Coronapandemic, Jobloss, Tourismsector, Parliament, कोरोनामहामारी, बेरोजगारी, पर्यटन, संसद

Coronapandemic, Jobloss

कोरोना महामारी के दौरान अप्रैल-दिसंबर 2020 के बीच पर्यटन क्षेत्र में 2.15 करोड़ नौकरियां गईं

कोरोना महामारी के दौरान अप्रैल-दिसंबर 2020 के बीच पर्यटन क्षेत्र में 2.15 करोड़ नौकरियां गईं #CoronaPandemic #JobLoss #TourismSector #Parliament #कोरोनामहामारी #बेरोजगारी #पर्यटन #संसद

29-07-2021 15:38:00

कोरोना महामारी के दौरान अप्रैल-दिसंबर 2020 के बीच पर्यटन क्षेत्र में 2.15 करोड़ नौकरियां गईं CoronaPandemic JobLoss TourismSector Parliament कोरोनामहामारी बेरोजगारी पर्यटन संसद

पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी ने संसद में बताया कि पिछले साल लॉकडाउन लागू होने के बाद पर्यटन क्षेत्र में बड़ी संख्या में नौकरियां गईं, जिसमें से पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान 1.45 करोड़ नौकरियां, दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में 52 लाख नौकरियां और तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में 18 लाख नौकरियां जाने की संभावना है.

नई दिल्ली:केंद्र सरकार ने संसद में बताया है कि उनके द्वारा कराए गए एक अध्ययन में पता चला है कि कोरोना महामारी के दौरान साल 2020 के अप्रैल से दिसंबर महीने के बीच पर्यटन क्षेत्र में 2.15 करोड़ नौकरियां चली गईं.सीपीआई (एम) के राज्यसभा सांसद एलमाराम करीम के एक प्रश्न के उत्तर में पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि मंत्रालय ने ‘भारत और कोरोना वायरस महामारी: पर्यटन से जुड़े परिवारों के लिए आर्थिक नुकसान’ शीर्षक से एक अध्ययन कराया था, जिसमें खोई गईं नौकरियों की संख्या और उद्योग को होने वाली आर्थिक क्षति का पता चला है.’

कन्हैया कुमार क्या कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं? - BBC News हिंदी पीएम मोदी को ट्रंप के दौर वाली गर्मजोशी क्या बाइडन के साथ दिखी? - BBC News हिंदी यूएन में पीएम मोदी और स्नेहा दुबे पर क्या कह रहा है पाकिस्तान का मीडिया - BBC News हिंदी

मंत्री ने कहा, ‘लॉकडाउन लागू होने के बाद पर्यटन क्षेत्र में बड़ी संख्या में नौकरियां चली गईं, जिसमें से पहली तिमाही (अप्रैल-जून 2020) के दौरान 1.45 करोड़ नौकरियां, दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर 2020) में 52 लाख नौकरियां और तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर 2020) में 18 लाख नौकरियां चली जाने की संभावना है. इसकी तुलना में महामारी से पहले साल 2019-20 के दौरान अनुमानित 3.48 करोड़ नौकरियां गई थीं.’

उन्होंने कहा कि आर्थिक सुस्ती के चलते पर्यटन क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में पहली तिमाही में 42.8 प्रतिशत, दूसरी तिमाही में 15.5 प्रतिशत और तीसरी तिमाही में 1.1 प्रतिशत की गिरावट आई थी. उन्होंने कहा कि इसके पीछे की बड़ी वजह पर्यटकों की संख्या में गिरावट रही है. headtopics.com

रेड्डी ने कहा कि पर्यटन मंत्रालय पर्यटन से होने वाले राजस्व के आंकड़े नहीं रखता है. उन्होंने इस क्षेत्र को पुनर्जीवित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा किए गए प्रयासों के बारे में भी बताया.द हिंदूके अनुसार, एक अन्य प्रश्न का उत्तर देते हुए रेड्डी ने कहा कि उनके मंत्रालय ने यह आकलन करने के लिए औपचारिक अध्ययन नहीं किया है कि क्या सभी राज्यों के लोगों की आवाजाही पर्यटन स्थलों पर बढ़ी है, जिससे तीसरी लहर की आशंका बढ़ सकती है.

अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर प्रतिबंधों के चलते भारत में विदेशी पर्यटकों का आगमन भी कम हो गया है. पर्यटन मंत्री ने कहा कि इमिग्रेशन ब्यूरो के अनुसार साल 2019 में 1.09 करोड़ विदेशी पर्यटकों ने भारत का दौरा किया था, जो कि साल 2020 में ये संख्या घटकर 27.4 लाख और इस साल जून तक लगभग 4.2 लाख ही रह गया है.

पर्यटन मंत्रालय द्वारा संकलित आंकड़ों से पता चलता है कि वर्ष 2019 के दौरान घरेलू पर्यटकों की यात्रा संख्या 232.19 करोड़ थी और साल 2020 में ये घटकर 61.02 करोड़ हो गया. और पढो: द वायर हिंदी »

US दौरे पर PM मोदी, अब होगा आतंक पर वार! देखें हल्ला बोल

दो साल बाद अमेरिका के लिए पीएम मोदी की उड़ान तेजी से बदलती दुनिया में भारत की आन-बान और शान को दमदार अंदाज़ में दर्ज कराएगी. ये पहला मौका होगा जब प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडेन आमने सामने मुलाकात करेंगे. माना जा रहा है कि पीएम मोदी और जो बाइडेन की मुलाकात में अफगानिस्तान में तालिबान राज और उसके बाद के बढ़ते खतरे पर भी बात होगी. भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय रिश्तों को मजबूती देने के अलावा प्रधानमंत्री के एजेंडे में आतंकवाद पर दुनिया को कड़ा संदेश देना भी शामिल होगा. SCO की बैठक में पीएम मोदी आतंकवाद को लेकर चीन और पाकिस्तान के सामने खरी-खरी सुना चुके हैं. आज हल्ला बोल में देखें इसी मुद्दे पर चर्चा.

Actual figure of people who lost their job in tourism sector much more than this. Govt is not doing anything for this sector. I would like to appeal shripadynaik tourismgoi to take note of this. CoronaPandemic Jobloss Tourismsector सभी क्षेत्र का हाल एहि है, बस आँकड़े नही आते। AccheDin

एस्ट्राजेनेका: अमेरिका में अपने कोविड टीके की अनुमति के लिए साल के अंत में करेगी आवेदनएस्ट्राजेनेका: अमेरिका में अपने कोविड टीके की अनुमति के लिए साल के अंत में करेगी आवेदन LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI

Kindle यूजर्स के लिए अलर्ट: दिसंबर के बाद इन लोगों के किंडल में नहीं चलेगा इंटरनेटकंपनी ने ई-मेल के जरिए अपेन पुराने Kindle यूजर्स को इसे लेकर जानकारी दी है। यदि किसी पुराने Kindle में केवल सेलुलर डाटा का सपोर्ट,

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के इलाक़े में फ़्लैश फ़्लड, बड़ी संख्या में मौत - BBC Hindiअफ़ग़ानिस्तान के पूर्वोत्तर में स्थित नूरिस्तान प्रांत में बुधवार रात भारी बारिश के बाद अचानक आई बाढ़ से बड़ी संख्या में लोग मारे गए हैं. जीतना होगा वर्ना सब मिलके उसको तबाह कर देगा Matlab india ne Ye to man liya ki Taliban Powerful Hai kafi 😎 तो शंकराचार्यगण तो मोदी सरकार अघोषित ताला मे बंद कर रखे!

जम्मू-कश्मीर : घाटी में बदले मौसम के रंग, 33 साल बाद श्रीनगर में रातें सबसे गर्मजम्मू-कश्मीर : घाटी में बदले मौसम के रंग, 33 साल बाद श्रीनगर में रातें सबसे गर्म JammuKashmir WeatherChange Srinagar

I-Pac के समर्थन में गई टीएमसी की टीम को भी त्रिपुरा में रोकापार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा, 'एक टीम पहले से वहां है। जब वह टीम लौटकर आएगी, तब मैं अभिषेक बनर्जी, डेरेक ओ ब्रायन और अन्य को भेजूंगी।' India Tv Rajat: 'Kashmir में कुदरत का केहर' और 'पकिस्तान में हिन्दूओ पर अत्याचार' जन्तर्मन्तर पर किसान आंदोलन में ना जाने के लिए Delhi Police ने Alka Lamba को घर में ही केद किया। Rajat यह Modi सरकार का केहर है या अत्याचार?

सुविधा प्रबंधन के क्षेत्र में बढ़ रहे रोजगार के मौकेजब भी आप किसी बड़े संस्थान, परिसर या बड़े दफ्तर को देखते होंगे तो यह जरूर सोचते होंगे कि इस दफ्तर में जो सब कुछ सुचारु रूप से चल रहा है, उसके पीछे कौन है?