कोरोना संकट: परीक्षाओं में कंप्टीशन करने वाले अब 'भूख' से लड़ने को मजबूर

कोरोना संकट: परीक्षाओं में कंप्टीशन करने वाले अब 'भूख' से लड़ने को मजबूर

10-04-2020 09:40:00

कोरोना संकट: परीक्षाओं में कंप्टीशन करने वाले अब 'भूख' से लड़ने को मजबूर

बिहार में लॉकडाउन के दौरान अपने घरों से दूर रहने वाले छात्र कई तरह की मुसीबतों का सामना कर रहे हैं.

12: 11 IST को अपडेट किया गया"सर, हमारी मदद करिए. हमारा घर गिरिडीह है. पटना में रहकर मेडिकल की तैयारी करते हैं. अचानक हुए लॉकडाउन के कारण फंस गए हैं. घर जा नहीं पाए. राशन खत्म है. जो पैसे थे, उससे किसी तरह हफ्ता भर चला लिए. अब पैसे भी नहीं हैं."

अनुष्का शर्मा ने शेयर की फोटो, पति विराट कोहली ने किया ये कमेंट राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार पीएम केयर्स फंड पर बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका को केंद्र ने ख़ारिज करने का अनुरोध किया

"ट्यूशन पढ़ाकर खर्च निकालते थे, वह भी बंद हो गया. घर से भी किस मुंह से मांगें! पिताजी मज़दूरी करके कमाते हैं. उनका भी काम बंद है.""सर प्लीज... कम से कम खाने का प्रबंध करा दीजिए. भूखे पेट पढ़ाई नहीं हो पा रही, और अगर नहीं पढ़े तो अब तक की सारी तैयारी बेकार चली जाएगी."

पटना के सुल्तानगंज इलाक़े में किराए के एक कमरे में रहकर जुनैद पिछले दो सालों से मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं.बीबीसी से फ़ोन पर बात करते हुए जुनैद बिना रुके यह सब बोलते जा रहे थे. बोलते-बोलते वो रोने लगे. खाने का संकट उनकी आवाज़ से महसूस हो रहा था.

पटना सिटी के अलग-अलग इलाक़ों में, महेंद्रू में अब्दुल रहमान, पटना सिटी में तौसिफ़ अंसारी, लोहानीपुर में मंटु यादव, मनीष कुमार और दूसरे कई छात्रों ने हमें फ़ोन पर अपनी समस्याएं बताई.लेकिन ये समस्याएं केवल कुछ छात्रों की ही नहीं है, बल्कि उन सैकड़ों छात्रों की है, जो अपने घर-परिवार को छोड़ बिहार की राजधानी किराए के कमरे या लॉज में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं, मगर अचानक हुए लॉकडाउन के कारण बुरी तरह फंस गए हैं.

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी का केंद्र है पटनापटना में बैंकिंग, रेलवे, एसएससी, पीएससी, मेडिकल और इंजीनियरिंग की परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले कोचिंग संस्थानों का विशाल नेटवर्क है. इनकी संख्या हज़ारों में है.देखा जाए तो यह शहर पिछले कुछ सालों के दौरान पूर्वी भारत में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने का केंद्र बन गया है.

न केवल बिहार के, बल्कि सीमावर्ती दूसरे अन्य राज्यों के सुदूर ग्रामीण इलाकों के छात्र भी पटना आकर महेंद्रू, गायघाट, एनआईटी, कंकड़बाग के इलाकों में बेहद मामूली खर्चे के साथ रहकर तैयारी करते हैं.लॉकडाउन के बाद जब कठिनाइयां होने लगीं तो जिन छात्रों का घर पटना से करीब था, वे तो किसी तरह अपने घर चले गए, लेकिन जिनका घर दूर है वैसे कई छात्र अब भी फंसे हुए.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesभूख से कंप्टीशनमहेंद्रू में एनआईटी पटना के पास किराए का एक कमरा लेकर रह रहे यूपीएससी और बीपीएससी की परीक्षाओं की तैयारी कर रहे तौहिद रज़ा कहते हैं, "चाहे पैसा हो या खाने का सामान हो, हम छात्रों के पास सब कुछ सीमित ही रहता है. लॉकडाउन होने के बाद हफ़्ते भर तक उससे चल गया. लेकिन अब पिछले तीन-चार दिनों से सही से खाने को तरस गए हैं."

मध्य प्रदेशः क्या उपचुनाव में प्रशांत किशोर लगाएंगे कांग्रेस की नैय्या पार लद्दाख सीमा विवाद पर बोले राजनाथ सिंह- अच्छी खासी संख्या में आ गए चीनी सैनिक पीएम मोदी से बोले ट्रंप- अमेरिका अगले हफ्ते भेजेगा 100 वेंटिलेटर की पहली खेप

तौहिद कहते हैं,"गांव से आए छात्र घर से अनाज लाते हैं तो महीने भर खाते हैं. ज़्यादातर के पिता या अभिभावक खेती-किसानी का काम करते हैं. इसलिए घर से पैसे भी नहीं मंगा पा रहे.""परिवार आर्थिक रूप से उतना मजबूत नहीं है.अब लॉकडाउन में न तो कोई साधन है घर आने-जाने का. ना हिम्मत कर रही घरवालों से पैसा मांगने की."

ट्यूशन बंद, पैसा ख़त्मप्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले अधिकांश छात्र अपने महीने का ख़र्च प्राइवेट ट्यूशन पढ़ाकर निकालते हैं. लेकिन इन दिनों ट्यूशन बंद है.गिरीडीह के रहने वाले अब्दुल रहमान कहते हैं,"हमारे साथ तो ऐसा हुआ है कि पिछला पैसा भी नहीं मिल पाया. जिस घर में ट्यूशन पढ़ाते थे, उसका दरवाज़ा अब बंद हो गया है. वो लोग फ़ोन नहीं उठाते. और ऐसा केवल हमारे ही साथ नहीं, कई ‌स्टूडेंट्स के साथ हुआ है."

अब्दुल ने कहा,"बचे-खुचे जो पैसे थे, इतने दिनों में वो भी ख़त्म हो गए. घर भी नहीं जा सकते. कम से कम वहां पैसों की जरूरत नहीं पड़ती." और पढो: BBC News Hindi »

यह ध्यान आकर्षित करने के है सचमूच मदद के लिए , क्योंकि पुलिस और सरकार मदद करने के लिए बार बार सुचना दे रहे हैं । Please NitishKumar irvpaswan help them. They are our future they can't fight in this situation without food. आपदा देश पर हो और देश वासियों को कष्ट भी न हो ये कैसे संभव है? बेलगाम जनसंख्या तक सीमित मानव संसाधन के साथ पहुंचना कठिन कार्य है। एक संस्था होने के नाते इस देश के लिए आपका योगदान जानना चाहूंगा।इस तस्वीर को उतारने की बजाय रोटी दे देते तो लगता कि बीबीसी भी देश को समर्पित है ।

Sb thik ho gaya hota..tabligi kaand na hua hota.. Ya jaahilo ne.jahalat na dikhai hoti..aur wo log kahan gaye jo makduro ko ghar pahunchane k liye shor macha rahe the बीबीसी को भारत कि बहुत चिंता हो रही है तो कुछ पैसे खर्च करो इन गरीबो पे जहां रिपोर्टींग कर रहे हो अबे भोंसड़ीवाला भरवे BBC साले ख़ुद तू तो पाकिस्तान का खाता है।

All fault of population increase in 1970-2010 ब्रिटेन की हालात तो बताया करो

UP में आगरा है कोरोना का एपिसेंटर, चपेट में 75 में से 40 जिलेपिछले 24 घंटे के अंदर उत्तर प्रदेश में 49 नए केस सामने आए हैं. इसमें अकेले 19 केस तो आगरा में सामने आए हैं. आगरा में मरीजों की संख्या अब 83 हो गई है. प्रदेश के 20 फीसदी केस इसी जिले हैं. दिल्ली के जामा मस्जिद के इलाक़े में लड़के क्रिकेट खेल रहे है, मुंबई के भांडुप में बाज़ार लगा है, कोलकाता के कोले मार्केट में सड़क पर सब्ज़ी की दुकानें सजी हैं. लॉकडाउन तोड़ने के ऐसे ढेर सारे उदाहरण हैं. अपील बहुत हो गई. अब सख़्ती करने का वक़्त आ गया है. कोरोना हारेगा देश जीतेगा कोरोना से लडने मे साथ नहीं दे रहें हैं.. तो अंग्रेजो से लडने में क्या साथ दिया होगा. फिर कहते हैं.. ये देश हमारा भी है.

कोरोना: भोपाल में 85 संक्रमितों में से 40 स्वास्थ्यकर्मी, राज्य मानवाधिकार आयोग ने मांगा जवाबमध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 57 नए मामले सामने आने के बाद प्रदेश में इस बीमारी की चपेट में आने वालों की तादाद बढ़कर 313 पर पहुंच गई है. मध्य प्रदेश में अब तक 23 लोगों की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हो चुकी है. मुझे लगता है फिर से मोदी जी को live आकर कोई नया प्रोग्राम बताना चाहिए कोरोना की ऐसी की तैसी asifjsr759 इनको सत्ता चाहिए, जनता मरती रहे कोई फर्क नही पड़ता सत्ता के भोगी, जनता के दुश्मन

कोरोना: ICU में ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन, स्थिति में पहले से सुधारloveenatandon loveenatandon भगवान से प्रार्थना हैं जल्द से जल्द ठीक हों । loveenatandon भाई थोड़ी हेडिंग सुधार लीजिए,ऐसे हेडिंग देख के मन में उल्टे विचार आ गए थे

जम्मू में कोरोना से पहली मौत, प्रदेश में 24 घंटे के भीतर 33 और संक्रमितजम्मू-कश्मीर में कोरोना संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ रहा है। CoronaOutbreak Coronavirus CoronaVirusLockdown JammuAndKashmir

कोरोना संक्रमण से निपटने में 'डब्ल्यूएचओ' स्वास्थ्य प्रहरी की भूमिका निभाने में रहा नाकामफिलहाल तो विश्व समुदाय का ध्यान कोरोना संकट से निपटने में होना चाहिए लेकिन वह इसकी भी अनदेखी न करे कि डब्ल्यूएचओ स्वास्थ्य प्रहरी की भूमिका निभाने में नाकाम रहा VivekKatju डब्ल्यूएचओ उस चीन का प्रहरी बना हुआ है जिसने अपने स्वार्थ के लिए सम्पूर्ण मानव जाति के अस्तित्व को खतरे में डाल दिया है। चीन का वैश्विक बहिष्कार आवश्यक है। KByomkesh VivekKatju जल्द से जल्द डब्ल्यूएचओ के पदाधिकारियों को तबादला या निलंबित कर देनी चाहिए VivekKatju Sahi baat hai w h o apni pramanikta mein khara nahai

कोरोना वायरस की वजह से ईरान में रमजान महीने में नमाज सभाओं पर लगेगी रोककोरोना वायरस की वजह से ईरान में रमजान महीने में नमाज सभाओं पर लगेगी रोक Coronavirus Covid19 Covid19Iran ramadan Ramzan But SUNNAT ka kya 🤔 समस्त विश्व को मान लेना चाहिए कि खुदा जैसी कोई चीज नहीं है ऎसे तो इस्लाम खतरे में आजाएगा 🙄

निसर्ग: मुंबई में 129 साल के बाद आएगा चक्रवाती तूफ़ान दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवालों का हो इलाज? केजरीवाल ने पब्लिक से मांगे सुझाव मनोज तिवारी की छुट्टी, आदेश गुप्ता बने दिल्ली बीजेपी के नए अध्यक्ष चीन को सबक सिखाने का मेगाप्लान? ट्रंप ने PM मोदी को दिया G-7 में शामिल होने का न्योता 11 जून को भारत में पहला लैपटॉप MI Notebook लॉन्च करेगी Xiaomi चक्रवाती तूफान निसर्ग को लेकर राहुल की अपील- खुद का रखें खयाल, पूरा देश आपके साथ गुजरात हाईकोर्ट की बेंच बदली तो रूपाणी सरकार को लेकर बदल गया नजरिया कोरोना अपडेटः प्रधानमंत्री मोदी बोले, कोरोना महामारी विश्वयुद्ध के बाद आया सबसे बड़ा संकट है - BBC Hindi दिल्‍ली बीजेपी चीफ मनोज तिवारी हिरासत में, कोरोना पर केजरीवाल सरकार के खिलाफ कर रहे थे प्रदर्शन मोदी सरकार के ऐलान पर कांग्रेस का निशाना, कहा-इससे कर्ज भी नहीं चुका पाएगा किसान रूस का ट्रंप को झटका, जी-7 को पुराने जमाने का बताकर ठुकराया न्योता