Coronavirus, Mıt, Socialdistanacing, Corona, Coronavirus İndia, Coronavirus, Corona Cases İn İndia, Mit, Who, World Health Organization, Cdc, Centers For Disease Control And Prevention Cdc, कोरोना, कोरोनावायरस, कोरोना वायरस अपडेट लाइव, एमआईटी, विश्व स्वास्थ्य संगठन

Coronavirus, Mıt

कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी

कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी #coronavirus #MIT #SocialDistanacing

03-04-2020 11:43:00

कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी coronavirus MIT SocialDistanacing

एमआईटी के एक शोधकर्ता ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना आठ मीटर की दूरी तक फैल सकता है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मैसाचुसेट्स

Updated Fri, 03 Apr 2020 02:09 PM ISTविज्ञापनstaying two meters away from others is not enough- फोटो : पीटीआईख़बर सुनेंख़बर सुनेंकोरोना से बचने के लिए एक दूसरे से दो मीटर की दूरी बनाए रखना काफी नहीं होगा। एमआईटी के एक शोधकर्ता ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना वायरस लगभग आठ मीटर की दूरी तक फैल सकता है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मैसाचुसेट्स प्रौद्योगिकी संस्थान (एमआईटी) ने विश्व स्वास्थ्य संगठन और सीडीसी (CDC) की तरफ से जारी पुरानी गाइडलाइंस में बदलाव करने की सलाह दी है।

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की मौत, वजह पता नहीं 35 हजार लोगों के हिस्से का अनाज चट कर सकता 4 करोड़ टिड्डियों का दल, कई राज्यों में फैला है आतंक अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए

एमआईटी की शोधकर्ता लीडिया बोरोइबा ने सालों तक खांसी और जुकाम के गतिविज्ञान पर शोध किया है। एमआईटी की एसोसिएट प्रोफेसर लीडिया ने अपने शोध में लोगों को कोरोना से बचने के लिए आठ मीटर दूरी रखने की चेतावनी दी है। उनका ये शोध अमेरिकी मेडिकल एसोसिएशन की पत्रिका में छपा है। प्रोफेसर लीडिया ने अपने शोध में जानकारी दी है कि दो मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग 1930 के पुराने मॉडल पर आधारित है।

ये भी पढ़ेंःभारतीय कंपनी ने लॉन्च किया कोरोना वायरस होम टेस्ट किट, जानें कीमतप्रोफेसर लीडिया ने अपने शोध में कहा कि हर तरह की छोटी बड़ी ड्रॉपलेट्ल 23-27 फीट यानि की सात से आठ मीटर की दूरी तय कर सकती है। लीडिया के शोध में ये जानकारी मिलती है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से जारी पुरानी गाइडलाइंस में ड्रॉपलेट्स को दो वर्गों में बांटा गया है। एक छोटी ड्रॉपलेट और दूसरी बड़ी ड्रॉपलेट। जब एक व्यक्ति छींकता या खांसता है तो उसकी ड्रॉपलेट सेमी-बैलेस्टिक ट्रेजेक्ट्री की तरह सतह पर गिरेंगी जिससे संक्रमण का दायरा और बढ़ सकता है।

हालांकि संक्रमण के नए मामलों के आधार पर शोधकर्ता लीडिया कहती है कि कोई भी छींक या खांसी हवा भरे बादल की बनी होती है जो किसी व्यक्ति की ड्रॉपलेट्स को लंबी दूरी तक ले जाने का काम करती है। न्यूयॉर्क पोस्ट के मुताबिक लीडिया ने बताया कि चीन की 2020 की रिपोर्ट में ये जानकारी दी गई है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के वेंटिलेटर पर भी कोरोना के लक्षण देखे जा सकते हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग की मौजूदा गाइडलाइंस पर चिंता जताते हुए लीडिया कहती हैं कि ये गाइडलाइन कुछ ज्यादा ही सरल है और प्रस्तावित बचाव कार्य के असर को सीमित कर सकती है। प्रोफेसर लीडिया ने डब्ल्यूएचओ और सीडीसी की तरफ से जारी मौजूदा गाइडलाइन में जल्द बदलाव करने की सलाह दी है। वहीं डब्ल्यूएचओ ने प्रोफेसर लीडिया के शोध का स्वागत किया है।

कोरोना से बचने के लिए एक दूसरे से दो मीटर की दूरी बनाए रखना काफी नहीं होगा। एमआईटी के एक शोधकर्ता ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना वायरस लगभग आठ मीटर की दूरी तक फैल सकता है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मैसाचुसेट्स प्रौद्योगिकी संस्थान (एमआईटी) ने विश्व स्वास्थ्य संगठन और सीडीसी (CDC) की तरफ से जारी पुरानी गाइडलाइंस में बदलाव करने की सलाह दी है।

विज्ञापनएमआईटी की शोधकर्ता लीडिया बोरोइबा ने सालों तक खांसी और जुकाम के गतिविज्ञान पर शोध किया है। एमआईटी की एसोसिएट प्रोफेसर लीडिया ने अपने शोध में लोगों को कोरोना से बचने के लिए आठ मीटर दूरी रखने की चेतावनी दी है। उनका ये शोध अमेरिकी मेडिकल एसोसिएशन की पत्रिका में छपा है। प्रोफेसर लीडिया ने अपने शोध में जानकारी दी है कि दो मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग 1930 के पुराने मॉडल पर आधारित है।

महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक टिड्डियों का तांडव, पंजाब हाई अलर्ट पर कोरोना वायरस ने भारतीय राजनीति को कितना बदला है? कोरोना अपडेट: लॉकडाउन पीढ़ी पर 'दशकों तक रह सकता है असर' - BBC Hindi

ये भी पढ़ेंःभारतीय कंपनी ने लॉन्च किया कोरोना वायरस होम टेस्ट किट, जानें कीमतप्रोफेसर लीडिया ने अपने शोध में कहा कि हर तरह की छोटी बड़ी ड्रॉपलेट्ल 23-27 फीट यानि की सात से आठ मीटर की दूरी तय कर सकती है। लीडिया के शोध में ये जानकारी मिलती है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से जारी पुरानी गाइडलाइंस में ड्रॉपलेट्स को दो वर्गों में बांटा गया है। एक छोटी ड्रॉपलेट और दूसरी बड़ी ड्रॉपलेट। जब एक व्यक्ति छींकता या खांसता है तो उसकी ड्रॉपलेट सेमी-बैलेस्टिक ट्रेजेक्ट्री की तरह सतह पर गिरेंगी जिससे संक्रमण का दायरा और बढ़ सकता है।

हालांकि संक्रमण के नए मामलों के आधार पर शोधकर्ता लीडिया कहती है कि कोई भी छींक या खांसी हवा भरे बादल की बनी होती है जो किसी व्यक्ति की ड्रॉपलेट्स को लंबी दूरी तक ले जाने का काम करती है। न्यूयॉर्क पोस्ट के मुताबिक लीडिया ने बताया कि चीन की 2020 की रिपोर्ट में ये जानकारी दी गई है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के वेंटिलेटर पर भी कोरोना के लक्षण देखे जा सकते हैं।

और पढो: Amar Ujala »

Yes cronaviruse का मौत और जिंदगी से सिर्फ दो उंगली का फैसला है। तो हर इंसान को crona से बचना चाहिए बहुत ही डेंजर है। और ईश्वर सब की हिफाजत करें। Amen for all 💯💯💯💯💯💯💯🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙄🙄🙄🙄♥️♥️♥️♥️ Whole world

गहलोत सरकार का फैसला, कोरोना के लिए पूरे प्रदेश के लोगों की होगी स्क्रीनिंगराजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने प्रदेश के सभी साढ़े सात करोड़ लोगों की कोरोना के लिए स्क्रीनिंग करने का फैसला किया है. स्क्रीनिंग के दौरान कोरोना संक्रमण की शंका होने पर सैंपल टेस्टिंग भी करने का निर्णय लिया गया है. मेडिकल विभाग के कर्मचारियों के साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और जिला कलेक्ट्रेट के कर्मचारी स्क्रीनिंग का काम करेंगे. sharatjpr Good job sharatjpr ये हुई ना बात देशहित की, सही दिशा में उत्कृष्ट कार्य। sharatjpr Very good news for everyone..Rajasthan

कोरोना महामारी के आर्थिक असर से निपटने के लिए RBI ने की नए उपायों की घोषणाभारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बुधवार को कोरोना वायरस महामारी के आर्थिक असर ने निपटने के लिए नए उपायों की घोषणा की। इनमें RBI BanJahilJamat

#LadengeCoranaSe: कोरोना के इलाज के लिए ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों ने शुरू की दो वैक्सीन की टेस्टिंगLadengeCoranaSe: कोरोना के इलाज के लिए ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों ने शुरू की दो वैक्सीन की टेस्टिंग corona vaccine vaccine

LIVE: देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 2300 के पार, 68 की मौतमेरठ में कोरोना वायरस के आज 5 और पॉजिटिव केस सामने आए हैं. coronavirus india लाइव अपडेट्स: COVID19 jitna let Kroge mere massage ko samjhhne m duniya ko mot ki traf lekr jaoge Kyuki Corona Ka ilaj India m hi h lekin iski kimt h करोना वायरस नही जनाब करोना जेहाद कहे

फैक्ट चेक: कोरोना वायरस के उपचार के लिए न करें इस घरेलू नुस्खे पर भरोसादेश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के बीच एक घरेलू नुस्खा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि समुद्री नमक और संतरे के छिलकों की भाप लेने से कोरोना वायरस का इलाज किया जा सकता है. blowinindwind Not truth blowinindwind Mr corona wants your no santra ji😉 be safe to give

कोरोना से जंग के बीच भारतीय डॉक्टरों के लिए अच्छी खबर, UK ने बढ़ाया वीजाWhich country will make medicine against corona first

'2021 की शुरुआत में मिलेगा कोविड-19 का टीका', राहुल गांधी से चर्चा में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का दावा - BBC Hindi कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi ‘कोरोना आपदा को बदला लेने का अवसर मान रही मोदी सरकार’: छात्र नेताओं ने लगाया आरोप संकट में प्रवासी मजदूर: भूख-प्यास से बेहाल मां की स्टेशन पर ही मौत, जगाने की कोशिश करता रहा बच्चा ट्विटर ने पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को झूठा बताया राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें? केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने क्वारंटाइन से किया किनारा, सफाई में बोले- छूट वाली कैटेगरी में आता हूं कोविड-19: तीन ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों पर कितना असर? नेपाल ने कहा, भारत के सेना प्रमुख ने हमारे इतिहास का अपमान किया डोनाल्ड ट्रंप भारत-चीन सीमा विवाद पर मध्यस्थता के लिए तैयार