कोरोना वैक्सीनेशन: 21 जून से नई नीति लागू, क्या रहा हाल? - BBC News हिंदी

कोरोना वैक्सीनेशन: 21 जून से नई नीति लागू, क्या रहा हाल?

21-06-2021 19:56:00

कोरोना वैक्सीनेशन: 21 जून से नई नीति लागू, क्या रहा हाल?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून से देश में सभी लोगों को मुफ़्त वैक्सीन देने की घोषणा की थी, नई नीति के लागू होने के बाद वैक्सीनेशन की स्थिति पर क्या और कितना असर पड़ा है, यही पता करने की कोशिश हमारे सहयोगी संवाददाताओं ने की.

नीरज सहाय, पटना सेबिहार सरकार ने दावा किया है कि आगामी छह महीनों में छह करोड़ लोगों को कोरोना टीके की डोज़ दे दी जायेगी. इसके लिए सोमवार शाम को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे. अभियान शुरू होने के पहले पटना विमेंस कॉलेज के टीकाकरण केंद्र पर दोपहर एक बजे तक लगभग 150 लोगों ने कोवीशील्ड और कोवैक्सीन का पहला और दूसरा डोज़ लिया. बैलून और बैनरों से पटे टीकाकरण केन्द्रों पर धीरे- धीरे लोगों का आना दिन भर जारी है.

टेम्पो ड्राइवर की बेटी बनीं ओपनर बल्लेबाज: नागौर की संध्या 7 साल पहले पिता के साथ पहुंची हैदराबाद, स्टेडियम में मैच देखा तो क्रिकेट खेलना शुरू किया, अब हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी Quad Summit Updates: मौलिक अधिकारों में क्वाड का विश्वास, आस्ट्रेलिया-जापान ने दिया मुक्त और खुले इंडो पैसिफिक क्षेत्र पर जोर यूएन में भारत पर बरसे इमरान, भारत ने कहा- ओसामा को शहीद बताने वाले क्या बोलेंगे - BBC Hindi

केंद्र के कार्यपालक सहायक अभय कुमार ने बताया, "शाम चार बजे तक डोज़ लेने वालों की संख्या 350 हो जाने की संभावना है. अमूमन इतने लोग ही हर दिन आ रहे हैं. इस बार 18+ आयु वर्ग वाले युवाओं की संख्या ज़्यादा है क्यूंकि जिलाधिकारी के आदेश के बाद 11 जून से ऑन- स्पॉट रजिस्ट्रेशन शुरू कर दी गयी है." वहीँ वैक्सीन की पहली डोज़ ले चुके 26 साल के अभिषेक कुमार ने बताया कि "घर में सबों ने टीका ले लिया है. अप्रैल- मई महीने में काफ़ी डर गया था. अब थोड़ी राहत है ". केंद्र पर मिली 34 साल की संगीता कुमारी ने कहा कि " पहले भी डोज़ लेने आई थी, लेकिन भीड़ देखकर लौट गयी. इस बार तो तुरंत वैक्सीन लग गया ".

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार बिहार में अब तक 1.36 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है. इनमें से 1.16 करोड़ लोगों को पहली डोज़ और 20.48 लाख लोगों को दोनों डोज़ दी जा चुकी है.राजस्थान सरकार के बचेंगे तीन हज़ार करोड़ रुपएमोहर सिंह मीणा, जयपुर से headtopics.com

18 से 44 वर्ष के लोगों का राजस्थान में एक मई से ही निशुल्क कोविड-19 का टीकाकरण किया जा रहा है. इस आयु सीमा के राज्य में 3 करोड़ 75 लाख लोगों के टीकाकरण का ख़र्च राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने वहन करने का फ़ैसला अप्रेल में ही कर लिया था, इसके लिए राज्य पर तीन हज़ार करोड़ का भार पड़ता.

लेकिन, अब केंद्र सरकार की 18 से 44 साल के लोगों को निशुल्क टीकाकरण की घोषणा से राजस्थान सरकार के तीन हज़ार करोड़ रुपए बचेंगे जिन्हें जनहित कार्यों में ख़र्च किया जाएगा.मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 22 अप्रेल 2021 को प्रधनमंत्री को पत्र लिख कर 18 से 44 साल के लोगों को निशुल्क टीका लगाने की मांग की थी, लेकिन तब इस पर केंद्र सरकार ने कोई फ़ैसला नहीं लिया था.

केंद्र की घोषणा के बाद राजस्थान में 21 जून से शुरू हुए 18 से 44 साल के लोगों के निशुल्क टीकाकरण से खासा प्रभाव देखने को नहीं मिला. क्योंकि राज्य में पहले से ही निशुल्क टीकाकरण किया जा रहा है.वीडियो कैप्शन,कोरोना टीकाकरण कहीं कम, कहीं ज़्यादा क्यों है?

राज्य में पहले से ही जारी निशुल्क टीकाकरण के कारण यहां युवाओं पर केंद्र सरकार के फ़ैसले का ख़ास प्रभाव नहीं है. राजधानी जयपुर में 85 केंद्रों पर टीकाकरण किया जा रहा है. हालांकि, अधिकतर केंद्रों पर ज़रूरत से कम डोज़ पहुंचने की शिकायत मिल रही है.गांधी नगर के शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के नर्सिंग अधिकारी लोकेश मीणा का कहना है, "सुबह 9 बजे से टीकाकरण शुरू होता है, लेकिन इससे पहले ही लोग टीका लगवाने के लिए केंद्रों पर पहुंच रहे हैं. लोगों में टीकाकरण को लेकर खासा उत्साह नज़र आ रहा है. लेकिन, डोज़ कम मिलने से समस्या हो रही है. headtopics.com

पीएम मोदी और राष्ट्रपति बाइडन की पहली मुलाक़ात कैसी रही? - BBC News हिंदी बाइडेन के किस्से, मोदी के ठहाके...व्हाइट हाउस में दिखी दोनों नेताओं की जबरदस्त बॉन्डिंग Quad Summit LIVE Updates: मौलिक अधिकारों में क्वाड का विश्वास, आस्ट्रेलिया-जापान ने दिया मुक्त और खुले इंडो पैसिफिक क्षेत्र पर जोर

इसी टीकाकरण केंद्र की डॉक्टर साक्षी ग्रोवर बताती हैं, "रोज़ टीकाकरण केंद्र बदलते हैं और इसकी जानकारी भी समय से नहीं मिलती है. यह बड़ी समस्या बनी हुई है. केंद्र पर आने वाले लोगों को टीका लगाया रहे हैं."युवाओं का कहना है कि वह एक महीने से वह टीका लगवाने के इंतज़ार कर रहे थे, लेकिन कभी स्लॉट नहीं मिला तो कभी डोज़ नहीं होने से उनका इंतेज़ार बढ़ता गया.

जयपुर के 21 वर्षीय जितेंद्र कुमार, 28 वर्षीय रामसिंह सामोता ने आज टीके का पहला डोज़ लगवाया है. उनका कहना है कि वह लंबे समय से टीका लगवाने का इंतज़ार कर रहे थे.राज्य में अब तक दो करोड़ आठ लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है. इनमें 1.74 करोड़ को पहली और 33.88 लाख लोगों को दूसरी डोज़ लगाई जा चुकी है.

कश्मीर में कोवैक्सीन की दूसरी डोज़ के लिए कम भीड़इमेज स्रोत,इमेज कैप्शन,कश्मीर के बडगाम ज़िले में टीकाकरणमाजिद जहांगीर, कश्मीर से बीबीसी हिंदी के लिएकश्मीर के सौरा इलाके में शेर ए कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेसेज़ (स्कीम्स) के मैटरनिटी अस्पताल के कोविड सेंटर में सोमवार को दोपहर डेढ़ बजे तक कुल 19 लोगों ने कोविड वैक्सीन ली थी.

हालाँकि , जिस समय हम अस्पताल में गए उस समय वैक्सीन सेंटर में सन्नाटा था और सिर्फ़ डॉक्टर और उनके सहायक मौजूद थे. सेंटर में मौजूद डॉक्टर आसिया ने बताया कि हर दिन सौ से डैड सौ स्लॉट्स कोवैक्सीन की दूसरे डोज़ के लिए खुली हैं. उनका कहना था कि लोग इसलिए कम आ रहे हैं क्योंकि अस्सी फ़ीसद लोग पहले ही कोवैक्सीन की पहली डोज़ ली है. headtopics.com

असमः बिना स्लॉट बुक किए 18 साल से ऊपर के लोग लेने पहुंचे फ्री वैक्सीनदिलीप कुमार शर्मा, डिब्रूगढ़ से बीबीसी हिंदी के लिएअसम के डिब्रूगढ़ शहर में मौजूद मारवाड़ी आरोग्य भवन अस्पताल में सरकार की तरफ से दी जा रही फ्री वैक्सीन लेने पहुंची 35 साल की मामोनी भोर ने बताया,"कोरोना की वैक्सीन को लेकर तरह-तरह की बातें सुनने को मिल रही थी, इसलिए वैक्सीन लगाने को लेकर थोड़ी दुविधा में थी. इसके अलावा पंजीयन करने के बाद भी स्लॉट बुक नहीं कर पा रही थी. लेकिन फिर जब सुना कि सरकार 21 जून से 18 साल से ऊपर के लोगों को बिना स्लॉट बुक किए फ्री वैक्सीन देगी तो फिर हम लोगों ने मन बना लिया. मैंने और मेरी 18 साल की बेटी ने आज कोविशील्ड की पहली डोज़ ले ली है."

38 साल के अरिजीत रॉय ने भी आज वैक्सीन की पहली डोज़ लगवाई है. इतने विलंब से वैक्सीन लेने को लेकर वह कहते हैं, "मुझे वैक्सीन लेने को लेकर कोई संदेह नहीं था. लेकिन वैक्सीन मिलना काफ़ी मुश्किल हो गया था. दरअसल मैं काम के सिलसिले में अरुणाचल प्रदेश में अकेला रहता हूं और लॉकडाउन भी चल रहा है. इसलिए वैक्सीन नहीं ले पा रहा था. इसलिए आज कोविशील्ड ही ले ली. क्योंकि अब तो सरकार ने वैक्सीन फ्री भी कर दी है.'

PM Modi US Visit LIVE: UN में इमरान के भाषण पर भारत की दो टूक- 'PoK को तुरंत खाली करे पाकिस्तान' बाइडन-मोदी मुलाक़ात में हुआ एक दिलचस्प वाक़या - BBC News हिंदी Quad Summit: पीएम मोदी ने क्वाड को बताया 'फोर्स फार ग्लोबल फूड', जानें आस्ट्रेलिया-जापान के नेताओं ने समिट में क्या कहा

चैरिटेबल ट्रस्ट के तहत चल रहे मारवाड़ी आरोग्य भवन अस्पताल के मैनेजर बिस्वजीत डे ने बीबीसी से कहा,"राज्य सरकार के टीकाकरण कार्यक्रम के तहत हमारे अस्पताल में शुरू से कोरोना वैक्सीन दी जा रही है. लेकिन 23 मई के बाद लोगों का वैक्सीन लेना कम हो गया था. इसकी एक बड़ी वजह थी कि वैक्सीन लेने आने वालों को कोरोना टेस्ट करवाना पड़ता था. लेकिन आज से कोरोना टेस्ट को अनिवार्य नहीं रखा गया है. साथ ही 18 साल से ऊपर वाले लोगों को स्लॉट बुक करने की ज़रूरत भी नहीं है."

और पढो: BBC News Hindi »

गुजरात में सियासी भूचाल, कौन होगा अगला मुख्यमंत्री? देखें दंगल में बड़ी बहस

गुजरात में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है. विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के पद से इस्तीफा (Resign) दे दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी आलाकमान को आभार प्रकट किया. कुछ देर पहले ही रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात करते हुए उन्हें इस्तीफा सौंप दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? देखें दंगल में बड़ी बहस.

मोदी जी जो करें रिकार्डेड ही होता😉 I noticed a crowd of people giving testimony about Miss Lisa_andrew5 For helping them earn a huge amount of money from trading. So I decided to give it a try and to my surprise my first investment was just $300 and I received a profit of $3,950 A very reasonable amount

क्या न्यूरो के सेकैड स्टेज़ में ये वैक्सीन काम करतीं हैं। पल्स ने दिमाग़ के बाद दिल का रुख़ अख्तियार कर लिया हैं। दिनांक 25/07/2019 की झूठी घटना दर्शा कर मुझ पर फर्जी केस 0598/19 थानादेवबंद पर किया SaharanpurDm brajeshpathakup महोदय उक्त प्रकरण के संबंध में आपको पूर्ण जानकारी है एवं फर्जी केस के संबंध में शासन प्रशासन को सभी साक्ष्य उपलब्ध करा चुका है rsprasad

People registered no doubt, but not moving to centres. Must put fine on such manipulators.

यूपी के कासगंज की भरगैन नगर पंचायत में वैक्सीन पर अफवाहें भारी, जीरो वैक्सीनेशननगर पंचायत भरगैन की आबादी 30 हजार से अधिक बताई जाती है. इतनी आबादी वाले इस नगर पंचायत के लोग कोरोना को अफवाह बता रहे हैं. जिस समय दुनिया कोरोना के कहर से कराह रही है, अस्पतालों में बेड और अन्य उपकरणों की किल्लत हो रही है, यहां स्थित अस्पताल के गेट पर ताला लटका है. Ok बिहार शारीरिक शिक्षक भर्ती परीक्षा में सफल 3523 अभ्यर्थियों की नियुक्ति प्रक्रिया आज दो साल से रोक कर उनसे जुड़े 3523परिवारों के सपनों को कुचल दिया गया,क्या एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में सरकार की उदासीनता को दर्शाती है कि,हमारे जनप्रतिनिधियों को जनता की भावनाओं से कोई लेना देना भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार नगर पंचायत भरगैन में टीकाकरण हुआ है और निरन्तर किया जा रहा है।

पंजाब की सियासत : गठबंधन की अटकलों पर विराम, भाजपा में प्रत्याशियों की खोज शुरूपंजाब की सियासत : गठबंधन की अटकलों पर विराम, भाजपा में प्रत्याशियों की खोज शुरू Punjab BJP PunjabElections AkaliDal BSP BJP4Punjab

कपिल शर्मा ने शेयर की अपने बेटे की पहली तस्वीर, बोले- पब्लिक की पुरजोर मांग पर...

रविशंकर की खरी-खरी: सोशल मीडिया कंपनियां बोलने की आजादी और लोकतंत्र पर भाषण न देंरविशंकर की खरी-खरी: सोशल मीडिया कंपनियां बोलने की आजादी और लोकतंत्र पर भाषण न दें FreedomOfSpeech Democracy NewITRules SocialMedia rsprasad BJP4India INCIndia rsprasad BJP4India INCIndia इनका एड्युकेशन मोदीजी से ज्यादा है? rsprasad BJP4India INCIndia क्या माननीय न्यायालय संज्ञान लेना चाहेंगी?🙏🙏🙏 rsprasad BJP4India INCIndia 2014 आधी तेच गोड गोडं वाटत होत न साहेब तुम्हाला.. 🤔 आता अचानक असं काय घडलं म्हणावं.. 🤔

गृहमंत्री से राज्यपाल की डबल मीटिंग, क्या Bengal में किसी बड़ी लड़ाई की हो रही तैयारी?क्या पश्चिम बंगाल में भी आगे किसी बड़ी लड़ाई की तैयारी की जा रही है? इस बात की चर्चा गृहमंत्री अमित शाह और राज्यपाल जगदीप धनखड़ की मुलाकात के बाद से हो रही है. दिल्ली के दौरे पर आए जगदीप धनखड़ ने गृहमंत्री अमित शाह से तीन दिनों में दो बार मुलाकात की. माना जा रहा है कि दोनों के बीच पश्चिम बंगाल के मौजूदा हालात और कानून-व्यवस्था की स्थिति पर चर्चा हुई है. बंगाल में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी पहले ही आमने सामने हैं. तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जगदीप धनखड़ पर कई बार हमला बोल चुकी हैं. देखें वीडियो. ये तो जाहिर है कि बंगाल में सबकुछ ठीक नहीं है।पूरा प्रशासन एक वर्ग विशेष के प्रभाव में काम कर रहा है। शर्माजी के बालों की सेहत कैसे सुधरी शर्माजी बाल रंगते नही तेलभी लगाते,नही! पिता अस्पताल मे,तो कोरोना काल था शर्माजी घर मे घुसते ही गर्म पानी से Lifebuoy Total 10 - HANDWASH तरल से नहाते! फिर इस से सिर धोना जारी रहा! 6माह मे काफी ज्यादा नऐ बाल आगऐ अब बाल वाले हैं! जनहित जानकारी!!

जाने जम्मू की बेटी माव्या को, जो जम्मू-कश्मीर की पहली एयरफोर्स महिला फाइटर बनीदेश की 12वीं और जम्मू कश्मीर की पहली एयर फोर्स महिला फाइटर पायलट माव्या सूदन ने तेलंगाना की डुंडिगल वायुसेना अकादमी हैदराबाद में पासिंग आउट परेड में भाग लेकर नाम रोशन किया है। पासिंग आउट परेड में माव्या इकलौती ऐसी महिला फाइटर पायलट थीं।