Extendthelockdown, Covıd 19, Coronavirusoutbreak, Lockdown, Coronavirusoutbreakindia, Oronavirus, Coronavirus All Update, Coronavirus İn İndia, Lifestyle During Covid19, Coronavirus Vaccine, Narendra Modi, Pm Modi, İndia Lockdown, Lockdown, Coronavirus İn World

Extendthelockdown, Covıd 19

कोरोना संकट : लॉकडाउन में ऊब से चिंता-गुस्सा, डिप्रेशन के वायरस को ऐसे करें क्वारंटीन

लॉकडाउन के दौरान दुनिया की अधिकतर लोग घरों में कैद है। मनोरोग विशेषज्ञों का मानना है कि इस दौर में मन को शांत रखना और

07-04-2020 03:40:00

कोरोना संकट : लॉकडाउन में ऊब से चिंता-गुस्सा, डिप्रेशन के वायरस को ऐसे करें क्वारंटीन ExtendTheLockdown COVID19 CoronaVirusOutbreak lockdown CoronavirusOutbreakindia PMOIndia narendramodi MoHFW_INDIA drharshvardhan

लॉकडाउन के दौरान दुनिया की अधिकतर लोग घरों में कैद है। मनोरोग विशेषज्ञों का मानना है कि इस दौर में मन को शांत रखना और

ब्रिटेन के साइकोलॉजिस्ट डॉ. माइकल सिनक्लेयर तौर-तरीके बता रहे हैं जिनका पालन कर जिंदगी को लॉकडाउन के बीच भी चिंतामुक्त, खुशहाल और स्वस्थ रखा जा सकता है।चिंतामुक्त व खुशहाल रहें... हमेशा मन की न सुनेंसोचें कि मन कहानी सुना रहा है उसमें कुछ सच्चाई नहीं है

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की मौत, वजह पता नहीं अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए नक्‍शा विवाद: नेपाल ने पहले दिखाई आंख, फिर खींचे कदम, ये है वजह - trending clicks AajTak

ये न सोचें मैं बीमार हो जाऊंगानकारात्मक न सोचेंखुद को व्यस्त रखने के लिए जो मन में आए वो करें अच्छा लगेगाघर-परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ बात करें, उनको वक्त देंपरिवार से नियमित संपर्क में रहेंहर वक्त चिंतित न होंवायरस से जुड़ी बातें जानने से पूरी तरह नहीं बचना होगा

दुनिया में क्या चल रहा है जरूर जानें पर दिन में एक बारकोरोना पर कम सोचें इससे चिंता और निराशा दूर होगीबार-बार जानकारी लेने के लिए अलग-अलग वेबसाइट न देखेंकिसी अपने को फोन करते हैं तो उससे भी इस बारे में बात न करेंज्यादा सोचेंगे तो चिंता बढ़ेगी। इससे बचने के लिए ध्यान लगाएं।

घबराहट महसूस हो तो आराम से बैठकर मन शांत रखें10 सेकंड तक सांस को रोके फिर उसे छोड़ें, दोहराएंऐसा करने से चिंता और डर दूर होगा, अच्छा महसूस करेंगेबदलें रोजाना की आदतें...गैजेट्स से दूर रहें, किताब पढ़ें और अपने गार्डन या बालकनी में बैठें।संगीत सुनें अथवा खुद ही कोई इंस्ट्रूमेंट प्ले करें।

स्वस्थ हैं और तो क्षमतानुसार व्यायाम करेंनियमित समय पर पौष्टिक आहार लेने के साथ पूरी नींद जरूर लेंघर में पेड़-पौधे हैं तो उनकी देखभाल करें, उनकी जगह बदलेंआसपास के लोगों से छत से ही बात करें लेकिन कोरोना पर नहींमोबाइल की टच स्क्रीन और घर की खिड़की का कांच भी हमेशा साफ रखने कि कोशिश करें। कोरोना वायरस से बचाव सिर्फ हाथ धोने और साफ सफाई रखने से संभव नहीं है। ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ साउथएंप्टन के प्रो. विलियम केविल का कहना है कि कोरोना से बचाव के लिए मोबाइल का इस्तेमाल करते वक्त भी सावधानी बरतनी होगी।

हाथ धुलने के बाद फोन का प्रयोग करें लेकिन ध्यान रहे कि इससे पहले फोन को अच्छे से साफ कर लें। अगर आप अपना मोबाइल स्वंय इस्तेमाल करते हैं और कोई दूसरा उसे नहीं छूता है तो संक्रमण का खतरा बहुत अधिक नहीं है।संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. तारा स्मिथ कहती हैं कि मोबाइल, लैपटॉप, ग्रिल या कांच की खिड़की, टेबल टॉप को छूने से खतरा है। अगर किसी संक्रमित व्यक्ति का इस पर हाथ लगा है और आपने भी छू दिया तो संक्रमण तय है।

यहां भी सावधानी...बैंक में न मांगें पेन, कई लोग न चलाएं लैपटॉपअस्पताल जाते वक्त गेट के हैंडल को छूने से बचें अथवा दस्ताने पहनें।कुर्सी या सोफे पर बैठते हैं तो फिर चेहरे को हाथ लगाने से बचें।बैंक जाते हैं तो फॉर्म भरने के लिए दूसरे से पेन बिल्कुल भी न मांगे।

35 हजार लोगों के हिस्से का अनाज चट कर सकता 4 करोड़ टिड्डियों का दल, कई राज्यों में फैला है आतंक महाभारत के कर्ण के बस्तर और करनाल में हैं मंदिर, एक्टर ने किया खुलासा TikTok के बुरे दिन शुरू? भारतीय ऐप मित्रों दे रहा है टक्कर, जानें इसके बारे में

किसी भी स्थान पर इलेक्ट्रॉनिक टच स्क्रीन वेंडिंग मशीन का प्रयोग न करें।अगर संभव हो तो घर पर गैजेट़्स का प्रयोग करना बिल्कुल बंद कर दें।एक साथ कई लोग गैजेट्स का प्रयोग बिल्कुल न करें।लॉकडाउन के बाद भी रहना होगा सतर्कबस, रेलवे स्टेशन पर एक दूसरे से दूर खडे़ रहें

एयरपोर्ट पर वेंडिंग मशीन-बोर्डिंग काउंटर से दूर रहेंविमान के भीतर बैठने पर कहीं हाथ न लगाएंघर से खाने का सामान लेकर चलें, बाहर खाने से बचेंथोड़ा सा भी तकलीफ महसूस करें तो तुरंत डॉक्टर से मिलें संयम के साथ जिंदगी बिताना सभी के लिए चुनौतीपूर्ण है। व्यक्ति कितनी भी कोशिश कर ले। एक वक्त में स्थिति ऐसी होती है कि वो ऊब जाता है। इससे वह चिंता में डूब सकता है जिसके कारण अवसाद (डिप्रेशन) में जा सकता है।

विज्ञापनब्रिटेन के साइकोलॉजिस्ट डॉ. माइकल सिनक्लेयर तौर-तरीके बता रहे हैं जिनका पालन कर जिंदगी को लॉकडाउन के बीच भी चिंतामुक्त, खुशहाल और स्वस्थ रखा जा सकता है।चिंतामुक्त व खुशहाल रहें... हमेशा मन की न सुनेंसोचें कि मन कहानी सुना रहा है उसमें कुछ सच्चाई नहीं है

ये न सोचें मैं बीमार हो जाऊंगानकारात्मक न सोचेंखुद को व्यस्त रखने के लिए जो मन में आए वो करें अच्छा लगेगाघर-परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ बात करें, उनको वक्त देंपरिवार से नियमित संपर्क में रहेंहर वक्त चिंतित न होंवायरस से जुड़ी बातें जानने से पूरी तरह नहीं बचना होगा

दुनिया में क्या चल रहा है जरूर जानें पर दिन में एक बारकोरोना पर कम सोचें इससे चिंता और निराशा दूर होगीबार-बार जानकारी लेने के लिए अलग-अलग वेबसाइट न देखेंकिसी अपने को फोन करते हैं तो उससे भी इस बारे में बात न करेंआराम से बैठें, मन शांत रखेंज्यादा सोचेंगे तो चिंता बढ़ेगी। इससे बचने के लिए ध्यान लगाएं।

घबराहट महसूस हो तो आराम से बैठकर मन शांत रखें10 सेकंड तक सांस को रोके फिर उसे छोड़ें, दोहराएंऐसा करने से चिंता और डर दूर होगा, अच्छा महसूस करेंगेबदलें रोजाना की आदतें...गैजेट्स से दूर रहें, किताब पढ़ें और अपने गार्डन या बालकनी में बैठें।संगीत सुनें अथवा खुद ही कोई इंस्ट्रूमेंट प्ले करें।

कोरोना वायरस ने भारतीय राजनीति को कितना बदला है? कोरोना अपडेट: लॉकडाउन पीढ़ी पर 'दशकों तक रह सकता है असर' - BBC Hindi दिल्ली पुलिस ने दाती महाराज को किया गिरफ्तार, लॉकडाउन के नियमों को तोड़ने का है आरोप

स्वस्थ हैं और तो क्षमतानुसार व्यायाम करेंनियमित समय पर पौष्टिक आहार लेने के साथ पूरी नींद जरूर लेंघर में पेड़-पौधे हैं तो उनकी देखभाल करें, उनकी जगह बदलेंआसपास के लोगों से छत से ही बात करें लेकिन कोरोना पर नहींगैजेट्स के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानीमोबाइल की टच स्क्रीन और घर की खिड़की का कांच भी हमेशा साफ रखने कि कोशिश करें। कोरोना वायरस से बचाव सिर्फ हाथ धोने और साफ सफाई रखने से संभव नहीं है। ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ साउथएंप्टन के प्रो. विलियम केविल का कहना है कि कोरोना से बचाव के लिए मोबाइल का इस्तेमाल करते वक्त भी सावधानी बरतनी होगी।

हाथ धुलने के बाद फोन का प्रयोग करें लेकिन ध्यान रहे कि इससे पहले फोन को अच्छे से साफ कर लें। अगर आप अपना मोबाइल स्वंय इस्तेमाल करते हैं और कोई दूसरा उसे नहीं छूता है तो संक्रमण का खतरा बहुत अधिक नहीं है।संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. तारा स्मिथ कहती हैं कि मोबाइल, लैपटॉप, ग्रिल या कांच की खिड़की, टेबल टॉप को छूने से खतरा है। अगर किसी संक्रमित व्यक्ति का इस पर हाथ लगा है और आपने भी छू दिया तो संक्रमण तय है।

तो आइए जानते हैं कि अभी और भविष्य में हमें किस तरह की सावधानी बरतनी होगी...यहां भी सावधानी...बैंक में न मांगें पेन, कई लोग न चलाएं लैपटॉपअस्पताल जाते वक्त गेट के हैंडल को छूने से बचें अथवा दस्ताने पहनें।कुर्सी या सोफे पर बैठते हैं तो फिर चेहरे को हाथ लगाने से बचें।

बैंक जाते हैं तो फॉर्म भरने के लिए दूसरे से पेन बिल्कुल भी न मांगे।किसी भी स्थान पर इलेक्ट्रॉनिक टच स्क्रीन वेंडिंग मशीन का प्रयोग न करें।अगर संभव हो तो घर पर गैजेट़्स का प्रयोग करना बिल्कुल बंद कर दें।एक साथ कई लोग गैजेट्स का प्रयोग बिल्कुल न करें।लॉकडाउन के बाद भी रहना होगा सतर्क

बस, रेलवे स्टेशन पर एक दूसरे से दूर खडे़ रहेंएयरपोर्ट पर वेंडिंग मशीन-बोर्डिंग काउंटर से दूर रहेंविमान के भीतर बैठने पर कहीं हाथ न लगाएंघर से खाने का सामान लेकर चलें, बाहर खाने से बचेंथोड़ा सा भी तकलीफ महसूस करें तो तुरंत डॉक्टर से मिलेंविज्ञापनआराम से बैठें, मन शांत रखें

और पढो: Amar Ujala »

तैमूर को कॉम्पटीशन दे रहे करण के बच्चे, लॉकडाउन में लाइमलाइट में छाएIske bacche bhi h🤨🤨 आजतक की ब्रेकिंग न्यूज 😁😃😃 वाह झोपडिको वाह,देश इतनी बड़ी समस्या से गुजर रहा है और तुमको तैमूर याद आता है?वैसे तुम्हारे लिए खुशी की खबर है कि तैमूर की नुनी भी बढ़ने लगी है,कर आइए रक्त पान 😬

गुजरात: लॉकडाउन में वडोदरा के राहत शिविर में मज़दूर भूखे पेट सोने को मजबूरगुजरात में वडोदरा नगर निगम की एक निर्माणाधीन भवन को राहत शिविर में बदलकर यहां पर 316 लोगों को रखा गया है. ये शहर का पहला राहत शिविर है जिसमें लॉकडाउन के बाद उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और राजस्थान जाने वाले प्रवासी मज़दूरों को रखा गया ​है.

लॉकडाउन में घरेलू हिंसा की शिकायतें हुईं दोगुनी, फ्रांस-इटली में भी यही हालघरेलू हिंसा से जुड़े मामले सिर्फ भारत में ही बढ़े हो ऐसा नहीं है, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जहां जहां लॉकडाउन हुआ है वहां घरेलू हिंसा से जुड़ी शिकायतें बढ़ गई हैं. twtpoonam 😃😃😃 twtpoonam दारू पीने को मिल नहीं रही , घरवाली के साथ 24 घंटे रहना पड़ रहा है तो ऐसे मामले तो बढ़ने ही है twtpoonam बीवी का कमाई खाने वाला होगा

कोरोना संकट में बने मिसाल, मां के निधन के बाद भी अस्पताल में रहे तैनातराममूर्ति पर अस्पताल की पूरी टीम की जिम्मेदारी है. डॉक्टर दो दिनों में दो बार आते हैं. लेकिन बाकी समय में मेडिकल स्टाफ ही कोरोना मरीजों की देखभाल करते हैं. यानी कि 24 घंटे मरीजों के साथ रहकर उनकी देखभाल करते हैं. sharatjpr नमन sharatjpr 🙏🙏नमन sharatjpr Our real Heroes.

लॉकडाउन के बाद पर्यावरण में आए इन बदलावों से पर्यावरणविद भी हैरानदेशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन होने से द्वारका के सेक्टर 23 में वाटर बॉडी फिर से जीवित हो गई है. पर्यावरणविद दीवान सिंह का कहना है कि इस वजह से भूजल का लेवल स्थिर हो गया है. इसके अलावा भूजल का स्तर बढ़ने से दूसरी जलाशयों पर भी इसके बेहतर नतीजे देखने को मिलेंगे. दिल्ली में घरेलू खपत के लिए जलबोर्ड के पानी का इस्तेमाल हो रहा है. तमाम फैक्ट्रियां भी बंद हो गई है. इस वजह से यमुना भी साफ हो गई है. पर्यावरणविद दीवान सिंह से बात की हमारी संवाददाता प्रशस्ति ने, देखिए ये रिपोर्ट. पर्यावरण को हम लोगो ने कितना दुखी किया है जो आज हमें सब भुगतना पड़ रहा है। सब देश वासियों ये एक अपील है कि पर्यवरण को बचाये वो ही एक दिन हमे बचाएगा। Very very good news.🙏🙏 न्यूज़ चैनल वालो का वही हाल मिडिया वाले कल भी गन्दे थे और आज भी गन्दे है और गन्दे ही रहेंगे मीडिया पे आक थू

कोरोना वायरस: बीजेपी विधायक पर लॉकडाउन में सैकड़ों लोगों के साथ जन्मदिन मनाने का आरोपमहाराष्ट्र के वर्धा ज़िले के अर्वी से बीजेपी विधायक दादाराव केचे ने इन आरोपों को ख़ारिज किया है. Jhooth Janmadin hack kar liya hoga kisine, hamne nahi manaya Sachai zaroor bataye इस पर संज्ञान लेकर कठोर कारवाई करें।जयहिन्द ।

'2021 की शुरुआत में मिलेगा कोविड-19 का टीका', राहुल गांधी से चर्चा में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का दावा - BBC Hindi कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं ‘कोरोना आपदा को बदला लेने का अवसर मान रही मोदी सरकार’: छात्र नेताओं ने लगाया आरोप युद्ध की तैयारी में चीन! राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को तैयार रहने के दिए आदेश ट्विटर ने पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को झूठा बताया यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें? कोविड-19: तीन ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों पर कितना असर? नेपाल ने कहा, भारत के सेना प्रमुख ने हमारे इतिहास का अपमान किया डोनाल्ड ट्रंप भारत-चीन सीमा विवाद पर मध्यस्थता के लिए तैयार कांग्रेस का आरोप- यूपी में दलितों-पिछड़ों को निशाना बना रही योगी सरकार