिमोट से कंट्रोल किया जा सकता है. कोरोना वायरस के प्रकोप में जीवन लाइट से डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की भी सुरक्षा होगी.

अप्रैल के पहले सप्ताह से उपलब्ध होगा जीवन लाइटप्रोफेसर रेनू जॉन का कहना है कि इससे कोरोना वायरस के संकट में वेंटिलेटर की कमी को दूर होगी. हम इंडस्ट्री पार्टनर्स और सरकार से इसको बड़े पैमाने में बनाने के लिए आगे आने की अपील करते हैं. एरोबियोसिस इनोवेशन्स जीवन लाइट को एक लाख रुपये में उपलब्ध कराने की योजना बना रहा है. फिलहाल कंप्यूटर के जरिए कंट्रोल किए जाने वाले वेंटिलेटर की कीमत 5 लाख रुपये से 40 लाख रुपये तक है. जीवन लाइट अप्रैल के पहले सप्ताह से बाजार में उपलब्ध हो सकेगा.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...कोरोना मरीजों को सांस लेने में होने लगती है दिक्कतदरअसल, कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले मरीज को सांस लेने में दिक्कत होने लगती है. कोरोना वायरस के मामले बढ़ने से देश में वेंटिलेटर की डिमांड बढ़ गई है. मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए देश में वेंटिलेटर की कमी है. ऐसे में जीवन लाइट वेंटिलेटर की कमी दूर करने और कोरोना से लड़ने में मददगार साबित होगा.



और पढो: आज तक

Ashi_IndiaToday Good job team 👍 Ashi_IndiaToday आप लोगो ने फिर ये सिद्ध कर दिया कि भारत हर स्थान पर विश्व गुरु है। Ashi_IndiaToday सुबह शाम रामायण महाभारत बहुत अच्छा रहा है। क्या दोपहर में सचिन सहवाग और गांगुली के कुछ क्रिकेट दिखा सकते हैं क्या। Ashi_IndiaToday This is India.. Together we can.

कोरोना के हालात पर राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति गर्वनरों और प्रशासकों से आज करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंगकोरोना के हालात पर राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति आज करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग rashtrapatibhvn VPSecretariat CoronaUpdate Lockdown21 COVID2019 lockdownindia CoronaLockdown StayHomeIndia rashtrapatibhvn VPSecretariat Jab pm hi sab kuch kar raha he To tere ko kya jarurat pad gi

WHO ने बताया- कोरोना हवा से नहीं, छींकने और खांसने से फैलता है - Coronavirus AajTakपूरी दुनिया को डराने वाले कोरोना वायरस को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक खुलासा किया है. यह खुलासा जानबूझकर इस समय किया bsdk WHO aur kitno ko pelega ab😡 Is WHO sure about this? Hope its not gonna change its stand later, like it did earlier about human to human spread of the virus. DevendraGothwa4 चायना का गुलाम बन रहा है WHO

चमगादड़ से फैला कोरोना वायरस, चीन अब भालू और बकरी से करेगा इलाजवुहान में चमगादड़ से शुरू हुए कोरोना वायरस से निपटने के लिए अब चीन में भालू और बकरी से इलाज होगा। चीन सरकार ने भालू के पित्‍त और बकरी की सींग से बनी दवा को कोरोना मरीजों को देने की अनुमति दी है। चीन सरकार के इस फैसले के बाद वन्‍यजीव प्रेमी भड़क गए हैं। उन्‍हें डर सता रहा है कि इससे दुनियाभर में इन जंगली जानवरों के अवैध व्‍यापार को बढ़ावा मिलेगा जो इस महामारी का कारण माने जा रहे हैं। inki janwaro se kya dushmani hai unn becharo ne kya kiya PetaIndia

Covid 19 से पाकिस्तान में लड़ रहे हिन्दू, गेंदबाज ने युवराज और हरभजन से मांगी मददपाकिस्तान में रहे गैर मुस्लिम लोगों की हालत वहां काफी खराब है इसी वजह से पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज दानिश कनेरिया ने भारतीय क्रिकेटरों के मदद की गुहार लगाई है। YUVSTRONG12 harbhajan_singh

कोरोना इफेक्ट : स्मार्टफोन के ‘हरे संकेत’ से चल रहा चीन में नया जीवनचीन में कोरोना वायरस के प्रकोप के बाद की जिंदगी स्मार्टफोन के एक ग्रीन सिंबल (हरे संकेत) से चलने लगी है। ChinaCoronaVirus COVID19Pandemic

कोरोना और किताबेंः लॉकडाउन के बीच शब्दों की दुनिया से एक सराहनीय पहलसाहित्यकार और प्रकाशक कोरोना के दौर में क्या कर रहे हैं? 'साहित्य तक' जहां 'कोरोना और किताबें' नाम से एक शृंखला चला रहा है, जबकि दूसरे भी डिजिटल फोरमों पर लाइव का सहारा ले रहे