कोरोना संकट: लॉकडाउन के दौरान मुसलमान समझ कर वकील की पिटाई

कोरोना संकट: लॉकडाउन के दौरान मुसलमान समझ कर वकील की पिटाई

21-05-2020 12:45:00

कोरोना संकट: लॉकडाउन के दौरान मुसलमान समझ कर वकील की पिटाई

मध्य प्रदेश में एक वकील की पुलिसवालों ने इसलिए पिटाई कर दी गई क्योंकि वो मुसलमान जैसा दिखते थे.

आपके सवालकोरोना वायरस क्या है?लीड्स के कैटलिन सेसबसे ज्यादा पूछे जाने वालेबीबीसी न्यूज़स्वास्थ्य टीमकोरोना वायरस एक संक्रामक बीमारी है जिसका पता दिसंबर 2019 में चीन में चला. इसका संक्षिप्त नाम कोविड-19 हैसैकड़ों तरह के कोरोना वायरस होते हैं. इनमें से ज्यादातर सुअरों, ऊंटों, चमगादड़ों और बिल्लियों समेत अन्य जानवरों में पाए जाते हैं. लेकिन कोविड-19 जैसे कम ही वायरस हैं जो मनुष्यों को प्रभावित करते हैं

सोनू सूद के बाद मजदूरों के मसीहा बने प्रकाश राज, घर पहुंचाने में कर रहे मदद निर्मला के तंज पर राहुल ने कहा, इजाजत दें तो 10-15 मजदूरों का बैग उठाकर पैदल यूपी निकल जाऊं VIDEO: राहुल बोले- लॉकडाउन हुआ फेल, मोदी सरकार माने नाकामी

कुछ कोरोना वायरस मामूली से हल्की बीमारियां पैदा करते हैं. इनमें सामान्य जुकाम शामिल है. कोविड-19 उन वायरसों में शामिल है जिनकी वजह से निमोनिया जैसी ज्यादा गंभीर बीमारियां पैदा होती हैं.ज्यादातर संक्रमित लोगों में बुखार, हाथों-पैरों में दर्द और कफ़ जैसे हल्के लक्षण दिखाई देते हैं. ये लोग बिना किसी खास इलाज के ठीक हो जाते हैं.

लेकिन, कुछ उम्रदराज़ लोगों और पहले से ह्दय रोग, डायबिटीज़ या कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ रहे लोगों में इससे गंभीर रूप से बीमार होने का ख़तरा रहता है.एक बार आप कोरोना से उबर गए तो क्या आपको फिर से यह नहीं हो सकता?बाइसेस्टर से डेनिस मिशेलसबसे ज्यादा पूछे गए सवाल

बाीबीसी न्यूज़स्वास्थ्य टीमजब लोग एक संक्रमण से उबर जाते हैं तो उनके शरीर में इस बात की समझ पैदा हो जाती है कि अगर उन्हें यह दोबारा हुआ तो इससे कैसे लड़ाई लड़नी है.यह इम्युनिटी हमेशा नहीं रहती है या पूरी तरह से प्रभावी नहीं होती है. बाद में इसमें कमी आ सकती है.

ऐसा माना जा रहा है कि अगर आप एक बार कोरोना वायरस से रिकवर हो चुके हैं तो आपकी इम्युनिटी बढ़ जाएगी. हालांकि, यह नहीं पता कि यह इम्युनिटी कब तक चलेगी.कोरोना वायरस का इनक्यूबेशन पीरियड क्या है?जिलियन गिब्समिशेल रॉबर्ट्सबीबीसी हेल्थ ऑनलाइन एडिटरवैज्ञानिकों का कहना है कि औसतन पांच दिनों में लक्षण दिखाई देने लगते हैं. लेकिन, कुछ लोगों में इससे पहले भी लक्षण दिख सकते हैं.

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि इसका इनक्यूबेशन पीरियड 14 दिन तक का हो सकता है. लेकिन कुछ शोधार्थियों का कहना है कि यह 24 दिन तक जा सकता है.इनक्यूबेशन पीरियड को जानना और समझना बेहद जरूरी है. इससे डॉक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों को वायरस को फैलने से रोकने के लिए कारगर तरीके लाने में मदद मिलती है.

क्या कोरोना वायरस फ़्लू से ज्यादा संक्रमणकारी है?सिडनी से मेरी फिट्ज़पैट्रिकमिशेल रॉबर्ट्सबीबीसी हेल्थ ऑनलाइन एडिटरदोनों वायरस बेहद संक्रामक हैं.ऐसा माना जाता है कि कोरोना वायरस से पीड़ित एक शख्स औसतन दो या तीन और लोगों को संक्रमित करता है. जबकि फ़्लू वाला व्यक्ति एक और शख्स को इससे संक्रमित करता है.

नेपाल के साथ क्या हुआ, लद्दाख में कैसे हालात? देश के सामने सच्चाई बताए सरकार: राहुल गांधी लॉकडाउन के कारण बेटे की मौत के बाद नहीं करवा पाया मृत्युभोज, पंचायत ने दी सजा योगी आदित्यनाथ क्या प्रवासी मज़दूरों पर बयान देकर घिर गए हैं?

फ़्लू और कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए कुछ आसान कदम उठाए जा सकते हैं.बार-बार अपने हाथ साबुन और पानी से धोएंजब तक आपके हाथ साफ न हों अपने चेहरे को छूने से बचेंखांसते और छींकते समय टिश्यू का इस्तेमाल करें और उसे तुरंत सीधे डस्टबिन में डाल दें.आप कितने दिनों से बीमार हैं?

मेडस्टोन से नीताबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमहर पांच में से चार लोगों में कोविड-19 फ़्लू की तरह की एक मामूली बीमारी होती है.इसके लक्षणों में बुख़ार और सूखी खांसी शामिल है. आप कुछ दिनों से बीमार होते हैं, लेकिन लक्षण दिखने के हफ्ते भर में आप ठीक हो सकते हैं.अगर वायरस फ़ेफ़ड़ों में ठीक से बैठ गया तो यह सांस लेने में दिक्कत और निमोनिया पैदा कर सकता है. हर सात में से एक शख्स को अस्पताल में इलाज की जरूरत पड़ सकती है.

End of कोरोना वायरस के बारे में सब कुछमेरी स्वास्थ्य स्थितियांआपके सवालअस्थमा वाले मरीजों के लिए कोरोना वायरस कितना ख़तरनाक है?फ़ल्किर्क से लेस्ले-एनमिशेल रॉबर्ट्सबीबीसी हेल्थ ऑनलाइन एडिटरअस्थमा यूके की सलाह है कि आप अपना रोज़ाना का इनहेलर लेते रहें. इससे कोरोना वायरस समेत किसी भी रेस्पिरेटरी वायरस के चलते होने वाले अस्थमा अटैक से आपको बचने में मदद मिलेगी.

अगर आपको अपने अस्थमा के बढ़ने का डर है तो अपने साथ रिलीवर इनहेलर रखें. अगर आपका अस्थमा बिगड़ता है तो आपको कोरोना वायरस होने का ख़तरा है.क्या ऐसे विकलांग लोग जिन्हें दूसरी कोई बीमारी नहीं है, उन्हें कोरोना वायरस होने का डर है?स्टॉकपोर्ट से अबीगेल आयरलैंड

बीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमह्दय और फ़ेफ़ड़ों की बीमारी या डायबिटीज जैसी पहले से मौजूद बीमारियों से जूझ रहे लोग और उम्रदराज़ लोगों में कोरोना वायरस ज्यादा गंभीर हो सकता है.ऐसे विकलांग लोग जो कि किसी दूसरी बीमारी से पीड़ित नहीं हैं और जिनको कोई रेस्पिरेटरी दिक्कत नहीं है, उनके कोरोना वायरस से कोई अतिरिक्त ख़तरा हो, इसके कोई प्रमाण नहीं मिले हैं.

जिन्हें निमोनिया रह चुका है क्या उनमें कोरोना वायरस के हल्के लक्षण दिखाई देते हैं?कनाडा के मोंट्रियल से मार्जेबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमकम संख्या में कोविड-19 निमोनिया बन सकता है. ऐसा उन लोगों के साथ ज्यादा होता है जिन्हें पहले से फ़ेफ़ड़ों की बीमारी हो.लेकिन, चूंकि यह एक नया वायरस है, किसी में भी इसकी इम्युनिटी नहीं है. चाहे उन्हें पहले निमोनिया हो या सार्स जैसा दूसरा कोरोना वायरस रह चुका हो.

राहुल का निर्मला पर पलटवार, आप इजाजत दें तो मजदूरों का बैग उठाकर पैदल यूपी निकल जाऊं क्या है क्रेडिट रेटिंग का मामला? जिसको लेकर राहुल गांधी ने बोला मोदी सरकार पर हमला उबर इंडिया ने अपने 600 कर्मचारियों की छंटनी की, यह संख्‍या उसके कर्मचारियों की 25%

End of मेरी स्वास्थ्य स्थितियांअपने आप को और दूसरों को बचानाआपके सवालकोरोना वायरस से लड़ने के लिए सरकारें इतने कड़े कदम क्यों उठा रही हैं जबकि फ़्लू इससे कहीं ज्यादा घातक जान पड़ता है?हार्लो से लोरैन स्मिथजेम्स गैलेगरस्वास्थ्य संवाददाताशहरों को क्वारंटीन करना और लोगों को घरों पर ही रहने के लिए बोलना सख्त कदम लग सकते हैं, लेकिन अगर ऐसा नहीं किया जाएगा तो वायरस पूरी रफ्तार से फैल जाएगा.

फ़्लू की तरह इस नए वायरस की कोई वैक्सीन नहीं है. इस वजह से उम्रदराज़ लोगों और पहले से बीमारियों के शिकार लोगों के लिए यह ज्यादा बड़ा ख़तरा हो सकता है.क्या खुद को और दूसरों को वायरस से बचाने के लिए मुझे मास्क पहनना चाहिए?मैनचेस्टर से एन हार्डमैनबीबीसी न्यूज़

हेल्थ टीमपूरी दुनिया में सरकारें मास्क पहनने की सलाह में लगातार संशोधन कर रही हैं. लेकिन, डब्ल्यूएचओ ऐसे लोगों को मास्क पहनने की सलाह दे रहा है जिन्हें कोरोना वायरस के लक्षण (लगातार तेज तापमान, कफ़ या छींकें आना) दिख रहे हैं या जो कोविड-19 के कनफ़र्म या संदिग्ध लोगों की देखभाल कर रहे हैं.

मास्क से आप खुद को और दूसरों को संक्रमण से बचाते हैं, लेकिन ऐसा तभी होगा जब इन्हें सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए और इन्हें अपने हाथ बार-बार धोने और घर के बाहर कम से कम निकलने जैसे अन्य उपायों के साथ इस्तेमाल किया जाए.फ़ेस मास्क पहनने की सलाह को लेकर अलग-अलग चिंताएं हैं. कुछ देश यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनके यहां स्वास्थकर्मियों के लिए इनकी कमी न पड़ जाए, जबकि दूसरे देशों की चिंता यह है कि मास्क पहने से लोगों में अपने सुरक्षित होने की झूठी तसल्ली न पैदा हो जाए. अगर आप मास्क पहन रहे हैं तो आपके अपने चेहरे को छूने के आसार भी बढ़ जाते हैं.

यह सुनिश्चित कीजिए कि आप अपने इलाके में अनिवार्य नियमों से वाकिफ़ हों. जैसे कि कुछ जगहों पर अगर आप घर से बाहर जाे रहे हैं तो आपको मास्क पहनना जरूरी है. भारत, अर्जेंटीना, चीन, इटली और मोरक्को जैसे देशों के कई हिस्सों में यह अनिवार्य है.अगर मैं ऐसे शख्स के साथ रह रहा हूं जो सेल्फ-आइसोलेशन में है तो मुझे क्या करना चाहिए?

लंदन से ग्राहम राइटबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमअगर आप किसी ऐसे शख्स के साथ रह रहे हैं जो कि सेल्फ-आइसोलेशन में है तो आपको उससे न्यूनतम संपर्क रखना चाहिए और अगर मुमकिन हो तो एक कमरे में साथ न रहें.सेल्फ-आइसोलेशन में रह रहे शख्स को एक हवादार कमरे में रहना चाहिए जिसमें एक खिड़की हो जिसे खोला जा सके. ऐसे शख्स को घर के दूसरे लोगों से दूर रहना चाहिए.

End of अपने आप को और दूसरों को बचानामैं और मेरा परिवारआपके सवालमैं पांच महीने की गर्भवती महिला हूं. अगर मैं संक्रमित हो जाती हूं तो मेरे बच्चे पर इसका क्या असर होगा?बीबीसी वेबसाइट के एक पाठक का सवालजेम्स गैलेगरस्वास्थ्य संवाददातागर्भवती महिलाओं पर कोविड-19 के असर को समझने के लिए वैज्ञानिक रिसर्च कर रहे हैं, लेकिन अभी बारे में बेहद सीमित जानकारी मौजूद है.

यह नहीं पता कि वायरस से संक्रमित कोई गर्भवती महिला प्रेग्नेंसी या डिलीवरी के दौरान इसे अपने भ्रूण या बच्चे को पास कर सकती है. लेकिन अभी तक यह वायरस एमनियोटिक फ्लूइड या ब्रेस्टमिल्क में नहीं पाया गया है.गर्भवती महिलाओंं के बारे में अभी ऐसा कोई सुबूत नहीं है कि वे आम लोगों के मुकाबले गंभीर रूप से बीमार होने के ज्यादा जोखिम में हैं. हालांकि, अपने शरीर और इम्यून सिस्टम में बदलाव होने के चलते गर्भवती महिलाएं कुछ रेस्पिरेटरी इंफेक्शंस से बुरी तरह से प्रभावित हो सकती हैं.

मैं अपने पांच महीने के बच्चे को ब्रेस्टफीड कराती हूं. अगर मैं कोरोना से संक्रमित हो जाती हूं तो मुझे क्या करना चाहिए?मीव मैकगोल्डरिकजेम्स गैलेगरस्वास्थ्य संवाददाताअपने ब्रेस्ट मिल्क के जरिए माएं अपने बच्चों को संक्रमण से बचाव मुहैया करा सकती हैं.अगर आपका शरीर संक्रमण से लड़ने के लिए एंटीबॉडीज़ पैदा कर रहा है तो इन्हें ब्रेस्टफीडिंग के दौरान पास किया जा सकता है.

ब्रेस्टफीड कराने वाली माओं को भी जोखिम से बचने के लिए दूसरों की तरह से ही सलाह का पालन करना चाहिए. अपने चेहरे को छींकते या खांसते वक्त ढक लें. इस्तेमाल किए गए टिश्यू को फेंक दें और हाथों को बार-बार धोएं. अपनी आंखों, नाक या चेहरे को बिना धोए हाथों से न छुएं.

बच्चों के लिए क्या जोखिम है?लंदन से लुइसबीबीसी न्यूज़हेल्थ टीमचीन और दूसरे देशों के आंकड़ों के मुताबिक, आमतौर पर बच्चे कोरोना वायरस से अपेक्षाकृत अप्रभावित दिखे हैं.ऐसा शायद इस वजह है क्योंकि वे संक्रमण से लड़ने की ताकत रखते हैं या उनमें कोई लक्षण नहीं दिखते हैं या उनमें सर्दी जैसे मामूली लक्षण दिखते हैं.

हालांकि, पहले से अस्थमा जैसी फ़ेफ़ड़ों की बीमारी से जूझ रहे बच्चों को ज्यादा सतर्क रहना चाहिए. और पढो: BBC News Hindi »

ईसाई समझ कर पीटा था Fir should b lodged against BBC India hindi spreading communal hate. पक्षियों के लिए पानी की व्यवस्था MdSail1 कोरोना संकट नही....ये है नफरत जो मिडिया ने फैलाई है... Jab police bhi hindu muslim dekh kar kaam karegi to desh ka kya hoga. Kya bneega india ka बीबीसी चूतिया हैं।बस हिंदू मुसलमान मे लगा रहता है।

भाजपा का एजेंडा फलीभूत हो रहा है। नया इंडिया मुबारक हो। To ye hai world class patrakarita, aur kuch nahi mila etne bade bharat mein Your channel plays always with Hindu sentiments and against Modi government public knows very well मुस्लिम समुदाय के लिए ये कोई नई बात नहीं है हमेशा होता रहा है 👉हाशिमपुरा कांड का राज कुछ ईमानदार अधिकारियों की वजह से सामने आ सका था 👉इस तरह के बहुत से कांड सामने आ ही नहीं पाए और अल्पसंख्यक समुदाय मूली गाजर की तरह काटा जाता रहा हाशिमपुरा Hashimpura HashimpuraMassacre

इस खबर का रिपोर्टर देख लीजिए, कोई शांतिदूत ही होगा। नेक और शांतिपूर्ण बंदा। HaHa संघी सोच का असर है ये घटना। संघियों ने देश में अंधभक्तों की फौज खड़ी कर दी है, उनकी बुध्दि पर गोबर थोप दिया है। इसी का परिणाम आज देश भोग रहा है, चारों ओर आतंक मचा रखा है। Lagegi aag to ayenge Ghar kayi jad.... Is shahar m sirf hamara makaan thodi h

Yet again putting people against each other on the basis of religion, same old divide and rule by the British. bannbbc from India 🇮🇳 बात कुछ समझ में आने वाली नहीं लगती ये दीपक अगर मधुमेह से ग्रसित भी थे तो अभी तो लाकडाउन का पहला दुसरा दिन ही था खेर जो भी हो ये वकील थे इन्होंने ऊसको निलम्बित करवा दिया 2महीनो पुराना मामला अब उठाने का कारण ❓

अबकी बार नफरत कि सरकार और पियो और पिलाओ धर्म की अफीम। अगर नहीं पिलाओगे तो जनता जूतों से मारेगी। पिलाओगे तो जनता कुछ नहीं पूछेगी बस अफीम में मस्त रहेगी BBC kabhi to YAAR DESHKA ACHHA BOLA KARO JAB DEKHO TAB INAPE ATYACHAR HUE KYA HAIN YE WE NEEDS TO BAN THIS BBC BBC wala fake news nahi deta hai अंग्रेज चले गए लेकिन बीबीसी को यही छोड़ गए

Bjp's jungle raaj हमारी इंडियन सरकार से अपील है कि इंडिया के तमाम पुलिस ऑफिसर को बैठाकर संस्कार दिखाना चाहिए कैसे जनता की सेवा की जाती है लगता है हमारे देश में संस्कारी पुलिस वाले खत्म हो गए हैं। AshfaaqAnsari خدا خیر کرے अंधभक्तो को नही दिखायी देता है कि कौन मुस्लिम है कौन हिन्दू है सिर्फ मोदी मोदी होता है।आज 80% मुस्लिम मजदूर को सेवा का अवसर दे रहा है फिर भी नफरत भारी रहती है अंधभक्तो के अंदर

अंतर आत्मा कितनी शुद्ध है सबूत पेश है। Akhir kaar Sarkar me aisa kya aadesh diya hay police ko jo ki dadhi topi dekhte hi shaitaan ban jati hay hamari police. ऐसा नहीं हो सकता, हरामी समझ कर तुम्हारी पिटाई हुई? Put it on BBCWorld ये तो वकील है इस लिए इतनी लिखा पड़ी कंप्लेन कर लिए और जो रोज विचारे गरीब पिट रहे है उनके बारे में कोन सोचता है

myogiadityanath PMOIndia sir yahi hai..sab ka saath sab ka vikas. Please take action..agar ghar me kuch galat ho ta hai. To ghar ke bado ko pukara jaata hai..abhi aap log hi bade ho..apna farz nibhao Yahi doglapan h dekh lo polic ka sanghi chehera MalikaK21246992 Kya ho raha he desh ko koi he shame... but zehar itna bo diya hai ki ye hadse to hone mumkin hain.

Maro modi bhakt achha huaa hai WelcomeToNewIndia Sad4Country 🇮🇳🇮🇳 democracy NewIndia 🇮🇳🇮🇳 🙊🙉🙈 Bhai dadhi to bade neta bhi rakhe hein, un per bhi hath saf kar lo Sarkari Farman jari hua hoga...!! . Warna police wale ki itni auqaat ke Sare Aam apna Gunaah qabul leta.. !! Brain wash n Islamophobia_In_India

यहाँ भी propaganda।आदतें छुटती नही है जल्दी से। BBC सिर्फ मुसलमानों को भड़काने का काम करती है। आग में घी मत डालो साडे की और गांड मारणी चाहीये थी... यह अब आम बात हो चुकी है। वकील साहब अब तो कलमा पड़ना ज़रूरी है आपका। अब तो समझ गए होंगे मुसलमानों के साथ क्या होता है देश में 😞😠😡😡😠😞 😂😂😂 तालिबानी राह पर भारत !

ये मोदी जी का हमशक्ल लगता है। गौर से देखो 😁😁😁 Shameless (👽)bas yehi sab baki rah gaya tha india me? DyolSingh फर्जी देशभक्त और दोगला नेता लोग देश को नफ़रत के आग में झोंकने चाहता है मजदूर_विरोधी_मोदी_सरकार मजदूर_विरोधी_मोदी_सरकार बीबीसी द्वारा इस तरह की पत्रकारिता करने का मकसद क्या है? १. दोनों धर्मों में तनाव बढ़ाना, २. सही रिपोर्टिंग करना। ३. सामाजिक समरसता में जागरूकता पैदा करना। तथ्य : दोनों धर्म को साथ साथ में रहना है चाहे प्रेम से रहें या लड़कर , इसमें मीडिया व राजनेता का रोल महत्वपूर्ण होता है।

Islamophobia_In_India MisaBharti मोदी है तो मुमकिन है USCIRF IAMCouncil LadyVelvet_HFQ AJEnglish Wah aisa desh rss n bna diya h...bahut khub modi jee Anti India media Riyaz1405 मोची जी ' जूते ' का नाम बदलकर ' आइसक्रीम ' रखवा दो अंधभक्तों को चाटने में 😂 आसानी होगी 😂🌶 naqvimukhtar sir aapki jannat kya Khoobsurat nazara hai,,,zara dekhiye to

Saj gyi Dukan wah bahanchod wah Get lost BBC We don’t want news channel having anti India agenda 😦😦 यही अहम बात समझने की ज़रूरत है !!! नफरत के सौदागर नफरत दूसरो को करना सिखाते हैं।।। फिर नफरत इतनी हवी हो जती के अपनो की पहचान खतम हो जती।।।ये उसी का नतिजा है। Tabahi or ayegi Itni nafrat 🤔🤔🤔🤔 Police ka ye purana pesha hai delhi dangga police CAA sapoter ne kia tha or jab jawab musalmaan ne dia to cerfew lagaa dia ab musalmaan ko lock down ke aar me caa ka badla le raha hai bjp ke shaashan me ye jaroor kaam hua danggai jaatio ka chehra musalmaano ne dekh lia

Sab probehenga hai bcc bc mc संघी पुलिस Modi ko kiun nahi pitte vi to dadhi musalmano jaisi rakhta दीपक ने कहा, 'हमारे समाज में वर्ग विशेष के ख़िलाफ़ नफ़रत का ज़हर बोया जा रहा है. लेकिन ये आग सिर्फ़ मुसलमान तक सीमित नहीं रहेगी. ये समाज के हशिए पर खड़े सभी लोगों के लिए ख़तरनाक है.' देश में आईसा ही चलता रहा तो कोरोना जल्द नही जायेगा

कोरोना पॉजिटिव अगर ऐसे ही बढ़ते रहे तो.. लगता है आने वाले दिनों मे कोरोना नेगेटिव वालों को क्वारंटाइन करना पड़ेगा... brahminicalvoilence brahminicalmedia BanEVM स्वदेशी_Ballot_विदेशी_EVM बहुजन_विरोधी_नीतियां_जलाओ मजदूरों_की_हत्यारी_केंद्र_सरकार BurnAntiBahujanPolicies विदेशी_युरेशियन_की_पोलखोल

Isse saf saf pata chalta h ki hindustani muslimon ke prati yahan ki hinduwon,administration,media aur sarkar ko kitna pyar h. Islamophobia_In_India Qanoon ke rakhwale hi agar sanghi ho jai to insan kis se insaf ki ummeed kare koun karega insaf लोकडाउन का उलंघन करोंगे तो पुलिस पिटेंगे ही ना इसमें हिन्दू या मुसलमान होने की क्या बात है.... मसले को धार्मिक रंग देना कोई इन जैसे वामपंथी वकीलों से सिखे

😢😢😢😢 Bbc kewal nafrat failane ka kam karta hai साफ जाहिर होता है ? बीजेपी शासित राज्यों में दंगाई मानसिकता के नेताओं और दंगाई मानसिकता के पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की मुस्लिमों के प्रति नजरिया ठीक नहीं है? खाश‌ करके मध्यप्रदेश गुजरात उत्तर प्रदेश दिल्ली काश्मीर इन सभी राज्यों में किया सरकारें और पुलिस मनमानी नहीं कर रही है?

चलो आज तो बच गया। पर आखिर कब तक बचेगा मुसलमान ? Jb Muslim se itna nafrat h to us ko Damad q banate ho tm log to apne ghr m Muslim k bachha plate ho phle us ko maro पागल न्यूज़ वाली फेक न्यूज़ को दिखाता है भोसड़ी वाले सोचो आप ने कितना नाम कमा रख्खा है 'We Thought You Were Muslim' Says Madhya Pradesh Police as 'Apology' for Beating Lawyer Listen to this brave lawyer from Betul Deepak Bundele. He says the attack on him was actually an attack on india. He’ll fight till the guilty policemen are punished.

क्या इस बुरी परिस्थिति में सभी वकील दीपक जी के साथ हैं देश मे धर्म के नाम पर राजनीति की रोटियां सेंकने वाले मिडिया भी तिल का ताड़ बना रहा मुसलमान ही मुसलमानों की हत्या करे या हिन्दू की करे सब बन्द होनी चाहिए काले धन्धों में लिप्त रहते हे फिर मरने पर धर्म ले आते हैं यह उचित नहीं है गलत,वकील के साथ लडाई।

Fake reporting by BBC always... अरे वकील साहब तो मोदी की शक्ल से मिलते हुए हैं फिर मुसलमान समझकर क्यो पीट दिया पुलिस ने? 😹😹 मुसलामानों ने इनका खेत ले रखा है? 😥 hend al qassimi: UAE की राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने मंदिर में की पूजा, भड़के मुस्लिम कट्टरपंथी - uae princess hend al qassimi worshiped at temple angry muslim fundamentalists | Navbharat Times

Hindustani5234 नही गलत बात है उसका उल्टा करके देखो जी अब इनका कोई चेहरा नही पसंद करता सब परेशान हो गए है 🤦 राम शाम फ़िल्म देखलो आप ये भी पत्रकारिता है बीबीसी ? ये बीबीसी लायक ख़बर है ? भरोसा उठ रहा है । तुम्हें बचपन से सुनते आए हैं , अब तुम्हारा छुपा एजेंडा समझ आया । कभी अपने देश में भी देख लिया करो ।

Dogli police... Shame आज किया हाल हो गया है हमारे देश की पुलिस का जो कभी जनता हिफ़ाज़त किया करते थे आज वही आम जनता के सबसे बडे दुसमन है Islamophobia_In_India सॉरी सर आपकी लंबी दाढ़ी थी, तो हमें लगा कि आप मुस्लिम हैं। mppolice Islamophobia ये तो गलतफहमी में हो गया...... लेकिन जो थूकलमान स्क्रीनिंग करने गए डॉक्टर की हत्या करने का प्रयास किया वो तो पूरी प्लानिंग के साथ किया।

Good vakeel shaab we support you ताज्जुब इस बात का है कि ये बात स्वयं पुलिस कह रही है. Police aur Authorities को descrimination नहीं करना चाहिए !! ये गलत है !! हिन्दू / मुस्लिम में कुछ नहीं रखा !! देश एक है !! Luckysaifii लगेगी आग तो आएंगे कई घर जद में यह पर सिर्फ हमारा मकान थोड़ी है नाक कटवा के दम लेगी narendramodi गवर्नमेंट

Feke news failata hai Nofrat ka over dose hogoya Islamophobia_In_India देश बदल रहा है ये भी विकास का हिस्सा है BBC is enemy of india Soon bhakts will not be allowed to keep beard... Long Hail Chu.. Yapa PMOIndia Aur inhi ka khne hai , Bharat ke sabhi Nagrik Hindu hai ,wah देखो मुसलमानों और नसीहत लो।😠😠 न्यूज़ एजेंसी का यह दायित्व होता है कि वह सही न्यूज़ सही समाचार जनता तक दे ना कि गलत तरीके से समाज को प्रस्तुत करके भेदभाव का वातावरण बनाने का प्रयास करें समाज को तोड़ने का कुचक्र रचे इस तरीके के कृत्यों से न्यूज एजेंसियों को बचना चाहिए और अपने दायित्वों का ईमानदारी से निर्वाह

Ye haal h dekho musalmano ko target krna h bss in kutto ka.... Mp k mantri ji bina distance ur mask k ur sarkar logo m aware karege 🤪 PhD in fake news एक हो जाओ मुस्लिमो वरना हर जगह मारे जाओगे Wah Modi Ji Wah Bas Yhi Hamara Galti He Ki ,Hum Muslims He. Arrest police personnel for using unlawful practices.

Bahut sharmindagi Ki Baat Hai... Musalman Hona dadhiwala Hona Gunah hai kya naqvimukhtar नक़वी साहब तो कह रहे थे भारत अल्पसंख्यकों के लिए जन्नत है ' और इस जन्नत में मुसलमानों को क्या समझा जाता है और उनके साथ किस तरह का सुलूक किया जात है इस न्यूज़ से अंदाज़ा लगाया जा सकता है ! नक़वी साहब आपकी जन्नत आपको मुबारक हो

British log Hindu Musalman karke Desh ke kai tukare to kara chuke hai par aaj bhi logo ko bhadka rahe hai or algavwaad badvane ke liye Propaganda chala rahe hai. BanBBC🙏 BBC KO YE TO NAHI DIKHA HOGA👇 शेम Islamophobia hai ye bhai ,sab taraf yahi ho raha hai bharat me . Moblinching , dange me fansaya gya ,

Better luck next time, Iss Baar Pehle Naam poochna... Or agar, ye Muslim hota to kya Uppolice jaanse mar deti, sharm aati h, ya grav krti H dgpup Dogla_system Sabki Mansikta hindu Muslim wali kr di hai.? Or Kisne Kari hai ye to pata hi hoga kehna ki jaroorat hi Nahi hai. अबे सिर्फ मुस्लिम की ही न्यूज़ क्यो बताता है हिन्दू भी तो इतने मरते है तब क्यो चुप रहता है मेवात में जाकर देख

Wakeel saheb kaise hain maza aya are ap wakeel Ho court se case Karo band baza do unki ya darr gaye Nafrat se Hindu or Muslim dono ka brabr nuksaan h Uffff yaar 😔😔😔 बेरोजगारी पर बात करो हिन्दु मुस्लिम करना बंद करो इसका मतलब यह हुआ कि मुसलमानों को पीटना अपराध की श्रेणी में नहीं आता। क्या कोई नया कानून लागू हो गया है?

RahulGandhi priyankagandhi हम को पहले से मालूम है ये लोग मुसलमानो के के खिलाफ हाथ धो के पड़े हैं How strange? Police claims as if it is illegal to be a muslim in India and police has all the right to beat a muslim. naqvimukhtar Chalo BBC wale shayad kuch action le police ka to dekh liya FakeNews नफरत चीज़ ही ऐसी है साला अपनों की पहचान मिटा देती है!

Good keep it up Digital India आप जैसे फिरंगी चैनल आज भी फूट डालो वाली नीति पर करते हैं. एक आम अमाचार को धर्म से जोड़ समाज में बिभाजनकारी समाचारों से बाज़ आईये. Lay off from such decisive mindset in India!!!! इससे पता चलता है, की इनके अंदर कितनी नफरत है मुसलमानों के लिए Islamophobia_In_India इसे बोलते हैं राजनीतिक रंग देना। यह काम BBC बखूबी निभा रहा है भारत में फेक न्यूज़ फैलाने में BBC की मुख्य भूमिका है। अपनी लोकप्रियता का दुरुपयोग करना इसे कहा जाता है।

क्यों भाई वामपंथी माओवादी जिहादी मार्क्सवादी नक्सलवादी BBC जी। जब पीटा जा रहा था तो आप जाकर कैमरा और माइक लेकर उस की जाति उसका धर्म पूछ रहे थे क्या। और मारने वाला आपको पूछने दे रहा था। फर्जी खबर फेक न्यूज़ फैलाने में BBC का कोई जवाब नहीं। पाखंडी। क्या अभी भी किसी मुस्लिम को लगता है कि उसे यहाँ इंसाफ मिलेगा ?

kithni ghatiya mansiktha hai ye police walo ki kya ye police jantha ki sewa karegi usko isiliye pitha gaya kyo ki vo musalman jaisa dikh raha tha jab police walo ke dimag me jathi ka ithna gobar bhara hai tho jantha me kyo nahi hoga मध्य प्रदेश पुलिस ने वकील से मारपीट के बाद माफ़ी मांगी, कहा- मुस्लिम समझकर पीट दिया था 👇

भारत मुस्लिम के लिए स्वर्ग है: नकवी था। जिसे भाजपा ने हिंदु-मुस्लिम करवा कर नर्क मे तब्दील कर दिया? देश का हर नागरिक जिसने पढा जन गढ मन गढ वो कभी देशद्रोही नही हो सकता 🙏 लाॅकडाउन के वक़्त तो सैकड़ों लोगों को पुलिस के डंडे खाने पड़े हैं। ये इंसान पहला ऐसा है जिसने कुछ ऐसा जाहिलपन वाला तर्क पेश किया है। 🙄 वकालत नहीं चल रहा होगा तो बेचारे मानसिक तनाव हो रहा होगा 😂

वैमनस्य फैलाने से दूर रहो bbc ! साधुओ की हत्या पर चुप रहने वाले अर्बन नक्सली पत्रकारॊ को अब धर्म दिखाई दे रहा है यह क्या बात हुई की धर्म देख के पुलिस व्यवहार कर रही है अगर यह सही है तो ऐसे पुलिस वालों को नौकरी से बर्खास्त करना चाहिये। 100% sahi news.aur constable ko nilmbit Kar Diya he. मीडिया द्वारा जो धर्म की अफीम पिलाई गई हे ये उसी का लक्षण हे, हर जगह इनको हिन्दू मुस्लिम का नशा चाहिय्ये, जो लोग रक्षक हैं वह राक्षस बने बेठे हैं। वकील को मुस्लिम समझ कर मारा तो क्या मुस्लिम को बिना गलती के मारना सही हे? और ऐसे नासूर पर करवाई कब होगी? ChouhanShivraj

नफरतों की ये तिजारत बड़ा नुक़सान करेगी जो ना रोकी गई इंसा का कत्ल ए आम करेगी दानिश Wo to hoga hi media ne Jo aag failai h,jhuti ki jamat se Corona Aaya,kabhi ye Nahi boli media namaste trump se shivraj shapat se etc se Corona aaya Ha ye news mai kahi or bhi padi thi, andhe ki bhagat ko na dekhai deta h na sunai deta h

मीडिया द्वारा जो धर्म की अफीम पिलाई गई हे ये उसी का लक्षण हे, हर जगह इनको हिन्दू मुस्लिम का नशा चाहिय्ये, जो लोग रक्षक हैं वह राक्षक बने बेठे हैं। वकील को मुस्लिम समझ कर मारा तो क्या मुस्लिम को बिना गलती के मारना सही हे? और ऐसे नासूर पर करवाई कब होगी? ChouhanShivraj देखो मुसलमानों और नसीहत लो। Shame on Indians

पिटाई करने वाले जरूर BBC समर्थक होंगे। Bhaiyo ab daadhi mt rakho wrna musalmaan smajh k pel diye jaoge khamakha अब पता चल गया होगा कि मुसलमानों पर कितना ज़ुल्म किया जा रहा है । जब पुलिस का ये हाल है तो सोच अन्ध्भक्त कितना ज़ुल्म कर रहे होंगे । यह पूर्णतः निंदनीय है, इससे नफरतें फैलती हैं। जांचोपरांत आवश्यक कार्यवाही होनी चाहिए।

This is a complete fake news. It seems that India is not a democratic country, it is like a Dictatorship. Dirty politics in India. यदि यह घटना 23 मार्च की है तो 23 मार्च को तो लॉक डाउन था ही नहीं लॉक डाउन की घोषणा तो 24 मार्च रात को 8:00 बजे हुई थी कुछ भी किसी के भी कहने पर। वकील है, सबूत है तो कोर्ट जा bbc क्यो जाता है। जरूर झोलझाल है।

Ohhh...bbc bol raha hai to sahi hi hoga 🤣🤣🤣 ChouhanShivraj ab to kuchh karo mama ji मतलब अब पुलिस से लेकर हर आदमी के अन्दर यह जहर फैल चुका है कि यदि दूसरे समाज के लोग (मुसलमान)हो तो उनको मार दो। यदि यह हालात ठीक नहीं हुए तो इस देश को बचाना मुश्किल हो जाएगा। ashish_nishuu नसे में चूर है सब क्या? चाहिए देश को हिन्दू मुस्लिम अब यही करवा रही सरकार

मुसलमान समझकर पीट दिया... और ताज्जुब इस बात का है कि ये बात स्वयं पुलिस कह रही है... नफरत इंसान को इस कदर अंधा कर देती है कि, लोग अपनों को भी पहचानने से भी इंकार कर देते हैं। उदाहरण आपके सामने है। Bbc madarchod It is very bad Fake news मोदी सरकार देश को बर्बाद कार दिया । हिन्दू मुस्लिम करके देश में राज कर लिया

फर्जी केस जिसकी पिटाई हुई बीबीसी का रिपोर्टर समझ कर हुआ पिटाई। ऐसे होते है दल्ले गंदी मानसिकता वाले😡 वे सभी को लग रहा था ये मुस्लिम भाई है शर्म आनी चाहिये इसमे पोलिस वाले भी सामिल था। दोहरी मानसिकता सरकार कि साफ़ दिख रहा है कि, सिर्फ व सिर्फ मुस्लिम को टार्गेट करना है छि: Mat dharmon me baton insaniyat ko, Corona ek azab hai Jo bhut se log samajh chuke hai aur bhut se samajhte hue bhi apni akad me hai Lekin koi bhi mazhab dusre mazhab ke logon ko ye ijazat Nahi deta ke doosron ko taqleef do..mind it

India me minority k against Indian media chup Lekin pakistan me minority per Indian media me tufaan a jata h इस न्यूज़ पर अब तक भारत सरकार ने प्रतिबंध क्यों नहीं किया है, देश तोड़ने के लिए Tum aa gaye tumahari hi kami thi Aag lagane ke liye.... Now we understand why POTUS call it Fake news channel अब इसे कहते है मार मार मुसलमान बनाना 😏 😜

waah ..news to shi bnaa liya kro मुसलमानो के खिलाफ जहर सीर्फ गोदी मीडिया ने फैलाया है Bhai un logo ne apni image he aisi bana li..uski galti nhi hai....dekha hoga kaise corona warriors ko patter maar k baga detey thy..iss liye galti se hua.. Mazloomon ki aah arsh ko hila deti hai aur fir tabahi Ka manzar Allah jab dikhata hai to bade se bade surma ghutne take dete hai, Sambhal Jao e insano mat satao mazloom ki warna Kuch baqi Nahi rahega ye Allah kah Raha h quraan me

Are dalla urban naxal communist hijada news portal fake news failate huwe sharam nahi aati kya Prashasan kitne star per giregi? नफरत इतना न फैलाओ की भाई ही भाई को न पहचान सके। Police bhi andhbhakt ban gaye yar. फेक न्यूज वाह इंडिया

जल्द आ रहा है iPhone में अपडेट, मास्क लगा कर भी कर सकेंगे FaceID यूजiOS 13.5 Update - ऐपल जल्द ही नया अपडेट जारी करने की तैयारी में है. इस अपडेट के बाद मास्क लगा कर फेस आईडी यूज करने में दिक्कत नहीं होगी. BanTikTokInIndia BanTikTokInIndia BanTikTokInIndia BanTikTokInIndia Om sai ram

अवसरवाद की राजनीति कर रहीं प्रियंका, राजस्थान-पंजाब के मजूदरों को दें बस: वीके सिंहकेंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल (रि.) वीके सिंह ने प्रियंका गांधी पर अवसरवाद की राजनीति करने का आरोप लगाया है. वीके सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी को राजस्थान, महाराष्ट्र और पंजाब से अपने घरों की ओर जा रहे प्रवासी मजदूरों को बस देनी चाहिए थी. gauravcsawant प्रियंका गांधी को तो बसे देनी ही नहीं थी। इनको तो सिर्फ राजनीति करनी थी जो उन्होंने यह करके दिखा दिया। gauravcsawant Forgive people by Forgetting them ❤ gauravcsawant

चीनी कंपनी पर US की सख्ती: हुवावे इंडिया पर भी लगाया बैन, नहीं कर सकेगी निर्यात

PF में कर्मचारी जमा कर सकते हैं 10 फीसदी से ज्यादा हिस्सायदि कोई कर्मचारी 10 फीसदी से ज्यादा हिस्सा खाते में जमा करना चाहता है तो उसे इसकी अनुमति होगी। मंगलवार को श्रम मंत्रालय की ओर से पीएफ में योगदान को कम किए जाने के नोटिफिकेशन को जारी कर दिया गया। आसमान से आने वाली आमदनी के कर्मचारी और अधिकारी ही ऐसा करने में सक्षम होंगे।

Facebook Shops फीचर लॉन्च, छोटे कारोबारी ऑनलाइन कर सकेंगे व्यापारफेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने मंगलवार को Facebook Shops की घोषणा की. इससे व्यापारी अपने प्रोडक्ट्स को फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लिस्ट कर पाएंगे. फीचर का डिटेल दें

UP बस विवाद: डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा बोले- सियासत कर रही है कांग्रेसउत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिेनेश शर्मा का आरोप है कि कांग्रेस सियासत कर रही है. उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस बिना जांच किए लोगों को ऐसे भेजेगी तो कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ेगा. इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा. Jhut bol raha ye... Best न्यूज़ मीडिया चैनल पर 'सभी राजनीतिक दलों' की राजनीति तो देखिये,'वर्तमान में गलत निति या निर्णय की वजह से पैदा हुयी समस्याओं की जिम्मेदारी नहीं लेते' पर 'भूतकाल में किस राजनीतिक दल से क्या गलती हुयी', उस बात को उछालकर अपने दल द्वारा की गयी'थोड़ी बहुत सहायता'को बढ़-चढ़ कर बताते है।

कोरोना संक्रमण: तब्लीग़ी जमात से जुड़े सवाल पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- ''बहुत हुआ'' योगी आदित्यनाथ का वो बयान जिस पर मच रहा है सियासी घमासान राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर आज आधी रात से दोबारा होगा सील, इन लोगों को मिलेगी छूट मजदूरों की मदद के नाम पर पब्लिस्टी स्टंट के आरोप, सोनू सूद ने द‍िया जवाब 'पाकिस्तान हमारी प्रिय मातृभूमि है'..कहने वाली शिक्षिका ने मांगी माफी कोरोना वायरस: दिल्ली के सभी निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स में 20 प्रतिशत बेड कोविड-19 के लिए - BBC Hindi कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने क्वारंटाइन से किया किनारा, सफाई में बोले- छूट वाली कैटेगरी में आता हूं अभिजीत बनर्जी की सलाह- प्रत्येक भारतीय को 1000 रुपये हर महीने दे सरकार ईद के दिन फिर दिल्ली की सड़कों पर निकले राहुल, टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल