कोरोनाः चीन में टूटने के कगार पर है जानलेवा वायरस का कालचक्र!

Corona, Virus, Deadly, Pandemic, Conspiracy, China, Relief, Planning, Worker, Crisis, Crime

वुहान वही शहर है, जहां पहली बार पिछले साल दिसंबर में कोरोना नाम के वायरस का जन्म हुआ था. वहां इस महामारी ने तबाही मचाई. लेकिन वहां अब ज़िंदगी पटरी पर लौट रही है... (@itsparvezsagar , @ShamsTahirKhan )

Corona, Virus

3/26/2020

वुहान वही शहर है, जहां पहली बार पिछले साल दिसंबर में कोरोना नाम के वायरस का जन्म हुआ था. वहां इस महामारी ने तबाही मचाई. लेकिन वहां अब ज़िंदगी पटरी पर लौट रही है... (itsparvezsagar , ShamsTahirKhan )

वुहान वही शहर है, जहां पहली बार पिछले साल दिसंबर में कोरोना नाम के वायरस का जन्म हुआ था. जहां इस महामारी ने सबसे पहले तबाही मचाई. लेकिन वहां अब ज़िंदगी पटरी पर लौट रही है. कोरोना का वायरस वहां तकरीबन अपना दम तोड़ चुका है.

पूरी दुनिया कोरोना से जूझ रही है. हर तरफ लॉकडाउन है मगर फिर भी इससे मरने वालों और इससे संक्रमित लोगों की तादाद लगातार बढती ही जा रही है, बस उस जगह को छोड़कर जहां से इस महामारी की शुरुआत हुई. यानी चीन का वुहान शहर में अब कोरोना के नए मरीजों की तादाद तकरीबन ना के बराबर है. तो सवाल ये कि आखिर ऐसा क्या किया चीन ने कि वहां अब कोरोना का कालचक्र टूटने की कगार पर है? क्या चीन के रास्ते पर चलकर कोरोना को रोका जा सकता है? क्या है कोरोना पर जीत का चीनी फॉर्मूला? चीन ने कोरोना वायरस को दी मात यकीन मानिए कोरोना के चक्र को तोड़ने के लिए इसके अलावा दूर-दूर तक दूसरा कोई रास्ता नहीं है. बल्कि सच तो ये है कि बस यही एक रास्ता है, जो 130 करोड़ हिंदुस्तानियों को ज़िंदगी दे सकता है. इसी रास्ते पर चल कर चीन ने ये साबित भी कर दिखाया है. हमने तो अभी 21 दिन का ही लॉकडाउन किया है. चीन के हुबेई प्रांत के वुहान शहर में तो 23 जनवरी यानी पिछले दो महीने से लॉकडाउन है. वुहान शहर से पहली बार पिछले साल दिसंबर में कोरोना नाम के वायरस का जन्म हुआ था. जहां इस महामारी ने सबसे पहले तबाही मचाई. जहां घर-घर से कोरोना के मरीज निकल रहे थे. वहां अब जिंदगी पटरी पर लौट रही है. और कोरोना का वायरस यहां तकरीबन अपना दम तोड़ चुका है. जो मामले सामने आ भी रहे हैं वो, उन लोगों के हैं जो हाल ही में विदेश से लौटे हैं. ये ज़रूर पढ़ेंः डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को किया परेशान तो मकान मालिकों पर होगी कार्रवाई चीन ने कैसे जीती कोरोना से जंग? कोरोना की तीसरी, चौथी सभी स्टेजों को पार कर चुके चीन के वुहान शहर में पिछले कई दिनों से अब कोरोना वायरस के इक्के-दुक्के मामले ही सामने आए हैं. ये दावा चीन के स्वास्थ्य मंत्रालय का है. हालांकि वुहान से बाहर कोरोना के कुछ केस जरुर आए हैं. लेकिन ये चीन में फैली इस महामारी के हिसाब से कुछ भी नहीं है. और ये आंकड़ा बेहद कम है. तो आइए समझते हैं कि आखिर चीन ने ऐसे कौन कौन से कदम उठाए जिससे वो कोरोना के इस कालचक्र को तोड़ने में कामयाब हो गया. लेकिन इसके लिए पहले कुछ आंकड़े समझिए. चीन में अब तक कोरोना के करीब 82 हजार केस सामने आ चुके हैं. जिनमें मरने वालों की तादाद करीब 33 सौ है. लेकिन जो सबसे गौर करने वाला आंकड़ा है, वो ये है कि यहां करीब 74 हजार मरीज ठीक होकर घर भी लौट चुके हैं. अब आते हैं वुहान पर. चीन के हुबेई सूबे की ये राजधानी पिछले 23 जनवरी से बंद हैं. अब इतनी बड़ी तादाद में कोरोना वायरस के मरीजों की रिकवरी के बाद चीन इस शहर को दोबारा खोलने की तैयारी कर रहा है. इसका सीधा सा मतलब ये है कि चीन को अब इस बात का यकीन हो चला है कि कोरोना से पैदा हुए इमरजेंसी हालात को वो अब काबू में कर सकता है. और चीन की सरकार की तरफ से हालात सामान्य करने की कोशिशें भी शुरु हो गई हैं. हालांकि कोरोना का अटैक दोबारा ना हो इसके लिए चीन की सरकार जरूरी ऐहतियात भी बरत रही है. Must Read: कोरोना वायरस की दवा बनाने में जुटे कई देश, भारत भी कर रहा कोशिश चीन ने इस महामारी पर कैसे काबू पाया इसे समझने के लिए पिछले 20 से 30 दिनों में चीन की सरकार की कार्रवाईयों पर बारीकी से नजर डालनी होगी. उसी से ये समझ आएगा कि लॉकडॉउन के अलावा चीन ने कोरोना से लड़ने के लिए क्या कदम उठाए. तो आइए समझने की कोशिश करते हैं. दरअसल, शुरुआत में तो चीन ये अंदाजा ही नहीं लगा पाया कि आखिर वुहान में अचानक हुआ क्या. लेकिन मरीजों की बढ़ती तादाद और डॉक्टरों की जांच ने जैसे ही उसे वुहान में फैले कोरोना वायरस का पता दिया. चीन ने वुहान को पूरे देश से काट दिया और करीब साढ़े पांच करोड़ लोगों के घरों से निकलने पर पाबंदी लगा दी. शुरुआत से ही संक्रमण को रोकने के लिए चीन ने वुहान में सैनिटाइजर का छिड़काव शुरू करा दिया. चीन ने ऐसे की कोरोना से ल़डने की तैयारी चीन ने फौरन वुहान में एक मजबूत हेल्थ सिस्टम तैयार किया. हालात को भांपते हुए रिकॉर्ड वक्त में चीन ने अस्पताल बनाए. हर नागरिक को उसकी ट्रैवल हिस्ट्री के हिसाब से अलग-थलग किया गया. चीन में हर किसी को मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया. मास्क ना लागने वालों को पहचानने का सिस्टम बनाया गया. सरकार ने सोशल मीडिया पर कोरोना के खिलाफ ज़बरदस्त अभियान छेड़ा. जागरुकता के लिए पूरे देश में एक बड़ा प्रोग्राम चलाया. चीन ने ऐसे जीती कोरोना से जंग वहां स्टेडियम, जिम, स्कूलों, कॉलेजों को अस्थाई अस्पताल में बदल दिया गया. मॉल, सिनेमाहॉल, नेशनल और स्टेट हाईवे को तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया. जिससे एक जगह से दूसरी जगह लोगों का आना जाना बंद हो गया. वायरस की चेन को तोड़ा गया. और चीन की ये पहल सबसे कारगर साबित हुई. इतना ही नहीं चीन ने उन इलाकों की पहचान की, जहां सबसे ज़्यादा कोरोना के मामले सामने आ रहे थे. और उन्हें सड़क या फिर किसी भी तरह के ट्रांसपोर्ट सिस्टम से काट दिया गया. पूरे चीन के कोरोना प्रभावित इलाकों में करीब 12 हज़ार सेंटर बनाए. ताकि कोरोना से संक्रमित लोगों की तेजी से जांच की जा सके. जितनी रफ्तार से चीन में कोरोना के केस बढ़े उससे दोगुनी रफ्तार से चीन ने अपने यहां अस्थाई अस्पतालों का निर्माण किया. लोगों तक दवाई पहुंचाने या फिर टेस्ट के लिए रोबोटिक्स का इस्तेमाल किया गया. कोरोना से जूझते हुए चीनी सरकार ने हर वक्त सबक सीखा और अपनी गलतियों को सुधारा. पूरे चीन में कोरोना से लड़ने के लिए सेंट्रलाइज सिस्टम बनाया गया. और राष्ट्रपति शी जिनपिंग तक को एक-एक केस का अपडेट पहुंचाने का इंतजाम किया. जैसे-जैसे चीन के इलाकों में हालात सामान्य होते गए. लोगों को छूट दी जाने लगी. देर से ही सही लेकिन जिस तेज़ी के साथ चीन ने इस महामारी पर काबू किया, वो यकीनन तारीफ के काबिल है. तो अब सवाल ये है कि क्या चीन के कदम पर चलकर ही कोरोना का खात्मा किया जा सकता है. दरअसल चीन के बाद इटली कोरोना के भयंकर चपेट में है और इटली की मदद के लिए वहां चीन के डॉक्टर्स का वो दस्ता पहुंचा है. जिन्होंने वुहान को कोरोना से उबारने में मदद की. तो क्या हम भी उन डॉक्टरों की मदद ले सकते हैं. कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें... कोरोना से जुड़ी ताजा अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें और पढो: आज तक

आज तक @aajtak



डॉक्टरों पर हमला: सुबुही खान का फूटा गुस्सा, पूछा- बाकी मुसलमान चुप क्यों?

2011 में दूसरी बार क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने कहानी



लॉकडाउन के बीच PM मोदी कल देंगे देश को संदेश, सुबह 9 बजे जारी करेंगे वीडियो

लॉकडाउन से भारत को हो सकता है 100 अरब डॉलर का नुकसान: रिपोर्ट



कोरोना संकट के बीच कल सुबह 9 बजे देश को फिर संबोधित करेंगे PM मोदी

Whatsapp पर अफवाहों के चलते डॉक्टरों पर हमले? जानें क्या बोले इंदौर के DIG



itsparvezsagar ShamsTahirKhan उसने वायरस के साथ वैक्सीन भी बना ली थी। वायरस मुफ्त मे बाँटा, वैक्सीन मुफ्त क्यौ देगा। दुनिया वालों को भगाकर उनकी कंपनिया सस्ते मे खरीद ली। दुनिया की लुटिया डुबा दी। वो तैर कर बाहर आ गया और दुनिया हाथ पाँव मार रही है। बहाद्दर भारत ने बिन माँगे सहायता भेजी और अब स्वयं हाथ पाँव..

itsparvezsagar ShamsTahirKhan ChineseVirus19 itsparvezsagar ShamsTahirKhan ChineseVirus chimmy itsparvezsagar ShamsTahirKhan पुरी दुनिया मिलकर एक वायरस पीड़ित को वुहान भेजकर दिखाओ उसने अकेले पुरी दुनिया में भेजा उसका नाम है चीन itsparvezsagar ShamsTahirKhan जिसने फैलाया उसको तो पता होना ही है

itsparvezsagar ShamsTahirKhan कितनों को क्या किया होगा चीन ही जानता होगा । वहा लोकतंत्र नही, सरकार को न सुनने की आदत भी नहीं, वहाँ जीहादीयों को पोसा नहीं जाता , चीन से भारत की तुलना न करें तो बेहतर होगा । चीन में विपक्ष जैसा कोई चीज नहीं होता । itsparvezsagar ShamsTahirKhan चीन की आबादी और क्षेत्रफल भारत से ज्यादा है लेकिन वुहान के अलावा चीन में किन शहरों में, प्रांतों में वायरस फैला यह एक प्रश्न है सोचने का ,क्या वुहान के अतिरिक्त किसी और शहर में यह वायरस नहीं पहुंचा जबकि यह विश्व के कई देशों में पहुंच गया

itsparvezsagar ShamsTahirKhan जिसने ताला बनाया है उसिके पास तो चाबी होती ही है। उसमे कोई बड़ी बात नई हे। hatechina hate chinesepeople itsparvezsagar ShamsTahirKhan चीन छोड़कर विश्व के बहुत सारे सेलिब्रिटीज इस वायरस का शिकार है😳है न संदेहास्पद ChineseVirus itsparvezsagar ShamsTahirKhan वहा की सरकार ने जितनी जल्दी हॉस्पिटल बनाया ओर सब का खयाल किया उस का नतीजा है, अब यहा की सरकार को सवाल करो तो आप लोग ओर भक्त तो देशद्रोही कह देते हो, cowardmedia

DNA ANALYSIS: भारत ने ठाना है, कोरोना वायरस को दूसरे चरण में हराना हैहमारे देश में देशभक्त तो सब बनते हैं सब ये भी कहते हैं कि मैं देश के लिए कुछ भी कर सकता हूं. लेकिन आज आपको ये बड़ी बड़ी बातें छोड़कर देश के लिए सच में कुछ करना होगा और आपको अगले 21 दिनों तक अपने घर में रहना होगा. sudhirchaudhary Yes sir sudhirchaudhary But government aane wale 2 month electricity and water bill bhi na le.Normal condition baad m chahe ek saath le le sudhirchaudhary Yes sir or hum pure desh ki janta modi ji ke saath hai

न्यूयॉर्क के गवर्नर का कहना है कि 'सोशल डिस्‍टेंसिंग' से धीमा पड़ रहा है कोरोना वायरसभारत के प्रधानमंत्री भी साफ कह चुके हैं कि इस वायरस से बचने का एक ही इलाज है और वो है सोशल डिस्‍टेंसिंग जहां अब न्यूयॉर्क के गवर्नर ने कह दिया है कि इससे वायरस का प्रकोप कम हो रहा सामाजिक दूरी ही इसका एकमात्र इलाज है,फिर भी लोग समझ नहीं रहे है। देश मे अभी भी कुछ गधे किस्म के इंसान बिना वजह के बाहर घूम रहे है Corona virus BJP party ke netavo se nikala hain Ye bhagvan RAM aur sita ke tasker Hain Esi liye hanta virus aaya History main ajad satru ko Pitru hanta khaha jata thha Bhagvan RAM (pita) Sita ki hatya karne ke karan Hanta virus Jiska name ajad satru Aur Narendra Modi Yogi hain

फैक्ट चेक: क्या भारत में बाकी देशों से महंगा है कोरोना वायरस का टेस्ट?KunduChayan abhi itani mehengai hai to socho agar 21 din Ghar me Nahi rahe to India 21 year pi6e Jayega tab ki socho tab kya hoga..so, please StayHomeStaySafe 21daysLockdown KunduChayan niiravmodi bhai....ab aaj tak v tera fact check kar raha hai...

सामाजिक दूरी बनाकर 62 फीसदी तक रोका जा सकता है कोरोना वायरस का संक्रमणलॉकडाउन (सामाजिक दूरी) narendramodi PMOIndia Corona virus Lockdown 21daysLockdown CurfewInIndia lockdownindia StayHomeIndia

क्या वाकई चाय से कोरोना वायरस का इलाज किया जा सकता है…जानिए सच...पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, लेकिन इसका इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है। इस बीच सोशल मीडिया पर एक पोस्ट काफी वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि चाय से कोरोना वायरस का इलाज किया जा सकता है।

कोरोना वायरस का असर : केंद्रीय विद्यालयों में आठवीं तक सभी विद्यार्थी होंगे पासकेंद्रीय विद्यालयों में आठवीं तक सभी विद्यार्थी होंगे पास HRDMinistry Corona virus Lockdown 21daysLockdown CurfewInIndia lockdownindia StayHomeIndia



'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया

दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल

तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

कोरोना वायरस: मरकज पर बोले केजरीवाल- चाहे अधिकारी हो या कोई और, सख्त कार्रवाई होगी

तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत

अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया

कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 मार्च 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

स्पेन में कोरोना से मचा कोहराम, मरने वालों का आंकड़ा हुआ 4 हजार के पार

अगली खबर

देश में Coronavirus से अब तक 16 लोगों की मौत, COVID-19 संक्रमितों की संख्या 700 के करीब पहुंची
आज तक @aajtak डॉक्टरों पर हमला: सुबुही खान का फूटा गुस्सा, पूछा- बाकी मुसलमान चुप क्यों? 2011 में दूसरी बार क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने कहानी लॉकडाउन के बीच PM मोदी कल देंगे देश को संदेश, सुबह 9 बजे जारी करेंगे वीडियो लॉकडाउन से भारत को हो सकता है 100 अरब डॉलर का नुकसान: रिपोर्ट कोरोना संकट के बीच कल सुबह 9 बजे देश को फिर संबोधित करेंगे PM मोदी Whatsapp पर अफवाहों के चलते डॉक्टरों पर हमले? जानें क्या बोले इंदौर के DIG 'रामायण' की वापसी से दूरदर्शन को मिली खुशखबरी, टीआरपी रेटिंग में बनाया ये रिकॉर्ड वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान ने लिया था तलाक, चुकाए थे 192 करोड़ रुपये - Sports AajTak गांव में नहीं मिली एंट्री तो बुजुर्ग ने नाव पर खुद को किया क्वारनटीन - Coronavirus AajTak आज तक @aajtak मरकज के खिलाफ FIR: प्रबंधन ने की लापरवाही, नहीं मानी पुलिस की बात
'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की कोरोना वायरस: मरकज पर बोले केजरीवाल- चाहे अधिकारी हो या कोई और, सख्त कार्रवाई होगी तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज लॉकडाउन हटने के बाद सबसे पहले क्या करेंगी दीपिका पादुकोण? किया खुलासा मरकज की लापरवाही पर क्राइम ब्रांच करेगी जांच, मौलाना के खिलाफ केस दर्ज डीएम के बाद नोएडा के CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला मरकज मामले पर नकवी बोले- ये तालिबानी जुल्म, होनी चाहिए कड़ी कानूनी कार्रवाई सोनिया का PM मोदी को खत, कहा- मनरेगा मजदूरों को मिले 21 दिन की एडवांस मजदूरी