कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचने वाला शख़्स

कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचे समीरुल

02-04-2020 09:06:00

कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचे समीरुल

समीरुल और उनके साथी 22 मार्च की शाम अपने-अपने ठेले और एक वक़्त का खाना लेकर निकले थे.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटSanjay/BBC"रामबाग रोड पर रहने वाले सभी ठेले वाले आ रहे थे तो हम भी लपेटे में आ गए और चल दिए. और 10 दिन में घर पहुंच गए."38 साल के समीरुल ने बुलंद आवाज़ में जब मुझसे ये फ़ोन पर कहा तो विश्वास कर पाना मुश्किल था कि इस आदमी ने 1200 किलोमीटर ठेला चलाया है.

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की मौत, वजह पता नहीं 35 हजार लोगों के हिस्से का अनाज चट कर सकता 4 करोड़ टिड्डियों का दल, कई राज्यों में फैला है आतंक अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए

समीरुल दिल्ली से बिहार राज्य के मधुबनी ज़िले के हरलाखी प्रखंड स्थित अपने गांव सोठगांव ठेला चला कर पहुंचे हैं.समीरुल बीते 18 साल से दिल्ली के आज़ाद मार्केट में मज़दूरी करते हैं. 22 मार्च को जनता कर्फ़्यू लगने के बाद ही वो अपने ठेला चलाने वाले मज़दूर साथियों के साथ घर के लिए निकल पड़े.

समीरुल बताते है,"कुछ समझ नहीं आ रहा था. बंदी थी, कुछ कमाई हो नहीं रही थी. चाय वाले और खाने पीने की दुकान बंद हो गई थीं. कोई डेरा तो है नहीं, रामबाग रोड़ पर सोते थे लेकिन वहां से अब पुलिस वाला भी भगा रहा था. तो कैसे गुज़ारा चलता. घर चले आए."राह की मुश्किलें

समीरुल और उनके साथी 22 मार्च की शाम को अपने अपने ठेले और एक वक़्त का खाना लेकर चले.बकौल समीरुल,"कुछ रुपए पास में थे लेकिन लोग रास्ते में केला, चूड़ा, पूड़ी, पानी बांट रहे थे. वही सब खा कर गुज़ारा हो गया. बाक़ी पुलिस भी जगह -जगह मिली लेकिन पुलिसवालों ने सिर्फ़ दूरी बनाकर चलने को कहा. बाक़ी जहां मन करता था ठेला रोककर कुछ घंटे आराम करके फिर आगे बढ़ जाते थे."

इमेज कॉपीरइटSanjay/BBCऔसतन रोज़ 300 रुपए कमाने वाले समीरुल और उनके साथियों को गोपालगंज ज़िले की सीमा पर सरकारी बस ने बैठा लिया और उन्हें दरभंगा लाकर उतार दिया गया.समीरुल बताते हैं कि इससे बहुत राहत मिली. दरभंगा से फिर सभी ठेला मज़दूरों ने अपने गांव का रास्ता पकड़ा. समीरुल भी 31 मार्च की दोपहर ठेला लेकर अपने गांव पहुंचे.

गांव पहुंचे तो हुआ स्वागतसमीरुल जब अपने गांव पहुंचे तो गांव वालों ने उनका स्वागत किया. बच्चे उनके ठेले के पीछे दौड़े और बड़ों ने ख़ुशी का इजहार किया.पंचायत की मुखिया अख्तरिया खातून के पति मोहम्मद इजहार ने बीबीसी से फोन पर बताया,"समीरुल के घरवालों ने ये सूचना दी थी कि वो ठेला चलाकर आ रहे हैं. तो हमने लोगों को कह रखा था कि उनके आते ही सूचित करें. जब वो आए तो हमने ठेले को गाछी(बगीचा) में खड़ा करवा दिया और समीरुल को अस्पताल ले जाकर जांच करा दी. अब उनको स्कूल में रखा है.''

और पढो: BBC News Hindi »

Iska test hona chahiye 14 din alag rakhajaye. Hum bhi Bharat....😢😢😢 Honestly by any calculation it doesn’t fit but tu mhantos mhanun.. shewti communal reporter ahes tu Bilkul sharm nahi aati hamari sarkaar ko😔....gareeb ki aawaaz koi nahi sunta ...desh ko Hindu Muslim ker ke tabah ker diya🇮🇳😟 Lagta h srf bht dhundne k baad ek muslim Bihari majdur mila.nh to hazaron k tadat me majdur farar hue naam kisi aur k lete hue nh suna. Lekin insaniyat k nate delhi gov in logon k at least khane ka bandobast karna chahiye tha,krta to ye log itna majbur nh hote. Shame on you Kejri

सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है अब हर मुस्लिम नाम corona से ही जोड़ा जाएगा। लाखों की संख्या में लोग दिल्ली से बिहार की तरफ निकले। पूरे देश ने उन गरीब मजदूरों की दुर्दशा देखी और मन ही मन उनके सलामती की दुआ भी की। अगर कोई घर तक पहुंचा तो खुश होने के बजाय सब उसको गालियां दे रहे हैं,सिर्फ मुसलमान होने की वजह से।

We should learn from him. वहाँ पहूँच के तुरंत Reliance का मलिक? How and where has he taken food during lockdown? एक स्टोरी इंदौर पर भी कर देते, Inko esa nahi karna chahiye tha .... BBC NEWS MULE DOCTOR RO PA TUK RAHE HA YA BHI BATA DIYA KARO..... Ohh 🙆‍♂️🤦‍♂️🇮🇳🇮🇳💔💔💔 अबे पहले वो ग़द्दार मौलाना साद कही भाग गया है इसकी खबर चलाओ?

Lockdown Ka palan nhi kia , arrest them bhaktlogic NizamuddinMarkaz रिक्शा ठेला लेकर बहुत से लोग पहले भी आसाम बंगाल , बिहार और अन्य राज्यों में आते रहें हैं । आज कोई नयी बात नहीं है । Manjhithethela Ethnic Bihari in 7major states बिरयानी और 500₹ डेली का मिलना को बंद हो गया था😇😇😇😇😇🤔 Wah bhai kamal kar diya

Tum apni maa chudao... Tum apni gaddi se pahucha dete.. Bihar se Delhi jakar agar 21 din ka rashan bhi nahi juta paye to Delhi jane ka kya fayda 🇮🇳🇮🇳💪💪🤲🤲 Nice इन्हें कोई सम्मानित करो भाई यह हरामखोर बहुत अच्छा काम किए हैं 10 दिन ठेला चलाकर बिहार पहुंचे हैं. देश के लिए बहुत बड़ा काम किए.😡😡😡😡😡 AgrejB ajitanjum umashankarsingh 1Hemanttiwari

मादरचोद बीबीसी बालो को सिर्फ कटुआ ही मिला This problem create by system Gov shoud have had to provide everything thing to needy people but gov fail Wahh bht inspiring story hai, allah apko salmat rakhe. अब्दुल का लौंडा :- अब्बा रामायण में हम लोग क्यूँ नहीं हैं अब्दुल :- क्यूंकि रथ पंचर नहीं होते थे 😂😂😂😂 🤣🤣🤣

And WHO is applauding India lockdown by showing Rashtarpati Bhavan picture WHO गरीब बेचारा मुसीबत में मारा Kisi ko rasty me ye mila nahi jo iski madad karsakta...? सरकार_निकम्मी_मीडिया_दलाल_है 😔😔 क्यूँ ArvindKejriwal ने तो चार लाख लोगों की वयवस्था कर रखी थी। लोट लोट कर चैनलों पर यही बता रहे हैं!!! ये वीरगाथा तो नहीं, लेकिन सरकारी तंत्र की उदासीनता पर एक ज़ोरदार तमाचा है। समीरुल और उस जैसे हाशिये पर धकेल दिए गए लोगोंकी हर संभव मदद कर उन्हें गांव में ही रोज़गार उपलब्ध कराना सच्ची हमदर्दी होगी।

Poor's are suffering because of rich and privileged class who travel to foreign countries frequently एक मौलाना कोरोना से मर गया. जहन्नुम जाकर अल्लाह से पूँछा- “मैं 5 वक़्त का नमाजी हूँ, मुझे बचाने क्यों नही आए? वो बोले -“गधे! कभी पीएम बनकर, कभी सीएम बनकर,कभी पुलिस बनकर कभी डॉक्टर बन कर 100 बार तुझे बताने के लिए आया था

Kuchh tabligh ka likh do warna doib mari kahi jaake Apake bahut chahite hai ye special kon k log किसके इशारे पर गया , कोन है वो जिसके इशारे पर यह गया। जबकि lockdown था। kheloindia दिल्ली से बिहार तक समीरुल जी ने लॉक डाउन में जो देश भक्ति दिखाइए है वह काबिले तारीफ है इससे वे कोरना जिहाद को लेकर वचनबद्ध है विदेशी मीडिया न्यूज़ चैनल इसे पोस्टर बॉय बताकर दिखा रही है ऐसे एजेंसियों को जूता मारना चाहिए जहां देखे वहां पर क्योंकि यह आधी अधूरी न्यूज़ छपती है

AkhterK56132548 He seems heavyweight. More power to him. फर्जी है क्यों गया है बिहार खाने को यही खूब मल रहा है देश को बदनाम करने वाले हैं निकम्मी सरकार ने गरीबों को मार डाला। narendramodi narendramodi_in PMOIndia Please ban BBC as they have clear agenda of anti India and anti Hindu. They don't have eyes to see good things and they have a practice of seeing everything reverse.

देश का दुर्भाग्य World record !!! कुछ लोगों को शब्दों को लेकर बड़ी आपत्ति है, अब वही बताएं की मौलाना साद को गुमशुदा कहें या फरार गरीब मजदूर बेरोजगार लाचार लोग कोई ठेला लेकर कोई रिक्शा लेकर कोई पैदल चलकर अपने आप को सुरक्षित करने के लिए अपने गांव घर पहुंचा है क्या यह हमारी सरकारों का फेलियर है इंदौर मध्यप्रदेश में जो पथराव हुआ उस पर क्या रिपोर्ट है आपके चेनल की।।।

ऐसी ही है हमारे देश की सरकार

इस चीज से ज्यादा देर नहीं लड़ पाता कोरोना, हर वक्त रखें अपने साथ - lifestyle AajTakकोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कोहराम मचाकर रख दिया है. इस जानलेवा वायरस की चपेट में अब तक साढ़े सात लाख से भी ज्यादा लोग आ चुके संघ प्रमुख मोहन भागवत जी सदैव राष्ट्र निर्माण की बात करते है। आज पूरे देश मे तन मन धन से स्वयंसेवक राष्ट्र को बचाने में लगे हुए है। seva4society RSSorg हर संकट में देश के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करते हैं स्वयं सेवक, धन्य हे This is right but Help karo garib logo ki jiske pass khane ke liye food nhi hain

VIDEO: ‘चाइनामैन’ गेंदबाज ने बताए अपने शौक, लेग स्पिनर ने कहा- कोरोना के कारण...Covid-19: चहल ने कुलदीप से इस बारे में बात की कि कैसे यह स्पिन जोड़ी चर्चा के जरिए लॉकडाउन में फैंस को खुश रख सकती है। इसे लेकर कुलदीप भी सहमत थे। उन्होंने माना कि इंस्टाग्राम लाइव उनके फैंस को शामिल करने का एक अच्छा तरीका था।

कोविड-19 : देश में वायरस के वो हॉटस्पॉट, जहां से और फैल रहा कोरोनासरकार ने देशभर में हॉट-स्पॉट चिह्नित किए हैं जहां कोरोना तेजी से फैल रहा है। क्लस्टर के तौर उन स्थानों को चुना गया, जहां सबसे पहले वह सेना उतारकर सील कर देना चाहिए पूरी तरह। सहमत = रीट्वीट

कोरोना वायरस: मरकज पर बोले केजरीवाल- चाहे अधिकारी हो या कोई और, सख्त कार्रवाई होगीदिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज मामले की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निंदा की है. उन्होंने कहा कि जब सारे मंदिर और मस्जिद बंद हैं तो फिर ऐसी हरकत क्यों हुई. PankajJainClick निजामुदीन से पकड़े गए सारे मुसलमानों को केजरीवाल के परिवार सहित एक कमरे में बंद 🔒 कर देना चाहिए। PankajJainClick ये सावन का अंधा केजरीवाल इसे अब सब हरा हरा दिखेगा PankajJainClick Whitewash start kardi aroonpurie ji ke sold media house ne !! Cc sardanarohit anjanaomkashyap SwetaSinghAT chitraaum

कोरोना वायरस के 'पापा' के सवाल पर घमासान, चीन और अमेरिका में बढ़ा वाक युद्धकोरोना वायरस का दुनिया के देश दंश झेल रहे हैं। सितंबर 2019 में चीन में कोरोना का पहला ममला सामने आया था विशेषज्ञों का यही POTUS -\\{मीडिया_वायरस \\|/मीडिया_वायरस}/_ -/{मीडिया_वायरस \\/ मीडिया_वायरस}\\_ -\\{मीडिया_वायरस \\/ मीडिया_वायरस}\\_ -/{मीडिया_वायरस \\/ मीडिया_वायरस}/_ -\\{मीडिया_वायरस /\\ मीडिया_वायरस}\\_ -/{मीडिया_वायरस /\\ मीडिया_वायरस}/_ -/{मीडिया_वायरस /|\\ मीडिया_वायरस}\\_

क्वारंटाइन और आइसोलेशन ही बेहतर तरीका है कोरोना वायरस से बचने काकोरोना वायरस की वजह से संपूर्ण विश्व परेशान है, एक सूक्ष्म जीव ने महाशक्तियों को घुटनों पर ला दिया है। ना परमाणु बम, ना उन्नत टेक्नोलॉजी और ना ही पैसा इससे जीत पा रहा है।

राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं '2021 की शुरुआत में मिलेगा कोविड-19 का टीका', राहुल गांधी से चर्चा में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का दावा - BBC Hindi कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi ‘कोरोना आपदा को बदला लेने का अवसर मान रही मोदी सरकार’: छात्र नेताओं ने लगाया आरोप युद्ध की तैयारी में चीन! राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को तैयार रहने के दिए आदेश संकट में प्रवासी मजदूर: भूख-प्यास से बेहाल मां की स्टेशन पर ही मौत, जगाने की कोशिश करता रहा बच्चा ट्विटर ने पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को झूठा बताया यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें? केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने क्वारंटाइन से किया किनारा, सफाई में बोले- छूट वाली कैटेगरी में आता हूं कोविड-19: तीन ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों पर कितना असर? नेपाल ने कहा, भारत के सेना प्रमुख ने हमारे इतिहास का अपमान किया