कोरोना: बिना लॉकडाउन के तु्र्की ने कैसे क़ाबू पाया इस महामारी पर

कोरोना: बिना लॉकडाउन के तु्र्की ने कैसे क़ाबू पाया इस महामारी पर

03-06-2020 18:45:00

कोरोना: बिना लॉकडाउन के तु्र्की ने कैसे क़ाबू पाया इस महामारी पर

तुर्की में एक समय कोरोना वायरस बेहद तेज़ गति से फैल रहा था. लेकिन अब पूरी तरह नियंत्रण में कैसे है?

आपके सवालकोरोना वायरस क्या है?लीड्स के कैटलिन सेसबसे ज्यादा पूछे जाने वालेबीबीसी न्यूज़स्वास्थ्य टीमकोरोना वायरस एक संक्रामक बीमारी है जिसका पता दिसंबर 2019 में चीन में चला. इसका संक्षिप्त नाम कोविड-19 हैसैकड़ों तरह के कोरोना वायरस होते हैं. इनमें से ज्यादातर सुअरों, ऊंटों, चमगादड़ों और बिल्लियों समेत अन्य जानवरों में पाए जाते हैं. लेकिन कोविड-19 जैसे कम ही वायरस हैं जो मनुष्यों को प्रभावित करते हैं

सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न, कहा- 'हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही' गहलोत को सीएम पद से हटाने से कम पर तैयार नहीं सचिन पायलट, कहा - अब आर या पार की लड़ाई : सूत्र कोरोना वायरस: रूस का दावा, उसने कोरोना की वैक्सीन का सफल परीक्षण किया - BBC Hindi

कुछ कोरोना वायरस मामूली से हल्की बीमारियां पैदा करते हैं. इनमें सामान्य जुकाम शामिल है. कोविड-19 उन वायरसों में शामिल है जिनकी वजह से निमोनिया जैसी ज्यादा गंभीर बीमारियां पैदा होती हैं.ज्यादातर संक्रमित लोगों में बुखार, हाथों-पैरों में दर्द और कफ़ जैसे हल्के लक्षण दिखाई देते हैं. ये लोग बिना किसी खास इलाज के ठीक हो जाते हैं.

लेकिन, कुछ उम्रदराज़ लोगों और पहले से ह्दय रोग, डायबिटीज़ या कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ रहे लोगों में इससे गंभीर रूप से बीमार होने का ख़तरा रहता है.एक बार आप कोरोना से उबर गए तो क्या आपको फिर से यह नहीं हो सकता?बाइसेस्टर से डेनिस मिशेलसबसे ज्यादा पूछे गए सवाल

बाीबीसी न्यूज़स्वास्थ्य टीमजब लोग एक संक्रमण से उबर जाते हैं तो उनके शरीर में इस बात की समझ पैदा हो जाती है कि अगर उन्हें यह दोबारा हुआ तो इससे कैसे लड़ाई लड़नी है.यह इम्युनिटी हमेशा नहीं रहती है या पूरी तरह से प्रभावी नहीं होती है. बाद में इसमें कमी आ सकती है.

ऐसा माना जा रहा है कि अगर आप एक बार कोरोना वायरस से रिकवर हो चुके हैं तो आपकी इम्युनिटी बढ़ जाएगी. हालांकि, यह नहीं पता कि यह इम्युनिटी कब तक चलेगी.कोरोना वायरस का इनक्यूबेशन पीरियड क्या है?जिलियन गिब्समिशेल रॉबर्ट्सबीबीसी हेल्थ ऑनलाइन एडिटरवैज्ञानिकों का कहना है कि औसतन पांच दिनों में लक्षण दिखाई देने लगते हैं. लेकिन, कुछ लोगों में इससे पहले भी लक्षण दिख सकते हैं.

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि इसका इनक्यूबेशन पीरियड 14 दिन तक का हो सकता है. लेकिन कुछ शोधार्थियों का कहना है कि यह 24 दिन तक जा सकता है.इनक्यूबेशन पीरियड को जानना और समझना बेहद जरूरी है. इससे डॉक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों को वायरस को फैलने से रोकने के लिए कारगर तरीके लाने में मदद मिलती है.

क्या कोरोना वायरस फ़्लू से ज्यादा संक्रमणकारी है?सिडनी से मेरी फिट्ज़पैट्रिकमिशेल रॉबर्ट्सबीबीसी हेल्थ ऑनलाइन एडिटरदोनों वायरस बेहद संक्रामक हैं.ऐसा माना जाता है कि कोरोना वायरस से पीड़ित एक शख्स औसतन दो या तीन और लोगों को संक्रमित करता है. जबकि फ़्लू वाला व्यक्ति एक और शख्स को इससे संक्रमित करता है.

राजस्थान के सियासी उठापटक के बीच आखिर क्यों सचिन पायलट से नहीं मिला गांधी परिवार? सचिन पायलट BJP के संपर्क में, 30 MLA भी छोड़ सकते हैं कांग्रेस का दामन राजस्थान में धूल भरी आंधी से घिरी कांग्रेस, बीजेपी की सावधानी से आगे बढ़ने की रणनीति

फ़्लू और कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए कुछ आसान कदम उठाए जा सकते हैं.बार-बार अपने हाथ साबुन और पानी से धोएंजब तक आपके हाथ साफ न हों अपने चेहरे को छूने से बचेंखांसते और छींकते समय टिश्यू का इस्तेमाल करें और उसे तुरंत सीधे डस्टबिन में डाल दें.आप कितने दिनों से बीमार हैं?

मेडस्टोन से नीताबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमहर पांच में से चार लोगों में कोविड-19 फ़्लू की तरह की एक मामूली बीमारी होती है.इसके लक्षणों में बुख़ार और सूखी खांसी शामिल है. आप कुछ दिनों से बीमार होते हैं, लेकिन लक्षण दिखने के हफ्ते भर में आप ठीक हो सकते हैं.अगर वायरस फ़ेफ़ड़ों में ठीक से बैठ गया तो यह सांस लेने में दिक्कत और निमोनिया पैदा कर सकता है. हर सात में से एक शख्स को अस्पताल में इलाज की जरूरत पड़ सकती है.

End of कोरोना वायरस के बारे में सब कुछमेरी स्वास्थ्य स्थितियांआपके सवालअस्थमा वाले मरीजों के लिए कोरोना वायरस कितना ख़तरनाक है?फ़ल्किर्क से लेस्ले-एनमिशेल रॉबर्ट्सबीबीसी हेल्थ ऑनलाइन एडिटरअस्थमा यूके की सलाह है कि आप अपना रोज़ाना का इनहेलर लेते रहें. इससे कोरोना वायरस समेत किसी भी रेस्पिरेटरी वायरस के चलते होने वाले अस्थमा अटैक से आपको बचने में मदद मिलेगी.

अगर आपको अपने अस्थमा के बढ़ने का डर है तो अपने साथ रिलीवर इनहेलर रखें. अगर आपका अस्थमा बिगड़ता है तो आपको कोरोना वायरस होने का ख़तरा है.क्या ऐसे विकलांग लोग जिन्हें दूसरी कोई बीमारी नहीं है, उन्हें कोरोना वायरस होने का डर है?स्टॉकपोर्ट से अबीगेल आयरलैंड

बीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमह्दय और फ़ेफ़ड़ों की बीमारी या डायबिटीज जैसी पहले से मौजूद बीमारियों से जूझ रहे लोग और उम्रदराज़ लोगों में कोरोना वायरस ज्यादा गंभीर हो सकता है.ऐसे विकलांग लोग जो कि किसी दूसरी बीमारी से पीड़ित नहीं हैं और जिनको कोई रेस्पिरेटरी दिक्कत नहीं है, उनके कोरोना वायरस से कोई अतिरिक्त ख़तरा हो, इसके कोई प्रमाण नहीं मिले हैं.

जिन्हें निमोनिया रह चुका है क्या उनमें कोरोना वायरस के हल्के लक्षण दिखाई देते हैं?कनाडा के मोंट्रियल से मार्जेबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमकम संख्या में कोविड-19 निमोनिया बन सकता है. ऐसा उन लोगों के साथ ज्यादा होता है जिन्हें पहले से फ़ेफ़ड़ों की बीमारी हो.लेकिन, चूंकि यह एक नया वायरस है, किसी में भी इसकी इम्युनिटी नहीं है. चाहे उन्हें पहले निमोनिया हो या सार्स जैसा दूसरा कोरोना वायरस रह चुका हो.

LIVE: खतरे में गहलोत सरकार, पायलट खेमे के विधायक आज देर रात दे सकते हैं इस्तीफा सचिन पायलट थाम सकते हैं BJP का हाथ, 30 विधायकों के भी कांग्रेस छोड़ने के कयास सिब्बल बोले- क्या अस्तबल से घोड़े जाने के बाद ही कांग्रेस जागेगी? सिंधिया का ट्वीट- कांग्रेस में काबिलियत की कद्र नहीं

End of मेरी स्वास्थ्य स्थितियांअपने आप को और दूसरों को बचानाआपके सवालकोरोना वायरस से लड़ने के लिए सरकारें इतने कड़े कदम क्यों उठा रही हैं जबकि फ़्लू इससे कहीं ज्यादा घातक जान पड़ता है?हार्लो से लोरैन स्मिथजेम्स गैलेगरस्वास्थ्य संवाददाताशहरों को क्वारंटीन करना और लोगों को घरों पर ही रहने के लिए बोलना सख्त कदम लग सकते हैं, लेकिन अगर ऐसा नहीं किया जाएगा तो वायरस पूरी रफ्तार से फैल जाएगा.

फ़्लू की तरह इस नए वायरस की कोई वैक्सीन नहीं है. इस वजह से उम्रदराज़ लोगों और पहले से बीमारियों के शिकार लोगों के लिए यह ज्यादा बड़ा ख़तरा हो सकता है.क्या खुद को और दूसरों को वायरस से बचाने के लिए मुझे मास्क पहनना चाहिए?मैनचेस्टर से एन हार्डमैनबीबीसी न्यूज़

हेल्थ टीमपूरी दुनिया में सरकारें मास्क पहनने की सलाह में लगातार संशोधन कर रही हैं. लेकिन, डब्ल्यूएचओ ऐसे लोगों को मास्क पहनने की सलाह दे रहा है जिन्हें कोरोना वायरस के लक्षण (लगातार तेज तापमान, कफ़ या छींकें आना) दिख रहे हैं या जो कोविड-19 के कनफ़र्म या संदिग्ध लोगों की देखभाल कर रहे हैं.

मास्क से आप खुद को और दूसरों को संक्रमण से बचाते हैं, लेकिन ऐसा तभी होगा जब इन्हें सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए और इन्हें अपने हाथ बार-बार धोने और घर के बाहर कम से कम निकलने जैसे अन्य उपायों के साथ इस्तेमाल किया जाए.फ़ेस मास्क पहनने की सलाह को लेकर अलग-अलग चिंताएं हैं. कुछ देश यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनके यहां स्वास्थकर्मियों के लिए इनकी कमी न पड़ जाए, जबकि दूसरे देशों की चिंता यह है कि मास्क पहने से लोगों में अपने सुरक्षित होने की झूठी तसल्ली न पैदा हो जाए. अगर आप मास्क पहन रहे हैं तो आपके अपने चेहरे को छूने के आसार भी बढ़ जाते हैं.

यह सुनिश्चित कीजिए कि आप अपने इलाके में अनिवार्य नियमों से वाकिफ़ हों. जैसे कि कुछ जगहों पर अगर आप घर से बाहर जाे रहे हैं तो आपको मास्क पहनना जरूरी है. भारत, अर्जेंटीना, चीन, इटली और मोरक्को जैसे देशों के कई हिस्सों में यह अनिवार्य है.अगर मैं ऐसे शख्स के साथ रह रहा हूं जो सेल्फ-आइसोलेशन में है तो मुझे क्या करना चाहिए?

लंदन से ग्राहम राइटबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमअगर आप किसी ऐसे शख्स के साथ रह रहे हैं जो कि सेल्फ-आइसोलेशन में है तो आपको उससे न्यूनतम संपर्क रखना चाहिए और अगर मुमकिन हो तो एक कमरे में साथ न रहें.सेल्फ-आइसोलेशन में रह रहे शख्स को एक हवादार कमरे में रहना चाहिए जिसमें एक खिड़की हो जिसे खोला जा सके. ऐसे शख्स को घर के दूसरे लोगों से दूर रहना चाहिए.

End of अपने आप को और दूसरों को बचानामैं और मेरा परिवारआपके सवालमैं पांच महीने की गर्भवती महिला हूं. अगर मैं संक्रमित हो जाती हूं तो मेरे बच्चे पर इसका क्या असर होगा?बीबीसी वेबसाइट के एक पाठक का सवालजेम्स गैलेगरस्वास्थ्य संवाददातागर्भवती महिलाओं पर कोविड-19 के असर को समझने के लिए वैज्ञानिक रिसर्च कर रहे हैं, लेकिन अभी बारे में बेहद सीमित जानकारी मौजूद है.

यह नहीं पता कि वायरस से संक्रमित कोई गर्भवती महिला प्रेग्नेंसी या डिलीवरी के दौरान इसे अपने भ्रूण या बच्चे को पास कर सकती है. लेकिन अभी तक यह वायरस एमनियोटिक फ्लूइड या ब्रेस्टमिल्क में नहीं पाया गया है.गर्भवती महिलाओंं के बारे में अभी ऐसा कोई सुबूत नहीं है कि वे आम लोगों के मुकाबले गंभीर रूप से बीमार होने के ज्यादा जोखिम में हैं. हालांकि, अपने शरीर और इम्यून सिस्टम में बदलाव होने के चलते गर्भवती महिलाएं कुछ रेस्पिरेटरी इंफेक्शंस से बुरी तरह से प्रभावित हो सकती हैं.

मैं अपने पांच महीने के बच्चे को ब्रेस्टफीड कराती हूं. अगर मैं कोरोना से संक्रमित हो जाती हूं तो मुझे क्या करना चाहिए?मीव मैकगोल्डरिकजेम्स गैलेगरस्वास्थ्य संवाददाताअपने ब्रेस्ट मिल्क के जरिए माएं अपने बच्चों को संक्रमण से बचाव मुहैया करा सकती हैं.अगर आपका शरीर संक्रमण से लड़ने के लिए एंटीबॉडीज़ पैदा कर रहा है तो इन्हें ब्रेस्टफीडिंग के दौरान पास किया जा सकता है.

ब्रेस्टफीड कराने वाली माओं को भी जोखिम से बचने के लिए दूसरों की तरह से ही सलाह का पालन करना चाहिए. अपने चेहरे को छींकते या खांसते वक्त ढक लें. इस्तेमाल किए गए टिश्यू को फेंक दें और हाथों को बार-बार धोएं. अपनी आंखों, नाक या चेहरे को बिना धोए हाथों से न छुएं.

बच्चों के लिए क्या जोखिम है?लंदन से लुइसबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमचीन और दूसरे देशों के आंकड़ों के मुताबिक, आमतौर पर बच्चे कोरोना वायरस से अपेक्षाकृत अप्रभावित दिखे हैं.ऐसा शायद इस वजह है क्योंकि वे संक्रमण से लड़ने की ताकत रखते हैं या उनमें कोई लक्षण नहीं दिखते हैं या उनमें सर्दी जैसे मामूली लक्षण दिखते हैं.

हालांकि, पहले से अस्थमा जैसी फ़ेफ़ड़ों की बीमारी से जूझ रहे बच्चों को ज्यादा सतर्क रहना चाहिए. और पढो: BBC News Hindi »

I💖 ترکی तुर्की का इतिहास उठा कर देख लीजिए सल्तनत उस्मानियाँ सौ साल के बाद फिर से कायम होने जा रही है। वहाँ तय्यब बरदगान कीहुकूमत है।वह बहुत हिकमत वाला इन्सान है अपनी कौम को कोरोना से बचाना मामूली बात है। क्युकी जापान और तुर्की जैसे देशों मै बेवकूफ जमाती के लोग नहीं है जैसी महामारी बीमारी फैलने के लिए hamare desh ki sarkar ne tho logo ko marne ke liye chhod diya hai koi plan ya yojna nahi hai sarkar ke pas bina soche samje lockdown kar diya our garib janta ko marwa diya

इंग्लैड को भी बता देते। Because world's best leader in Turkey BBC walo....Tum se koi toh ek GODI MEDIA nahi banta. Aur modi ko sikha dete.... Kash!!!!! India 🇮🇳 bhi kaboo kar pata Wahi Algerian model of living Rt erdogan is great leader in turkey In the between Turkish peoples respects to Turkish government. And turkish government has believe to Turkish public. Both respect and believe are not in India, So turkey gained victory.

अल्लाह सभी मुल्कों को जल्दी से जल्दी कोरोना से निजात दिलायें Waha to kv lockdown hua hi nahi BBC अपने गाँव वालों को बता वहाँ ज्यादा जरूरत है। Turkey ne WHO ki baat nei Mani hogi pakka Controlling media Kuki vaha opposition Emergency me politics nhi krta hmare yha to lasho pr bhi politics hoti hai Turk log bohoth imandar hain

israilgoback 🇵🇸🇵🇸🇵🇸🇵🇸🇵🇸🇵🇸🇵🇸 Paid news Alert⚠️ बात में दम है, ...रे बाबा..🤔 टर्की में आज की तारीख में 31000 हज़ार एक्टिव केस होते हुए भी काबू पा लिया क्या बे? इन सुतियो को कमी सर्फ इंडिया में ही दिखती है Isi liye to modi ji lock down hatane ka faisla kiya, इसके लिए जो शासक है वह बुद्धिमान होना चाहिए और अपनी जनता से अपने बच्चों के जैसी मोहब्बत करने वाला होना चाहिए जो प्लानिंग बनाकर काम करता है और आज तुर्की सारी दुनिया के मुसलमानों का सबसे बड़ा हमदर्द है इसलिए उसे सारी दुनिया के मुसलमानों की दुआएं भी है

Kyun ki wahan ki government dabao mein rahti hai lekin yahan andbhakt bhuke mar jaenge lekin vote modi ji ko denge chahe inko din mein 3 baar gand par laat bhi mare vote modi ji ko denge to maro salo maroge salo sabke sab aese hi andbhakti karte rahe aur apne haq ke liye awaz nah Calling no. 8850314885 Whatsapp. 9820164915

aur kl Malaysia ka btana Turkey is good contry🇹🇷🇹🇷🇹🇷 I love u my turkey💖💖💖💖

कोरोना अपडेटः इसराइली प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू के दफ़्तर में कोरोना - BBC Hindiदुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामलों की तादाद 62 लाख को पार कर गई है, भारत में क़रीब दो लाख मामले So sad.. Should blame and complain to the USA behind Iran is doing.

त्रिपुरा में कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड इजाफा, एक दिन में सामने आए 102 नए केसमुख्यमंत्री बिप्लब कुमार ने सोमवार को क्वारनटीन सेंटर का दौरा किया. उन्होंने कहा कि चूंकि राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है, इसलिए लोगों से अपील की जाती है कि वे ज्यादा से ज्यादा सतर्क रहें और सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करें. MunishPandeyy बहुत दुखत MunishPandeyy सुशासन की सरकार में नहीं थम रहा हत्या का व्यापार ,कोल्ड स्टोर मालिक की हत्या के लिए उठने लगी मांग,क्या इंशाफ दे पाएगी सरकार justicefor_ramashary singh MunishPandeyy जिस जिस ने अल्लाह को नहीं देखा देख लो आधार कार्ड मिला है बड़ी मुश्किल से अल्लाह

CII सम्मेलन में पीएम मोदी बोले, कोरोना काल में भी इकॉनोमी का ध्यान रखाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को CII सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना काल में भी इकॉनोमी का ध्यान रखा coronavirus narendramodi

भारत में अभी और कहर बरपाएगा कोरोना, जुलाई में टूट सकता है मरीजों का रिकॉर्डबस महीने भर पहले तक कोरोना मरीजों के मामले में भारत टॉप तीस देशों में शामिल था. फिर 25 देशों की सूची में भारत का नाम आया. इसके बाद 20, फिर 15, फिर 10 और अब भारत करीब 2 लाख कोरोना मरीजों के साथ इस लिस्ट में 7वें नंबर पर पहुंच गया है. ShamsTahirKhan याद रखना कोरोना खत्म नही हुआ लोक डाउन खत्म हुआ है सरकार आत्म समर्पण कर सकती है पर आप को खुद के लिये लड़ना पड़ेगा..... 👍 ShamsTahirKhan ShamsTahirKhan Pls safe

दिल्ली के दफ्तरों में कोरोना का कहर, वित्त मंत्रालय के रेवेन्यू विभाग में वायरस की एंट्रीAishPaliwal लगता है वायरस को भी पता चल गया है। AishPaliwal Corona bade bade daftar me aata hi AishPaliwal Mai fir kah rahi hun. Sena ko.jagaiye iske pahle ki desh shamshan ban jaye.

LIVE: दिल्ली में फिर टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, 24 घंटे में 1298 नए मामलेदिल्ली में फिर टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, 24 घंटे में 1298 नए मामले पूरी खबर- Delhi IndiaFightsCorona 😢😢 घर मे होगा सभु का इलाज टेन्सन न ली केजरीवाल जी है भगवान करे सब जल्द से जल्द सब कुछ ठीक हो और केजरी जी को जल्द से जल्द करोना हो

PM CARES फंड की जांच नहीं करेगी लोक लेखा समिति, BJP ने रोका रास्ता विकास दुबे: 'मुठभेड़' में इतने इत्तेफ़ाक़! ऐसा कैसे? सचिन पायलट के साथ दिल्ली गए राजस्थान के विधायकों ने कहा, 'हम कांग्रेस के साथ हैं, कोई विवाद नहीं है' Amitabh Bachchan Covid 19 Positive: अमिताभ बच्चन को कोरोना, मुंबई के नानावटी अस्पताल में किया गया एडमिट सेना में इंजीनियरिंग के 9000 से अधिक पद समाप्त, युवाओं में उत्साह अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव, बोले- हल्के लक्षण हैं... फिंगर 4 से 5 की तरफ बढ़ी चीनी सेना, सैटेलाइट तस्वीरों से हुई तस्दीक: सूत्र कोरोना वायरस: 12 से 26 जुलाई के बीच भारत के पाँच शहरों से UAE की विशेष उड़ानें - BBC Hindi सुशील मोदी ने RJD को बताया कमजोर छात्र, तो तेजस्वी यादव बोले - राजद के डर से 24 साल से नीतीश कुमार के पिछलग्गू बने हुए हो... क्या सचिन पायलट भी सिंधिया के रास्ते पर जाने को तैयार हैं? जानिए उनके बारे में 5 बड़ी बातें Coronavirus पर WHO का बयान- कोरोना पर कर सकते हैं काबू, मुंबई के धारावी का दिया उदाहरण