कोरोना वायरस: चीन पर अमरीका करने जा रहा है एक और बड़ी कार्रवाई - BBC Hindi

कोरोना: चीन पर एक और बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है अमरीका. लाइव अपडेट: (तस्वीर: Getty Images)

23-05-2020 10:20:00

कोरोना: चीन पर एक और बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है अमरीका. लाइव अपडेट: (तस्वीर: Getty Images)

राष्ट्रपति ट्रंप कहते रहे हैं कि कोरोना वायरस चीनी लैब में पैदा हुआ है. कोरोना वायरस की महामारी के बीच दोनों देशों में तनाव चरम पर है. यहां तक कि अमरीका चीन से हर तरह के संबंध ख़त्म करने पर भी विचार कर रहा है.

2:04कोरोना वायरस महामारी: देश-दुनिया में अब तक जो कुछ हुआVirendra Singh Gosain/Hindustan Times via Getty ImagesCopyright: Virendra Singh Gosain/Hindustan Times via Getty Imagesएक साल से कम उम्र के बच्चों को नियमित रूप से दिए जाने वाले टीकों का काम कम से कम 68 देशों में प्रभावित हुआ है

निसर्ग तूफान का डर: मुंबई में धारा-144 लागू, 110 किलोमीटर दूर राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार जब जॉर्ज फ़र्नांडिस ने चीन को बताया था दुश्मन नंबर-1

Image caption: एक साल से कम उम्र के बच्चों को नियमित रूप से दिए जाने वाले टीकों का काम कम से कम 68 देशों में प्रभावित हुआ हैदुनिया भर में अब तक 336,404 लोगों की मौतजॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार दुनिया भर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या कम से कम 51,80,982 हो गई है.

साथ ही कोविड-19 की महामारी के कारण अब तक 336,404 लोगो की जान भी जा चुकी है. ये आँकड़े सरकारी जानकारी और मीडिया रिपोर्टों पर आधारित हैं और माना जाता है कि इस महामारी से वास्तविक रूप से प्रभावित होने वाले लोगों की संख्या कहीं ज़्यादा भी हो सकती है.वैक्सीन से महरूम रह सकते हैं आठ करोड़ नवजात

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि कोविड-19 की महामारी के कारण आठ करोड़ नवजात बच्चों को समय पर वैक्सीन मिलने में दिक्क़त हो सकती है.डब्ल्यूएचओ के मुताबिक़ महामारी के कारण दुनिया की स्वास्थ्य व्यवस्थाएं जिस तरह से प्रभावित हुई हैं, उनसे बच्चों को डिफ्थेरिया, मीज़ल्स और पोलियो जैसी बीमारियों के टीकों की खुराक का रूटीन गड़बड़ा सकता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन और सहयोगी संगठनों द्वारा जुटाए गए आँकड़ों के अनुसार एक साल से कम उम्र के बच्चों को नियमित रूप से दिए जाने वाले टीकों का काम कम से कम 68 देशों में प्रभावित हुआ है.साल 1970 से ये टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया भर में चलाए जा रहे हैं. कोरोना महामारी के कारण ऐसा पहली बार देखा गया है कि टीकाकरण का काम प्रभावित हुआ है.

REUTERS/Hannah McKayCopyright: REUTERS/Hannah McKayकोरोना वायरस से संक्रमण के लक्षण होने के बावजूद डोमिनिक लंदन से 264 किलोमीटर दूर डरहम में देखे गए थेImage caption: कोरोना वायरस से संक्रमण के लक्षण होने के बावजूद डोमिनिक लंदन से 264 किलोमीटर दूर डरहम में देखे गए थे

ब्रिटेन मे प्रधानमंत्री के सलाहकार से पूछताछब्रिटेन में प्रधानमंत्री के मुख्य सलाहकार डोमिनिक क्युमिंग्स विवादों में घिर गए हैं. लॉकडाउन के उल्लंघन को लेकर डोमिनिक क्युमिंग्स से पुलिस ने बातचीत की है.कोरोना वायरस से संक्रमण के लक्षण होने के बावजूद डोमिनिक लंदन से 264 किलोमीटर दूर डरहम में देखे गए थे.ऐसी चर्चा है कि डोमिनिक क्युमिंग्स मार्च के आख़िर में प्रधानमंत्री से डॉउनिंग स्ट्रीट में मिले थे. उस समय बोरिस जॉनसन कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे.

लद्दाख सीमा विवाद पर बोले राजनाथ सिंह- अच्छी खासी संख्या में आ गए चीनी सैनिक चीन में हड़कंप मचाने वाले Remove China Apps को गूगल प्‍लेस्‍टोर ने हटाया, लाखों ने किया था इंस्‍टॉल सीमा विवाद: चीन नहीं आ रहा बाज, 6 जून को फिर होगी दोनों सेनाओं में बात

दक्षिण अमरीका महामारी का नया केंद्रविश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि दक्षिण अमरीका कोरोना वायरस से फैली महामारी का नया केंद्र बन गया है. दक्षिण अमरीकी देश ब्राज़ील कोविड-19 की महामारी से सबसे ज़्यादा चपेट में है.डब्ल्यूएचओ के मुताबिक़ अफ्रीका के उन देशों में भी संक्रमण के मामले अब तेज़ी से बढ़ रहे हैं, जहां तुलनात्मक रूप से महामारी का असर कम था.

डब्ल्यूएचओ के आपातकालीन विशेषज्ञ डॉक्टर माइक रेयान ने बताया,"एक तरह से दक्षिण अमरीका इस महामारी का नया केंद्र बन गया है और ब्राज़ील यक़ीनन वहां सबसे ज़्यादा प्रभावित है."REUTERS/David MercadoCopyright: REUTERS/David Mercadoपेरू में आपातकाल बढ़ा

पेरू में दो महीने से लागू लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमण के मामले कम होते हुए नहीं दिख रहे हैं. हालांकि इस बीच वहां लॉकडाउन की शर्तों में कुछ ढील दी गई थी.अब सरकार ने कहा है कि पेरू में आपातकाल के प्रावधान जून के आख़िर तक लागू रहेंगे.पेरू लातिन अमरीका में कोविड-19 की महामारी से दूसरा सबसे ज़्यादा प्रभावित देश है.

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पेरू में 111,000 से ज़्यादा संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं और वहां 3148 लोगों की मौत हो चुकी है.आइसलैंड में आपातकाल में ढीलसोमवार से आइसलैंड में आपातकालीन प्रावधानों में कुछ ढील दिए जाने का फ़ैसला किया गया है. सरकार का कहना है कि आइसलैंड में अब केवल दो लोग आइसोलेशन में हैं.

आइसलैंड में कोरोना संक्रमण के 1803 मामलों की अभी तक पुष्टि हुई है और वहां 1791 लोग संक्रमण के बाद ठीक भी हो गए हैं. आइसलैंड में कोविड-19 की बीमारी के कारण दस लोगों की मौत भी हुई है.Ilyas Tayfun Salci/Anadolu Agency via Getty ImagesCopyright: Ilyas Tayfun Salci/Anadolu Agency via Getty Images

ब्रिटेन आने वाले लोगों के लिए क्वारंटीन का आदेशब्रिटेन आने वाले लोगों को अब दो हफ़्तों के लिए अनिवार्य रूप से क्वारंटीन में रहना होगा. नए आदेश के तहत आठ जून से जो लोग ब्रिटेन में आएंगे, उन पर ये नियम लागू होगा और इसका उल्लंघन करने की सूरत में एक हज़ार पाउंड का जुर्माना लगाया जाएगा.

Encounter in Pulwama: पुलवामा मुठभेड़ में जैश के टाॅप कमांडर समेत 3 आतंकी ढेर, जवान भी घायल लॉर्ड्स में दहाड़ रहे थे दादा, लक्ष्मण बोले- युवाओं को निखारने वाले महान कप्तान - Sports AajTak कोरोना संकट: आज PM आवास पर कैबिनेट की बैठक, एक हफ्ते में दूसरी बड़ी मीटिंग

ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने कहा है कि अनिवार्य क्वारंटीन का ये नियम आयरलैंड से आने वाले लोगों पर लागू नहीं होगा. साथ ही कोविड-19 की महामारी से जूझ रहे स्वास्थ्य कर्मियों और खेती-किसानी से जुड़े लोगों को भी छूट रहेगी.जंग के कारण 660,000 लोग हुए बेघर

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने कोविड-19 की महामारी के मद्देनज़र दुनिया भर में हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में संघर्ष विराम की अपील की थी ताकि इस बीमारी पर ध्यान दिया जा सके.एक ग़ैर सरकारी संगठन का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव की इस अपील के बाद दुनिया भर में हिंसा प्रभावित क्षेत्रों से 660,000 लोग अपना घर-बार छोड़ने के लिए मजबूर हुए हैं.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो ग्वेटेरेस ने इस हफ़्ते एक बार फिर संघर्ष प्रभावित क्षेत्रों में शांति स्थापित करने की अपील की.लेकिन नॉर्वे के शरणार्थी परिषद का कहा है कि सुरक्षा परिषद महामारी के दौरान संघर्ष विराम, शांति वार्ता और नागरिकों की सुरक्षा जैसे मुद्दों पर अगुवाई करने में नाकाम रहा है.

और पढो: BBC News Hindi »

सोनू सूद के साथ बहुत लोग किये गये कार्यों की इस भयंकर आपदा सराहना करते हैं। एक तरफ भारत को बर्बाद करने के लिए किये गये कांगेस के प्रयास को दुखद बताते हैं इटली के भविष्य की चिंता करो लेकिन भारत को बर्बाद न करो। क्या बीबीसी ब्रिटेन के बारे में भी ऐसी बुलेटिन जारी करता है। what a stupid decision. they should open it now.

ये दोनों देश गलत कर रहे हैं अगर दोनों के बीच युद्ध हुआ तो पुरे विश्व में उधल पुथल मच जाएगी इनके युद्ध करने से विश्व के सभी देशो पर आर्थिक मंदी छा जाएगी , साथ ही दोनों देश बर्बादी की कगार पर आ जायेगें यह बहुत अच्छी बात है कि सरकार इसे फिर से सुचारू तरीके से चलाने में अपनी पूरी कोशिश कर रही है ! अभी घरेलू उड़ान को परिचालन में लाया गया है. मैं मंत्री जी से निवेदन करता हूं कि कृपया टिकट की रेट में एक अच्छी खासी छूट दी जाए! तो ही लोग सफर कर सकेंगे ?👍🙏 HardeepSPuri

कोई मंत्री है अभी तक कवारंटीन मे थे तब क्या कोरोनावायरस दुम दबाकर भाग गया होगा। Leke dubegi ye pagal sarkar Sab bakarcharwa log desh chala rha hai चीन समूचे विश्व के लिए खतरा है। China duniya ka sabse taqatwar desh hi चीन को सबक सिखाना जरूरी है। WHO should be named CWHO. हम हमेशा चीन को दोषी ठहराते हैं और शायद सही भी हो, परन्तु दूसरा पहलू यह भी तो हो सकता है कि यह सब अमेरिका का किया कराया हो। क्योंकि अमेरिका का इतिहास इतना अच्छा नहीं रहा कि हम उनपर आँख मूंदकर विश्वास कर सकें। मैं जो बोल रहा हूँ वो अटपटा लग रहा हो परंतु एक बार बिचारी ज़रूर करें

China love 😁 इसकी हिम्मत नहीं है कि चीन को आंख भी दीखा सके । अपना मोदी सिर्फ झूला झूलेगा Yeh dramebaaj hain kuch nhi karegein Please change the name of WHO to CWHO. जाे बादल गरजता हे वह बरस्ता नही हे ! China ko kada sabak sikhana jaroori hai, kyonki ye desh detention camps me mullo ki gsnd maar raha hai. very good Trump

realDonaldTrump we are stand with you to punish China for spreading ChineseCoronaVirus to the all over the world. China is responsible for thousands of deaths in the world. पूरे विश्व को अमरीका के साथ एकजुटता दिखाकर मानवता के दुश्मन,चीन के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए..... China phir America ko kutta hi banakar chhorega, china k bina puri dunia ruk jati hai, pure asia me chinese assembled iPhone distribute hote hain, aur na jane kitne part china se america ko jate honge tab america ka ek final product banta hoga

इस माओवादी देश को जड़ से खत्म कर देना चाहिए यह पूरी मानवता के लिए नासूर है। कोरोना तो बस एक झांकी थी, अगर समय रहते रोका न गया तो चीन एक दिन इस दुनिया के पूर्ण विनाश का कारण बनेगा। Markmywords Wo Dono shaadi karen tum BC wahan kya ukhad rahe ho wo bolo. Chu**a pa bandh karo

कोरोना: मैप में देखिए कहाँ-कहाँ फैल रहा है वायरस और क्या है मौत का आँकड़ानक्शे में देखिए दुनियाभर में कोहराम मचाने वाले कोरोना वायरस के मरीज़ कहाँ-कहाँ कितनी संख्या में हैं. Yahi post kr deta map 😏 ab map dekhne ke liye tumhare site pe jaaye

कोरोना वायरस से बचाने वाले 'हर्ड इम्यूनिटी' में लग सकता है लंबा वक्त : रिपोर्टएक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस को रोकने में मदद करने वाले 'हर्ड इम्यूनिटी' के बढ़ने की दर दुनियाभर में अभी बहुत धीमी WHO बार बाला की पचास साल की बेटी होंठों पर लिपस्टिक थोप कर राजनीति कर रही है उसकी दादी सर पर पल्लू रख कर राजनीति करती थी जबकि उसका दादा मुस्लिम समाज से था

'कोरोना वायरस के खिलाफ हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल से हो सकती है मरीजों की मौत'क्या मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन या क्लोरोक्वीन कोरोना वायरस को रोक सकती है? WHO CoronavirusPandemic COVID19Pandemic hydroxychloroquine WHO Ban tik TOk

कोरोना वायरस: चीन के ख़िलाफ़ अमरीका करने जा रहा है एक और बड़ी कार्रवाई - BBC Hindiराष्ट्रपति ट्रंप कहते रहे हैं कि कोरोना वायरस चीनी लैब में पैदा हुआ है. कोरोना वायरस की महामारी के बीच दोनों देशों में तनाव चरम पर है. यहां तक कि अमरीका चीन से हर तरह के संबंध ख़त्म करने पर भी विचार कर रहा है. तो करना कौन रोका है मेरी फेसबुक आईडी है किसी को कोई दिक्कत हो तो आप संपर्क कर सकते हो उसपे

कोरोना वायरस को लेकर खुद पर अमेरिकी मुकदमे से चीन उग्र, पलटवार की दी चेतावनीकोरोना वायरस को लेकर खुद पर अमेरिकी मुकदमे से चीन उग्र, पलटवार की दी चेतावनी CoronaUpdate Lockdown4 coronavirus China America realDonaldTrump POTUS PMOIndia realDonaldTrump POTUS PMOIndia चीन पर कोई भी कदम तभी सफल होगी जब उसे आर्थिकरूप से कमजोड़ कियाजाये नही तो उसपर किसी तरह से कुछ भी करने से वो नही सुधरने बाला है वो पूरी दुनियाको तबाहकर पूरी दुनिया पर अपना एक क्षत्रराज चाहता है उसी के लिये उसने केरोनाको फैलाकर पूरी दुनियाको आर्थिक रूपसे तबाह करने की कोशिश कि है

कोरोना वायरस की वैक्सीन पर अमरीका का यह दांव भारत के लिए कैसा?अमरीकी स्वास्थ्य विभाग डिपार्टमेंट ऑफ़ हेल्थ ऐंड ह्यूमन सर्विसेज एस्ट्राजेनेका से वैक्सीन के 30 करोड़ डोज़ खरीदने के लिए सहमत हो गई है. 🌎Follow: ✔️Check Website at my Profile ✔️KUBIBOOK, FREE E-Book Collection book freebook sharebook

निसर्ग: मुंबई में 129 साल के बाद आएगा चक्रवाती तूफ़ान कोरोना अपडेटः प्रधानमंत्री मोदी बोले, कोरोना महामारी विश्वयुद्ध के बाद आया सबसे बड़ा संकट है - BBC Hindi लॉकडाउन: राम माधव के अनुसार 90 फ़ीसदी प्रवासी मज़दूर अपने काम की जगह पर टिके हैं पुलिस चीफ़ की ट्रंप को नसीहत 'आप कोई ढंग की बात नहीं कर सकते तो मुँह बंद रखिए' सीमा पर अच्छी खासी तादाद में चीन के लोगः राजनाथ सिंह पीएम केयर्स फंड पर बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका को केंद्र ने ख़ारिज करने का अनुरोध किया पानी में खड़े तीन दिन मौत का इंतेज़ार करती रही गर्भवती हथिनी मनोज तिवारी हटे, आदेश गुप्ता को मिली दिल्ली भाजपा की कमान कोरोना: अंतिम संस्कार के बाद अस्पताल ने कहा, 'मरीज़ ज़िंदा है' कोरोना वायरस: राज्यों को सौंपी कमान, क्या मोदी सरकार ने मान ली हार? कानपुर मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य के विवादित वीडियो पर हंगामा